Health and Fitness

दलिया खाना स्वास्थ के लिए लाभदायक के साथ साथ हो सकता है हानिकारक

Wednesday, December 13 2017

दलिया खाना स्वास्थ के लिए लाभदायक के साथ साथ हो सकता है हानिकारक

आपके घर में आपको कई तरह के पोषक तत्व खाने में दिए जाते है जिससे आपकी सेहत सही रहती है। आपको इसको खाने से कई तरह के लाभ भी होते है। आज हम ऐसे ही एक पोषक तत्व दलिया की बात करेंगें। दलिया यानी सेहत का खजाना। आमतौर पर सुबह के नाश्ते में खाया जाने वाला दलिया विटामिन और प्रोटीन से भरपूर होता है। इसके अलावा इसमें लो कैलोरी और फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इस कारण दलिया एक ऐसा आहार है जो आपके शरीर में सभी पोषक तत्वों की मात्रा को पूरा करता है। सुबह में दलिया खाने से दिनभर के लिए जरूरी सभी तत्व पूरे हो जाते हैं। लेकिन आपको आद भी बताएंगे कि इसको खाने के कुछ नुकसान भी हो सकते है। आपके जी हां दलिया का सेवन आपको किस तरह से नुकसान और फायदा पहुंचाता है आइए जानते है इस आर्टिकल के जरिए....

दलिया खाने के फायदे पाचन में फायदा

आपको दलिया खाने के सबसे बड़ों फायदों में जो फायदा है वो होता है आपका पाचन का फायदा। अगर आप नियमित दलिए का सेवन करते है तो आपका पेट सही रहता है। इसमें गैस और अपच जैसी समस्याएं नहीं रहती है।

मधुमेह

आपको अगर शुगर है तो आपके लिए दलिया का सेवन करना काफी अच्छा होता है। इससे आपको मधुमेह के स्तर में गिरावट का फायदा होगा। आप इसका सेवन जरूर करें।

हड्डियां मजबूत

आपके हड्डियों में अगरल दर्द होता है या वो कमजोर हो रही है तो आपको इसे मजबूत करने के लिए दलिए का नियमित सेवन करना चाहिए। इससे आपकी हड्डियां मजबूत हो जाती है।

दिल के लिए

दलिया एक बहुत ही गुणकारी खाद्य है। इसको खाने से आपको दिल की समस्याएं नहीं होती है। अगर आप इसके मरीज है तब भी आपको इसका सेवन करना चाहिए। आपके लिए अच्छा है।

वजन कम करना

आपको अगर वजन कम करना है और बहुत समय से कोशिश कर रहे है तो आपको अब दलिए का सेवन करना चाहिए। इससे आपका वजन कम होता है। ये आपके स्वास्थ के लिए काफी अच्छी होती है।

एनीमिया से बचाव

आपको बता दें कि अगर आप दलिया का रोजाना सेवन करते है तो आपके लिए ये बहुत अच्छा है। आपको बता दें कि इसको खाने से आपको एनीमिया की समस्या से बचाव मिलता है।

इम्यूनिटी पर प्रभाव

आपके शरीर में दलिया का सेवन इम्यूनिटी बढ़ाने का काम करता है। आपको इसका सेवन करना चाहिए। इससे आपका इम्यून सिस्टम अच्छा रहेगा।

कैंसर से बचाव

आपको बता दें कि दलिया का सेवन ना सिर्फ छोटी समस्याओं बल्कि बड़ी समस्याओं के लिए भी किया जा सकता है। अगर आप इसका सेवन करते है तो आपको कैंसर जैसी समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। दलिया खाने के नुकसान अधिक फाइबर होता है आपको बता दें कि दलिया एक अधिक फाइबर वाला भोजन माना जाता है। अगर आप इसका ज्यादा सेवन करेगे तो आपके शरीर में सूजन या पेट में गैस की समस्या हो सकती है। हो सकती है ये समस्याएं आपको इसलिए अधिक दलिए का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि आपको इसके ज्यादा सेवन से उल्टी, सूजन, दस्त और दर्द जैसी समस्याएं हो सकती है।

कीटो डायट प्लान से कम करें वजन, जाने इसके लाभ और नुकसान

Wednesday, December 13 2017

कीटो डायट प्लान से कम करें वजन, जाने इसके लाभ और नुकसान

कीटो डाइट प्लान क्या होता है। इसको खाने से आपका वेट लॉस भी होता है। सबसे पहले कृपया आप इस बात को जान लें कि एक कीटो आहार के बुनयादी नियमो का कड़ाई से पालन करने पर इसका कोई भी हानिकारक दुष्प्रभाव नहीं होता। ऐसा बहुत कम मामलों में हुआ है जब कीटो आहार विफल रहा हो वह भी केवल व्यक्ति की लापरवाही और उसके सही आहार न लेने के कारण। हमारा शरीर में हर समय केटोसिस की स्थिति में होता है। यह एक सामान्य मेटाबोलिक प्रक्रिया है जो कि हमारे शरीर को हर वक़्त निरंतर कार्य करने की ऊर्जा देता है। आपको बता दें कि कीटो डायट प्लान से आपको कई तरह के फायदों के साथ उसके कुछ साइड इफेक्ट होते है। जिसके बारे में आज आपको बताएंगे। अगर आपको अपना वजन कम करना है तो आपको इसका सेवन करना चाहिए। लेकिन इसके साथ साथ कुछ सावधानियां भी बरतनी चाहिए।

वजन घटाने में

कीटो डायट प्लान लेने से आपका वजन बहुत तेजी से घटने लगता है। अगर आप अपने बढ़ते हुए वजन से परेशान है तो आपको इसके लिए कीटो डायट प्लान लेना चाहिए। ये आपका वजन कम करता है।

मानसिक एकाग्रता के लिए

आपको बता दे कि अगर आप कोई काम करते है और वो मानसिक काम होता है। आपका मन अगर किसी काम में नहीं लगता है तो आपको कीटो डायट प्लान लेना चाहिए। आपके लिए ये सही होता है।

उर्जा का स्तर बढ़ाता है

आपके लिए उर्जा का स्तर बढ़ाने के लिए कीटो डायट प्लान कारगर होता है। अगर आपको ऊर्जा का स्तर बढ़ाना है तो आपको कीटो डायट प्लान का सेवन करना चाहिए।

भूख को नियंत्रित करता है

आपको बता दे कि आप अगर कीटो डायट का सेवन करते है तो आपकी भूख नियत्रित होती है। आपके लिए भूख का नियंत्रित होना काफी अच्छा होता है। इससे आपका वजन नियंत्रित होता है।

मिर्गी का इलाज

आपके लिए कीटो डायट का सेवन करने से आपको मिर्गी की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। आपको अगर इसकी समस्या है तो आपको कीटो डायट का इस्तेमाल करना चाहिए।

कोलेस्ट्रोल और बीपी नियंत्रित

आपके लिए कीटो डायट प्लान बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। इससे आपका कोलेस्ट्राल और बीपी नियंत्रित होता है। दिल के मरीजों का इसका सेवन करना चाहिए।

इंसुलीन को रोकने के लिए

आपको बता दें कि कीटो डायट का सेवन करनें से आपके शरीर में इंसुलीन की मात्रा कंट्रोल में रहती है। आपको इससे आपके शरीर में टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा खत्म हो जाता है। आपको बता दें कि आपको इससे बचने के लिए कीटो डायट शुरु करनी चाहिए।

मुंहासों के छुटकारा

आपको बता दें कि कीटो डायट प्लान लेने से आपका चेहरा साफ रहता है और आपको मुहासों से छुटकारा मिल जाता है।

कीटो डायट लेने के नुकसान शरीर में

ऐंठन

आप अगर इसका लगातार सेवन करते है तो आपके शरीर में सामान्यता ऐंठन की समस्या हो सकती है। आपको इसके लिए घबराने की आवश्यकता नहीं है।

