Health and Fitness

अगर करवा कर आईं हैं पार्लर से फेशियल तो ना करें ये गल्‍तियां

Tuesday, December 5 2017

अगर करवा कर आईं हैं पार्लर से फेशियल तो ना करें ये गल्‍तियां

» अगर करवा कर आईं हैं पार्लर से फेशियल तो ना करें ये गल्‍तियां अगर करवा कर आईं हैं पार्लर से फेशियल तो ना करें ये गल्‍तियां Skin Care Published: Tuesday, December 5, 2017, 15:35 किसी शादी-पार्टी में जाना हो तो सबसे पहले महिलाएं पार्लर जा कर फेशियल करवाने की सोंचती हैं। वैसे भी 30 के बाद हर महिला को महीने में एक बार तो फेशियल करवाना ही चाहिये। इससे बॉडी रिलैक्‍स रहती है और चेहरे पर अजमी किस्‍म का ही ग्‍लो आता है। पार्लर में कई तरीके के फेशियल होते हैं और हर कोई अपनी स्‍किन के हिसाब से उनका चयन करता है ताकि उनकी त्‍वचा दमकदार और स्‍वस्‍थ बन जाएं। बहुत बार महिलाएं फेशियल करवा तो लेती हैं लेकिन बाद में उनके चेहरे का ग्‍लो बड़ी तेजी से चला जाता है। और फिर वह सोंचती हैं कि इतना पैसा फिजूल में ही चला गया। पर आपको यह पता होना चाहिये कि फेशियल के बाद स्‍किन की काफी देखभाल करनी पड़ती है नहीं तो आपने चाहे जितना महंगा फेशियल क्‍यूं ना करवाया हो, उसका असर नहीं रहता। आज हम बोल्‍डस्‍काई के माध्‍यम से बताएंगे टॉप की ऐसी बातें जिन्‍हें फेशियल करवाने के बाद में याद रखनी चाहिये। 1. फेशियल के 4 घंटे तक मुंह ना धोएं अपनी त्वचा को फेशियल में इस्तेमाल किए गए प्रोडक्ट्स के फायदों को सोखने दीजिए। अगर आपका चेहरा बहुत रूखा लगने लगे तो फेस मिस्ट का इस्तेमाल करें और अगर ऑयली लगे तो अपने चेहरे पर ठंडे पानी के छींटे मार लें। 2. एक्‍सफोलिएट अगर आपने फेशियल करवाया है तो चेहरे पर स्‍क्रबर से स्‍क्रब ना करें। स्‍क्रब करने से चेहरा तो खराब होगा ही साथ में आपके चेहरे पर मुंहासे भी निकल आएंगे। फेशियल करवाले के तीन दिन बाद ही चेहरे पर स्‍क्रब करें तो ठीक रहेगा। फेि‍शियल सीरम ना लगाएं फेशियल करवाने के बाद स्‍किन पर फेशियल सीरम ना लगाएं नहीं तो स्‍किन संवेदनशील हो जाएगी। इसके अलावा इससे फेशियल के बाद आपके चेहरे पर मुंहासे भी निकल सकते हैं। आपको फेशियल करवाने के बाद कम से कम 1 हफ्ते तक चेहरे पर सीरम नहीं लगाना चाहिये। 4. मेकअप ना करें यह हर कोई जानता है कि मेकअप के आइटम में ढेर सारा कैमिकल होता है। ऐसे आइटम यूज़ करने से आपकी सेहत पर बड़ा असर पड़ सकता है। फेशियल करवाने के बाद कम से कम 72 घंटे तक मेकअप ना लगाएं। हां , 72 घंटे बीत जाने के बाद आप आराम से मेकअप कर सकती हैं। 5. चेहरे की मसाज ना करें टॉप के फेशियल एक्‍सपर्ट का मानना है कि फेशियल के बाद मसाज ट्रीटमेंट नहीं लिया जाना चाहिये। इससे इंफेक्‍शन हो सकता है और चेहरे पर मुंहासे निकल सकते हैं। फेशियल के एक हफ्ते बाद ही मसाज करवाएं। 6. मुंहासे ना फोड़ें फेशियल करवाने के बाद अगर आप को लगे कि चेहरे पर मुंहासे निकल आए हैं और आप उन्‍हें दबा कर फोड़ना चाहती हैं तो ऐसा ना करें। ऐसा करने से आपके चेहरे पर इंफेक्‍शन फैल सकता है और साथ ही साथ चेहरे पर दाग पड़ सकता है। 7. कैमिकल पील ना करवाएं यह एक ऐसा ब्‍यूटी ट्रीटमेंट है जो काफी सारी महिलाएं करवाना पसंद करती हैं। हांलाकि अगर इसे आप फेशियल के तुंरत बाद करवाएंगी तो आप मुसीबत में पड़ जाएंगी। इससे कोलाजेन ब्रेकडाउन हो जाएगा। इसको करवाने के लिये आपको फेशियल के बाद दो हफ्तों तक का इंतजार करना पड़ेगा। 8. थ्रेडिंग न करवाएं अगर आपको फेशियल और थ्रेडिंग दोनों करवाना है तो पहले थ्रेडिंग करवा लें और उसके बाद ही फेशियल करवाएं। वैसे भी थ्रेडिंग बहुत ही दर्द भरी प्रक्रिया होती है ऐसे में फेशियल के बाद मुलायम त्‍वचा पर इसे करवाना बहुत ही दर्दनाक हो सकता है। इसलिए, हमारी सलाह है कि आप फेशियल के बाद कभी भी थ्रेडिंग न करवाएं। 9. धूप से बचें फेशियल करवाने के बाद तुरंत धूप में न निकलें। इससे त्‍वचा पर सनबर्न हो सकता है। अगर आपको निकलना जरूरी है तो मुँह को पूरी तरह से किसी कॉटन कपड़े से कवर कर लें और छाता साथ में ले लें। 10. वैक्सिंग ना करवाएं फेशियल करवाने के तरुंत बाद कभी भीचेहरे पर वैक्‍सीन न करवाएं। क्‍योंकि फेशियल के बाद चेहरे की सबसे ऊपरी त्‍वचा बहुत मुलायम और संवेदनशील हो जाती है और वैक्‍स करने से वो उधड़ सकती है। 11. फेशियल पैक्‍स और मास्‍क का प्रयोग ना करें जब भी फेशियल करवाएं तो उसके 1 हफ्ते बाद ही कोई फेस मास्‍क लगाएं। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आपके चहरे पर उल्‍टा असर होगा और आपने जो फेशियल करवाया होगा वह काम नहीं करेगा। English summary Top Things You Must Avoid After A Facial Treatment There are certain things that must be avoided after you get a facial done. Read to know what are the things that you should not do after you get a facial. Story first published: Tuesday, December 5, 2017, 15:35 [IST] Dec 5, 2017 कीअन्यखबरें

