Health and Fitness

शीघ्रपतन, वीर्य की कमी और मर्दों से जुड़ी हर समस्या का प्याज से करें इलाज

Thursday, November 2 2017

शीघ्रपतन, वीर्य की कमी और मर्दों से जुड़ी हर समस्या का प्याज से करें इलाज

तंदुरुस्‍ती » शीघ्रपतन, वीर्य की कमी और मर्दों से जुड़ी हर समस्या का प्याज से करें इलाज शीघ्रपतन, वीर्य की कमी और मर्दों से जुड़ी हर समस्या का प्याज से करें इलाज Wellness Updated: 21 अगर आपको शारीरिक समस्या के चलते कई ऐसी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है जो आपके सेक्स से संबंधित समस्याओं पर दिक्कत पैदा करते है। आपको बता दें कि इस समय लोगों को कई तरह की समस्याओं से जूझते हुए देखा गया है। इस समय लोगो में शीघ्रपतन, वीर्य की कमी और सेक्स टाइमिंग को लेकर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। अगर आपको भी ऐसी समस्या है तो आपको बता कि इसका इलाज घर पर ही सम्भव है। जी हां आपको इसके लिए बाजार जाकर दवा लाने की जरूरत नही है और ना ही हकीमों पर पैसा खर्च करने की जरूरत है। सफेद पानी (लिकोरिया) की समस्या को जड़ से खत्म करते है ये घरेलू उपाय अगर आपको बताया जाए कि इन सारी गंभीर समस्याओं का इलाज सिर्फ प्याज से हो सकता है तो आपको यकीन नहीं होगा पर ये सच है आइए जानते है कि प्याज से किस तरह से आप इन गंभीर समस्याओं से छुटकारा पा सकते है। आइए जानते है... प्याज से शीघ्रपतन से छुटकारा मिलता है घी के साथ प्याज अगर आपको कई समस्याओं के साथ सेक्स के समय शीघ्रपतन की शिकायत है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। इसके लिए आपको बता दें कि आप प्याज के रस को किसी चम्मच में निचोड़ ले और इसमें घी मिलाकर इसका सेवन करें। ऐसा करने से आपके शीघ्रपतन जैसी समस्याओं को जड़ खत्म किया जा सकता है। ब्रेस्ट साइज को नेचुरली कम करने के लिए अपनाए ये 20 तरीके तल के खाएं प्याज आपको बता दें कि अगर आप अपने पार्टनर को चरम सुख नहीं दे पा रहे तो ये घबराने का समय नही है। आपको इसके लिए प्याज के टुकड़ों को बारीक काटना है और घी के साथ तलना है। इसके तलने के बाद आप इसका सेवन रोज रात में सोने से पहले करें। ऐसा करने से आपको छुटकारा मिल जाएगा। इमली के बीज और प्य़ाज आपको अगर इस समस्या से बहुत जतन करने पर भी छुटकारा नहीं मिल रहा है तो आपको परेशान नही होना है। आपको इमली के बीजों को पीसकर उसका पेस्ट बना ले और उसको प्याज के रस में मिलकार घी के साथ सेवन करें। अगर आपने दो महीने तक इसका सेवन कर लिया तो आपके शीघ्रपतन की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी। कोमोत्तेजना बढ़ाने के लिए इन चटनी का करें सेवन आपको अगर कामोत्तेजना बढ़ाना है तो आपको इसके लिए घर पर ही बने दवाओं का सेवन कर सकते है। ऐसी समस्याएं इस समय आम हो चुकी है। आपको बता दें कि इसके लिए आपको प्याज की चटनी, हरे मिर्च और लहसुन की कली को पीसकर चटनी बना लें और इसका सेवन करें। प्याज के साथ मिलाएं ये अगर आपको कामोत्तेजना बढ़ाना है तो आपको बता दें कि आपको प्याज के रस में अश्वगंधा, सफेद मूसली और दालचीनी मिलाकर आपको इसकी गोलियां बनानी है और इनका सेवन नियमित करना है। ऐसा करने से आपको 2 महीनो में परिणाम देखने को मिल जाएगें। वीर्य बढ़ाने और गाढ़ा करने के लिए अगर आपके वीर्य में कमी रहती है और आपका वीर्य पतला है तो आपको बता दें कि आपको प्याज के रस में शहद मिलाकर कर सेवन करना चाहिए। आप चाहें तो आप इसके साथ अदरक का रस भी मिला सकते है। उड़द की दाल और प्याज अगर आपको वीर्य पतला और कम होने की समस्या है तो आपको प्याज के रस में उड़द की दाल को पीसकर मिलाना है और इसको घी में मिलाकर इसका सेवन करना है। ऐसा करने से आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। सेक्स पावर बढ़ाने के लिए प्याज का मुरब्बा आपको बता दें कि अगर आपके सेक्स पावर को लेकर समस्या है को आपको घबराने की जरूरत नहीं है। इसके लिए आप प्याज के मुरब्बे का सेवन करें। ये आपके सेक्स पावर को बढ़ाने के लिए कारगर इलाज है। सफेद और लाल प्याज आपको बता दें कि प्याज का लाल और सफेद कलर का छिलका काफी फायदेमंद होता है। अगर आपको सेक्स पावर बढ़ाना है तो आपको इसके लिए लाल और सफेद कलर के छिलके का प्रयोग करना चाहिए। प्याज और शहद आपको बता दें कि सेक्स पावर बढ़ाने के लिए आपको प्याज और शहद का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आपके सेक्स पावर बढ़ती है और आपकी समस्या खत्म हो जाती है। English summary 10 Sexual Benefits Of eating Onions If you have to face many difficulties due to physical problems that cause problems with your sex related problems. Let us know that at this time people have been battling various problems.

जिन लोंगो की हथेली से खाल उधड़ रही है वो जरूर अपनाएं ये 10 उपचार

Thursday, November 2 2017

जिन लोंगो की हथेली से खाल उधड़ रही है वो जरूर अपनाएं ये 10 उपचार

तंदुरुस्‍ती » जिन लोंगो की हथेली से खाल उधड़ रही है वो जरूर अपनाएं ये 10 उपचार जिन लोंगो की हथेली से खाल उधड़ रही है वो जरूर अपनाएं ये 10 उपचार Wellness Published: 09 यदि आपकी उंगलियों या फिर हथेलियों से खाल निकल रही है, तो परेशान ना हों क्‍योंकि यह दौर हर किसी की जिंदगी में एक ना एक बार जरुर आता है। लेकिन आपको जान कर खुशी होगी कि इसका इलाज आपको घर बैठे ही मिल जाएगा। जी हां, हमारे घरों में ऐसी अनेको चीज़ें हैं, जो आपकी उंगलियों की खाल को उधड़ने से बचा सकती हैं। ऐसे कई कारण हैं, जिनकी वजह से आपकी उंगलियों से स्‍किन पील होनी शुरु होती है। कुछ कारणों में रूखी त्‍वचा, सन बर्न, एक्‍जिमा, सिरोसिस, ठंड लगना, बार बार हाथों को धोना, कठोर कैमिकल का यूज़, एलर्जी, विटामिन की कमी या फिर अन्‍य अलग-अलग कारण। यदि नाखून के आस पास की त्‍वचा छिल रही है तो वह कुछ ही दिनों में ठीक हो सकती है। लेकिन अगर इससे आपको दर्द या तकलीफ हो रही है तो आप कुछ प्राकृतिक उपचार भी कर सकते हैं। आइये जानते हैंकुछ ऐसे ही घरेलू उपचारो के बारे में... गरम पानी में सिकाई जिन्‍हें स्‍किन की यह समस्‍या है उनके लिये गरम पानी एक अच्‍छा उपाय है। अपने हाथों को गरम पानी में कम से कम 10 मिनट के लिये रोज भिगोएं। इससे उंगलियों की स्‍किन पतली हो जाएगी और रूखी त्‍वचा अपने आप ही झड़ जाएगी। मेवे का सेवन करें हमारे शरीर के लिये अच्‍छा वसा काफी जरुरी है। अगर इसे आपने उचित मात्रा में नहीं खाया तो यह आपकी हेल्‍थ पर भारी पड़ सकता है। अच्‍छा होगा कि आप अपने आहार में नट्स शामिल करें जिससे आपके शरीर में ओमेगा 3 और फैटी एसिड की मात्रा बढ़े। इसको खाने से रूखी त्‍वचा का छिलना कम होता है और स्‍किन में नमी बनी रहती है। मॉइस्‍चराइजिंग दिनभर हाथों को पानी में भिगोने से हाथ रूखे और कडे हो जाते हैं, जिस पर मॉइस्‍चराइजर लगाना ही चाहिये। अगर आपके हाथों की खाल उधड़ रही है तो आपको हर बार हाथों को धोने के बाद तेल या मॉइस्‍चराइजर से अपने हाथों को मालिश करनी चाहिये। शहद और नींबू का रस थोड़े से गरम पानी में शहद और नींबू का रस मिलाएं और हाथों को उसमें डुबाएं। हाथो को पोंछ कर उसमे एक अच्‍छी क्‍वालिटी का मॉइस्‍चराइजर लगाएं। या फिर आप विटामिन ई तेल भी लगा सगती हैं। प्रोटीन का सेवन बढ़ाएं अपना मैटाबॉलिज्‍म बढााने के लिये अपने आहार में प्रोटीन को शामिल करें। प्रोटीन, आपके सेल और टिशू को बढाने में मदद करेगा। साथ ही जो त्‍वचा फट रही है उसे दुबारा रिपेयर करेगा। प्रोटीन पाने के लिये आप अंडे, मीट, मछली और दाल आदि का सेवन कर सकती हैं। खीरा इस्‍तमाल करें खीरा, एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरा है जो आपकी स्‍किन को तुरंत हील करता है। इसमें पाई गई प्राकृतिक नमी आपकी स्‍किन की परेशानी को तुरंत ही ठीक करेगी। इसकेलिये एक ताजा खीराा काटें और उसे प्रभावित जगह पर लगाएं जिससे जूस स्‍किन में समा जाए। आप चाहें तो खीरे को घिस कर हाथों में लगा कर 30 मिनट के लिये छोड़ दें। बाद में हल्‍के गरम पानी से हाथों को धो लें। ओट्स ओट्स भी खाल उतरी उंगली के उपचार का एक बेहतरीन तरीका है। पानी में ओट्स का पाउडर मिला लें और इसमें अपने हाथ को 10 मिनट तक डुबाकर रखें। अब हाथों को धोकर सुखा लें और इसपर मॉइस्चराइजर लगाएं। दूध का इस्तेमाल करें त्वचा को नम रखने में दूध काफी प्रभावी होता है। अपनी उंगली पर रूई की मदद से दूध लगाएं या दूध में कुछ देर तक अपने हाथ डुबाकर रखें। सोने से पहले हर रोज ऐसा करने से आपकी समस्या दूर हो जाएगी। पानी पिएं जब बात उंगलियों के खाल के उधड़ने की आए तो आपको ढेर सारा पानी पीना शुरु कर देना चाहिये। उगलियों की खाल छिलना डिहाइड्रेशन का संकेत भी होता है। पानी पीने से आपका सिस्‍टम हाइड्रेट होता है और शरीर से गंदगी भी बाहर निकलती है। जैतून का तेल जैतून के तेल में ओमेगा 3 और अन्‍य फैटी एसिड होते हैं जो कि हमारी स्‍किन के लिये काफी कार्यगर हैं। हमारी रूखी त्‍वचा के लिये ऑलिव ऑइल एक बहुत ही अच्‍छा मॉइस्‍चराइजर है। अपनी उंगलियों को गुनगुने तेल में डुबाएं जिससे वह अंदर तक नम हों। इसमें बहुत ज्‍यादा विटामिन ई होता है जो कि आपकी स्‍किन को हील करने में मददगार होता है। English summary Home Remedies For Peeling Skin on Fingertips Check out the diy natural cleaners for healthy skin. These natural facial cleaners can be prepared right at your home. Story first published: 09 [IST] Nov 2, 2017 कीअन्यखबरें