कब्ज की समस्या

आपको बता दें कि अगर आपको कीटो डायट प्लान लेना है तो आपको थोड़ा सावधान रहना चाहिए। आपको इसके लगातार सेवन से कब्ज की समस्या भी हो सकती है।

घबराहट

आपको कीटो डायट प्लान लेने से कुछ घबराहट भी हो सकती है। इसलिए आपको इसको खाना शुरु करने से पहले इसके साइड इफेक्ट के बारे में भी पता होना चाहिए।

MOU signed with the Directorate General for Hindu Community Guidance, Indonesia

Monday, December 11 2017

MOU signed with the Directorate General for Hindu Community Guidance, Indonesia

देव संस्कृति विश्वविद्यालय एवं इंडोनेशिया के धार्मिक मंत्रालय के हिन्दू निदेशालय ने भारतीय संस्कृति एवं वैदिक परम्पराओं के पाठयक्रम चलाने हेतु देव संस्कृति विश्वविद्यालय के साथ अनुबंध किया है। इस पाठयक्रम में इंडोनेशिया के विभिन्न विश्वविद्यालयों से प्राध्यापक शिक्षा प्राप्त करेंगे। मंत्रालय के निदेशक श्री कटुत विद्वन्य जी ने देव संस्कृति विश्वविद्यालय का दौरा किया एवं माननीय प्रतिकुलपति डाॅ0 चिन्मय पण्ड्या जी से मुलाकात भी की। वे परम पूज्य गुरूदेव पं0 श्रीराम शर्मा जी के वैज्ञानिक अध्यात्मवाद के सिद्धांत से अत्यंत प्रभावित हुए। देव संस्कृति विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति डाॅ0 चिन्मय पण्ड्या जी द्वारा इस विविध आयामी सामंजस्य को नया रूप दिया गया। एम.ओ.यू. के अनुसार वर्तमान समय एवं आने वाले भविष्य को देखते हुए कई विषयों पर इस सामंजस्य को केन्द्रित किया गया है। प्रस्तुत एम.ओ.यू. में फेकल्टी तथा विद्यार्थियों का आदान-प्रदान एवं इसके साथ ही विभिन्न प्रकार के प्रोजेक्टस इत्यादि पर संयुक्त रूप से कार्य किए जाने की सहमति बनी है। शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के शोध परख भ्रमण हेतु वर्ष-भर में शैक्षणिक कैलेन्डर के अनुसार कार्यांे को क्रियान्वित किया जाएगा। इसी क्रम में इस वर्ष 5 शिक्षकों का दल योग शिक्षा एवं शोध हेतु देव संस्कृति विश्वविद्यालय आया है।दल को देव संस्कृति विश्वविद्यालय में शिक्षा आयामों के साथ-साथ जीवन प्रबंधन एवं भारतीय संस्कृति के सूत्रों से भी अवगत कराया गया। इस प्रोजेक्ट कार्य का मुख्य उददेश्य दोनों संस्थाओं के बीच शैक्षणिक आदान-प्रदान के साथ-साथ सांस्कृतिक शिक्षा के नये आयामों को नई दिशा देना है।

चावल की ये किस्में खाने से नहीं बढ़ता है वजन

Thursday, December 14 2017

चावल की ये किस्में खाने से नहीं बढ़ता है वजन

» चावल की ये किस्में खाने से नहीं बढ़ता है वजन चावल की ये किस्में खाने से नहीं बढ़ता है वजन Diet Fitness Published: 9:25 वजन घटाने वालों का अमूमन चावल न खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन आपने कभी सोचा है कि इसके पीछे क्या कारण हो सकता है। क्या वजन बढ़ने की मुख्य वजह चावल ही है। सबसे पहले हम आपको यह बताना चाहेंगे कि चावल खाने से फैट नहीं बढ़ता है। चावल में कार्बोहाइड्रेट और फाइबर पाया जाता है, लोग चावल न खाने की सलाह इसलिए देते हैं क्योंकि यह हाई ग्लाइसेमिक डंडेक्स फूड है। इसका मतलब यह है कि यह बहुत जल्दी पच जाता है जिसके कारण ब्लड शुगर का स्तर तेजी से बढ़ जाता है। चूंकि यह जल्दी पच जाता है इसलिए उतनी जल्दी भूख भी महसूस होने लगती है जिससे हम दिन भर में अधिक कैलोरी ले लेते हैं। चावल खाने और न खाने के पीछे बहुत सारी भ्रांतियां भी हैं लेकिन अगर वजन कम करने की बात करें तो दो बातें ज्यादा मायने रखती हैं। पहला यह कि आप किस तरह का चावल खाते हैं और दूसरा यह कि चावल को कितनी मात्रा में खा रहे हैं। बंगलौर की वेल्थ मैनेजमेंट एक्सपर्ट के मुताबिक सभी तरह के चावल में एक जैसी ही कैलोरी मौजूद होती है। ब्राउन राइस को पालिश नहीं किया जाता है, वहीं लाल चावल में अधिक फाइबर पाया जाता है। वजन घटाने में कई किस्म के चावल महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। पोषण विशेषज्ञ के मुताबिक चावल एक ऐसा भोजन है जिसे पूरी तरह से छोड़ना काफी मुश्किल है। इसलिए वजन घटाने के लिए हमें अधिक विटामिन और मिनरल से युक्त भोजन करना चाहिए और यह घर में पाए जाने वाले चावलों में मौजूद नहीं होता है। ब्राउन, रेड सहित चावल की अन्य रंगीन किस्मों में फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जिसे खाने से वजन कम हो सकता है। आइए जानें कि किस चावल में कितनी मात्रा में कैलोरी पायी जाती है। 1. व्हाइट राइस: माना जाता है कि सफेद चावल स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा नहीं होता है। इंडस्ट्रियल प्रोसेसिंग के दौरान इसमें मौजूद मिनरल, पोषक तत्व और फाइबर निकल जाता है। सौ ग्राम सफेद चावल में 150 कैलोरी मौजूद होती है। सफेद चावल में ग्लाइसेमिक अधिक मात्रा में पाया जाता है इसलिए डायबिटीज के मरीजों को इस चावल से परहेज करना चाहिए या सीमित मात्रा में खाना चाहिए। 2. ब्राउन राइस: यह चावल की एक किस्म है जो वजन घटाने में मदद करती है। इसमें अधिक फाइबर पाया जाता है जो मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है और वजन घटाने में मदद करता है। 100 ग्राम ब्राउन राइस में 111 कैलोरी मौजूद होती है। इस चावल से बनी खिचड़ी खाने पर वजन कम होता है इसके अलावा सर्दी के मौसम में इस चावल का उपयोग सूप बनाने और चिकन या मछली के साथ खाने में किया जाता है। 3. रेड राइस: लाल चावल में एंथोसाइनिन नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जिसकी वजह से यह गहरे रंग का होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट में वजन घटाने का गुण पाया जाता है। इसके अलावा रेड राइस खाने से मेटाबोलिज्म भी मजबूत होता है। एक कप रेड राइस में 216 कैलोरी पायी जाती है। 4. ब्लैक राइस: चावल का रंग जितना गहरा होता है उसमें उतना ही अधिक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। ब्लैक राइड को पॉलिश नहीं किया जाता है और इसमें फोलेट, विटामिन बी 6, जिंक, फॉस्फोरस और नियासिन नामक सूक्ष्म पोषक तत्व पाए जाते हैं। एक कप ब्लैक राइस में लगभग 280 कैलोरी पायी जाती है। वजन घटाने के लिए इस तरह से उपयोग करें चावल वजन कम करने के लिए चावल को पूरी तरह से छोड़ने की जरूरत नहीं है। यहां हम चावल को पकाने और उसे उपभोग करने के कुछ तरीकों के बारे में बता रहे हैं जिससे आप अपना वजन घटा सकते हैं। 1. उबले हुए चावल खाएं भोजन में हमेशा फ्राइड राइस की बजाय उबले हुए चावल शामिल करें 2. प्रोटीन अलग से लें चावल प्रोटीन का एक अधूरा स्रोत है इसलिए इसे अधिक प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों जैसे डेयरी प्रोडक्ट या हरी साग-सब्जियां अथवा दाल के साथ खाना चाहिए। 3. चावल को भिगो कर रखें चावल बनाने से पहले इसे थोड़ी देर भिगोकर छोड़ दें फिर तीन से चार बार पानी से अच्छी तरह साफ कर लें ताकि स्टार्च अच्छे से निकल जाए। इसके अलावा स्टार्च को कम करने के लिए चावल को अधिक पानी में भी पकाया जा सकता है। 4. सब्‍जियां साथ में खाएं वजन घटाने के लिए फाइबर युक्त सब्जियों को चावल के साथ खाएं। 5. ब्राउन राइस को नारियल पानी में पका कर खाएं ब्राउन राइस का स्वाद बढ़ाने के लिए इसे सादे पानी की जगह नारियल पानी में पकाकर खाएं। इससे स्वाद मे हल्की मिठास आती है। आप अपनी जरूरत के अनुसार कैलोरी प्राप्त करने के लिए नियमित इन चावलों की किस्मों का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो रोजाना अलग-अलग तरह के चावलों का स्वाद ले सकते हैं। English summary What Kind of Rice is Best for Weight Loss? The type of rice you eat and the portion size which refers to the amount of rice you eat daily. So, what kind of rice is best for weight loss? Story first published: 9:25 [IST] Dec 14, 2017 कीअन्यखबरें