सर्दियों में शकरकंद खाने के है इतने फायदे जो आपकी सेहत को रखेंगें फिट

Tuesday, December 5 2017

सर्दियों में शकरकंद खाने के है इतने फायदे जो आपकी सेहत को रखेंगें फिट

डाइट-फिटनेस » सर्दियों में शकरकंद खाने के है इतने फायदे जो आपकी सेहत को रखेंगें फिट सर्दियों में शकरकंद खाने के है इतने फायदे जो आपकी सेहत को रखेंगें फिट Diet Fitness Updated: Tuesday, December 5, 2017, 14:28 [IST] Subscribe to Boldsky आपको शरीर को फिट रखने के लिए आपको कई तरह चीजों का ख्याल रखना पड़ता है। कई चीजों का आप सेवन भी करते है जिससे आपके शरीर को फायदा हो। आपको आज हम शकरकंद खाने के फायदों के बारे में बताएंगें। आपको बता दें कि शकरकंद या स्वीट पोटैटो का सेवन सर्दियों में लाभदायक होता है। सर्दियों में कंद-मूल अधिक फायदेमंद रहते हैं, क्योंकि ये शरीर को गर्म रखते हैं। शकरकंद की गहरे रंग की प्रजाति में कैरोटिनॉयड जैसे, बीटा-कैरोटीन और विटामिन ए अधिक मात्रा में पाया जाता है। 100 ग्राम शकरकंद में 400 फीसदी से अधिक विटामिन ए पाया जाता है। अगर आप इसका सेवन नही कर रहे है तो आज से ही शुरु कर दें क्योंकि सर्दियों मे इसका सेवन बेहद लाभदायक होता है। आपको इससे काफी तरह के फायदे होते है। इसका सेवन वैसे तो आप उबालकर या भूनकर कर सकते है ये दोनो तरह से खाई जाती है। आइए जानते है इसके फायदों के बारे में.. विटामिन ए की कमी पूरी करता है आपको बता दे सर्दियों में शकरकंद का सेवन सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है। इससे आपको कई तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलता है। जो शकरकंद नारंगी रंग की होती है वो आपको दूसरों के मुकाबले ज्यादा फायदा पहुंचाती है। इसलिए आपको इसका सेवन जरूर करना चाहिए। स्कूल जाते समय बच्चों को दें लंच आपके बच्चे के लिए शकरकंद काफी फायदेमंद होती है। आपको चाहिए की आप लंच के तौर पर अपने बच्चे को शकरकंद जरूर दें। इससे बच्चे के पोषण में फर्क पड़ता है और उसका विकास भी अच्छी तरह से होता है। इसलिए आपको इसका सेवन बच्चों को जरूर करवाना चाहिए। इसके है कई लाभ आपको बता दें की शकरकंद आपके लिए की तरह से फायदेमंद है। शकरकंद कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, विटामिन बी6 और विटामिन सी का अच्छा स्रोत है। इसको खाने के आपको लाभ ही लाभ मिलेगे। सर्दियों में तो आपको फिट रहने के लिए इसका सेवन जरूर करना है। रतौंधी की समस्या आपको बता दे कि शकरकंद खाने से आपको रतौंधी की शिकायत नहीं होती है। अगर आपको ये समस्या होती भी है तो समाप्त हो जाती है। आपको इससे बचने के लिए शकरकंद का सेवन जरूर करना चाहिए। बच्चों की वृद्धि रुक जाए तो अगर आपके बच्चो की वृद्धि अचानक रुक गई है तो आपको अपने बच्चो को शकरकंद का सेवन जरूर करवाना है। इससे बच्चों की वृद्धि सही तरह से होती है। बच्चों की लंबाई ना बढ़ने की समस्या को जड़ से खत्म करता है शकरकंद का सेवन। आखों की रोशनी बढ़ाती है आप अगर शकरकंद का रोजाना सेवन करेगे तो आपके आंखों की रोशनी संबंधित समस्याएं खत्म हो जाएंगी। इससे आपकी आंखों को भी आराम मिलेगाष इसलिए आपको शकरकंद जरूर खानी चाहिए। हड्डियां मजबूत बनती है आपको बता दें कि अगर आपको हड्डियों की समस्या रहती है या आपकी हड्डियां कमजोर हो गई है तो आपको इसके लिए शकरकंद का सेवन करना चाहिए। इससे आपकी हड्डियां मजबूत बनेगी और आप स्वस्थ रहेंगें। दिल रहता है सुरक्षित शकरकंद भूनकर खाना हृदय को सुरक्षित रखने में उपयोगी है। इसमें हृदय को पोषण देने वाले तत्व पाये जाते हैं। जब तक बाजार में शकरकंद उपलब्ध रहें उचित मात्रा में उपयोग करते रहना चाहिये। English summary 8 Health Benefits Of Sweet Potatoes To keep your body fit, you have to take care of many things. You also consume many things that benefit your body. Tell us about the benefits of eating sugars today. Please Wait while comments are loading...

छोटी छोटी बुरी आदतों को छोड़कर कम करें अपना मोटापा

Tuesday, December 5 2017

छोटी छोटी बुरी आदतों को छोड़कर कम करें अपना मोटापा

» छोटी छोटी बुरी आदतों को छोड़कर कम करें अपना मोटापा छोटी छोटी बुरी आदतों को छोड़कर कम करें अपना मोटापा 12:30 आपकी दिनचर्या आपके स्वास्थ को निर्धारित करती है। इससे आपको ये पता चलता है कि आपकी दिनचर्या अच्छी है या खराब। आज लोगो की जो सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है वो है मोटापे की समस्या इससे आपको कई तरह की समस्याएं होती है। आपको बता दें कि औरों के मुकाबले उनकी तबियत ज्यादा औऱ गंभीर रुप से खराब होती है जो लोग मोटे होते है। अगर आपके शरीर में मोटापा जगह बना रहा है या फिर बना चुका है तो आपको आज बताएंगें कि आपको इससे छुटकारा कैसे पाना है। दरअसल आपको कुछ छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखना है। इनसे आप अपने मोटापे पर कंट्रोल कर लोगे और आपका शरीर रोगमुक्त हो जाएगा। मोटापे को अपने शरीर से हमेशा आपको दूर रखने की कोशिश करनी चाहिए। आइए आज आपको बताते है वो छोटी छोटी बातें जो आपके शरीर से मोटापे की समस्या को कोसो दूर ले जाने में आपकी मदद करेगी। ब्रेकफास्ट में अंकुरित आनाज खाएं आपको शरीर के लिए ब्रेकफास्ट बहुत मायने रखता है। आपके दिरभर की एनर्जी को बढ़ाने के लिए आपको नाश्ते की आवश्यकता होती है। इसलिए आपको मोटापा कम करने के लिए नाश्ते में अंकुरित आनाज का सेवन जरूर करना चाहिए। ये आपके लिए काफी फायदेमंद है। तले हुए खाने और मसालों को बाय कहें आपके शरीर में मोटापे की इंट्री कराने में तले हुए मसालों का एक बहुत बड़ा हाथ होता है। इसके नियमित सेवन से आपका मोटापा बहुत जल्दी बढ़ जाता है। इसलिए आपको इसके सेवन से बचना है। ये आपके लिए हानिकारक है। पानी ज्यादा पिएं आपको कुछ छोटी छोटी बातों का ख्याल रखना है। इसके लिए आपको रोजाना अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए। दरअसल ज्यादा पानी पीने से आपके शरीर से चर्बी कम होती है। आपके लिए ये बहुत अच्छा उपाय है। फास्ट फूड और सॉस का सेवन आपको याद रखना है कि आपको फास्ट फू़ड और सॉस का सेवन नहीं करना है। ये आपके लिए काफी खतरनाक हो सकता है। इससे आपका मोटापा बढ़ जाता है। इसलिए आपको इसका सेवन छोड़ना चाहिए और मोटापे को कम करना चाहिए। दही का करें सेवन आपको अपने शरीर की देखभाल करनी चाहिए। मोटापा कम करने के लिए आपको दही का सेवन करना चाहिए। इससे आपकी चर्बी कम होती है और आपको मोटापे से धीरे धीरे छुटकारा मिल जाता है। सोडा वाले सॉफ्ट ड्रिंक छोड़े अगर आप सोडे वाले सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन करते है तो आपके लिए ये बहुत खतरनाक है। ये आपके शरीर में मोटापे को बढ़ावा देता है। आपको इसका त्याग करना है और फिट रहना है। सुबह करें 30 मिनट एक्सरसाइज आपको रोज सुबह उठकर एक्सरसाइज करनी है। इससे आपको कई तरह की समस्याओं से छुटकारा मिलने के साथ आपका वजन भी कम हो जाएगा। आप रोजाना 30 मिनट एक्सरसाइज करके अपना काफी वजन कम कर सकते है। स्मोकिंग और शराब बंद कर दें स्मोकिंग और शराब का सेवन करना आपके शरीर के लिए किसी भी तरह से सहीं नहीं होता है। आपको इससे बचकर रहना चाहिए। आपके लिए ये काफी खतरनाक होता है। आपको इससे मोटापे की समस्या भी हो सकती है। इसको छोड़कर आप अपना मोटापा कम कर सकते है। पूरी नींद लें अगर आप पूरी नींद नहीं लेते है तो आपको कई तरह की समस्याएं हो सकती है। इसलिए आपको पूरी नींद लेना है। इससे आपका वजन भी कम होता है और आप हमेशा स्वस्थ रहते है। ये आपके लिए अच्छा है। English summary easy ways to lose weight naturally Your routine determines your health. It tells you that your routine is good or bad. What has become the biggest problem of people today is the problem of obesity that causes many problems. 12:30