सफेद पानी (लिकोरिया) की समस्या को जड़ से खत्म करते है ये घरेलू उपाय

Thursday, November 2 2017

सफेद पानी (लिकोरिया) की समस्या को जड़ से खत्म करते है ये घरेलू उपाय

Updated: Thursday, November 2, 2017, 11:04 [IST] Subscribe to Boldsky आजकल महिलाओं में कई तरह के रोग सामान्य बात हो गए। हम कई तरह के इलाज भी कराते है परह क्या आप जानते है कि की ऐसी समस्याएं होती है जिनको रोग नहीं समझना चाहिए। यह कुछ मामलो में योनि से सफेद पानी निकलता है सफ़ेद पानी या स्वेत प्रदर में शरिर मे कमजोरी आती है, चक्कर आता है, बदन में दर्द होता है। चेहरे की रौनक ख़त्म सी हो जाती है। सफ़ेद पानी जिसको श्वेत प्रदर भी कहा जाता है, महिलाओं का कष्ट दायक रोग है, जिसमे महिलाओं की योनी से सफ़ेद तरल पदार्थ निकलता है, और बहुत गन्दी बदबू आती है, इस रोग से ग्रसित रोगिणी उदास और चिडचिडी रहती है। यदि आपको भी यह समस्या है तो, आपको निराश होने की जरुरत नहीं है यहाँ आपको कुछ सरल सफ़ेद पानी के रामबाण घरेलु नुस्खे बताने जा रहे है। जिनको आप नियमित रूप से करके लाभ ले सकते है। इसलिए आपको आज बताएंगें इसके इलाज और बचने के तरीके। आइए जानते है इसके घरेलू इलाज क्या है। आंवला अगर आपको भी लिकोरिया यानि सफेद पानी की शिकायत है तो आपको बता कि आपको आंवले को का सेवन करना चाहिए। आप इसको सुखाकर इसका चूर्ण बना ले और इसका सेवन करें। पानी के साथ इसको पीने से 3 महीने के अंदर सफेद पानी की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी। शर्मिंदा न होइए.. इन देसी नुस्‍खों से बढ़ाइए अपने लिंग का आकार सफेद मूसली अगर आपको सफेद पानी की समस्या है और आप इससे छुटकारा पाना चाहते है तो आपको बता दें कि इसके लिए सफेद मूसली का चूर्ण बहुत उपयोगी है। इसके लिए आपको सफेद मूसली का चूर्ण और ईसबगोल मिलाकर लेना है। इससे जल्द ही आपको आराम मिलेगा। झरबेरी अगर आपको सफेद पानी की शिकायत है तो आपको आपको झरबेरी के बेरों को सुखाकर इसका चुर्ण बनाना है और इसको चीनी और शहद के साथ खाना है इससे आपके सफेद पानी की समस्या खत्म हो जाएगी। इसका सेवन लाभदायक है, ये आपकी मदद करता है। नागकेशर इसको लेने के लिए आप केसर और छाछ का इस्तेमाल कर सकते है। अगर आपको सफेद पानी की शिकायत है तो आपको इसके सेवन से राहत मिलेगी ये आपके लिए फायदेमंद है। ये सफेद पानी की समस्या को जड़ से खत्म कर देता है। इसलिए इसका उपयोग जरूर करें। रोहितक अगर आपको सफेद पानी की समस्या है तो आपको बता दें कि रोहितक की जड़ को पीसकर इसको पानी के साथ पीने से आपके सफेद पानी की समस्या खत्म हो जाती है। इसको पीना लाभदायक है। इसके उपयोग से आपकी समस्या खत्म हो जाएगी। गाजर अगर आपको लिकोरिया की शिकायत है को आपको गाजर, मूली और चुकंदर के रस का सेवन करना चाहिए। ये आपकी बीमारी के लिए रामबाण इलाज है। इसके सेवन से आपको लिकोरिया रोग से छुटकारा मिलेगा। इसको एक रामबाण इलाज माना जाता है। मेथी से इलाज आपको बता दें कि यदि आपको सफेद पानी की शिकायत है तो आपको मेथी के कुछ दानों को भीगे कपड़े में बाधकर रख दें और कुछ समय बाद उसको एक धागे से बांध योनि के अंदर रखें। इसको 4 घँटे के बाद निकाल ले। इससे आपके सफेद पानी के रोग में आराम मिल जाएगा। ईसबगोल अगर आपको सफेद पानी की समस्या है तो आपको बता दें कि आपको ईसबगोल को दूध के साथ मिलाकर पीना है। ऐसा करने से आपको सफेद पानी में आराम मिल जाएगा। ये एक असरदार घरेलू उपाय है। केला अगर आपको सफेद पानी की शिकायत है तो आपको पके हुए केले को चीनी के साथ मिलाकर खाना चाहिए। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके सफेद पानी की समस्या खत्म हो जाएगी। इसका सेवन करना लाभदायक है। ऐसा करने से आपकी समस्या जल्द ही खत्म हो जाएगी। जामुन अगर आपको सफेद पानी की शिकायत है तो आपको बता दें कि आपको इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। जामुन की छाल को आप सुखा ले और इसको पीस लें। इसके चुर्ण को आप दिन में तीन बार सेवन करें। ऐसा करने से आपको सफेद पानी की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। English summary 10 Home Remedies For Leukorrhea Vaginal Discharge Now days, many types of diseases are common among women. We also offer many types of treatment. But do you know that there are problems which should not be considered as disease. In some cases, Leukorrhea comes out of the vagina. Please Wait while comments are loading...

