3 सालों के लिए शनिदेव कर रहे हैं धनु राशि का रुख, इन तीन कामों को करने से बचें in Hindi

1/7 शनि का राशि परिवर्तन


26 अक्टूबर 2017 को मध्याह्न काल (दोपहर) में शनिदेव अपना राशि परिवर्तन कर धनु राशि में आ रहे हैं। यहां वे अगले तीन सालों के लिए यानि कि साल 2020 तक रहेंगे। हालांकि धनु राशि समेत सभी राशियों पर इसके अलग-अलग प्रभाव होंगे लेकिन अच्छे या बुरे दोनों ही प्रकार के फलों में आपको इस दौरान तीन काम करने से हर हाल में बचना चाहिए।



2/7 शनि की शुभता के लिए


ये वे काम हैं जिन्हें करना या ना करना शनि के अशुभ या शुभ फलों को घटा या बढ़ा सकता है। इसलिए भले ही आपको अपनी राशि पर शनि के धनु राशि में इस मार्गी होने का प्रभाव पता ना हो लेकिन इन कामों को करने या ना करने के प्रति सचेत रहकर आप अपने लिए शनिदेव की कृपा सुनिश्चित कर सकते हैं या शनि के बुरे प्रभावों को कम भी कर सकते हैं। आगे हम इसकी चर्चा कर रहे हैं।



3/7 किसी की मेहनत का फल कम ना करें


शनिदेव मेहनत पसंद लोगों को जितना पसंद करते हैं, उतना ही अधिक ईमानदारी और और दूसरों की मेहनत की कद्र करने वालों को भी पसंद करते हैं। इसलिए पहला तो आप मेहनत से जी ना चुराएं, दूसरा कि अगर आप अपने घर या बाहर कारोबार में लोगों से काम लेते हैं, खासकर मजदूर वर्ग से जुड़ा आपका कारोबार हो तो उसमें ईमानदारीपूर्वक उनकी मेहनत के पूरे पैसे दें।

4/7 किसी की मेहनत का फल कम ना करें


किसी भी मजदूर वर्ग को उनकी मेहनत के कम पैसे कभी ना दें। इससे शनिदेव कुपित होते हैं और आपके काम क असफल होने की पूरी संभावना बन जाती है। ना सिर्फ इतना, बल्कि आपकी अन्य ग्रह दशाएं भी बुरी होने लगती हैं।

5/7 किसी की मेहनत का फल कम ना करें


अगर आप उनकी मेहनत का पूरा फल देंगे और साथ ही सम्मान भी, तो आपका काम सफल भी होगा और दोगुनी गति से उसमें बढ़ोत्तरी होगी। शनिदेव की कृपा से आपकी धन वृद्धि होगी।



6/7 चमड़े की वस्तुओं का उपहार


चाहे कोई आपका कितना भी करीबी क्यों ना हो, लेकिन किसी भी रिश्तेदार या दोस्त से चमड़े या लोहे की वस्तु उपहार में ना लें। अगर उपहार देने वाला व्यक्ति इन चीजों के कारोबार से जुड़ा हो तब तो इस बात का ध्यान रखा जाना और भी अधिक आवश्यक है।



7/7 बड़ों का सम्मान


बड़ों और माता-पिता का किसी भी प्रकार से दिल दुखाना या अपमान करना ग्रहों को कमजोर करता है। लेकिन इससे शनिदेव और सूर्य विशेष रूप से कुपित होते हैं। इसलिए भूलकर भी ऐसा ना करें और अगर आपको अपनी शनि की दशाओं का पता है तब तो हरगिज ऐसा ना करें। साथ ही जितना संभव हो मांसाहारी भोजन और शराब आदि के सेवन से बचें।