सर्दियों में चुकंदर आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जरूर करें सेवन

Thursday, December 14 2017

सर्दियों में चुकंदर आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जरूर करें सेवन

डाइट-फिटनेस » सर्दियों में चुकंदर आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जरूर करें सेवन सर्दियों में चुकंदर आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जरूर करें सेवन Diet Fitness Updated: 10:13 Beetroot ( चुकंदर ) Health Benefits | कई बीमारियों के लिए रामबाण चुकंदर | Boldsky आपके शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आपको कई तरह की चीजों का सेवन करना पड़ता है। इमने से ही एक होता है। चुकंदर का सेवन जो आपके शरीर के लिए कई मायनों मे फायदेमंद होता है। लाल रंग का दिखने वाला यह फल चुकंदर हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है। अनेक खूबियों से भरे रक्तवर्धक चुकंदर को आमतौर पर बहुत से लोग पसंद नहीं करते, लेकिन इसके रस को पीने से खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है, चुकंदर में अच्छी मात्रा में विटामिन और खनिज होते हैं जो रक्त शोधन के काम में सहायक होते हैं। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं। यह प्राकृतिक शर्करा का स्रोत होता है। इसमें आयरन, सोडियम, पोटेशियम, फॉस्फोरस और अन्य महत्वपूर्ण विटामिन पाए जाते हैं। चुकन्दर की तासीर ठंडी होती हैं। आपको आज बताएंगे कि अगर आप इसका सेवन करते है तो आपको इसके कितने फायदे हो सकते है। आइए जानते है.... हाई बीपी आपको अगर हाई बीपी की समस्या रहती है तो आपको चुकंदर का सेवन करना चाहिए। आप चाहे तो इसका जूस निकालकर भी पी सकते है। इससे आपको बीपी सही रहता है। ये एक अच्छी औषधि है। थकान दूर होती है आप अगर काम करके जल्दी थक जाते है तो आपको चुकंदर का जूस पीना चाहिए। इससे आपकी थकान दूर हो जाती है और आपके शरीर को ऊर्जा मिलती है। खून की कमी अगर आपको एनीमिया यानि खून का कमी है तो आपको चुकंदर का जूस जरूर पीना चाहिए। इसको पीने आपके शरीर में खून का निर्माण भी होता है। इससे आपको एनीमिया की समस्या से आराम मिलता है। पथरी की समस्या अगर आपको पथरी की समस्या है तो आपको चुकंदर के रस का सेवन पानी के साथ उबालकर उसका सूप बनाकर पीना है। इससे आपकी पथरी निकल जाएगी। कैल्शियम की कमी अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है तो आपको चुकंदर खाना चाहिए। इससे आपके शरीर से कैलेशियम की कमी पूरी होती है। इससे आपकी हड्डियां और दांत मजबूत होते है। दाद, खाज, खुजली आपको बता दे कि अगर आपको दाद, खाज या खुजली की समस्या है तो आपको चुकंदर के पत्तों से शहद निकालकर इसमें शहद मिलाकर उस जगह पर लगाने से आपकी दाद खाज खुदली सही हो जाती है। जोड़ो का दर्द अगर आपको जोड़ों का दर्द की समस्या है तो आपको चुकंदर का सेवन करना चाहिए। इससे आपके जोड़ो के दर्द की समस्या खत्म हो जाती है। गैस की समस्या आपके गैस की समस्या को ये झट से दूर करता है। इसके लिए आपको दो चम्मच चुकंदर के रस को शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से आपको पेट की गैस से आराम मिलता है। मासिक धर्म के लिए अगर आपको मासिक धर्म के दौरान अननियमितता का सामने करना पड़ता है तो आपको शरीर में खून की कमी हो जाती है। इसके लिए आपको चुकंदर का रस पीना चाहिए। ये आपके मासिक धर्म में खून कम होने से बचाता है। मोच में आराम आपको अगर मोच लग जाती है तो आपको इसके लिए चुंकदर के पत्तो का को पीसकर मोच में बांधने से आपको आराम मिल जाता है। English summary Top 10 Health Benefits Of Beetroot To keep your body healthy, you have to eat a lot of things. There is only one from Immune. The use of beetroot is beneficial for your body in many ways. The red beetle fruit is beneficial for our health.

