Health and Fitness

मोटापा को यूं गायब करेगा वीटग्रास जूस, जानें बनाने का तरीका

Tuesday, December 19 2017

मोटापा को यूं गायब करेगा वीटग्रास जूस, जानें बनाने का तरीका

Published: 10:41 आज कल जिसे देखो वही वजन कम करने में लगा हुआ है। ऐसे में आपने शायद वीट ग्रास का नाम जरुर सुना या फिर देखा होगा। वीट ग्रास को गेहूं का जवार भी बोलते हैं। प्राचीन काल से ही हिन्दुस्तान के चिकित्सक वीट ग्रास को विभिन्न रोगों जैसे, कैंसर, त्वचा रोग, मोटापा, डायबिटीज आदि के उपचार में प्रयोग कर रहे हैं। जब गेहूं के बीज को अच्छी उपजाऊ जमीन में बोया जाता है तो कुछ ही दिनों में वह अंकुरित होकर बढ़ने लगता है और उसमें पत्तियां निकलने लगती है। जब यह अंकुरण पांच-छह पत्तों का हो जाता है तो अंकुरित बीज का यह भाग गेहूं का ज्वारा कहलाता है। वीटग्रास के कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं क्‍योंकि इसमें क्‍लोरोफिल, विटामिन्‍स- vitamins A, C and E, कैल्‍शियम, आयरन, मैगनीशियम, पोटैशियम और अमीनो एसिड पाया जाता है। इस सभी कारणों से यह वजन को भी कम करने की शक्‍ती रखता है। अगर वजन कम करना हो तो रोज सुबह खाली पेट वीट ग्रास जूस पीना चाहिये। वीटग्रास की सबसे अच्‍छी बात यह है कि यह किसी भी मेडीकल शॉप पर आराम से मिल जाएगा। और अगर आपको लगता है कि इसमें मिलावट हो सकती है तो आप इसे अपने घर के बगीचे में उगा सकते हैं। अगर आप का मोटापा जाने का नाम नहीं ले रहा है तो आपको वीटग्रास जरुर से जरुर अपनाना चाहिये। हो सकता है कि आपको इसे पीने के बाद स्‍वाद में अच्‍छा ना लगे लेकिन इसे नियमित पीने के बाद, आपको इसकी आदत पड़ जाएगी। 1. थायराइड को कंट्रोल करे थायराइड अगर बैलेंस नहीं है तो यह आपके वजन को बढा सकता है। वीट ग्रास का सेवन करने से आपके थायराइड ग्‍लैंड बैलेंस हो जाएंगे क्‍योंकि वीट ग्रास में सीलियम होता है जो यह काम मुम‍िकिन करता है। 2. बार बार भूंख नहीं लगती वीटग्रास में ढेर सारे पोषक तत्‍व होते हैं, जिसकी बॉडी को जरुरत होती है। इससे आपके शरीर को बेकार के खाने की लत नहीं लगती और आप जंक फूड खाने से भी बच जाते हैं। इससे केवल वजन बढता है। अगर आप सुबह खाली पेट वीटग्रास पीते हैं तो आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है। इससे मोटापा कंट्रोल रहेगा। 3. शरीर को एनर्जी प्रदान करता है यह शरीर को ज्यादा ऊर्जा प्रदान करता है तथा शक्ति में वृद्धि करता है, जो शरीर को लंबे समय तक मेहनत करने लायक बनाता है, और इस तरह तेजी से वजन घटाया जा सकता है। 4. पाचन में सहायक व्हीटग्रास पाउडर पाचन क्रिया को बेहद आसान बनाता है। व्हीटग्रास पाउडर में कुछ क्षारीय खनिज होते हैं, जो अल्सर, कब्ज और दस्त से राहत प्रदान करते हैं। मैग्नीशियम का उच्च स्तर भी कब्ज से राहत में मदद करता है। 5. खून की सफाई करे एक विषनाशक एजेंट होने के नाते, व्हीटग्रास पाउडर आपके रक्त की सफाई करता है,और सांस और पसीने की गंदी बदबू को दूर करता है। 6. PH बैलेंस करता है एक क्षारीय भोजन के पूरक होने के नाते, व्हीटग्रास पाउडर शरीर के पीएच को संतुलन प्रदान करता है। इस प्रकार, यह रक्त में अम्लता के स्तर को कम करने में फायदेमंद होता है तथा इसकी क्षारीयता को वापस लौटाता है। 7. शोधक तथा विषनिवारक गुण व्हीटग्रास पाउडर में बहुत ही बेहतरीन विषनिवारक गुण होते हैं। इसके पोषक तत्वों में खनिज तत्व, एंटीऑक्सिडेंट तथा एंजाइम शामिल हैं, जो ताजा सब्जियों के समान होते हैं। इसमें पाये जाने वाले पोषक तत्व सूजन को कम करते हैं। इस प्रकार, यह कोशिकाओं की शक्ति को बढ़ाता है, रक्तप्रवाह तथा लीवर को विषमुक्त बनाता है, कोलन को साफ करता है तथा कार्सिनोजीन्स से सुरक्षा प्रदान करता है। 8. एनीमिया दूर करे इसका रोजाना सेवन करने से खून की मात्रा में वृद्धि होती है व हीमोग्लोबिन का स्तर सामान्य हो जाता है। इस प्रकार व्हीटग्रास पाउडर एनीमिया के इलाज में मदद करता है। इस प्रकार यह निष्कर्ष निकालना नितान्त तर्कसंगत है कि व्हीटग्रास एनीमिया को दूर करनें में सहायक सिद्ध होता है। 9. इसको कैसे बनाएं जरूरी सामग्री- 1. वीटग्रास का बंच (4-6 इंच लंबे) 2. आधा गिलास पानी 3. थोड़ा सा नींबू का रस 10. बनाने की विधि - वीटग्रास ले कर उसे 2-3 पीस में काट लीजिये। अब इन्‍हें ब्‍लेंड में डाल कर उसमें आधा गिलास पानी मिला कर पीस लीजिये। इसे अच्‍छी प्रकार से ब्‍लेंड करें। जूस को चलाएं। अगर आपको इसका फीका स्‍वाद पसंद ना आए तो आप इसमें नींबू की बूंद मिला कर पी सकते हैं। 11. सावधानी जब भी वीटग्रास जूस पिएं, तो खाली पेट ही पिएं। अगर आप वीटग्रास जूस को खाना खाने के बाद पिएंगे तो आपको उल्‍टी आ सकती है। English summary How Wheatgrass Juice Helps You To Lose Weight Wheatgrass has plenty of health benefits. Drinking a glass of wheatgrass juice can help one to lose weight effectively. Story first published: 10:41 [IST] Dec 19, 2017 कीअन्यखबरें