सर्दी में हर रोग की एक दवा है बादाम का दूध, जानें इसके 9 फायदे

Tuesday, December 5 2017

सर्दी में हर रोग की एक दवा है बादाम का दूध, जानें इसके 9 फायदे

डाइट-फिटनेस » सर्दी में हर रोग की एक दवा है बादाम का दूध, जानें इसके 9 फायदे सर्दी में हर रोग की एक दवा है बादाम का दूध, जानें इसके 9 फायदे 13:02 अक्‍सर लोग सर्दियों में खुद के शरीर को गर्म रखने के लिये बादाम खाते हैं। बादाम और अन्‍य मेवे तासीर में गर्म होते हैं इसलिये यह शरीर को अच्‍छी तरह से गर्म रखने में मदद करते हैं। इसी तरह से अगर आप सर्दियों का अच्‍छी तरह से मज़ा लेना चाहते हों तो बादाम का दूध भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। बादाम के दूध में अन्‍य दूध के मुकाबले बड़ी ही कम कैलोरीज़ पाई जाती है इसलिये अगर आप डाइट पर हैं तो भी इस दूध का सेवन कर सकते हैं। यही नहीं बादाम के दूध में विटामिन डी, बी और ई भी ढेर सारी मात्रा में पाया जाता है। बादाम का दूध पीने से सर्दी भाग जाती है और शरीर को ढेर सारी ताकत मिलती है। बादाम का दूध उन्‍हें भी पीना चाहिये जो लोग रेगुलर वर्कआउट करते हैं क्‍योंकि इससे मसल्‍स बनती है। यह दूध चेहरे को चमकदार बनाने में भी काफी मदद करता है। इसलिये अगर आप केवल बादाम खाते हैं तो एक बार बादाम का दूध भी पी कर जरुर देंखे। 1. कैलोरी ज्‍यादा नहीं होती एक कप बादाम का दूध आपको मात्र 30 कैलोरी ही देता है, जब कि फुल फैट मिल्‍क में आपको 146 कैलोरीज़ और 86 कैलोरीज़ स्‍किम मिल्‍क में मिलती है। बादाम का दूध अन्‍य दूध के मुकाबले आपके वजन को कम करने में तेजी से काम करता है। 2. ब्‍लड शुगर पर प्रभाव डाले यह गाय के दूध के मुकाबले ब्‍लड शुगर लेवल को तेजी से बढाता नहीं है। साथ ही यह लो ग्‍लाइसिमिक इंडेक्‍स के साथ आता है इसलिये यह शरीर में फैट के रूप से स्‍टोर नहीं हो पाता। 3. दिल के लिये सेहतमंद बादाम का दूध पीने से हार्ट हमेशा हेल्‍दी बना रहता है। इसमें बिल्‍कुल भी कोलेस्‍ट्रॉल नहीं होता। साथ ही इसमें हेल्‍दी फैट की मात्रा होती है जैसे, ओमेगा फैटी एसिड। इसके अलावा इसमें पोटैशियम, विटामिन ई, मैगनीशियम और मोनो सैचुरेटेड फैट भी पाए जाते हैं। इसमें सोडियम भी नहीं होता। 4. पाचन शक्‍ति बढाए बादाम के दूध में फाइबर होने के नाते यह पाचन शक्‍ती को मजबूती प्रदान करता है। यह लैक्‍टोज फ्री भी है जो कि दूध का विकल्‍प हो सकता है। आपकी जानकारी के लिये बता दें कि हमारे भारत में लगभग 25 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जिन्‍हें दूध पीने से एलर्जी हो जाती है यानी वो लोग lactose-intolerant हैं। 5. फाइबर से भरा बादाम मिल्‍क के 1 कप में (5g) तक फाइबर होता है। जो कि रेगुलर मिल्‍क से कहीं ज्‍यादा है। इसे पीने से पेट आराम से भरा रहा है और मोटापा भी दूर रहता है। अगर आप ब्रेकफास्‍ट में फाइबर से भरा बादाम मिल्‍क और ब्रैन सीरियल लेते हैं, तो आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी और आपका पेट कई घंटो तक भरा रहेगा। 6. हड्डियां बनाए मजबूत इसमें वैसे तो ज्‍यादा कैल्‍शियम नहीं होता लेकिन यह आपको डेली का 30 प्रतिशत कैल्‍शियम प्रदान कर सकता है। इसके अलावा इसमे 25 प्रतिशत तक विटामिन डी भी होता है। रिजल्‍ट के तौर पर यह दांतों और हड्डियो को मजबूती देता है। इसको पीने से अर्थराइटिस और ऑस्‍टियोपोरोसिस का खतरा भी टलता है। 7. त्‍वचा बनाए चमकदार बादाम के दूध में बहुत सारा विटामिन ई (50 प्रतिशत) पाया जाता है जिसको पीने से स्‍किन में ग्‍लो आता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो कि स्‍किन को सूरज की धूप से बचाता है। 8. मसल्‍स को मजबूत बनाए बादाम के दूध में ढेर सारा विटामिन बी और आयरन और राइबोफ्लेविन होता है जो कि मसल्‍स को मजबूती देता है। अगर आप बॉडी बिल्‍डिंग कर रहे हैं तो आपको बादाम का दूध रोज पीना चाहिये, इससे आपको रिजल्‍ट जल्‍द ही देखने को मिलेगा। 9. प्रोटीन से भरा हुआ बादाम के दूध में केवल 5 g की मात्रा तक प्रोटीन होती है। हालांकि, गाय का दूध लगभग 8 ग्राम प्रोटीन से भरा होता है इसलिए प्रोटीन विकल्प के रूप में आप बादाम का दूध पी सकते हैं। अगली बार जब आप गाय का दूध पीने के लिए उत्सुक नहीं हों, तो बादाम के दूध को पीने की कोशिश करें। English summary 9 Amazing Health Benefits of Almond Milk Talking about almond milk benefits, there is very many benefits of it and could be touted as a good substitute for regular milk. 13:02