ये हेल्दी फूड्स ज्यादा खाने से हो सकते है आपकी सेहत के लिए खतरनाक

Thursday, December 14 2017

ये हेल्दी फूड्स ज्यादा खाने से हो सकते है आपकी सेहत के लिए खतरनाक

डाइट-फिटनेस » ये हेल्दी फूड्स ज्यादा खाने से हो सकते है आपकी सेहत के लिए खतरनाक ये हेल्दी फूड्स ज्यादा खाने से हो सकते है आपकी सेहत के लिए खतरनाक Diet Fitness Published: 11:28 अपनी सेहत को सही रखने के लिए आज के लोग कई तरह के पौष्टिक भोजन या अच्छी चीजे खाते है। सेहत आपके लिए इस समय बहुत मायने रखती है। आज के समय में लोग अपनी हेल्थ का काफी ध्यान रखने लगे है। इसके लिए नियमिम व्यायाम करते है, योगा करते है, जिम में जाकर पसीना बहाते है और हेल्दी डाइट लेते है। खुद को स्वस्थ रखने की होड़ में लोगो ने अपने खाने का तरीका बदल दिया है। मगर क्या आप जानते है कि अगर आप इस हेल्दी फूड को जरुरत से ज्यादा खाती है तो इससे आपको काफी नुकसान भी पहुंच सकता है। ये तो हम सब जानते है कि किसी भी चीज का जरुरत से अधिक सेवन हानिकारक होता पर अक्सर स्वस्थ रहने की धुन में अधिकतर लोग यह गलती कर बैठते है। सर्दियों में चुकंदर आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है, जरूर करें सेवन आइये अब आपको बताते है ऐसे कौन से हेल्दी फूड्स है जिन्हें आपको उचित मात्रा में ही खाना चाहिए। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो ये आपके शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकते है। आइए जानते है। नारियल पानी आपको बता दें कि वैसे तो नारियल पानी की सेवन करना बहुत ही अच्छा होता है। इसके सेवन से आपको कई तरह के फायदे होते है। इसमें बहुत से व विटामिन्स और न्यूट्रिएंस होते है। लेकिन इसका ज्यादा प्रयोग आपके लिए खतरनाक है। बढ़ सकता है वजन आपको बता दें कि अगर आप नारियल पानी का ज्यादा सेवन करते है तो आपके शरीर में पोटैशियम की मात्रा बढ़ जाती है। ये आपका वजन बढ़ाकर आपको मोटा बनाती है। इसलिए इसका ज्यादा सेवन ना करें। ट्यूना फिश आपको अगर ट्यूना मछली खाना पसंद है तो ये अच्छी बात है। फिश आपकी सेहत के लिए काफी अच्छी होती है। फैटी एसिड, प्रोटीन और ओमेंगा 3 के तत्व पाए जाते है जो आपके शरीर के लिए ज्यादा अच्छे होते है। ज्यादा सेवन अगर आपने ट्यूना मछली का अधिक सेवन किया तो आपकी सेहत को नुकसान हो सकता है। आपको बता दें कि इस मछली में मेथिलमर्करी नाम का एक तत्व होता है जो आपके शरीर को हानि पहुंचाता है। रेड मीट आप अगर रेड मे लिवर खाने के शौकीन है तो आपको बता दें कि रेड मीट में न्यूट्रीयेंट्स, विटामीन ए,बी, कॉपर और आयरन जैसे गुण होते है। ये आपको लिए फायदेमंद होते है। ज्यादा सेवन अगर आप रेड मीट में लिवर का ज्यादा सेवन करते है तो आपके सेहत को नुकासन हो सकता है। इसके ज्यादा सेवन से आपके शरीर में न्यूरोलोजिक बदलाव शुरु हो जाते है जिससे आपकी हड्डियों में कमजोरी आ सकती है। दाल चीनी आपने दाल चीनी का सेवन कई बार सब्जियों में डालकर किया होगा। आपको बता दें कि ये आपकी सेहत और शुगर के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। लेकिन इसके ज्यादा नुकसान से आपको खतरा है। ज्यादा सेवन अगर आपने दालचीनी का ज्यादा सेवन किया तो आपको कैंसर की समस्या हो सकती है। आप इसके ज्यादा इस्तेमाल से खुद को बचाएं। दूध का सेवन आपने बचपन से एक बात जरूर सुनी होगी कि दूध आपके शरीर के लिए बहुत अच्छा होता है। जी हां दूध बहुत अच्छा होता है। इसको पीने से आप स्वस्थ रहते है। ज्यादा सेवन अगर आपने दूध का अधिक सेवन किया तो इससे आपकी हड्डियां भी कमजोर हो सकती है। आपको इसका लिमिटेड सेवन ही करना चाहिए। English summary These Health Foods That are Harmful if You Eat Too Much In order to keep your health right, today's people eat a lot of healthy food or good things. Health matters a lot for you at this time. In today's time people have started taking great care of their health. Regular exercise for this, do yoga, go to the gym, sweat and take healthy diets. Story first published: 11:28 [IST] Dec 14, 2017 कीअन्यखबरें

भारत का एक ऐसा गांव जहां आतंकवादियों की लाश को कुत्तों को खिलाया जाता है

Thursday, December 14 2017

भारत का एक ऐसा गांव जहां आतंकवादियों की लाश को कुत्तों को खिलाया जाता है

Life » भारत का एक ऐसा गांव जहां आतंकवादियों की लाश को कुत्तों को खिलाया जाता है भारत का एक ऐसा गांव जहां आतंकवादियों की लाश को कुत्तों को खिलाया जाता है Life Published: Thursday, December 14, 2017, 16:30 [IST] Subscribe to Boldsky सारे संसार में सुख और शांति उस वक्त नर्क में तबदील हो जाती है जब उस देश में किसी आतंक का साया आ जाता है। आज आप देख रहे है कि आतंकवादियों नें हर देश में अपना अड्डा बना लिया है। फर्क सिर्फ इतना है कि कुछ देशों में ये छिपकर घुस जाते है तो कुछ देशों में इनको जानबूझकर पनाह दी जाती है। आज आतंकवाद का ये शैतान इतना बड़ा हो चुका है कि कई देश इसके साए में जी रहे है। आतंकवाद की जब बात होती है तो एकाएक आपके रोंगटे खड़े हो जाते है। आखिर क्यों ये लोग मौत के सौदागर बने रहते है। इनका काम सिर्फ दहशत फैलाना होता है क्योंकि आम इंसान इनसे डर जाता है। एक ऐसी लड़की जिसको कलयुग में मिली है तीसरी आंख, जानिए आज आपको बताएंगे एक ऐसे गांव के बारे में जहां आतंकवादियों से परेशान होकर गांव वालों ने उनको पकड़कर कुत्तों को खिलाना शुरु कर दिया है। जीं हां ये बिल्कुल सही बात है। आइए जानते है कि ये किस गांव की बात है.... कश्मीर का एक गांव आपको बता दें कि ये बात किसी विदेश के गांव की नहीं बल्कि भारत के कश्मीर की है। कश्मीर के काका हिल गांव के ग्रामीणों ने ऐसा करना शुरु कर दिया है। जो कि अपने आप काबिले तारीफ बात है। घुसपैठ से परेशान थे गांव वाले आपको बता दें कि इस गांव के लोग लगातार आतंकियों की घुसपैठ से परेशान हो चुके थे। आतंकवादियों नें इन लोगो का जीना हराम कर दिया था। इस कारण गांव वालों नें सबकुछ छोड़कर इनसे लड़ने का मन बना लिया। गांव वालों ने अपना और अपने साथियों के दिमाग से आतंकियों का डर निकाल फेंका। पहाड़ियों में बसा है ये गांव कश्मीर का ये गांव पहाड़ियों के बीच में बसा हुआ है। यही कारण है कि छिपकर आतंकियों को यहां से निकलने में आसानी होती थी। जिस कारण वो लोग इसको अपना निशाना बनाते थे। मूसा नाम का एक आतंकी था आपको बता दें कि इस गांव की एक कहानी ये भी है कि यहां पर मूसा नाम का एक आतंकवादी रहता था जो पूरे गांव में अपना डर फैला रहा था और लोगो को मार भी देता था। एक बार गांव वालों और मूसा के बीच मुठभेड़ हुई जिसमें गांव वालों नें मूसा को मार गिराया। कुत्तों को खिलाया शव इस आतंकवादी के मरने के बाद लोगों ने उसको अपने गांव की कब्रिस्तान में दफनाने से मना कर दिया और उसकी लाश को कुत्तों के हवाले कर दिया। जिहाद के नाम पर आतंकी बनने की सलाह इस गांव के लोगों का कहना है कि साल 2003 में आतंकियों ने हमारे नवजवानों को जिहाद के मान पर आतंकी बनने को कहा और जब हमने मना किया तो उन लोगों नें लाखों रुपए देने का वादा भी किया। लेकिन गांव वालों ने ऐसा करने से मना कर दिया। जम्मू पीस मिशन यहां के लोगो ने तंग आकर गुज्जर समुदाय के लोगो नें जम्मू पीस मिशन के नाम पर एक ग्रुप तैयार करते है और आतंकियों के खिलाफ लड़ना शुरु कर देते है। वहां पर जितने भी आतंकियों नें डेरा बना कर रखा था सबको वहां से भागना पड़ा था। English summary a village where dog eats terrorist dead body Happiness and peace in the whole world are transformed into hell when there is a terror in the country. Today you are seeing that the terrorists have made their habitat in every country. The only difference is that in some countries they are secretly penetrated, in some countries they are deliberately sheltered. Story first published: Thursday, December 14, 2017, 16:30 [IST] Dec 14, 2017 कीअन्यखबरें Please Wait while comments are loading...