इस बेशकीमती औषधि का 1 गिलास पीने से लीवर और किडनी होंगे साफ

Thursday, November 2 2017

इस बेशकीमती औषधि का 1 गिलास पीने से लीवर और किडनी होंगे साफ

9: आज के इस नये युग में टेक्नोलोजी इतनी आगे निकल चुकी है कि हर रोज एक ना एक नये खोज और आविष्कार होते ही रहते हैं। लेकिन हमारा शरीर आज भी वैसे का वैसा ही है जैसा वह पहले हुआ करता था, एक जटिल मशीन की तरह जिसे एक साथ कई सारे काम करने होते हैं। हमारे शरीर के श्वशन तंत्र, पाचन तंत्र, एक्सक्रेटरी सिस्टम सभी एक साथ काम करते हैं बिल्कुल आदमी द्वारा बनाई गई मशीन की तरह और अगर मशीन को ठीक रखना है तो यह जरुरी है कि उसका हर एक पार्ट अच्छी अवस्था में रहे खासकर उसका इंजन। मनुष्य का शरीर ढेर सारे अंगो से मिलकर बना है जो शरीर को बेहतर रखने के लिए अच्छी तरीके से काम करते रहते हैं। मनुष्य का शरीर जिन अंगो से मिलकर बना है उनमें पेट, लिवर, किडनी, पैन्क्रीयाज और फेफड़े आदि मुख्य रूप से हैं। मनुष्य के शरीर में मौजूद इन अंगो का अलग अलग काम होता है जैसे हमारी किडनी का काम है ब्लड को शुद्ध करना और शरीर के बेकार और विषैले पदार्थों को बाहर निकालना। पैन्क्रीयाज आंतो में कुछ पाचक एंजाइम का स्राव करके पाचन क्रिया में अहम भूमिका अदा करता है। इसके अलावा यह इन्सुलिन नामक एक हार्मोन भी स्रावित करता है जोकि शरीर के ग्लूकोस लेवल को नियंत्रित करने का काम करता है जिससे डायबिटीज आदि नहीं होती है। ऐसे ही लीवर हमारे शरीर का एक अहम अंग होता है जोकि बाइल जूस का स्राव करता है और शरीर के सारे टॉक्सिक पदार्थों को बाहर निकालने का काम करता है। ये सारे ही अंग हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं लेकिन कभी कभी कुछ अशुद्धियों की वजह से इनका काम बाधित होता है और हमें दिक्कत होने लगती है। आजकल की अपनी तनाव भरी जिन्दगी की वजह से लोग हेल्दी डाइट नहीं ले पाते हैं और बाज़ार में मिलने वाले रेडीमेड खाद्य पदार्थों का सेवन ज्यादा करने लगते हैं जिसकी वजह से शरीर में कई तरह के टॉक्सिक पदार्थ जमा हो जाते हैं जिनसे छुटकारा पाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है और शरीर बीमारियों का घर बन जाता है। इसलिए यह बहुत ही जरुरी है कि इन अंगो को ठीक से काम करने के लिए इनको सही स्थिति में रखा जाए ताकि हम आप स्वस्थ रह सकें। आयुर्वेद में पहले से ही इन अंगो को साफ़ करने के बहुत से तरीकों के बारे में ढेर सारी चीजें बताई गई हैं। कुछ ऐसी प्राकृतिक चीजें हैं जो हमारे शरीर के अंगो को साफ़ करके इन्हें ठीक ढंग से रखती हैं। उनमे से ही एक है धनिया जोकि लिवर, किडनी और पैन्क्रीयाज को अच्छे से साफ़ करके इन्हें स्वस्थ रखता है। धनिया के और भी फायदे हैं जैसे लिवर से फैट को बाहर निकालना और शरीर के शुगर लेवल को नियंत्रित करना। इसके अलावा किडनी में स्टोन को बनने से रोकता है। इसमें वो सारे औषधीय गुण मौजूद हैं जो शरीर को डीटोक्सीफाई करने के लिए जरुरी होते हैं। तो आइये हम आपको इस धनिये को कैसे इस्तेमाल करें कि आपके लिवर, किडनी और पैन्क्रीयाज ठीक से अपना काम कर सकें। 1. धनिये का पानी: धनिये को अपने डाइट में इस्तेमाल करना कोई मुश्किल काम नहीं है। आप सबसे पहले पानी में धनिये के पत्ते को डालकर उसे कम से कम 15 मिनट तक उबालें और फिर उसे एक साफ़ बोतल में छानकर रख लें। इसके बाद इस पानी को आप रोज कुछ दिनों तक पियें फिर आप देखेंगे कि आपके हेल्थ में किस तरह से सुधार हो रहा है। 2. धनिया-नींबू सूप: इसको बनाने के लिए जरुरी चीजों के बारे में जान लें, ताजा धनिया के पत्तों का एक गुच्छा आधा चम्मच मक्के का आटा एक चम्मच क्रीम एक चम्मच मिर्च पाउडर एक चम्मच नमक और आधा कटा हुआ नींबू बनाने का तरीका: इसके लिए आप सबसे पहले धनिया के पत्तों को एक कप पानी में डालकर 15 मिनट तक उबाल लें और इसे अलग एक कप में रख दें। इसके बाद इसमें मक्के के आटे का पेस्ट बनाकर मिला दें। फिर इसमें क्रीम और एक चुटकी मिर्च पाउडर डालें, फिर अपने स्वादानुसार नमक मिलाएं और नींबू के रस को इसमें निचोड़ लें, इस तरह से आपका यह हेल्दी और गर्म सूप तैयार हो जायेगा। इस तरह से आप अपने घर में ही इन प्राकृतिक चीजों के इस्तेमाल से अपने शरीर के अंगो को साफ़ रख सकते हैं जिससे कि वो सुचारू रूप से अपना काम कर सकें और आप स्वस्थ रह सकें। English summary Natural Ingredient Helps Cleanse Your Pancreas, Liver & Kidneys It is very important to keep your liver, kidneys and pancreas healthy, Know about this one ingredient to cleanse these organs. 9:

पेट की चर्बी कम करने के लिए अपनाए ये 17 तेल, तुरंत कम होगी चर्बी

Thursday, November 2 2017

पेट की चर्बी कम करने के लिए अपनाए ये 17 तेल, तुरंत कम होगी चर्बी

तंदुरुस्‍ती » पेट की चर्बी कम करने के लिए अपनाए ये 17 तेल, तुरंत कम होगी चर्बी पेट की चर्बी कम करने के लिए अपनाए ये 17 तेल, तुरंत कम होगी चर्बी Wellness 10: अगर आपका वजन हद से ज्यादा बढ़ रहा है और आप इसको कम करना चाहते है तो आपको बता दें कि इसके लिए बहुत सारे रास्ते होते है। आप मोटापा बढ़़ने के बाद बहुत परेशान हो जाते है और यही सोचते है कि इसका इलाज कैसे किया जाना चाहिए। ऐसे में कई लोग जिम जाना शुरु कर देते है और कई लोग बाजार से कई तरह के प्रोडक्ट खरीदकर ले आते है। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आप पेट की चर्बी को कम कर सकते है और कैसे आप बिना मेहनत किए हुए अपना वजन कम कर सकते है। आज हम आपको कुछ तेल के बारे में बाताएंगे जो आपके लिए काफी फायदेमंद होते है। आप इनकी मदद से अपने पेट की चर्बी को झट से कम कर सकते है। क्या आप इनके बारे में जानते है। आइए हम बताते है कि वो कौन से तेल है जो आपके पेट की चर्बी को कम करते है। नींबू का तेल नींबू में विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है जो आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अगर आपका वजन बढ़ गया और अपने पेट की चर्बी को कम करना चाहते है तो आपको रोज सुबह नींबू के तेल की दो बूंदें पानी में डालकर पीना है। अगर आप ऐसा नहीं कर पाते है तो आप इसको अपने पैरों के भी डाल सकते है। पिपरमिंट का तेल अगर आपका वजन बढ़ा हुआ है और आप अपने पेट की चर्बी को कम करना चाहते है तो आपको इसके लिए पिपरमिंट के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। इसको इस्तेमाल करने से आपके पेट की चर्बी कम हो जाएगी। आप इसका सेवन पानी के साथ या खाने के साथ कर सकते है। लेवेंडर ऑयल अगर आपके पेट की चर्बी लाख जतन करने के बाद भी कम नहीं हुई है तो आप घबराइए मत। ये समय आपके खुश होने का है। अगर आपको ये लगता है कि पेट कम नहीं हो रहा है तो आपको लेवेंडर के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। इलायची का तेल अगर आपको नहीं पता है तो बता दें कि इलायची एक बहुत ही फायदेमंद चीज है। अगर आपके पेट में चर्बी बढ़ गई है तो आपको इसके तेल का सेवन करना चाहिए। ये आपके पेट की चर्बी को कम करने में मदद करती है। अंगूर का तेल आपके बढ़ते वजन से अगर आप परेशान है तो आपको बता दें कि आपको अंगूर के तेल का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आपके पेट की चर्बी बहुत जल्दी कम होने लगेगी। अंगूर का तेल एक कारगर उपाय है। दालचीनी का तेल अगर आप चाहे तो आपको पेट की चर्बी की समस्या तुरंत कम हो सकती है। इसके लिए आपको दालचीनी के तेल का सेवन करना है। आप चाहे तो इसको पानी के साथ या खानें में जालकर भी खा सकते है। ऐसा करने से आपके पेट की चर्बी छूमंतर हो जाएगी। अदरक का तेल जैसा की आप जानते है कि अदरक आपके सेहत के लिए किसी औषधि से कम नहीं होती है। अगर आपके पेट की चर्बी बढ़ गई है और आप इसे कम करना चाहते है तो आपको इसके तेल का सेवन करना चाहिए इसके सेवन से आपके पेट के की चर्बी कम हो जाएगी। संतरे का तेल आपको बता दें कि संतरे के जूस की तरह इसका तेल भी बहुत फायदेमंद होता है। आपको बता दें कि इसका सेवन करने से पेट की चर्बी घटने लगती है और बहुत जल्दी आपका पेट कम हो जाता है। इसका सेवन नियमित करें और फिट रहें। सौंफ का तेल आपने अक्सर देखा होगा कि खाना खाने के बाद लोग सौंफ खाते है और ये इसलिए क्योंकि सौंफ खाने को पचाने में मदद करती है। इसके तेल से आप अपने पेट की बढ़ी हुई चर्बी को कम करके अपना वजन घटा सकते है। इसलिए इसका सेवन अवश्य करें। मिर्र का तेल इस तेल के सेवन से आपके पेट की चर्बी तुरंत कम हो जाएगी। आपको इसका सेवन करना चाहिए और फिट रहना चाहिए। आपको बता दें कि ये तेल आपके लिए पूरी तरह से सुरक्षित और फायदेमंद है। गुलमेंहदी का तेल आपको बता दें कि आपको पेट की चर्बी घटाना है तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आप चाहे तो आप गुलमेंहदी के फूल का भी सेवन कर सकते है। इससे आपको काफी फायदा मिलेगा और आपके पेट की चर्बी कम होने लगेगी। जैस्मीन का तेल इस तेल से आप अपने शरीर के रोगों से छुटकारा पा सकते है। अगर आपका पेट बढ़ गया और उसकी चर्बी आपको परेशान कर रही है तो घबराइए मत। आपको जैस्मीन का तेल इस्तेमाल करना है। आप इसका रोज सेवन करें, इससे आपके पेट की चर्बी कम हो जाएगी। नीलगिरी का तेल आपको बता दें कि अगर अपने बढते हुए वजन से परेशान है और अपने पेट की चर्बी को कम करना चाहते है तो आपको नीलगिरी के तेल का उपयोग करना चाहिए। ऐसा करने से आपके पेट की चर्बी कम हो जाती है और आप फिट जाएंगे। गुलाब का तेल आपने गुलाब जल का इस्तेमाल तो कई बार किया होगा पर आपको पेट की चर्बी कम करने के लिए इसके तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। ये आपके पेट को कम करने में मदद करता है। बर्गमोट तेल आपको बता दें कि ये तेल काफी फायदेमंद होता है। इससे आपके शरीर में बढ़ी हुई चर्बी कम हो जाती है और आपको एक फिट शरीर देता है। इसलिए इसके इस्तेमाल से आपको काफी फायदा होने वाला है। चंदन का तेल आपको बता दें कि चंदन एक आयुर्वेदिक चीज है और इसका प्रयोग कई जगह पर किया जाता है। आपको बता दें कि अगर आपका वजन और पेट की चर्बी बढ़ गई है तो आपको इसके तेल का सेवन करना है। इससे आपके पेट की चर्बी कम हो जाती है। नारंगी तेल आपके पेट का बढ़ना आपके शरीर के साथ आपकी सेहत के लिए भी बहुत खराब होता है। इसको कम करने के लिए आपको नारंगी के तेल का सेवन करना चाहिए। इसको आप रोजाना दों बूंदो के हिसाब से पानी में डालकर पी सकते है। ये पेट की चर्बी को खत्म करके आपको एक अच्छा शरीर देता है। English summary 17 Best Oils To Reduce Belly Fat Quickly If your weight is rising more and you want to reduce it, then tell you that there are so many ways for this. You become very nervous after obesity increases and think how to treat it. 10:

पीठ के एक्‍ने साफ करने के लिये लगाएं ये 6 घरेलू पैक

Saturday, November 4 2017

पीठ के एक्‍ने साफ करने के लिये लगाएं ये 6 घरेलू पैक

» पीठ के एक्‍ने साफ करने के लिये लगाएं ये 6 घरेलू पैक पीठ के एक्‍ने साफ करने के लिये लगाएं ये 6 घरेलू पैक Body Care Published: Saturday, November 4, 2017, 16:30 पीठ पर मुंहासे सच मुच शर्मिंदा करते हैं। इनकी वजह से ना तो आप बैकलेस ब्‍लाउज पहन सकती हैं और ना ही सेक्‍सी फील कर सकती हैं। ऊपर से एक्‍ने के दाग इतने सख्‍त होते हैं कि लंबे समय तक निशानछोड़ जाते हैं, जिन्‍हें जल्‍द मिटाना काफी मुश्‍किल होता है। यदि आपकी पीठ पर भी भद्दे से दिखने वाले मुंहासे के निशान हैं तो आप उसे घरेलू नुस्‍खों के दृारा पल भर में ही मिटा सकती हैं। आइये जानते हैं कुछ नुस्‍खे.... #1. ओटमील और दही पैक ओटमील एक स्‍क्रब की तरह काम करता है, जो कि पीठ से अत्‍यधिक तेल को निकालने में मदद करेगा। वहीं दूसरी ओर दही आपकी स्‍किन को नमी प्रदान करेगी और दोंनो को साथ में लगाने से आपकी पीठ का रंग गोरा होगा। बनाने की विधि - सबसे पहले 3 चम्‍मच ओटमील ले कर उसे पावडर में पीस लें। फिर उसमें 1 या 2 चम्‍मच ही मिलाएं और पीठ पर लगाएं। इसे 20 मिनट तक पीठ पर लगा रहने दें और बाद में गरम पानी से नहा लें। ऐसा हफ्त में दो बार करें और रिजल्‍ट देखें। #2. राइस पावडर और टमाटर टमाटर में विटामिन होता है जो कि मार्क को साफ करेगा। चावल स्‍क्रब कर के पीठ से दाग धब्‍बों को मिटाएगा। बनाने की विधि - टमाटर को पीस लें और उसमें राइस पावडर मिक्‍स कर दें। इस पेस्‍ट को प्रभावित जगह पर लगाएं। फिर 30 मिनट के बाद पेस्‍ट को ठंडे पानी से धो लें। इससे पीठ की टैनिंग तो जाएगी ही साथ में एक्‍ने के निशान भी दूर होंगे। #3. हल्‍दी और बेसन पैक इन दोंनो को मिला कर लगाने से स्‍किन की काफी सारी समस्‍याएं ठीक हो जाती हैं। इसे लगाने से दाग धब्‍बे मिटते हैं और रंग साफ होता है। बनाने की विधि - हल्‍दी और बेसन को मिला कर पेस्‍ट बनाएं। फिर इसमें दही मिलाएं और पीठ पर लगाएं। इस पैक को पीठ पर लगा कर आधे घंटे तक रखें। बाद में इसे साफ कर लें और असर देंखे। #4. नमक के पानी से स्‍नान यदि आप काफी देर अपनी बॉडी को नमक के पानी में डुबोए रहेंगी तो आपके ऑइली पैच ठीक हो जाएंगे। बनाने की विधि - अपने बाथटब को गुनगुने पानी से भरें। फिर उसमें 1 कटोरी नमक मिलाएं। अपनी बॉडी को उसमें 20 मिनट तक डालें। आप देंखेगी की आपकी झाइयां और दाग धब्‍बे पीठ से मिट जाएंगे। #5. टी ट्री ऑइल पैक टी ट्री ऑइल में एंटी बैक्‍टीरियल गुण और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं। इससे एक्‍ने पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया खतम हो जाते हैं। बनाने की विधि - 1 कप गरम पानी में 2-3 बूंद टी ट्री ऑइल मिक्‍स करें। एक बड़े कॉटन का टुकड़ा ले कर इसे अपनी पीठ पर लगाएं। जब यह सूख जाए तब 15 मिनट के बाद स्‍नान करें। ऐसा हफ्ते में तीन बार जरुर करें। इससे पोर्स साइज में कम हो जाएंगे और एक्‍ने दूर होंगे। #6. दालचीनी और शहद यह एक तुंरत बनने वाली रेसिपी है जो बैक एक्‍ने को दूर कर सकती है। इससे स्‍कन मॉइस्‍चराइज रहती है और तेल साफ होता है। दालचीनी में एंटी बैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो एक्‍ने पैदा करने वाले बैक्‍टीरिया को दूर करते हैं। बनाने की विधि - सबसे पहले दालचीनी का पावडर बना कर उसमें 2 चम्‍मच शहद और नींबू मिक्‍स कर लें। इसे पैक की तरह अपने बैक में लगा लें। 20 मिनट के बाद गरम पानी से नहा लें। इसे रेगुलर लगाएं और रिजल्‍ट देंखे।