सर्दियों में ब्रांडी पीने के लाभ जानकर हैरान हो जाएंगे आप, जानिए

Tuesday, December 5 2017

सर्दियों में ब्रांडी पीने के लाभ जानकर हैरान हो जाएंगे आप, जानिए

डाइट-फिटनेस » सर्दियों में ब्रांडी पीने के लाभ जानकर हैरान हो जाएंगे आप, जानिए सर्दियों में ब्रांडी पीने के लाभ जानकर हैरान हो जाएंगे आप, जानिए Diet Fitness Updated: Tuesday, December 5, 2017, 9:57 ब्रांडी को वाइन से ही बनाया जाता है जो इसमें एल्कोहल की मात्रा को बढाता है और इसे एक विशेष रंग प्रदान करता है। ज्यादातर लोग इसके सेवन को बहुत एन्जॉय करते हैं। लेकिन ऐसा करने से उन्हें हैंग-ओवर होता है, पैसे खर्च होते हैं, लिवर आदि की समस्या होती है और इसकी उन्हें आदत लग जाती है। आपको बता दें कि ब्रांडी पीने के ठीक वैसे ही फायदे होते हैं जैसे कि वाइन पीने से होते हैं, लेकिन ज्यादातर लोग इसके फायदों के बारे में नहीं जानते हैं। तो आइये हम आपको ब्रांडी पीने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहें हैं। आपको भी इसके बारे में जानना चाहिए और इसका सही से सेवन करना चाहिए। आइए जानते है... 2- इम्युनिटी बढाता सैकड़ों सालों से ब्रांडी सर्दी जुखाम और फ्लू आदि को ठीक करने के लिए इस्तेमाल होता आया है। इसमें मौजूद एंटी-बैक्टीरियल गुण के कारण यह शरीर को गर्मी देता है और आपको अच्छी नींद भी देता है जिससे आपकी इम्युनिटी बढती है। 3- सोने को प्रेरित करता ज्यादा मात्रा में एल्कोहल को पीने से आपको नींद आने लगती है। हालांकि ब्रांडी आपको रिलैक्स करता है और आपको एक स्वस्थ नींद देता है। ब्रांडी में मौजूद एल्कोहल की मात्रा दिमाग को शांत करने का काम करती है इसलिए हमेशा यह सलाह दिया जाता है कि डिनर के बाद ब्रांडी का सेवन करें। 4- ह्रदय को स्वस्थ रखता एक अध्ययन में पाया गया है कि उचित मात्रा में ब्रांडी का सेवन करने से इसमें मौजूद एंटी-आक्सीडेंट आपके हार्ट के खराब कोलेस्ट्राल को कम करके उसके लेवल को नियंत्रित करता है। अगर आप ब्रांडी पीते हैं तो आपको ऐथीरोस्क्लेरोसिस की समस्या नहीं होगी जोकि हार्ट अटैक और स्ट्रोक के लिए जिम्मेदार होता है। इसके अलावा ब्रांडी में मौजूद पॉलीफीनोलिक केमिकल आपके हार्ट के इन्फ्लामेसन को कम करके ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करता है। 5- इसमें एंटी-एजिंग गुण होता है ब्रांडी में पाए जाने वाले एंटी-आक्सीडेंट गुण के कारण यह आपके शरीर को बहुत फायदा पहुंचाता है। एंटी-आक्सीडेंट आर्गेनिक पदार्थ होते हैं जो शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल को दूर करके उनके प्रभाव को कम करते हैं। फ्री रेडिकल सेल्युलर मेटाबोलिज्म के बहुत ही खतरनाक प्रोडक्ट्स होते हैं जिसकी वजह से शरीर की कोशिकाएं मर जाती हैं। ब्रांडी में मौजूद एंटी-आक्सीडेंट स्किन, बाल, दिमाग आदि की कोशिकाओं के डेथ को रोकने का काम करता है। इन एंटी-आक्सीडेंट की वजह से आपके चेहरे में दाग धब्बे, नजर कमजोर होना और कई खतरनाक चीजें नहीं होती हैं। 7- वजन कंट्रोल करता है और दूसरे एल्कोहलिक प्रोडक्ट की तुलना में ब्रांडी में बहुत ही कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होते हैं। ब्रांडी के सेवन से आपको भूख लगती है। बीयर आदि की तरह ब्रांडी कार्बोहाइड्रेट को सिंपल शुगर में नहीं तोड़ता है जोकि फैट के रूप में आपके शरीर में इकट्ठा होते हैं। English summary Benefits of Drinking Brandy in Winters Brandy is made from wine which increases the amount of alcohol in it and provides it with a special color. Most people enjoy their intake too much, but doing so, they are hang-over.

किसी बात पर चिंता या तनाव हो रहा है तो ऐसे पहचान सकते हैं उसके लक्षण

Tuesday, December 5 2017

किसी बात पर चिंता या तनाव हो रहा है तो ऐसे पहचान सकते हैं उसके लक्षण

तंदुरुस्‍ती » किसी बात पर चिंता या तनाव हो रहा है तो ऐसे पहचान सकते हैं उसके लक्षण किसी बात पर चिंता या तनाव हो रहा है तो ऐसे पहचान सकते हैं उसके लक्षण Wellness Published: Tuesday, December 5, 2017, 12:00 आज के समय में लोंगो के अंदर तनाव होना आम हो गया है। समय के साथ चलना और हर चीज़ में अव्‍वल आने की चाह ने लोगों के अन्दर चिंता को जन्म दे दिया हैं। जिसके चलते लोग तनाव में जा रहें हैं। तनाव आज सिर्फ जवान या बुज़ुर्ग में ही नहीं बल्कि बच्चों में को भी हो रहा है। यह किसी भी कारण से हो सकता है। कोई शोर गुल से तनावग्रस्त है, तो कोई ट्रैफिक में फंस जाने के कारण तनावग्रस्त है। कोई बेरोजगारी से तनावग्रस्त है, तो कोई बच्चों के बिगड़ने से चिंतित है। इन्ही सब कारणों से हर कोई तनावग्रस्त है। अन्य बिमारियों की तरह से मानसिक तनाव भी तन और मन दोनों पर बुरा असर डालता है। जिससे अनेक शारीरिक और मानसिक बीमारियां जन्म ले लेती है। जैसे डायबिटीज, पेप्टिक अल्सर, सिर दर्द, माइग्रेन, डिप्रेशन, और हिस्टीरिया प्रमुख हैं। नकारात्मक सोच तनाव का सबसे बड़े कारणों में से एक है। इसी तरह ऐसे कई कारण जो तनाव लेने से शरीर पर होने लगते हैं। 1. सिरदर्द सिरदर्द का सबसे मुख्य कारण तनाव या मांसपेशियों में सिकुड़न के कारण सिरदर्द है। ऐसे दर्द अक्सर लंबे समय से लिए गए तनाव के कारण होता है। तनाव के कारण सिरदर्द अक्सर स्थिर और धीमा होता है और यह सिर के अगले हिस्से, माथे या गरदन के पिछले हिस्से में महसूस होता है। 2. मासिक धर्म में दर्द कई महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान दर्द होता है लेकिन अगर आपको पहले दर्द नहीं होता था और अब दर्द अचानक से होने लगा है तो इसका मतलब है की आप भरी तनाव से गुज़र रहीं हैं। क्योंकि अक्सर देखा गया है कि तनाव लेने से शरीर के हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं। जिससे मासिक धर्म में ज्यादा दर्द होने लगता है। 3. जबड़े में दर्द जबड़ों में दर्द तब होता है जब आप अपने चहरे की मांसपेशियों पर ज्यादा दबाव डालते हैं। और यह आपके लगातार तनाव लेने से होता है। जिससे चहरे और जबड़े की मांसपेशियां खींचती है और दर्द होने लगता है। 4. मसूढ़े से खून आना तनावग्रस्‍त रहने से मसूड़ों से खून आने जैसी दिक्‍कतें आती है। विटामिन सी शरीर में तनावरोधी हार्मोन बनाने में मदद करता है। इसलिए इस समस्‍या से बचने के लिए अपनी डाइट में विटामिन सी युक्‍त आहार को शामिल करें। 5. मुँहासे मुंहासे होने का कारण गलत खानपान और चेहरे पर मेकअप होता हैं। और अगर आपका खान पान सही है और फिर भी आपके मुँहासे हो रहें हैं तो इसका कारण हैं तनाव या ङिप्रशन, जिससे शरीर के हार्मोन का डिस्बेलेंस होजाते हैं। 6. चीनी खाने की इच्छा हो जब दिमाग तनाव में होता है तो ग्लूकोकॉर्टिकोयड्स (जीसी) नामक हार्मोन सक्रिय हो जाते हैं। यह स्वाद की कोशिकाओं को प्रभावित करते हैं जिससे मीठा खाने की तीव्र इच्छा उठती है। 7. त्वचा की खुजली अगर आपकी त्वचा में लाल लाल बड़े दाने पड़ रहे हैं तो ऐसे समय में तनाव आपके लिए बहुत नुकसानदेह है। चेहरे पर लाल लाल चकत्ते वाली यह बीमारी त्वचा की कोशिकाओं को इकठ्ठा कर चकत्ते बना देती है। कई बार इसमें जलन होती है जो तनाव की वजह से बढ़ जाती है। तनाव त्वचा में खुजली को भी बढ़ाने वाला होता है। इससे नाक, गले और ठोंढ़ी के पास लाल रंग के चकत्तें बढ़ जाते है। जिसमें खूब खुजली होती है। 8. सांस की बीमारी तनाव के कारन अक्सर लोगों में सुखी खांसी, ब्लॉक्ड साइनस, नाक में खुजली जैसी बीमारी होती है। और अगर आपको सांस लेने में मुश्किल हो सकती है या फिर श्वसन तंत्र पर दबाव पड़ सकता है। तो यह तनाव के दीर्घकालिक प्रभावों में से एक है। 9. पेट की समस्याएं तनाव के कारण एसिड के अधिक बनने से पेट की समस्‍याएं होने लगती है। तनाव से उपजी पेट की समस्‍या कई अन्‍य प्रकार की पेट की समस्‍याओं जैसे सूजन, दर्द, खिंचाव, गैस और पेट की खराबी को जन्‍म दे सकती है। English summary 9 Silent Signs Of Chronic Stress To Watch Out For! Here are a few hidden signs of extreme stress that you may never notice until it is too late! Story first published: Tuesday, December 5, 2017, 12:00 [IST] Dec 5, 2017 कीअन्यखबरें