काफी ट्रेंड में चल रहा है अनुष्‍का की शादी का मेकअप, जानें कैसे करें

Thursday, December 14 2017

काफी ट्रेंड में चल रहा है अनुष्‍का की शादी का मेकअप, जानें कैसे करें

Published: 12:26 आज जब आप इंस्‍टाग्राम या ट्विटर देखती होंगी तो उसमें अनुष्‍का शर्मा और विराट कोहली की धूम धड़ाके वाली शादी ही नज़र आती होगी। अनुष्‍का के लहंगे से लेकर उनके मेकअप तक खूबसूरती पूरे शोशल मीडिया पर वायल हो रही है। अनुष्‍का का मेकअप काफी मिनिमल था जो कि Puneet B Saini दृारा किया गया था। अनुष्‍का की स्‍किन काफी साफ है जिसक चलते यह मेकअप लुक उन पर काफी सूट कर रहाथा। जहां हर ब्राइड लाल रंग के जोड़े और लाल रंग के मेकअप में नजर आती हैं वहीं अनुष्‍का शर्मा पूरी गुलाबी नज़़र आईं। इनका ये मेकप लुक काफी खूबसूरत, डिसेंट और क्लासी था। क्‍या आप नहीं चाहेंगी कि आप भी अपनी शादी में अनुष्‍का जैसा ही मेकअप करें और उन्‍हीं की तरह डीसेंट दिखें। अगर हां, तो आइये स्‍टेप बाई स्‍टेप जानते हैं कि उन्‍होंने यह लुक कैसे पाया.... 1. मेहंदी पर अनुष्‍का ने बालों को खुला छोड़ा था मेहंदी के वक्‍त अनुष्‍का ने बोहो लुक कर रखा था, जिसके साथ ही उनके कपड़े काफी रंगीन दिखे। उन्‍होंने ऑरेंज और पिंक लहंगे के साथ फ्लोरल टाप पहना था। अगर मेकअप की बात की जाए तो उन्‍होंने बहुत ही कम मेकअप में यह लुक पाया था। मिनिमल मेकअप के साथ आंखों पर आईलाइनर और न्‍यूट्रल लिप शेड की लिपस्‍टिक लगा रखी थी। 2. फ्लोरल ब्लाउज़ और हॉट पिंक लहंगा पहना मेहंदी पर मेहंदी पर अुनष्का ने फ्लोरल ब्लाउज़ और हॉट पिंक एंड येल्लो सिल्क लहंगा पहना। मेहंदी में अनुष्का को ब्राइट कलर्स वाला बोहो लुक चाहिए था। इसीलिए उन्होंने ये हॉट पिंक रंग चुना। 3. Engagement में बोल्‍ड आई मेकअप सगाई पर अनुष्का ने सब्यासाची सिग्नेचर गुलकंद बरगंडी रंग की वेलवेट साड़ी चुनी। Puneet B Saini ने उनका मेकअप किया था जिसमें स्‍मोकि आई और बंबी जैसी लैश ने उनका लुक काफी निखार दिया था। अनुष्‍का ने होंठो पर न्‍यूड लिपस्‍टिक लगाई थी। सभी का ध्‍यान उनकी स्‍बयसाची डिजाइनर ज्‍वेलरी पर टिकी हुई थी। उन्‍होंने अपने बालों का जूड़ा बना रखा था जिसमें गुलाब का फूल काफी अच्‍छा दिख रहा था। 4. वेडिंग डे पर किया काफी कम मेकअप मेहंदी की ही तरह अनुष्‍का ने शादी पर भी काफी कम मेकअप करने की सोंची थी। उन्‍होंने पोल्‍की ज्‍वेलरी के साथ embroidered लहंगे का चुनाव किया था। आपको यह समझना चाहिये कि नो मेकअप लुक आपकी खूबसूरती पर काफी प्रभाव डालता है। आपको अनुष्‍का शर्मा का मेकअप बिल्‍कुल भी पेंट किया हुआ नहीं लगेगा। बल्‍कि उन्‍होंने तो बस ब्‍लश और काजल लगा रखा था। 5. खूबसूरत फूलों से सजाया जूड़ा इसके अलावा उन्‍होंने अपने बालों में खूबसूरत सा जूड़ा बना रखा था। इस जूड़े में उन्‍होंने ढेर सारे फूल लगा रखे थे, जिसको देख कर काफी अच्‍छा लग रहा था। 6. माथे की बिंदी अनुष्‍का ने माथे पर एक छोटी सी बिंदी लगा रखी थी। यह बिंदी उनके एथनिक लुक के साथ काफी सूट कर रही थी। 7. शादी का जोड़ा बना था कीमती रत्‍नों से अनुष्का ने पिंक कलर का लहंगा पहना था। अनुष्का का ये आउटफिट डिज़ाइनर सब्यासाची के 2016 के समर वेडिंग कलेक्शन में से था। लहंगे पर सिल्वर-गोल्ड मेटल के धागों का वर्क था। इसके साथ ही इस लहंगे पर पर्ल और बीड्स का काम भी था। 8. ऐसी थी जूलरी अनुष्का ने हैंडक्राफ्टिड अनकट डायमंड, पेल पिंक स्पाइनल और बरोक जैपनीज़ मोतियों से जड़ी जूलरी पहनी। ये जूलरी सब्यासाची के हेरिटेड जूलरी कलेक्शन से थी। जिसमें अनुष्का किसी रानी से कम नही दिखाई दें रही है। अनुष्का ने कुंदन ज्वैलरी मे नाक मे एक खूबसूरत सी बड़ी नथ पहनी हुई थी, जो उन पर खूब जंच रही है। English summary how to get the bridal beauty look of anushka sharma It is no surprise that the fans are as delighted to see Anushka married as the actress herself but we can’t stop gushing about how beautifully Anushka pulled off a fresh make-up look by Puneet B Saini. Story first published: 12:26 [IST] Dec 14, 2017 कीअन्यखबरें