दिन भर रहते हैं बीमार तो रोज़ नाश्‍ते से पहले पिएं जीरे और गुड का पानी

Saturday, November 4 2017

दिन भर रहते हैं बीमार तो रोज़ नाश्‍ते से पहले पिएं जीरे और गुड का पानी

डाइट-फिटनेस » दिन भर रहते हैं बीमार तो रोज़ नाश्‍ते से पहले पिएं जीरे और गुड का पानी दिन भर रहते हैं बीमार तो रोज़ नाश्‍ते से पहले पिएं जीरे और गुड का पानी Diet Fitness Published: 13:49 आज कल लोंगो की इम्‍यूनिटी धीरे धीरे कमजोर होती चली जा रही है, जिसके कारण वह हर वक्‍त बीमार पड़ते रहते हैं। समय और ज्‍यादा पैसा ना होन के कारण ना तो वो डॉक्‍टर को दिखा पाते हैं और ना ही अपना ख्‍याल रख पाते हैं। शारीरिक थकान, खून की कमी, बुखार, पीरियड्स में दिक्‍कत या फिर बॉडी वेट में कामी आना, हमारी लाइफस्‍टाइल की खराबी का मुख्‍य कारण है। लेकन आप परेशान ना हों क्‍योकि कुदरत ने हमें कुछ ऐसी चीजें दी हैं, जिससे अगर हम चाहे तो अपना स्‍वास्‍थ्‍य सुधार सकते हैं। जीरा और गुड का पानी एक ऐसी ही रामबाण दवा है जिसे खुद आयुर्वेद में जगह मिली हुई है। जीरे और गुड़ के पानी में आयरन काफी अधिक होता है जिससे खून की कमी दूर होती है। इस ड्रिंक को आप कम से कम 30 दिनों तक लगातार पिएं और इसका जादुई असर अपने शरीर पर देंखे। इस पानी को कैसे बनाएं? एक पानी के बर्तन में 1 चम्मच जीरा और 1 चम्मच गुड़ मिलाएं। अब इस पानी को उबालें। इस ड्रिंक को बनाने के लिये इन दोंनो चीजों को कुछ मिनिट तक उबालें तथा इस मिश्रण को एक कप में निकालें। आपका ड्रिंक सेवन के लिए तैयार हैं। इस ड्रिंक को प्रतिदिन सुबह नाश्ता करने से पहले पीयें। यह जानने के लिए किस प्रकार जीरा और गुड़ आपके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है, आगे पढ़ें। 1. एनीमिया में फायदेमंद अक्‍सर देखा जाता है कि महिलाओं और लड़कियों को खून की कमी हो जाती है। गुड़ और जीरे का पानी पीने से शरीर में एनीमिया या खून की कमी पूरी होती है। साथ ही यह खून में मौजूद गंदगियों को भी दूर करता है। 2. सिरदर्द से दिलाए राहत सिरदर्द से परेशान रहते हैं तो गुड़ और जीरे का पानी पीने से आपको जरूर लाभ मिलेगा। साथ ही अगर आपको फीवर है तो यह इससे भी आपको छुटकारा दिलाएगा। 3. पेट फूलने से आराम दिलाता है जीरे और गुड़ का मिश्रण एसिड के प्रभाव को बेअसर कर देता है जिसके अकारण पेट में गैस बनना। इसको पीने से पेट फूलने और एसिडिटी की समस्‍या से राहत मिलती है। 4. शरीर के तापमान को कम करता है यह प्राकृतिक पेय शरीर के तापमान को कम करता है और शरीर के तापमान को नियमित करता है जिससे बुखार, सिरदर्द और जलन आदि से राहत मिलती है। 5. शरीर के दर्द को कम करता है शरीर का काफी दर्द दे रहा है तो इस ड्रिंक को तुरंत ही पिएं। जीरे और गुड़ के पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जिससे यह प्रभावित भाग में रक्त प्रवाह को बढाकर शरीर के दर्द को कुछ हद तक कम करता है। 6. मासिक धर्म को नियमित करता है यह पानी महिलाओं के शरीर में हार्मोंस के असंतुलन को नियमित करता है। यदि किसी महिला को पीरियड्स की प्रॉब्‍लम है तो वह इस पानी को जरुर पिएं। इससे उसके पीरियड्स रेगुलर होंगे। यह मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है। 7. बॉडी को अंदर से क्‍लीन करे जब हम दिन - रात बाहर का जंक फूड खाते हैं तो हमारे शरीर में कुछ विषैले पदार्थ इकठ्ठे हो जाते हैं। लेकिन जीरा और गुड का पानी एक प्राकृतिक डिटॉक्‍स है, जो शरीर को अंदर से क्‍लीन करता है। इसको पीने से इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत होता है क्‍योंकि शरीर साफ हो जाता है। 8. कब्‍ज दूर करे अगर आपका पेट साफ नहीं होता तो इस ड्रिंक को जरुर पिएं। आयुर्वेद में इस पानी को पीने के लिये बोला गया है जिससे कब्‍ज ठीक हो सकता है। 9. कमर दर्द का बेजोड़ इलाज क्‍या आप पीठ दर्द और कमर दर्द से परेशान रहते हैं? गुड और जीरे का पानी पीने से आपको इन सभी समस्याओं से निजात मिल सकती है। बस इसे रेगुलर पिएं। 10. बुखार में लाभदायक बुखार होने पर परेशान ना हों क्‍योंकि यह प्राकृतिक पेय शरीर के तापमान को कम और नियमित करता है जिससे बुखार, सिरदर्द और जलन आदि से राहत मिलती है। यदि आपको बुखार हो गया है तो रोजाना इस पानी का सेवन करें आपको जल्‍द ही आराम मिलेगा। English summary Benefits Of Jeera And Jaggery Water In Hindi You can consume this drink every morning, before breakfast. To learn about how jaggery and jeera water can improve your health, you can read more, below. Story first published: 13:49 [IST] Nov 4, 2017 कीअन्यखबरें

भुजंगआसन करने से पेट की चर्बी और वजन कम होता है, ऐसे करें आसन

Saturday, November 4 2017

भुजंगआसन करने से पेट की चर्बी और वजन कम होता है, ऐसे करें आसन

» भुजंगआसन करने से पेट की चर्बी और वजन कम होता है, ऐसे करें आसन भुजंगआसन करने से पेट की चर्बी और वजन कम होता है, ऐसे करें आसन Wellness Updated: 14:07 आपके पेट की चर्बी को कम करने के लिए ज्यादा खर्चा करने के जरूरत नही है। अगर आप चाहते है कि आपको इसके लिए ज्यादा ना खर्चा ना करना पड़े और आपकी चर्बी भी कम हो जाए तो आपको आपको थोड़ी मेहनत करने की जरूरत है। कई आसन ऐसे भी है जो आपको कई तरह की समस्याओं से दूर रखते है।इसके लिए आपको रोज आसन करना है और स्वस्थ रहना है। आपको पेट की चर्बी कम करना है आपतको भुजंग आसन करना चाहिए। भुजंगासन के फायदे वैसे तो अनेकों है लेकिन अगर इस को सही ढंग से किया जाए तो वजन घटाने के लिए यह एक उम्दा योगाभ्यास है। हाथ और पैर में कंपन्न होता है तो ये 10 घरेलू उपाय देगे आराम आपके अगर आपको फिट रहना है तो आपको योगासन का सहारा लेना चाहिए। कई लोगों को ऐसी समस्याएं होती है जो आपके शरीर से योग के जरिए ही कम हो सकते है। आइए जानते है कि कैसे आप पेट चर्बी कम कर सकते है.. वजन कम करने के लिए करें ये आसन आपको शरीर से वजन कम करना है तो आपको इस आसन का प्रयोग करना चाहिए। भुजंगासन के कई प्रकार हैं जो पेट की चर्बी को कम करने के लिए प्रभावी है। यहां पर हम उन सभी भुजंगआसनों का ज़िक्र करेंगे जो आपके तोंद के साथ-साथ शरीर के और जगहों की चर्बी को कम करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। इसलिए इसको आपको ये करना है और स्वस्थ रहना है। पेट की चर्बी को ऐसे करें कम आपको अगर पेट की चर्बी कम करनी है तो आपको इसके लिए भुजंगआसन करना चाहिए। इससे आपके पेट की चर्बी तुरंत कम हो जाती है। आपको रोज सुबह इस आसन को करना है। ये आसन आपके लिए वरदान साबित हो सकता है। ऐसें करें ये आसन भुजंगआसन करने के लिए आप सबसे पहले आप पेट की बल लेट जाए और अपने हाथों को पैर के बगल रखें। अब आप अपने हथेली को नाक के बगल लेकर आयें। साँस लेते हुए हथेली के बल पर अपने सिर को नाभि तक उठाएं। और सिर से ऊपर की ओर छत या आसमान को देखने की कोशिश करें। इसी हालत में थोड़ी देर तक रहें। अपनी तोंद को ऐसे कम करें आपकी तोंद अगर बढ़ी हुई है तो आपको इसके लिए भी आसन करना चाहिए। इसे करने के लिए आप सबसे पहले पेट की बल लेट जाएं और अपने हथेली को मुहँ के बराबर रखें। अपने दोनों पैरों को इस तरह से समायोजन करें की दोनों के बीच कोई फासला न हो। अब आप साँस लेते हुए हथेली के बल पर अपने सिर और पुरे शरीर को इस तरह से उठाएं कि आपका पूरा शरीर हथेली और पैरों की उँगलियों पर टिका हुआ हो। इतनी देर तक करें आपकगो इस आसन को करने के लिए समय का ज्ञान होना आवश्यक है। इसको आप 20 से 30 सेकंड तक बनाए रखें। धीरे धीरे आप इसे 60 सेकंड तक करने की कोशिश करें। यह भुजंगासन का सबसे प्रबल प्रकार है।यह आपकी पेट की चर्बी ही नहीं बल्कि पुरे शरीर के अतरिक्त चर्बी को कम करने में सहायक है। जैसे आपके दिन बढ़े आपको इसके सेट भी बढ़ाने है। नितंब की चर्बी कम करने के लिए अगर आपके नितंब की चर्बी बढ़ी हुई है तो आपको इसके लिए ये भुजंगआसन करना चाहिए। इसको करने से आपके नितंब की चर्बी कम हो जाती है। ये आसन आपके लिए संपूर्ण सुरक्षित आसन है। आपको ये रोज करना है और धीरे धीरे इसके सेट लगातार बढाने है। आपको जल्द ही इससे राहत मिलेगी। उदर के बगल की चर्बी अगर आपके उदर के बगल की चर्बी बढ़ गई है तो आपको बता दें कि आपको इसके लिए भुजंगआसन का प्रयोग करना है। आपको ऐसा करने से बहुत फायदा होगा और आपकी चर्बी कम हो जाएगी। ये आसन बहुत अच्छा है। ऐसे भी कर सकते है विधि भुजंगआसन करने के लिए कई तरीके होते है। आप इसके लिए पांचवी विधि भी कर सकते है। इसके लिए आपकी सबसे पहले आप पेट की बल लेट जाएं और अपने हथेली को मुहँ के बराबर रखें। अपने दोनों पैरों के बीच में एक से डेढ़ फीट की दुरी बनाएं। अपने घुटनों को इस तरह से मोड़े की पैर की उंगलियां आसमान की ओर हो। आपको इसके लिए 30 सेकंड से ज्यादा इसी हालत में रहना है। English summary How to Lose Belly Fat Through bhujangasana There is no need to spend more to reduce the fat of your stomach. If you want that you do not have to spend more for it and you lose your fat, then you need to work harder.