खस खस के बीजों के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप

Thursday, December 7 2017

खस खस के बीजों के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप

» खस खस के बीजों के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप खस खस के बीजों के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप Diet Fitness Updated: 10:22 Poppy seeds, खसखस | Health Benefits | क्या आप जानते है खसखस के ये खास फायदे। BoldSky खस खस केवल इस सदी में ही नहीं प्रसिद्ध है बल्कि मध्य युग से ही यह एक सेडेटिव के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। कांस्य युग में लोग अच्छी तरह से इस खसखस के बीज के बारे में जानते थे। क्योंकि वे अपने रोते हुए बच्चे को चुप कराने के लिए उनके खाने में दूध और शहद के साथ खस खस का इस्तेमाल करते थे। भारत के अलग अलग हिस्से में इसे कई नामों से जाना जाता है जैसे कि हिंदी में इसे खसखस कहते हैं तो कन्नड़ में गैसेगैसे और बंगाली में इसे पोस्तो कहते हैं। खस खस का इस्तेमाल बहुत से व्यंजनों में किया जाता है। इस बीज के कई सारे औषधीय गुण होते हैं। वेस्टर्न और एशियन देशों में खस खस के बीज का इस्तेमाल कई तरह के डिशेज में किया जाता है। सेक्स समस्या से भूख तक, हर एक समस्या का समाधान है पीपल का पेड़ जबकि इसका अपना कोई भी स्वाद नहीं होता है। इस बीज के तेल का इस्तेमाल मेडिकल में, साबुन बनाने में, परफ्यूम बनाने में और कई तरह के पेय पदार्थों और खाद्य पदार्थों में किया जाता है। आइये इस बीज के कुछ अहम फायदों के बारे में जानते हैं। 1- पाचन में अच्छा होता खस खस के बीज में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है जिसकी वजह से आपका पाचन तंत्र ठीक रहता है और आपको एसिडिटी, गैस, कब्ज़ और पेट में जलन आदि की समस्या से राहत देता है। रोजाना सुबह खाली पेट घी खाने से होते हैं ये ख़ास फायदे 2- फर्टिलिटी बढाता इस बीज के औषधीय गुण महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। रिसर्च में यह पाया गया है कि अगर महिलाओं की फैलोपियन ट्यूब में इस बीज के तेल का इस्तेमाल किया जाए तो यह वहाँ की गंदगी और म्यूकस को हटाकर गर्भ धारण करने में मदद करता है। अध्ययन के अनुसार लगभग 40% महिलाओं में इसके पॉजिटिव परिणाम देखने को मिले हैं। 3- उर्जा प्रदान करता हमारे शरीर को अपने दैनिक जीवन में जटिल कामों को करने में इस्तेमाल होने वाली उर्जा को बढाने के लिए कार्बोहाइड्रेट की जरुरत होती है। खस खस के बीज में ढेर सारे कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो बॉडी में घुलकर उर्जा प्रदान करते हैं। इसके अलावा यह पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद करता है जिसकी कमी से आपको थकान हो सकती है। 4- माउथ अल्सर ठीक करता अगर आप मुंह में होने वाले अल्सर से पीड़ित हैं तो खस खस का बीज आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके लिए आप पाउडर रूप में शुगर, खस खस का बीज और घिसा हुआ सूखा नारियल को मिलाकर एक पेलेट बना लें और इसका सेवन करें, इससे मुंह के अल्सर में बहुत आराम मिलेगा। 5- दिमाग तेज करता खस खस के बीज में कैल्शियम, आयरन और कॉपर अधिक मात्रा में होता है जो आपके दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए जरुरी होते हैं। ये न्यूट्रीयेंट्स दिमाग के न्यूरोट्रांसमीटर को नियंत्रित करके दिमाग की क्रियाविधि को ठीक ढंग से चलाने का काम करते हैं। 6- हड्डियों को मजबूती देता हमारी हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम और कॉपर की आवश्यकता होती है। 40 साल की उम्र के बाद हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और लोग इसके लिए कैल्शियम की टेबलेट खाना शुरू कर देते हैं। खस खस के बीज में फॉस्फोरस और मैगनीज होने की वजह से यह हड्डियों को मजबूती देता है और साथ ही हड्डियों में लगने वाले चोट से भी बचाता है। 7- ब्लडप्रेशर कंट्रोल करता अगर आप हाई ब्लडप्रेशर के मरीज हैं तो खस खस बीज युक्त भोजन का सेवन करें जोकि आपके लिए फायदेमंद है। स्टडी के अनुसार खस खस के बीज में ओलेयिक एसिड होता है जो ब्लडप्रेशर नियंत्रित करने में मदद करता है। 8- इम्युनिटी बढाता खस खस के बीज में मौजूद आयरन और जिंक हमारे इम्यून सिस्टम को बढाने का काम करता है और कई तरह की बीमारियों से बचाता है। इसमें मौजूद जिंक की वजह से सांस संबंधी समस्याएं भी नहीं होती हैं। 9- ह्रदय के लिए अच्छा होता इस बीज में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर होता है जो आपके शरीर के कोलेस्ट्राल लेवल को कम करने काम करता है और आपके ह्रदय को स्वस्थ रखता है। इसके अलावा इसमें मौजूद ओमेगा 6 और ओमेगा 3 हार्ट को ठीक तरह से काम करने में मदद करता है। English summary Top Benefits Of Khus Khus (Poppy Seeds) That Will Shock You! Khas Khas is not only famous in this century but it has been used as a sedative since the Middle Ages. In the Bronze Age, people were well aware of this poppy seeds.