स्किन टैग को हटाने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू उपचार

Thursday, December 14 2017

स्किन टैग को हटाने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू उपचार

» स्किन टैग को हटाने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू उपचार स्किन टैग को हटाने के लिए अपनाएं ये 10 घरेलू उपचार Body Care Updated: 16:25 त्वचा पर छोटे-छोटे उभार को स्किन टैग या मस्सा कहते हैं। यह अक्सर शरीर के उन हिस्सों पर होती है जहां अधिक नमी मौजूद होती है। स्किन टैग गर्दन, ब्रेस्ट के नीचे, आंखों की पलकों और जननांगों के आसपास के क्षेत्र को ज्यादा प्रभावित करती है। स्किन टैग से व्यक्ति को कोई दर्द या परेशानी नहीं होती लेकिन कपड़ों से मस्से खींच जाने की वजह से स्किन पर छोटा खून का थक्का बन जाता है और फिर वहां दर्द होने लगता है। हालांकि कई लोग इसे काट कर निकालने की भी सलाह देते हैं लेकिन आप ऐसी सलाह को नजरअंदाज करें, क्योंकि यह खतरनाक हो सकता है और इससे कई तरह के संक्रमण और त्वचा पर हमेशा के लिए दाग पड़ सकता है। स्किन टैग अमूमन उम्र बढ़ने, त्वचा में रगड़, आनुवांशिकी और हार्मोनल असंतुलन की वजह से होता है। सर्जरी या क्रोयोसर्जरी के जरिए इसे काफी आसानी से हटाया जा सकता है। लेकिन इसेक अलावा कुछ घरेलू उपाय भी हैं जिससे स्किन टैग को दूर किया जा सकता है। लेकिन प्राकृतिक उपचार को आजमाने से पहले इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पलकों के आसपास की त्वचा अधिक संवेदनशील होती है यहां का स्किन टैग त्वचा विशेषज्ञ की मदद से हटवाएं। घरेलू उपचार से स्किन टैग दूर होने में समय लगता है इसलिए आपको काफी धैर्य भी रखना पड़ेगा। तो चलिए आपको उन 10 घरेलू नुस्खों के बारे में बताते हैं। 1- एप्पल साइडर विनेगर: एप्पल साइडर विनेगर स्किन टैग को दूर करने का सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। इसमें अधिक मात्रा में एसिड होता है जो त्वचा पर अतिरिक्त कोशिकाओं को तोड़ देता है और स्किन टैग अपने आप दूर हो जाता है। कैसे इस्तेमाल करे: • स्किन टैग के आसपास के क्षेत्र को धोकर अच्छी तरह पोछ लें • सेब साइडर विनेगर में रूई भिगोएं और इसे सीधे स्किन टैग पर लगा लें। • इसे कम से कम तीन से चार घंटे तक छोड़ दें • फिर गर्म पानी से धो लें • इस प्रक्रिया को एक दिन में तीन से चार बार दोहराएं, जबतक कि स्किन टैग का रंग काला होकर गिर न जाए। नोट: यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है, तो एप्पल साइडर विनेगर को पानी में मिलाकर पतला कर लें। आंखों के पलकों से स्किन टैग हटाने के लिए इसका इस्तेमाल कदापि न करें। 2-टी ट्री ऑयल: टी ट्री ऑयल शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुणों से भरपूर होता है और त्वचा संबंधी समस्याओं जैसे कील-मुंहासे, एक्जिमा और स्किन टैग को दूर करने में काफी प्रभावी है। कैसे इस्तेमाल करे: • रूई के एक टुकड़े को टी ट्री ऑयल में डुबोएं और धीरे-धीरे स्किन टैग पर लगाएं। • अब रूई को स्किन टैग पर रखकर पट्टी बांध दें। • 15-20 मिनट के बाद पट्टी निकालें • जल्दी फर्क देखने के लिए इस प्रक्रिया को दिन में तीन बार दोहराएं। नोट: यदि इसे लगाने पर त्वचा पर किसी भी प्रकार की जलन होती है, तो टी ट्री ऑयल में नारियल का तेल मिलाकर इसे स्किन टैग पर लगाएं। 3. विटामिन ई ऑयल: स्किन टैग को दूर करने के लिए विटामिन ई ऑयल काफी प्रभावी है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो त्वचा को कोमल बनाने में मदद करते हैं। कैसे इस्तेमाल करे: •विटामिन ई कैप्सूल खोलकर इसमें से तेल निकालें। •इस ऑयल को स्किन टैग पर लगाएं और फिर पट्टी बांध लें। •पट्टी बांध कर रात भर के लिए छोड़ दें। अगली सुबह पट्टी हटा लें। •विटामिन ई ऑयल को स्किन टैग पर कई बार लगाएं और नई पट्टी से इसे बांधें। •बेहतर परिणाम के लिए कई हफ्तों तक इस प्रक्रिया को अपनाएं। 4. लहसुन: लहसुन में एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाये जाते हैं और यह पुराने समय से स्किन टैग दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है। कैसे इस्तेमाल करे: •लहसुन की एक कली लें और उसे क्रश कर लें। •रूई को लहसुन के रस में भिगोएं और स्किन टैग पर लगा लें। •अब इसपर पट्टी बांध कर रात भर के लिए छोड़ दें। •सुबह इसे गुनगुने पानी से धो लें। •स्किन टैग को जल्दी दूर करने के लिए इस प्रक्रिया का नियमित पालन करें। 5. अजवायन का तेल: अजवायन के तेल में शक्तिशाली एंटीबैक्टीरियल, एंटीसेप्टिक और एंटी इंफ्लैमेटरी गुण पाए जाते हैं जो स्किन टैग को जल्दी दूर करने में मदद करते हैं। कैसे इस्तेमाल करें: •चार-पांच बूंद नारियल के तेल में दो या तीन बूंद अजवायन का तेल मिलाएं। •इस मिश्रण को स्किन टैग पर दिन में तीन बार लगाएं। •तेल को सूखने दें और फिर इसपर पट्टी बांधकर रातभर के लिए छोड़ दें। •इस विधि को नियमित अपनाएं। 6. डेंडिलियन स्टेम जूस: डेंडिलियम में विटामिन और मिनरल अधिक मात्रा में पाया जाता है जो त्वचा की अतिरिक्त कोशिकाओं को हटाकर स्किन टैग को दूर करने में मदद करता है। कैसे इस्तेमाल करें: •डेंडिलियन स्टेम से रस निकालें। •आपको दूधिया लिक्विड दिखेगा। •अब इस दूधिया लिक्विड को स्किन टैग पर लगाएं। •अब इसपर पट्टी बांधकर रातभर के लिए छोड़ दें। •सुबह इसे गुनगुने पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में चार बार दोहराएं। नोट: यदि आपको डेसीज, मैरीगोल्ड, क्रायसेंथेमम आदि से एलर्जी होती है तो डेंडिलियन से भी एलर्जी हो सकती है। इसलिए आप इनका उपयोग करने से बचें। 7. नींबू का रस: नींबू के रस में साइट्रिक एसिड होता है जो कोशिकाओं को कमजोर करने में मदद करता है और स्किन टैग को निकालता है। इसमें शक्तिशाली एंटीसेप्टिक गुण भी मौजूद होते हैं। कैसे इस्तेमाल करें: •आधा कटा नींबू निचोड़कर रस निकालें। •कॉटन के एक टुकड़े को इस रस में भिगोंएं और सीधे स्किन टैग पर लगाएं। •अब इसे सूखने के लिए कुछ देर तक छोड़ दें। •इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं, आपका स्किन टैग दूर हो जाएगा। 8. नारियल का तेल: नारियल के तेल में एंटी माइक्रोबियल लौरिक एसिड पाया जाता है जो बैक्टीरिया, वायरस और कवकों से लड़ता है और उनके कोशिका भित्ति को नष्ट कर देता है। कैसे इस्तेमाल करें: •रात को सोने से पहले स्किन टैग पर नारियल का तेल लगाएं। •इस प्रक्रिया को नियमित करें, स्किन टैग दूर हो जाएगा। 9. एलोवेरा: एलोवेरा में एंटी इंफ्लैमेटरी और एंटीऑक्सीडडेंट गुण पाए जाते हैं जो स्किन टैग को दूर करने में सहायक होता है। कैसे इस्तेमाल करें: •एलोवेरा से रस निकालें। •प्रभावित क्षेत्र पर इसे लगाकर कुछ देर तक मसाज करें। •जब तक त्वचा एलोवेरा जूस को पूरी तरह अवशोषित न कर ले, मसाज करते रहें। •दो हफ्तों तक इस प्रक्रिया को नियमित दिन में तीन बार अपनाएं। 10. मेथी के बीज: मेथी के बीज में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो स्किन टैग को हटाने में मदद करते हैं। कैसे इस्तेमाल करें: •एक या दो बड़े चम्मच मेथी के बीज को गर्म पानी में रात भर भिगोएँ। •बीज को छानकर पानी दूसरी कटोरी में रख लें। इस पानी को खाली पेट पीएं। •आप इस पानी को प्रभावित क्षेत्र पर भी लगा सकती हैं। •एक हफ्ते तक इसे नियमित करें, स्किन टैग दूर हो जाएगा। English summary 10 Homemade Remedies To Remove Skin Tags Skin tags are a small growth on the skin, which however does not cause any harm to the body. There are several causes for skin tags and also remedies for tags.