क्या पेट की गैस ( पाद ) को रोककर रखना चाहिए?

Monday, November 6 2017

क्या पेट की गैस ( पाद ) को रोककर रखना चाहिए?

Published: 17 आजकल के लाइफस्‍टाइल की वजह से हम कुछ भी खा पी लेते हैं। ऐसे में एसिडिटी होना तो लाजिमी सी बात है। आम तौर पर लोग इसको सबके सामने करने से शर्मिंदा महसूस करते हैं। इसलिए लोग पब्लिकली गैस पास करने से बचते या शर्म की वजह से पेट में ही गैस को घंटों रोक लेते हैं। लेकिन सवाल ये है कि क्या गैस को रोकना सेहत के लिए घातक हो सकता हैं। इससे कई समस्‍याएं हो सकती है? पेट की गैस में मौजूद होते है ये तत्‍व जब कोई इंसान पादता है, तब उसके शरीर से निकलने वाली गैस में सामान्‍य तौर पर 59% नाइट्रोजन, 21% हाइड्रोजन, 9% कार्बन डाईऑक्‍साइड, 7% मीथेन, 4% ऑक्‍सीजन और सिर्फ 1% सल्‍फर युक्‍त गैस होती शामिल होती है। क्या पेट के गैस को रोककर रखना सेफ है? कभी-कभी जो खाना हम खाते हैं वह लैक्टोस या ग्लूकोज़ इंटलोरेंस के कारण अच्छी तरह से हजम नहीं हो पाता है जिसके कारण पेट में एसिडिटी हो जाता है। जब आपके पेट में अतिरिक्त गैस जमा हो जाता है तब वह बाहर निकलना चाहता है। ऐसे में गैस को ज्यादा देर तक रोकने से पेट दर्द की समस्या हो सकती है। गैस को वक्त पर छोड़ते रहना आपको इससे बचा सकता है। कोलोन में हो सकती है प्रॉब्‍लम हां, पेट के गैस को रोककर रखने से तभी आपको प्रॉब्लम होता है जब आपके कोलोन में प्रॉबल्म होता है। उस वक्त इस ब्लॉकेज के कारण आपके कोलन बैलून की तरह फूल जाता है। लेकिन ये असुविधा सिर्फ बीमार लोगों को होता है नॉर्मल लोगो को नहीं। यानि गैस को पास होने से रोककर रखने से सिर्फ असुविधा ही महसूस होता है सेहत को कोई नुकसान नहीं पहुँचता है। आंत की समस्‍या न हो जाएं पाद को रोककर रखने से बड़ी आंत में भी परेशानी हो सकती है। ऐसे में जिन्हें बड़ी आंत को लेकर कोई समस्या रहती है उन्हें गैस को बिलकुल रोककर नहीं रखना चाहिए। गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में हो सकती है समस्‍या गैस्ट्रोइंटेस्टिनल ट्रैक्ट में किसी भी प्रकार की ऐसी असुविधा मतली या उल्टी का कारण बन सकता है।अगर आप गैस को बार-बार पास करने से बचना चाहते हैं तो पेट को साफ रखें। इसके लिए हो सके तो प्रोबायोटिक लें। Read more about: wellness English summary why you should never hold a fart you should never hold your fart as it may cause health issues and can interrupt the digestive functions. Story first published: 17 [IST] Nov 6, 2017 कीअन्यखबरें

10 ऐसी बुरी आदतें जो जल्‍दी बूढ़ा करती हैं आपके दिल को

Monday, November 6 2017

10 ऐसी बुरी आदतें जो जल्‍दी बूढ़ा करती हैं आपके दिल को

» 10 ऐसी बुरी आदतें जो जल्‍दी बूढ़ा करती हैं आपके दिल को 10 ऐसी बुरी आदतें जो जल्‍दी बूढ़ा करती हैं आपके दिल को Heart Published: Monday, November 6, 2017, 16:22 [IST] Subscribe to Boldsky इंसान खुद अपने ही हाथों अपनी सेहत बिगाड़ने में लगा है। न खाने का वक्त, न सोने का ठिकाना और न करसत करना और न ही टहलने जाना। अपनी इन्हीं खराब आदतों के चलते इंसान कम उम्र में ही हृदयाघात जैसी समस्याओं का शिकार हो रहा है। हृदयाघात, स्ट्रोंक जैसी बढ़ती हृदय की समस्याएं हमारी बदलती जीवनशैली की ही देन हैं। आज युवाओं में हृदयाघात जैसी समस्या होना कोई आश्चर्य की बात नहीं। खान-पान की गलत आदतों से लेकर हमारी आराम तलब जीवनशैली तक इन बीमारियों का कारण है। लेकिन बदलते समय के साथ चलना हमेशा से ही समझदारी माना गया है। इसलिए अच्छा होगा आप सजग हो जाएं और अपना खयाल रखें। आइये जानते हैं कुछ ऐसी आदतों के बारे में जिनसे हृदयाघात यानीहार्टअटैक हो सकता है। 1. गलत आहार खाना: बदलते समय के साथ हमारा आहार भी बदला है। पहले जहाँ हम सादा भोजन खाते थे वहीँ आज हम ज्यादा टला भुना खाने लगे हैं। जिससे ना सिर्फ हमारे स्वस्थ पर असर पड़ा है बल्कि हमारे दिल पर भी पड़ा है। ज्यादा टला भुना खाने में शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और हाइपरटेंशन की बीमारी होती है। 2. ज्यादा बैठे रहना: देर देर तक बैठ कर काम करना और फिर वहीँ बैठे बैठे खाना। यह सब दिल को कमज़ोर बनाता है। जैसे आज कल रोज़ ऑफिस में बैठ कर काम करते हैं और साथ ही बैठ कर पिज़्ज़ा, बरगुर और समोसा आदि खाते हैं। इससे पेट तो भर जाता है लेकिन साथ ही लगभग 700 कैलोरी भी बढ़ती है। और ऊपर से लम्बे समय तक एक ही जगह बैठे रहना। यह हृदय के स्वास्थ के लिए अच्छा नहीं है। 3. धूम्रपान: धूम्रपान से रक्त का थक्का बनने की प्रवृत्ति बढ़ जाती है और कोरोनरी आर्टरी के अलावा मस्तिष्क को जाने वाली धमनियां भी प्रभावित होती हैं। थक्का बनने से धूम्रपान करने वाले व्यक्ति में स्ट्रोक या लकवा मारने का खतरा भी बढ़ जाता है। इसके अलावा धूम्रपान से रक्त की प्लेटलेट्स भी नष्ट होती हैं। धूम्रपान खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देता है, जिससे धमनियां सख्त हो जाती हैं। यह खून में पहुंची कार्बन मोनोऑक्साइड गैस के कारण होता है। धूम्रपान से विटामिन सी की कमी हो जाती है, जिससे धमनियों में कोलेस्ट्रॉल जमा होने लगता है। 4. अति-शराब पीना: शराब का सेवन खून में ट्राइग्लाइसिराइड्स (फैट) का स्तर बढ़ाता है, जिसके फलस्वरूप ब्लड प्रेशर बढ़ता है और दिल भी प्रभावित होता है। शराब शरीर में जाकर विटामिन बी और सी को नष्ट करती है, जिससे हृदय को इन दोनों विटामिनों से होने वाले फायदे नहीं मिल पाते। एक अध्ययन से पता चला है कि ज्यादा शराब के सेवन से दिल की मासपेशियां कमजोर पड़ने लगती हैं, जिससे हृदय तक पहुंचने वाला रक्त सही गति से उस तक नहीं पहुंच पाता। इसके आलावा इससे हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हाई बीपी भी हो सकता है। 5. खर्राटे: जो लोग खर्राटे लेते हैं वे एथेरोस्क्लेरोसिस (धमनियों का जमना) और जिसे दिमाग में रक्त की आपूर्ति कम होती है जिससे आगे चल कर हार्टअटैक भी हो सकता है। इसका कारण मधुमेह और मोटापा भी है। 6. अत्यधिक व्यायाम: व्यायाम हृदय के लिए अच्छा होता है लेकिन अगर व्यायाम अचानक बहुत ज्यादा किया जाए तो यह घातक भी साबित हो सकता है। जैसे आते ही साथ आप ट्रेडमिल पर जॉगिंग करने लगे बिना अपने शरीर को तैयार किये। इससे शारीरिक के तनाव से छोटी आर्टरीज़ टूट सकती हैं और हार्टअटैक भी हो सकता है। 7. तनाव: तनाव दिल की सेहत के लिए बेहद नुकसानदेह होता है। तनाव से रक्तचाप और हानिकारक कोलेस्ट्रोल के स्तर में बेहद इजाफा हो जाता है। इन दोनों के चलते व्यक्ति को हार्ट अटैक का खतरा 27 फीसदी तक बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं की मानें तो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल हृदय में रक्त का प्रवाह करने वाली धमनियों में जम जाता है। इससे धमनियां संकरी हो जाती हैं और हृदय को पर्याप्त मात्रा में खून न मिलने से व्यक्ति को हार्ट अटैक होने की आशंका बढ़ जाती है। 8. अकेलापन: हम में से कई लोग कई बार अकेलापन महसूस करते हैं। लेकिन लंबे समय तक अकेलापन और सामाजिक रूप से अलग-थलग रहने से दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। तनाव और दिल की बीमारियों का गहरा सम्बन्ध है, अकेलापन और सामाजिक रूप से अलग-थलग रहने से दिल की बीमारी का खतरा 29 फीसदी और स्ट्रोक का खतरा 32 फीसदी बढ़ जाता है। 9. दांतों की बीमारी: मसूड़ों में होने वाली बीमारी या दाँतों पर गन्दगी का जमना। यह सब दिल की बीमारी का खतरा है। मुँह के बैक्टीरिया अक्सर पेट में चले जाते हैं जिससे बाद में वे खून में मिल जाते हैं जिससे रक्त कोशिकाओं में थक्का जमने लगता है। इससे ब्लड प्रेशर बढ़ता है और ब्लड सर्कुलेशन में भी दिक्कत होती है। 10. संकेतों पर ध्यान न देना: हार्ट की किसी समस्या का पहला संकेत है वह है हांफ भर आना। जब शरीर को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती उस परिस्थिति में ऐसा होता है। इसके अलावा अक्सर आपको गहरी सांस लेने की भी आवश्यकता महसूस होती है। ऐसे में तुरंत इलाज न मिलने पर मरीज़ की मृत्यु भी हो सकती है। दिल की अच्छी सेहत के लिए आपको हमेशा आपको सेहतमंद खानपान और व्यायाम पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा आपकी नज़र अपनी सेहत पे भी बनी रहनी चाहिए। English summary 10 daily habits that make your heart age faster If you have any of these habits like smoking, excessive drinking or unhealthy eating habits, don't be surprised if you soon suffer from a heart attack. Story first published: Monday, November 6, 2017, 16:22 [IST] Nov 6, 2017 कीअन्यखबरें Please Wait while comments are loading...