HIV/AIDS से पीड़ित रोगी को क्‍या खाना चाहिये और क्‍या नहीं

Thursday, December 7 2017

HIV/AIDS से पीड़ित रोगी को क्‍या खाना चाहिये और क्‍या नहीं

डाइट-फिटनेस » HIV/AIDS से पीड़ित रोगी को क्‍या खाना चाहिये और क्‍या नहीं HIV/AIDS से पीड़ित रोगी को क्‍या खाना चाहिये और क्‍या नहीं Diet Fitness Published: 10:34 Diet For AIDS / HIV Patient | AIDS मरीज़ अपनाऐं ये डाइट | Boldsky एचआईवी / एड्स की बीमारी का नाम सुनते ही लोग घबरा जाते हैं, क्योंकि यह एक ऐसी खतरनाक बीमारी है जिसका कोई इलाज नहीं है, साथ ही इससे व्यक्ति ज्यादा दिन तक ज़िंदा नहीं रहता है। और इसका पता भी तब चलता है जब यह बीमारी काफी बढ़ चुकी होती है। एड्स ऐसी बीमारी है जो एचआईवी (ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी) इस बीमारी की पहली स्टेज है जबकि एड्स (एक्वायर्ड इम्यूनोडिफिशिएंसी सिंड्रोम) इस बीमारी की आखरी स्टेज है। एचआईवी होने के 12 लक्षण यह वायरस हेल्थ को धीरे-धीरे संक्रमित करता है। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता धीरे-धीरे कम होने लगती है। शरीर बैक्टीरिया वायरस से मुकाबला करने की क्षमता खोने लगता है। जिससे शरीर बीमारियों की चपेट में आने लगता है। शरीर प्रतिरोधक क्षमता 10 से 12 सालों के लिए ही सिमित हो जाती है। इस स्थिति को ही एड्स कहा जाता है। एड्स वायरस को रेट्रोवायरस कहा जाता है। कारण: एचआईवी एक रेट्रोवायरस है जो शरीर के अंगों को संक्रमित करता है। और अगर एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी ना दी जाए तो यह वायरस और बढ़ जाता है। यही नहीं वायरस के बढ़ने की उम्मीद व्यक्ति की उम्र, सेहत, उसके साथ होने वाले संक्रमण का होना और उसके परिवार की बिमारियों से पता चलता है। इसके साथ ही इस बीमारी के कुछ मुख्य कारण भी हैं जैसे 1. यौन संबंध : एड्स के फैलने का सबसे मुख्य कारण ऐसे साथी के साथ यौन संबंध बनाने से है जो पहले से ही इससे संक्रमित हो। इसलिए आप सिर्फ अपने साथ के साथ ही शारीरिक संबंध बनायें। साथ ही यह योनि, ओरल और एनल सेक्स या एचआईवी से संक्रमित किसी व्यक्ति के सेक्स टॉय के इस्तेमाल करने से भी एड्स होता है। 2. माँ से उसके होने वाले बच्चे को : बच्चा ऐसी माँ के गर्भ से जन्म लें जिसे ये संक्रमण ना हो पर वो स्तनपान किसी ऐसी माँ का करें जो एड्स से संक्रमित हो। तो इस स्थिति में भी बच्चे को एड्स हो जाता है। ऐसा ज्यादातर उन बच्चो के साथ होता है जिनकी माँ उन्हें जन्म देने के बाद मृत्यु को प्राप्त हो जाती है। 3. संक्रमित रक्त: अगर आप किसी जरूरतमंद व्यक्ति को रक्तदान कर रहे हो तो आप पहले अपने खून की भी जांच करा लें क्योकि अगर आपके खून में एचआईवी पॉजिटिव होता है तो आपके खून से उस व्यक्ति को भी एड्स हो जायेगा। लक्षण • सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द एचआईवी के शुरुआती लक्षण शरीर में वायरस जाने के एक हफ्ते के भीतर दिखाई देते हैं। इसके साथ सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों, चकत्ते और साँस का फूलना है। यह सारे लक्षण 2 से 3 सप्ताह के भीतर गायब हो जाते हैं। • थकान, शरीर के वजन में कमी इसके बाद के लक्षण कुछ साल बाद दिखते हैं। इसमें थकान, शरीर के वजन में कमी, बुखार, शरीर के अंग सुन्न पढ़ जाना, कुछ भी निगलते वक़्त गले दर्द होना, मुंह में घावों और रात में पसीना आना। • ढेर सारे फल और सब्‍जियां खाएं सब्जियां, फलियां, और फल युक्त आहार खाएं। कोशिश करें ऐसा आहार खाएं जिससे आपको ऊर्जा मिले। • फैट और कार्ब शामिल करें आपने आहार में प्रति दिन फैट और कार्बोहाइड्रेट खाएं जिसमें खूब साडी सब्ज़िया हो। इसके साथ कैल्शियम और लो फैट प्रोटीन जैसे मछली, चिकन, कम फैट वाली चीज़ रोज़ आहार में खाएं। • कैलोरी बढा दें अगर आपका वजन कम हो रहा है तो रोज़ 17-25 कैलोरी पर पाउंड का सेवन करें। • विटामिन और मिनरल्स भी लें एचआईवी वायरस सबसे पहले शरीर की कोशिकाओं को नष्ट करता है तो इसके लिए अपने आहार में विटामिन और मिनरल्स ज्यादा खाये। इसके लिए आप अंडे, दूध, मूंगफली, हरी सब्जियां, मांस, सेम और ब्रोकॉलिस जैसे आहार का सेवन कर सकते हैं। यदि आप एचआईवी से पीड़ित हैं, तो आप को कुछ खाद्य पदार्थों से दूर रहना होगा • अपने आहार में फैट की मात्रा कम कर दें • शराब का सेवन बंद कर दें • फास्ट फूड से खाने से बचे • चीनी से बने खाद्य पदार्थ का सेवन बंद कर दें। और साथ अपने डॉक्टर को नियमित रूप से दिखते और सलाह लेते रहें। English summary HIV/AIDS: Diet, Nutrition and Food Safety You Must Follow AIDS is the last stage of the HIV infection; HIV takes about 10 to 12 years to fully culminate into AIDS. Here are Diet, Nutrition and Food Safety You Must Follow when you are suffering from AIDS. Story first published: 10:34 [IST] Dec 7, 2017 कीअन्यखबरें

बवासीर और एनल सेक्‍स के बाद इन तरीकों से साफ सुथरा रखें Butt hole को

Thursday, December 7 2017

बवासीर और एनल सेक्‍स के बाद इन तरीकों से साफ सुथरा रखें Butt hole को

तंदुरुस्‍ती » बवासीर और एनल सेक्‍स के बाद इन तरीकों से साफ सुथरा रखें Butt hole को बवासीर और एनल सेक्‍स के बाद इन तरीकों से साफ सुथरा रखें Butt hole को Wellness Updated: 11:48 हमारे शरीर के कई ऐसे हिस्‍से हैं, जिनकी साफ सफाई की तरफ हमारा ध्‍यान नहीं जाता है। जबकि हमारे शरीर के दूसरे हिस्‍सों की इन हिस्‍सों की सफाई होना बेहद जरुरी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वजाइना को साफ रखने के तरह ही शरीर के पिछले हिस्से में जो छेद यानि मलद्वार (anus) होता है उसको भी साफ-सुथरा या इंफेक्शन फ्री रखना ज़रूरी होता है। इसको लेकर उतना शर्माने की क्या ज़रूरत है? जिस तरह बालों की हम केयर करते है, स्किन की हम केयर क‍रते है वैसे ही समय समय पर शरीर के इस हिस्‍सों को भी साफ सफाई की बेहद जरुरत होती है। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताया कि कैसे बॉडी के इस हिस्से को हेल्दी रखा जा सकता है। नितम्‍बों को पोंछे- बट को हमेशा पानी और साबुन से साफ करते रहना चाहिए , लेकिन याद रहे कि बट को सुगंधित टिशु पेपर से नहीं साफ करना चाहिए। इससे संवेदनशील त्वचा में इंफेक्शन होने का खतरा होता है। वैक्सिंग के बाद- अगर वैक्सिंग के बाद सूजन आ जाये तो बर्फ के टुकड़े से धीरे-धीरे मसाज़ करें आराम मिलेगा। वैक्सिंग के बाद एक-दो दिन सेक्स करने से बचें। त्वचा का ये हिस्सा बहुत संवेदनशील होता है इसलिए इंफेक्शन होने का खतरा होता है। जलन होने पर बट के आस पास दर्द होने पर-बार-बार पोंछने या कुछ मसालेदार खाने से बट में दर्द या जलन जैसा महसुस होता है। इसलिए ड्राई टिशु के जगह पर भींगा हुआ टिशु इस्तेमाल करें इससे आराम मिलेगा। तौलिये से उस जगह को पोंछकर सुखा लें और फिर डाइपर रैश क्रीम लगाये इससे आराम मिलेगा। ब्लीचिंग करने पर- ब्लीच करने पर उसमें जो केमिकल होता है उससे रैशेज हो सकता है या बैक्टिरीयल इंफेक्शन होने का खतरा भी होता है। जब रेक्टम में जलन या दर्द होता है तब स्वयं ही त्वचा से एक प्रकार का फ्लूइड निकलने लगता है ब्लीचिंग करने के बजाय उसको ऐसे ही नैचुरल तरीके से ठीक होने के लिए छोड़ देना चाहिए। अनचाहे बाल होने पर- अगर बट होल के पास अवांछित बाल हैं तो गर्म पानी के सेंक से आराम मिलेगा। दिन में दो-तीन बार 5-10 मिनट तक गर्म सेंक देने से घाव के भीतर से पस निकल जाता है। अगर पस नहीं निकला तो डॉक्टर से तुरन्त सलाह लें। बवासीर- बवासीर होने पर खून निकलता है, दर्द और जलन भी होता है। इसलिए क्रीम या ऑयन्टमेंट लगां उससे आराम मिलेगा। इस ऑयन्टमेंट को लगातार न लगायें क्योंकि इसमें जो स्टेरॉयड होता है वह स्किन को पतला कर देता है जिससे और भी खुजली होती है। पर्याप्त मात्रा में पानी और फाइबर लें इससे मल या स्टूल नरम होगा। इससे बवासीर ठीक होने में आसानी होगी। एनल सेक्‍स अगर आप अपने पार्टनर के साथ एनल सेक्‍स करना पसंद करते है तो ऐसे में बहुत जरुरी है कि आप उस जगह सही तरीके से साफ सफाई करें। एनल सेक्‍स के दौरान सादे टिश्‍यूज या कॉटन का कपड़ा पास में ही रखें। English summary Your Complete Guide To Keeping Your Butt hole Healthy You can always clean your buttocks with tissue paper or wipes but it is best that you avoid scented tissue paper or wipes.