क्या होता है फेशियल कंपिंग, इसके बारे में जानना है आपके लिए फायदेमंद

Thursday, December 14 2017

क्या होता है फेशियल कंपिंग, इसके बारे में जानना है आपके लिए फायदेमंद

Updated: 18:10 जब स्वस्थ, दमकती हुई और ख़ूबसूरत त्वचा हासिल करने की बात आती है तो हम महिलाएं किसी भी हद तक जा सकती हैं. हमारा यही नज़रिया खूबसूरती के क्षेत्र में दिन प्रतिदिन अजीबो ग़रीब ट्रेंड्स को जन्म दे रहा है. क्या आपने बाज़ार में उन नई विधियों के बारे में सुना है जो आपको मिनटों में एक चमकदार, तरोताज़ा त्वचा दे सकते है? अगर नहीं, तो आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. हम यहां आपको ब्यूटी सेगमेंट से जुडी सभी चीजों के बारे में अपडेट करते रहेंगे ताकि आप हमेशा सबसे अच्छा फ़ैसला ले सकें. हमारे चेहरे की त्वचा बहुत ही संवेदनशील होती है और यह संवेदनशीलता मौसम में बदलाव और प्रदूषण की वजह से और बढ़ जाती है. रोज़ाना सी.टी.एम. (क्लींज़िग, टोनिंग और मॉश्चराइजिंग) की प्रक्रिया ही काफ़ी नहीं है. काम पर एक लंबा दिन बिताने के बाद हमारी त्वचा नीरस और थकी हई दिखने लगती है. समय बीतने के साथ-साथ चेहरे की त्वचा ढीली हो जाती है और झुर्रियों के साथ-साथ बारीक लकीरें भी दिखने लगती हैं. यह उन महिलाओं के लिए एक दुस्वप्न की तरह है जिनके पास त्वचा की देखभाल करने के लिए कम समय है, लेकिन वे हर समय निखरी हुई और युवा दिखना चाहती हैं. यही वह मोड़ है जहां महिलाएं अपने चेहरे की त्वचा का ख़ास ध्यान रखने के लिए विभिन्न उपचारों और तरीकों की तलाश शुरू कर देती हैं. स्पा जाना पसंद करती है महिलाएं हममें से अक्सर महिलायें समय-समय पर स्पा जाना पसंद करती हैं ताकि हमारे शरीर को आरामदेह उपचार मिल सके. हालांकि अच्छा दिखना हमारे लिए हमेशा से ज़रूरी रहा है, लेकिन हम ऐसे उपचारों का खुले दिल से स्वागत करते हैं जो प्रदूषण और बुढ़ापे के असर को पलट सके और हमें पल भर मे चमकदार, ताजा और पार्टी में जाने लायक़ त्वचा दे सके. महिलाओं की इस मांग को पूरा करने के लिए आजकल स्पा पूरी तरह से तैयार हैं और कुछ अदभुत उपायों के साथ हमारी त्वचा को तुरंत साफ़ और फिर से जीवंत बनाने के लिए तैयार हैं. इस सिलसिले में नवीनतम उपाय है फ़ेशियल कपिंग. फ़ेशियल कपिंग क्या है? खूबसूरती की दुनिया में यह नवीनतम उपचार है जिसके ज़रिये त्वचा से गंदगी, तेल और धूल के कणों को चूस कर बाहर निकाल लिया जाता है. यह मुरझाई हुई त्वचा को फिर से जीवंत करने और त्वचा को कसने के लिए सबसे अच्छा नॉन इनवेसिव उपचार है जिसमे त्वचा को किसी भी तरह का नुक़सान नहीं पहुंचता. झुर्रियां खत्म हो जाती है इसके ज़रिये त्वचा की झुर्रियां और बारीक लकीरें ख़त्म हो जाती हैं. यह त्वचा के छिद्रों को भी खोलने में मदद करता है जिससे ऑक्सीजन और खून का संचार आसानी से होता है और त्वचा में चमक पैदा होती है. हालांकि फ़ेशियल कपिंग कोई नई तकनीक नहीं है लेकिन हाल ही में अपने आश्चर्यजनक परिणामों के कारण यह काफ़ी चर्चा में है. यह कैसे काम करता है? फ़ेशियल कपिंग में चेहरे पर कई सक्शन कप का इस्तेमाल किया जाता है. इस विधि में ज़्यादातर काम वैक्यूम के द्वारा होता है. यह त्वचा के छिद्रों से गंदगी और तेल को बाहर खीँच लेता है. यह मांसपेशियों को आराम देता है, रक्त संचार को बढ़ाता है और त्वचा में कसाव पैदा करता है. गंदगी और धूल को बाहर निकालने के बाद त्वचा में चमक और ताज़गी का एहसास होता है. खून का संचार बढ़ने से स्किन कॉम्प्लेक्शन और रंग में निखार आता है. यह विधि बहुत असरदार है और अगर इसको सही तरीके से किया जाए तो यह अपने पीछे किसी तरह का कोई निशान नहीं छोड़ता. यह सभी तरह की त्वचा के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है. फ़ेशियल कपिंग के फ़ायदे इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे त्वचा को न तो कोई बाहरी नुक़सान होता है और न किसी तरह का दर्द. इस अद्भुत चिकित्सा के कई और आश्चर्यजनक फायदे हैं- 1) यह त्वचा में रक्त संचार को बढ़ाता है जिससे त्वचा में रंगत के साथ ग्लो भी बढ़ जाता है. 2) फ़ेशियल कपिंग रोमछिद्रों को खोलता है जिससे विभिन्न क्रीम और सीरम त्वचा की परतों में गहराई तक जा सकते हैं. इस तरह उन्हें अधिक प्रभावी ढंग से काम करने में मदद मिलती है. 3) यह त्वचा में खिंचाव पैदा करता है जिससे झुर्रियां कम हो जाती हैं. 4) यह त्वचा को जहरीले रसायनों से मुक्त करता है. यह पोषक तत्वों को त्वचा की गहराई से ऊपरी सतह पर खीँच कर विषाक्त पदार्थ को खत्म करने में मदद करता है. हॉलीवुड में इस्तेमाल हॉलीवुड की कई प्रसिद्ध हस्तियों ने खुले तौर पर अपनी निखरी हुई त्वचा का श्रेय फ़ेशियल कपिंग को दिया है. इसकी बढ़ती हुई मांग की वजह से पश्चिम में लगभग सभी स्पा ने अपने ग्राहकों को यह सर्विस देना शुरू कर दी है. हमारे यहां भी ट्रेंड है हमारे देश में भी यह ट्रेंड ज़ोर पर पकड़ रहा है. अगर आपको यह सर्विस देने वाला स्पा नहीं मिल पा रहा है, तो घबराइये नहीं. ऑनलाइन ऐसे बहुत से किट्स उपलब्ध हैं जो आपको घर बैठे फेशियल कपिंग करने का पूरा, स्टेप बाई स्टेप गाइड प्रदान कर सकते हैं. English summary All You Need To Know About Facial Cupping When it comes to getting healthy, vibrant and beautiful skin, then women can go to any extent. Our vision is giving birth to strange perennial trends in the field of beauty. Have you heard of new methods in the market that can give you a bright, fresh skin in minutes?

पुरुषों को अब नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी क्‍योंकि मिल गया नपुसंकता का इलाज

Thursday, December 14 2017

पुरुषों को अब नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी क्‍योंकि मिल गया नपुसंकता का इलाज

डाइट-फिटनेस » पुरुषों को अब नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी क्‍योंकि मिल गया नपुसंकता का इलाज पुरुषों को अब नहीं उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी क्‍योंकि मिल गया नपुसंकता का इलाज Diet Fitness 17:00 प्रजनन क्षमता में कमी होना किसी की गलती नहीं होती। यह एक रोग है जो किसी को भी हो सकता है। दुनिया के दस फीसदी दंपतियों को संतानोत्‍पत्ति में परेशानी होती है। महिलाओं में अगर बांझपन होता है तो पुरुषों में उसी को नपुंसकता कहा जाता है। यह एक तरह का यौन रोग है जो पुरुषों में होता है। नपुंसकता एक ऐसा रोग है जहाँ पुरुषों को शर्मिंदगी उठानी पड़ती है जिसके चलते वे किसी महिला के संपर्क में आने से घबराते हैं। और इस कारण वे अपनी सेक्स लाइफ का आनंद नहीं ले पते, यही नहीं कई बार समय पर इलाज ना मिलने पर उनका शादीशुदा जीवन भी टूट जाता है। इस बीमारी के कई कारण हो सकते हैं इसमेंहार्मोनल इम्बैलेंस, उच्च रक्तचाप, हाई कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और मोटापा है जिससे रक्त वाहिका छोटी हो जाती है। नपुंसकता के लिए घरेलू उपचार तनाव, चिंता और अवसाद कुछ अन्य कारण में आते हैं जिनकी वजह से पुरुषों में स्तंभन दोष पैदा होता है। हलाकि इससे घबराना नहीं चाहिए क्योंकि इसका भी इलाज है। कुछ ऐसे नुस्खें हैं जिन्हे आप घर पर ही आज़मा कर नपुंसकता को ठीक कर सकते हैं। English summary Best-known Natural Home Remedies For Male Impotency Male impotency, or commonly known as erectile dysfunction, is one of the major health issues that is faced by adult men. Know about a few of the best natural Remedies For Male Impotency. 17:00