ओरल सेक्स से होता है सुजाक रोग, जानिए इसके लक्षण और मुख्य कारण

Monday, November 6 2017

ओरल सेक्स से होता है सुजाक रोग, जानिए इसके लक्षण और मुख्य कारण

Updated: 38 सुजाक रोग एक गंभीर बीमारी होती है है। ये अगर किसी को हो जाए तो वो इंसान बेचैन हो जाता है। ये आपके यौन संबंधी समस्याओं को पैदा करता है। आपको इससे बचने की आवशयकता है। अगर ये बीमारी आपको हो जाए तो आपको बेचैनी सी रहती है और आपको किसी भी करह के काम में मन भी नही लगता है। आपको इससे बचने की आवश्यकता है। किसी भी यौन सक्रिय व्यक्ति में गोनोरिया की बीमारी पाई जा सकती है। बिना सुरक्षा के संबन्‍ध बनाने से आपको आपको भी ये यौन रोग हो सकता हैं। इन रोगों में गोनोरिया या प्रमेह रोग प्रमुख है। इससे क्या है समस्याएं हो सकती है ये आपको जनना बेहद जरूरी है ताकि जब आप इसके इलाज के लिए जाएं तो आपको इसके लक्षण पता हों। तो आइए जानते है कि सुजाक रोग का सामना आपको कैसे करना है। इसके लक्षण और कारण क्या होते है। क्या होता है सुजाक रोग यौन से फैलने वाली बीमारी सुजाक रोग एक गंभीर समस्या है इसको बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ये यौन से संबंधित होती है और यौन से फैलने वाली बीमारी है। इसके जीवाणु मुंह, गला, आंख तथा गुदा में भी बढ़ते हैं। गोनोरिया शिश्न, योनि, मुंह या गुदा के संपर्क से फैल सकता है। हाथ और पैर में कंपन्न होता है तो ये 10 घरेलू उपाय देगे आराम प्रसव से बच्चे को लग सकता है ये आपके बच्चे के लिए भी खतरनाक है। अगर आपको ये बीमारी है तो प्रसव के दौरान बच्चे को भी लग सकती है। कई पुरुषों में गोनोरिया के कोई लक्षण दिखाई नहीं पड़ते है। कुछ पुरुषों में संक्रमण के बाद दो से पांच दिनों के भीतर कुछ संकेत या लक्षण दिखाई पड़ते हैं। सूजाक रोग के लक्षण आपको बता दें कि इस रोग के लक्षणो को पहचानना बहुत ही आसान होता है। इसमें महिला को पेशाब करते समय दर्द या जलन होती है। पेशाब में जलन का कारण मूत्र संक्रमण है। ऐसे लक्षण दिखते ही आपको इलाज कराने की आवश्यकता होती है। गले की गांठ अगर आपके गले में गांठ हो और उसमें दर्द रहता हो तो ये सुजाक रोग के लक्षण होते है। आपको बता दें कि वह अक्सर ओरल सेक्स का नतीजा हो सकता है। गोरनिया का 90 फीसदी कारण ओरल सेक्स होता है। ओरल सेक्स बैक्टीरिया संक्रमण का मुख्य कारण है। इससे लिए अगर संभव हो तो ओरल सेक्स करने से परहेज रखे। तो आप इससे बच सकते है। ओरल सेक्स है खतरनाक आपको बता दें कि आपके लिए ओरल सेक्स बिल्कुल भी सेफ नहीं है। ये आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। लेकिन आजकल के पढ़े लिखे पोर्न फिल्मों के शौकीन लोग इस बात से अनजान है। आपको देशी रहकर और देशी संभोग को अपनाना चाहिए। पोशाब में जलन आपको बता दें कि इसको जानना बेहद आसान है इसलिए आपको ये जानना है कि अगर आपको पेशाब करते समय जलन, लिंग से सफेद, पीला या हरा स्राव गोनोरिया वाले व्यक्ति को अंडग्रंथि में दर्द होता है। ऐसे में सूजन आती है और ये सुजाक रोग हो सकता है। योनि से अधिक मात्रा में स्त्राव निकलना इसके लक्षणों में एक प्रमुख लक्षण है कि महिलाओं की योनि से अधिक मात्रा में स्राव निकलता है। मासिक धर्म के बीच योनि से खून निकलता है। गोनोरिया की वजह से पीरियड्स के बीच के दिनों में भी शुरु हो सकती है। अगर आपके साथ ऐसी हो तो ये सुजाक रोग के लक्षण हो सकते है। संभोग के धब्बे दिखना आपको बता दें कि अगर आप संभोग करते है और इसके बाद आपको इंटरकोर्स के बाद धब्‍बे दिखें तोगोनोरिया के लक्षण हो सकते हैं। ऐसा तब हो सकता है जब आप उसी पार्टनर के साथ दो बार सेक्स करें। ऐसा होने पर ये आपके सुजाक रोग के लक्षण हो सकते है। योनिशोथ भी होता है इन समस्याओं में एक और गंभीर समस्या ये होती है कि महिलाओं में सुजाक से योनिशोथ भी हो जाता है। जनन अंग की जाँच करने से मूत्रमार्ग में पीप दिखाई देती है। इसके अलावा मूत्रमार्ग में दबाने से दर्द होता है। सफेद पानी आपको बता दें कि इन सब खतरनाक समस्याओं में वाइट डिस्‍चार्ज या यीस्‍ट इंफेक्‍शन का लक्षण हो लेकिन ये गोनोरिया का भी लक्षण हो सकता है इस प्रकार के डिस्चार्ज में योनि में काफी खुजली होती है। इस तरह के लक्षण भी अगर नजर आएं तो ये सुजाक रोग के लक्षण हो सकते है। English summary Symptoms and Treatment of Gonorrhea Gonorrhea is a serious disease. If this happens to anyone, then the person becomes restless. It produces your sexual problems. You need to avoid this. If this disease is yours, then you are uneasy.