वाह...दही और जलेबी खाने से होती है शरीर की ये समस्याएं समाप्त

Thursday, December 7 2017

वाह...दही और जलेबी खाने से होती है शरीर की ये समस्याएं समाप्त

तंदुरुस्‍ती » वाह...दही और जलेबी खाने से होती है शरीर की ये समस्याएं समाप्त वाह...दही और जलेबी खाने से होती है शरीर की ये समस्याएं समाप्त Wellness Updated: 13:06 भारत के हर राज्यों में अलग अलग कल्चर देखने को मिलेगा। आपको बता दें कि इसके साथ साथ आपको खाने के साथ साथ मिठाइयां भी बदल जाती है। आज हम आपको बताएंगे नॉर्थ इंडिया में खास तौर पर हर मिठाई की दुकान की शान बढ़ाने वाली एक अजीब सी मिठाई जलेबी के बारे में। आपको बता दें कि जलेबी जितनी देखने मे अलग होती है वो उतनी ही फायदेमंद होती है। इसको बनाने में भी काफी मेहनत करनी पड़ती है। लोग यहां पर जलेबी से सुबह का नाश्ता करते है। नॉर्थ इंडिया में जलेबी का नाश्ता दही के साथ किया जाता है। आज आपको बताएंगे कि इसको खाने से आपको शरीर को क्या क्या लाभ होते है। खस खस के बीजों के ये फायदे जानकर चौंक जायेंगे आप इसको खाना जितना टेस्टी होता है उतना ही इसके फायदे आपके शरीर को होते है। क्या आप जलेबी खाते है अगर नहीं तो इसको खाने के फायदे जानकर आप जरूर इसको खाना शुरु कर देगें। आइए जानते है जलेबी खाने से होने वाले फायदों के बारे में... माइग्रेन की समस्या आपको आजकल की भागदौड़ और बदलता हुआ खानपान तो देखा होगा। इससे जो सबसे बड़ी समस्या निकलकर सामने आई है वो है माइग्रेन की समस्या। इसमें आदमी के आधे सिर में दर्द होता है जो कि बहुत भयंकर होता है। आपको इससे बचने के लिए सुबह दूध और जलेबी का साथ में सेवन करना चाहिए। इससे आपको माइग्रेन में आराम मिल जाएगा। छोटी छोटी बुरी आदतों को छोड़कर कम करें अपना मोटापा सेक्स की क्षमता आपको बता दें कि जलेबी आपके लिए इतनी फायदेमंद है जो कि आपके शरीर से खत्म हो रही सेक्स की इच्छा भी बढ़ाती है। अगर बढ़ती उम्र के साथ आपकी सेक्स की इच्छा भी खत्म हो रही है तो आपको इसके लिए सुबह एक गुलाब जामुन के साथ जलेबी का सेवन करना चाहिए। इससे आपके शरीर में सेक्स की क्षमता बढ़ेगी। हांथ पांव का फटना अगर आपके हाथ पांव अक्सर फटते है तो आपको इसके लिए जलेबी का सेवन करना चाहिए। इससे आपको हाथ पैर फटना बंद हो जाते है। आपने देखा होगा कि घर की महिलाओं के अक्सर बिवाईं की समस्या हो जाती है। आपको इससे बचने के लिए जलेबी का सेवन करना चाहिए। मोटापा बढ़ाए आपसे हम ये नहीं कह रहे है कि आप मोटे बो जाए क्योंकि मोटापा सेहत के लिए हानिकारक होता है। आपको बता दें कि अगर आप दुबलेपन से परेशान है तो आपको रोज देशी घी में निकली जलेबी का सेवन करना चाहिए। इससे आपको पर्याप्त मोटापा मिल जाएगा। तनाव अगर आपको तनाव रहता है या आपके घर में कोई पढ़ने वाले बच्चे है तो उनको तनाव रहता होगा। इसलिए आपको तनाव से बचने और बच्चों को बचाने के लिए जलेबी की सेवन करना चाहिए। इससे आपको तनाव की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा। क्योंकि जलेबी मीठी होती है और मिठा मिजाज को खुशनुमा बनाता है। ध्यान एकाग्र करें अगर आप लगातार पढ़ाई करते है या फिर कोई काम करते है तो आपको एकाग्र होने की आवश्यकता होती है। इसके लिए आपको जलेबी का सेवन करना चाहिए। इसके सेवन से आपका मन लगा रहता है और ध्यान एकाग्र रहता है। सावधान रहें आप अगर आप डायबिटीज के पेशेन्ट है तो आपको थोड़ा ध्यान देना होगा। आपको जलेबी का सेवन नही करना चाहिए। ये आपको लिए खतरनाक है। अगर आप सप्ताह में 2 बार जलेबी खाएं तो साथ में कुछ कडुआ भी खाएं इससे आपका संतुलन बना रहेगा। English summary health benefits of eating jalebi daily Different cultures will be found in every state of India. Tell you that along with you you eat as well as desserts. Today we will tell you about a strange sweet Jalebi, which will enhance the beauty of every sweet shop, especially in North India.