अगर आप नहाते हैं ज्‍यादा गर्म पानी से तो झेलने पड़ सकते हैं ये नुकसान

Thursday, December 14 2017

अगर आप नहाते हैं ज्‍यादा गर्म पानी से तो झेलने पड़ सकते हैं ये नुकसान

तंदुरुस्‍ती » अगर आप नहाते हैं ज्‍यादा गर्म पानी से तो झेलने पड़ सकते हैं ये नुकसान अगर आप नहाते हैं ज्‍यादा गर्म पानी से तो झेलने पड़ सकते हैं ये नुकसान Wellness 15:05 Hot showers can be DANGEROUS for health | गर्म पानी से नहाना शरीर के लिए हो सकता है खतरनाक | Boldsky थकान भरे दिन के बाद गरम पानी से नहाने पर शरीर को काफी आराम मिलता है। लेकिन पानी का तापमान और फिर इससे आप कितनी ज्‍यादा देर तक नहाते हैं, इन बातों से आपको हेल्‍थ रिस्‍क का सामना करना पड़ सकता है। बहुत ज्‍यादा गरम पानी से नहाने पर आपको मुश्‍किल हो सकती है। नहाने के लिये पानी का तापमान आपके बॉडी के तापमान के आस पास ही होना चाहिये, खासतौर पर छोटे बच्‍चों के लिये। आज कल सर्दी काफी तेजी से बढ़ रही है, तो ऐसे में हर कोई गर्म पानी से ही नहाना पसंद करता है। अगर यह पानी 32 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा गर्म होता है तो स्किन और बालों के लिए नुकसान पहुंचा सकता है। गर्म पानी के कारण स्किन की ड्रायनेस बढ़ती है। इससे खुजली की प्रॉब्लम हो सकती है। इससे नहाने पर आंखें ड्राय हो जाती हैं। इसके कारण आंखों में रेडनेस, खुजली और बार-बार पानी आने की प्रॉब्लम हो सकती है। यही नहीं इसके अलावा आपको 10 और बीमारियों का खतरा हो सकता है, जिसके बारे में किसी को नहीं पता। आगे की स्लाइड्स पर जानिए गर्म पानी से नहाने के नुकसान... 1. गर्म पानी से जल जाती है स्‍किन जब पानी काफी गर्म रहता है तब आपकी स्‍किन को इसका सबसे पहले पता चल जाता है। आपकी स्‍किन गर्म पानी के संपर्क में आ कर झुलस सकती है। गर्म पानी के रिस्‍क में बूढे और छोटे बच्‍चे ज्‍यादा रहते हैं। अगर आपकी स्‍किन कटी या पहले से जली हुई है तो गर्म पानी उसे और खराब कर देगा। 2. ब्‍लड प्रेशर गिरने लगेगा जब शरीर पर गर्म पानी गिरता है तब खून की नली फैलने लगती है और ब्‍लड प्रेशर गिरने लगता है। इसी दौरान दिल भी इसी कमी को पूरा करने के लिये बड़ी तेजी से काम करने लगता है और धड़कने लगता है। यह ना केवल बीमारी को बढाता है बल्‍कि स्‍वस्‍थ इंसान को चक्‍कर आ सकता है। और अगर बीमारी ज्‍यादा बढ गई तो कुछ लोंग बेहोश भी हो जाते हैं। 3. स्‍किन पर पड़ जाती हैं झुर्रियाँ ज्यादा गर्म पानी से नहाने से समय से जवान चेहरे पर झुर्रियाँ आ जाती हैं। इसलिये कभी ज्‍यादा गर्म पानी से नहीं नहाना चाहिये बल्‍कि गुनगुने पानी से नहीं नहाना चाहिये। 4 खुजली हो सकती है ज्यादा गर्म पानी से नहाने से त्वचा रूखी सी हो जाती है, उस रूखेपन से खुजली होना स्वाभाविक बात हैं। 5. चक्‍कर और बेहोशी आना जैसा कि पहले भी बताया गया है कि गर्म पानी से ब्रेन तक जाने वाले ब्‍लड काा फ्लो काफी प्रभावित हो जाता है। इससे इंसान को बेहोशी और चक्‍कर आने लगता है। इससे आप बाथरूम में गिर सकते हैं और आपको चोट लग सकती है। 6. मतली और उल्‍टी आना कई लोग गर्म पानी से नहाने के बाद उल्‍टी जैसा महसूस करते हैं, खासतौर पर बाथ टब में खुद को ज्‍यादा देर तक डुबोने के बाद। इससे ब्रेन तक जाने वाला ब्‍लड फ्लो प्रभावित होता है। यह तब और भी गंभीर बात हो जाती है जब इंसान खाने के बाद नहाता है तो। ज्‍यादा गंभीर स्‍थती में इंसान को उल्‍टी हो सकती है। 7. बालों का झड़ना ज्यादा गर्म पानी से नहाने से बाल जल्दी-जल्दी झड़ने शुरू हो जाते हैं और साथ में रूसी की समस्‍या हो जाती है। 8. आंखें लाल होना ज्यादा गर्म पानी से नहाने से आँखें लाल हो जाती हैं, जिससे सामने वाले इंसान को लगता हैं कि ये नशे में धुत हैं। आँखें लाल हो जाने से आँखों में खिंचाव महसूस होने लगता है जिससे आँखों में दर्द होने लगता है। 9. स्‍पर्म और अंडकोश के लिये खतरा अगर आपको अपने स्‍पर्म की क्‍वालिटी खराब नहीं करनी है तो गर्म पानी से ना नहाएं। ज्यादा गर्म पानी से नहाने से शुक्राणुओं और अंडाणुओं के बनने की संख्या घटती है, जिससे यौन सम्बन्धी बीमारियाँ होने की संभावना बढ़ जाती हैं। 10. गर्म पानी से नहाने पर नाखून खराब हो जाते हैं ज्यादा ही गर्म पानी से नहाने से नाखूनों बहुत ज्‍यादा खराब हो जाते हैं। इससे नाखून की चमक खतम हो जाती है, वे रूखे हो जाते हैं। नाखूनों की चमक खोने के साथ-साथ नाखूनों में इन्फेक्शन का खतरा रहता हैं। 11. स्किन एलर्जी हो सकती है अगर आप ज्‍यादा गर्म पानी से नहाती हैं तो आपकी त्‍वचा काफी रूखी हो सकती है। गर्म पानी के कारण स्किन की ड्रायनेस बढ़ती है। इससे खुजली की प्रॉब्लम हो सकती है। 12. दिल का दौरा भी पड़ सकता है ज्यादा गर्म पानी से नहाने से दिल के दौरे पड़ने की संभावना बहुत ही ज्यादा होती हैं। जापान में इस बात का एक अध्ययन किया गया था। English summary Health Risks and Dangers of Hot Baths A hot bath may be relaxing at the end of a long day. But depending on the temperature of your bath water and duration of bathing, it can hold several health risks. Whether it is a shower or a soak in a bath, very hot water can be dangerous. 15:05