Love Handles पर जमी चर्बी को सिर्फ 2 हफ्ते में घटाइये ऐसे

Monday, November 6 2017

Love Handles पर जमी चर्बी को सिर्फ 2 हफ्ते में घटाइये ऐसे

» Love Handles पर जमी चर्बी को सिर्फ 2 हफ्ते में घटाइये ऐसे Love Handles पर जमी चर्बी को सिर्फ 2 हफ्ते में घटाइये ऐसे Diet Fitness Published: 51 शरीर पर कहीं भी फैट हो, वह देखने में बड़ा ही भद्दा लगता है। और अगर आपके लव हैंडल यानी कमर के दोंनो किनारों पर चर्बी चढ़ी हुई है तो आप खुद ही अपना शेप इंमैजिन कर सकती हैं। कमर की चर्बी सबसे पहले चढ़ती है और सबसे देर में जाती है। लव हैंडल से चर्बी घटाना केवल आप पर निर्भर करता है। आप की डाइट क्‍या और आप कितनी कसरत करती हैं, इन सब चीजों को ध्‍यान में रखते हुए आप अपने लव हैंडल को कम कर सकती हैं। अगर आपके लव हैंडल पर ढेर सारी चर्बी चढ़ी है तो आप कोई भी फिटिंग वाली ड्रेस नहीं पहन सकती। अगर आप अपने लव हैंडल से वजन घटाना चाहती हैं तो एक हफ्ते में 5 किलोग्राम वजन कम करने का लक्ष्य रखे। लेकिन यह महत्वपूर्ण है कि आप उस स्तर की मेहनत भी करें। अन्यथा आप निश्चित समय में आपके लक्ष्य तक नही पहुँच पाएंगी। आपको लगातार खाते रहना चाहिए। यदि आप खुद को भूखी रखेंगी, तो आपका शरीर जमा फैट से चिपक जायेगा। और आप शरीर की ऊर्जा गंवाना चालू कर देंगी। अब आइये जानते हैं 26 ऐसे फूड जिन्‍हे अपनी डाइट में शामिल कर के आप अपने लव हैंडल को आराम से कम कर सकती हैं। 1-ओट : नाश्‍ते में रोज आपको ओट्स खाने चाहिये। ओट में लगभग 18 ग्राम फाइबर और 20 ग्राम प्रोटीन होता है। कुछ ही दिनों में आपको अंतर नज़र आने लगेगा। इसके नियमित सेवन से पीठ और कमर का मोटापा कम होने लगता है। 2. Quinoa Quinoa में ढेर सारा प्रोटीन, विटामिन बी, मैग्‍नीशियम, पोटैशियम आदि होता है। इसे नाश्‍ते में खाने से आप मोटापे से लड़ सकते हैं। 3. शकरकंद : शकरकंद में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा काफी कम होती है साथ ही यह बहुत धीरे धीरे पचता है जिससे आपका पेट देर तक भरा हुआ रहता है। रोजाना नाश्ते में इसका सेवन करने से 21 दिनों में लगभग 7 पौंड तक वजन कम हो जाता है। 4. ग्रीन टी : ग्रीन टी में एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन सी अधिक होता है, जाो शरीर से गंदगी को निकाल कर शरीर के मेटाबॉलिज्‍म को तेज बनाता है। इसे मोटापा कम होता है। 5. अंडा: ज़्यादातर लोगों का मानना है कि अंडे में सबसे ज़्यादा अनहेल्दी फैट्स होते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि इसमें 5 ग्राम फैट्स होते हैं। अतः जो कोई भी वज़न घटाना चाहते हैं वह अंडा ज़रूर खायें। 6. चिकन: चिकन में बहुत ज्‍यादा प्रोटीन होता है और कार्ब ना के बराबर होता है। इसे ग्रिल्‍ल कर के खाया जाए तो आप आराम से अपना वजन कम कर सकते हैं। 7. संतरा: 1 कप संतरे में 85 कैलोारी ही होती है, जिससे यह लो कैलोरी फूड के हिस्‍से मे आता है। इससे ना सिर्फ पेट साफ रहता है, पेट लंबे समय तक भरा भी रहता है और फिर वजन भी घटता है। 8. श्रेडिड वीट (Shredded Wheat) : कमर के आस पास की चर्बी को कम करने के लिए आपको वे चीजें खाने चाहिए जिसमें फाइबर की मात्रा ज्यादा हो और शुगर की मात्रा कम हो। इसके लिए श्रेडिड वीट सबसे उपयुक्त नाश्ता है क्योंकि इसमें लगभग 9 ग्राम फाइबर और शुगर बिल्कुल भी नहीं होता है। इसका नियमित सेवन कमर की चर्बी को असरदार तरीके से करता है। 9. काले चावल: ब्लैक राइस एंटी-ऑक्सीडेंट, फाइबर और विटामिन इ से भरपूर होते हैं जबकि इनमें शुगर की मात्रा बहुत ही कम होती है। इस वजह से जब आपका इस चावल का सेवन करते हैं तो एंटी ऑक्सीडेंट शरीर की फैट बर्न करने की प्रक्रिया को और आसान बना देते हैं जिससे मोटापा तेजी से खत्म होने लगता है। 10. वाइट टी: वाइट टी लिपोलिसिस को बढ़ावा देता है जिससे शरीर में फैट कोशिकाओं को बनने में रुकावट होती है। इसके अलावा इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा भी काफी ज्यादा होती है जिससे फैट सेल्स खत्म होने लगते हैं। 11. ब्लैक बीन्स : बीन्स तो वैसे भी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं लेकिन अगर आप खासतौर पर कमर की चर्बी को कम करना चाहते हैं तो ब्लैक बीन्स का सेवन करें। इनमें स्टार्च और फाइबर की मात्रा अधिक होती है और फैट की मात्रा बहुत ही कम होती है। इनके सेवन से बॉडी में एक ख़ास किस्म के केमिकल की मात्रा बढ़ जाती है जो फैट को ईधन की तरह इस्तेमाल करने लगता है और उसे उर्जा में बदलने लगता है। 12. एवोकैड़ो : एवोकैड़ो में फाइबर और मोनोसैचुरेटेड फैट दोनों ही अधिक मात्रा में पाया जाता है। अगर आप कमर और पेट के आस पास के फैट को कम करना चाहते हैं तो यहां बतायी गयी रेसिपी को फॉलो करें। 13. वीट पास्ता : इस पास्ता में अन्‍य पास्‍ता के मुकाबले दोगुना प्रोटीन और चार गुना फाइबर होता है। एक तरह से देखा जाए तो फैट को खासतौर पर कमर के फैट को कम करने के लिए ये सबसे उपयुक्त चीज है। इसलिए इसे अपनी डाइट में ज़रूर शामिल करें। 14. फ्रोजेन मटर : शाम को या दिन में जब भी आपको भूख लगे तो स्नैक के रूप में आप मटर खा सकते हैं। एक कप मटर में लगभग 7 ग्राम प्रोटीन होता है और इसके सेवन से आपको काफी देर तक भूख नहीं लगती है। कमर की चर्बी कम करने में भी यह काफी असरदार है। इसलिए आगे से शाम को कुछ नमकीन खाने का दिल करे तो मटर की कोई डिश बनाकर खाएं। 15. डार्क चॉकलेट: डार्क चॉकलेट में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट भी वजन और मोटापा कम करने में मदद करते हैं। इनमे ऐसे एंटी-इंफ्लेमेटरी यौगिक होते हैं जो दिल को भी फायदा पहुंचाते हैं। हालांकि ज़रूरत से ज्यादा इन चॉकलेट का सेवन न करें बल्कि सीमित मात्रा में करें। 16. बादाम : बादाम को डाइटरी फाइबर का सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। इसके अलावा यह जान लें कि एक कप बादाम में लगभग 20 मिलीग्राम विटामिन ई होता है। इस लिहाज से देखें तो यह न सिर्फ वजन कम करने और फैट घटाने में मददगार है बल्कि इसके सेवन से स्किन भी चमकदार हो जाती है। बादाम के नियमित सेवन से पूरे शरीर का स्वास्थ्य ही बेहतर रहता है। 17. मौसमी : आमतौर पर लोग बीमार होने पर ही मौसमी का जूस पीते हैं लेकिन बहुत कम लोगों को यह पता है कि यह फैट को खत्म करने में भी मददगार है। 18. ब्राउन राइस: इसमें फाइबर काफी मात्रा में पाया जाता है, जिसे थोड़ा सा ही खा लेने पर पेट भर जाता है। पेट दिनभर भरा होने के नाते आपको इधर उधर कुछ खाने का मन नहीं करेगा, जिससे आपका वजन कम होगा। 19. पालक : यदि आप तेजी से वजन कम करना चाहते हैं तो पालक से बेहतरीन विकल्प नहीं। वैज्ञानिकों का यह मानना है कि पालक की पत्तियां हेडोनिक हंगर को 95% तक रोक देती हैं एवं वजन को 45 प्रतिशत तक कम करने में मददगार होती हैं। 20. मछली मछली में ढेर सारा प्रोटीन होता है, जिसे ग्रिल्‍ल, भाप में पका कर या फिर आग में सेंक कर खाने पर मासपेशियां बनती हैं और मोटापा अपने आप कम होने लगता है। 21. नारियल का तेल नारियल का तेल शरीर के अंदर जाते ही कोशिकाओं को पोषित करना शुरू कर देता है। इससे फैट तुरंत एनर्जी में बदल जाता है और शरीर में इकट्ठा नहीं हो पाता। नारियल तेल से बना खाना खाने पर आपको जल्दी-जल्दी भूख लगने कि शिकायत दूर हो जाएगी। 22. अखरोट अखरोट में ओमेगा-3 ऐल्फा-लिनोलेइक ऐसिड और एकल-असंतृप्त वसायें भरपूर मात्रा में होती हैं। एकल-असंतृप्त वसा की उपस्थति वसा के जारण तथा उपपाचय को एक साथ बेहतर बनाता है। स्वस्थ तरीके से वजन कम करने के लिये केवल मुठ्ठी भर अखरोटों की जरूरत होती है। 23. बीन्स यह वसा के जारण के लिये सबसे बढ़िया भोज्य पदार्थ है क्योंकि यह वसीय अम्लों को मुक्त करने और अपचयित करने के लिये वातावरण निर्मित करता है। 24. अलसी के बीज इसमें स्‍वस्‍थ वसा और घुलन शील फाइबर होता है। आप इसे या तो सलाद में डाल कर खा सकते हैं या िफर इसे ग्रेवी में पका सकते हैं। 25. चिया सीड जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिये चिया सीड रामबाण है क्‍योंकि यह बार बार लगने वाली भूख को शांत करती है और चयापचय प्रणाली को बढ़ाती है, जिससे फैट बर्न होता है। 26. कद्दू के बीज ये कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं। इसमें सबसे ज्‍यादा जिंक और प्रोटीन होता है जो वजन कम करने मे मदद करता है। English summary 26 Foods To Lose Love Handles In 2 Weeks Foods to reduce love handles are oats bran, sweet potatoes, shredded wheat, etc. Read to know about the best foods to burn love handles. Story first published: 51 [IST] Nov 6, 2017 कीअन्यखबरें