इन हेल्दी चीजों को अधिक मात्रा में खाने से हो सकते हैं गंभीर नुकसान

Thursday, December 7 2017

इन हेल्दी चीजों को अधिक मात्रा में खाने से हो सकते हैं गंभीर नुकसान

डाइट-फिटनेस » इन हेल्दी चीजों को अधिक मात्रा में खाने से हो सकते हैं गंभीर नुकसान इन हेल्दी चीजों को अधिक मात्रा में खाने से हो सकते हैं गंभीर नुकसान Diet Fitness Published: 14:30 खाने पीने की चीजों को उचित मात्रा में ही खाना चाहिए। कुछ फूड्स ऐसे हैं जिनके बारे हम लोग बचपन से जानते हैं और वो वास्तव में हेल्दी होते हैं लेकिन हममें से ज्यादातर लोग ये नहीं जानते हैं कि ये फूड्स हेल्दी तो होते हैं अगर उन्हें कम मात्रा में खाया जाए। अगर इन खाद्य पदार्थों को ज्यादा मात्रा में खाया जाए तो ये स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकते हैं। जी हाँ एक बहुत ही मशहूर कहावत है कि किसी चीज की अधिकता खराब होती है, लेकिन अक्सर हम लोग इस बात को भूल जाते हैं और हेल्दी फूड्स को ज्यादा ही खाने लगते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं होता है। आइये हम आपको ऐसे ही कुछ हेल्दी फूड्स के बारे में बताने जा रहें हैं जिन्हें उचित मात्रा में खाना चाहिए। 1- नारियल पानी: यह आपके शरीर को हाइड्रेट रखता है, फ्रेश रखता है, उर्जा देता है और ढेर सारे विटामिन और न्यूट्रीयेंट्स भी देने का काम करता है। इसमें कोई आश्चर्य वाली बात नहीं कि यह अगर कम मात्रा में पिया जाए तो यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। लेकिन जब इसे अधिक मात्रा में पीते हैं तो शरीर में शुगर, पोटेशियम लेवल बढ़ने के साथ साथ वजन भी बढ़ता है। 2- ट्यूना: इसमें फैटी एसिड, प्रोटीन और ओमेगा 3 बहुत अधिक मात्रा में होता है इसलिए यह स्वास्स्थ्य के लिए अच्छा होता है। लेकिन ट्यूना में मेथिलमर्करी होता है इसलिए अगर इसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाये तो यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। 3- लिवर: जैसा कि सब जानते हैं कि रेड मीट में बहुत सारे विटामिन,न्यूट्रीयेंट्स जैसे विटामिन A, B, कॉपर और आयरन पाए जाते हैं। लेकिन अगर इसका सेवन ज्यादा मात्रा में किया जाए तो तो आपको न्यूरोलोजिकल बदलाव, मिचली होने लगते हैं और हड्डियां कमजोर हो जाती हैं इसलिए इनका रोजाना सेवन नहीं करना चाहिए। 4- दालचीनी: दालचीनी स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि यह ब्लड शुगर लेवल कम करता है और वजन कम करने में मदद करता है। दालचीनी में कौमेरिन पाया जाता है जोकि अधिकता में सेवन करने से आपको कैंसर आदि हो सकते हैं। 5- दूध: दूध को बहुत लाभदायक माना जाता है और बचपन से हम लोग सुनते आ रहें हैं कि दूध पीने से हड्डियां मजबूत होती हैं क्योंकि इसमें कैल्शियम और विटामिन D पाया जाता है। लेकिन अगर इसका इस्तेमाल ज्यादा मात्रा में किया जाए तो इसकी वजह से खासतौर पर महिलाओं में हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। 6- टमाटर: हर भारतीय खाने में टमाटर का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह खाने को स्वाद देने के अलावा विटामिन,मिनरल्स जैसे पोटैशियम, मैग्नीशियम,विटामिन C और K प्रदान करता है। अगर इसका सेवन ज्यादा किया जाए तो आपको पैन्क्रीयाज से जुडी बीमारी हो सकती है जिसे बैरेट्स इसोफेगस कहते हैं। 7- पालक: हम लोग यह सुनकर बोर हो गये हैं कि पालक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है और आपको पालक दाल, पालक सूप, पालक करी खाना चाहिए क्योंकि इसमें बहुत अधिक मात्रा में विटामिन, फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है। लेकिन इसका अधिकता में सेवन करने से आपको किडनी स्टोन होने की संभावना बढ़ जाती है। 8- केला: केले के बारे में भी हम बचपन से सुनते आ रहें हैं कि यह फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें फाइबर, पोटेशियम, मिनरल्स और कई तरह के न्यूट्रीयेंट्स पाए जाते हैं। अगर केले का इस्तेमाल ज्यादा मात्रा में किया जाए तो शरीर में पोटेशियम की मात्रा बढ़ जाती है जिसकी वजह से हाईपरकैलेमिया, नर्व और ह्रदय संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए ये कुछ फूड्स हैं जो कम मात्रा में खाना चाहिए क्योंकि ज्यादा मात्रा में खाने से आपको स्वास्थ्य सम्ब्वंधी कई बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती है। English summary Foods Which Are Super Healthy Only When You Eat In Small Amounts Let’s see list of foods that should be consumed in small amounts and not in excess. Story first published: 14:30 [IST] Dec 7, 2017 कीअन्यखबरें

चिकनपॉक्स के दागों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार

Thursday, December 7 2017

चिकनपॉक्स के दागों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार

शरीर-की-देखभाल » चिकनपॉक्स के दागों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार चिकनपॉक्स के दागों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार Body Care Published: Thursday, December 7, 2017, 13:59 [IST] Subscribe to Boldsky चिकन पॉक्‍स होने वर वायरस भले ही शरीर से निकल जाता है लेकिन अपने गंदे और भद्दे दागों को शरीर पर छोड़ जाता है। यह दाग कई-कई दिन और महीनों तक इंसान के शरीर पर रहते हैं। कुछ केसों में तो यह दाग आराम से चले जाते हैं लेकिन कुछ केसों में यह दाग लंबे समय तक टिके रहते हैं। ऐसे में अगर यह दाग चेहरे पर हैं तो इंसान का पूरा कॉन्‍फिडेंसा चला जाता है और वह घर से बाहर निकलने में शर्माता है। चिकन पॉक्स की रोकथाम और प्राकृतिक उपचार बहुत से लोग चिकन पॉक्‍स के दाग हटाने के लिये डॉक्‍टर की बताई हुई क्रीम या दवा का इस्‍तेमाल करते हैं ल‍ेकिन फिर भी उन्‍हें अच्‍छा रिजल्‍ट नहीं मिलता। ऐसे में अगर आप कुछ घरेलू उपायों का प्रयोग करेंगे तो आपको काफी फायदा होगा। आइये जानते हैं कुछ घरेलू उचार जिसकी मदद से आप दाग को दूर कर सकते हैं। चेचक के दाग हटाने के आसान उपाय 1. Vitamin E: विटामिन ई ना केवल skin को हाइट्रेट रखने में मदद करता है बल्‍कि यह एंटी ऑक्‍सीडेंट से भी भरा होता है, जो कि स्‍किन में कोलाजन को बढावा दे कर उसे फ्री रैडिकल्‍स से बचाता है। आपको विटामिन ई बादाम, पालक और पपीते में भरपूर मिल सकता है। आप इसे कैप्‍लसून के रूप में भी ले सकती हैं। अपने खाने में ढेर सारा विटमिन ई शामिल करें जिससे आपको चेहरे के दाग धब्‍बों से जल्‍द राहत मिल सके। 2. नारियल पानी नारियल का पानी ना केवल स्‍वादिष्‍ट होता है बल्‍कि इसमें ढेर सारे पोषण शामिल मिले होते हैं जैसे की lauric acid और cytokines. यह सेल की ग्रोथ को रेगुलेट करते हैं स्‍किन का पीएच बैलेंस करते हैं। इसमें एंटीबैक्‍टीरियल और एंटी फंगल गुण होते हैं जो कि मुंहासे निकलने से रोकते हैं। नारियल का पानी पीने के साथ साथ आप इसे प्रभावित एरिया पर लगा भी सकते हैं, जिससे आपको तुंरत ही राहत मिले। 3. नींबू का रस नींबू में ढेर सारा विटामिन सी होता है। यह आपकी स्‍किन का कोलाजन बनने में मददगार होता है। इसके साथ ही इसमें alpha hydroxyl acid भी पाया जाता है जो कि डैमेज स्‍किन को हील करने में बड़ी तेजी से काम करता है। नींबू का रस लगाने से चेहरा ब्‍लीच हो जाता है और दाग हल्‍क पड़ जाते हैं। आप नींबू के रस को थोड़े से पानी के साथ मिला कर लगा सकते हैं। या फिर इसे किसी फेस पैक में डाल कर लगाएं। 4. एलो वेरा जेल ऐलो वेरा जेल में एंटी ऑक्‍सीडेंटअ और एंटी माइक्रोबियल प्रॉपर्टी होती है। ये दोंनो चीजें आपकी स्‍किन को बैक्‍टीरियल इंफेक्‍शन से बचाने का काम करती है और स्‍किन को जल्‍दी हील करती हैं। चिकन पॉक्‍स केचकत्‍तों की वजह से स्‍किन में जो खुजली होती है, वह भी इससे चली जाती है। एलोवेरा जेल स्‍किन का कोलाजन बढाता है और स्‍किन को नमी प्रदान करने का काम करता है। आप चाहें तो एलो वेरा को सीधे पेड़से निकाल कर लगा सकती हैं या फिर एलो वेरा की बाजार में मिलने वाली ट्यूब का प्रयोग कर सकती हैं। आप इसे दिन में 3-4 बार लगा सकती हैं। 5. बेकिंग सोडा चिकन पॉक्‍स की वजह से स्‍किन में जो दाग, धब्‍बे और खरोंचे बनी हैं, उसे बेकिंग सोडा से काफी हद तक ठीक किया जा सकता है। यह स्‍किन के pH levels को बैलेंस करने में बड़ा मददगार होता है। आप बेकिंगसोडा और पानी मिला कर पेस्‍ट तैयार कर सकती हैं। फिर इस पेस्‍ट को प्रभावित एरिया पर हल्‍के हल्‍के मसाज करें और डेड स्‍किन निकालें। English summary Best Home Remedies For Chicken Pox Scars We give you home remedies for chicken pox scars. Try these best home remedies and get rid of chicken pox scars on face. These are the best home treatment. Story first published: Thursday, December 7, 2017, 13:59 [IST] Dec 7, 2017 कीअन्यखबरें Please Wait while comments are loading...