High Uric Acid Home Remedies In Hindi Health Video 59

Tuesday, December 19 2017

High Uric Acid Home Remedies In Hindi Health Video 59

Join Sachin Goyal at Facebook: Join Sachin Goyal at Google+ : -­ - Music Source : YouTube Audio Library ( Artist : Topher Mohr and Alex Elena Genre : Rock -­ - डिस्क्लेमर : jaipurthepinkcity.com वेबसाइट के लेख, चित्र, विडियो एवं ब्लॉग आदि पर उपलब्ध कराई जाने वाली जानकारी भारतीय जन-मानस व संस्कृति में प्रचलित प्राचीन ज्ञान, पारम्परिकपद्धतियों, वैकल्पिक पद्धतियों और दादी-नानी के द्वारा पीढ़ी दर पीढ़ी लोक-सामान्य में प्रसारित होने वाली सामान्य जानकारियों पर आधारित है. jaipurthepinkcity.com वेबसाइट, इस वेबसाइट का कोई भी हिस्सा या सदस्य आदि किसी भी रोगया सौंदर्य समस्या आदि का इलाज करने का कोई दावा नहीं करते हैं. इस वीडियो में दिखाई गई सभी सामग्री का उद्देश्य केवल बीमारियों और उनके सम्भव घरेलू उपचारों की नि:शुल्क जानकारी प्रदान करना है. यह लाइसेंसधारक योग्य चिकित्सक के द्वारा किये जाने वाले परीक्षण, निदान, उपचार आदि का विकल्प नहीं है. यदि आप, आपके परिवार के सदस्य या जानकार इसमें बताई गई बीमारी से पीड़ित हैं तो तुरंत अपने नज़दीकी चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए. अपने आप का, अपने परिवारजनों का और अन्य किसी का भी इलाज बिना किसी चिकित्सक की देखरेख के नहीं करना चाहिए. jaipurthepinkcity.com प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से दवाओं के द्वारा निदान आदि चिकित्सा गतिविधि का संचालन नहीं करता है, और न ही इस नि:शुल्क पढ़ी जाने वाली वेबसाईट के (लेख, चित्र, वीडियो एवं ब्लॉग आदि) द्वारा चिकित्सा परामर्श, निदान, चिकित्सा या अन्य कोई चिकित्सा सम्बन्धी सेवा प्रदान करता है. आप यह जानते हैं और स्वीकार करते हैं कि jaipurthepinkcity.com के द्वारा प्रदान की गई इन जानकारियों की उपलब्धता के परिणामस्वरूप, या इनकी पूर्णता, मापकता, अस्तित्व आदि पर आपके द्वारा किये जाने वाले भरोसे के परिणामस्वरूप यदि आपको कोई हानि होती है तो इसके लिये jaipurthepinkcity.com या इसका कोई भी सदस्य ज़िम्मेदार नहीं है.

चेहरे की झुर्री और पिंपल्‍स को तुंरत गायब करे एप्‍पल साइडर वेनिगर

Wednesday, December 20 2017

चेहरे की झुर्री और पिंपल्‍स को तुंरत गायब करे एप्‍पल साइडर वेनिगर

आज कल एप्‍पल साइडर वेनिगर का बोलबाला है। हर कोई इसे मोटापा कम करने के लिये या फिर त्‍वचा पर लगाने के लिये यूज़ करने में लगा हुआ है। एप्पल साइडर विनेगर में मैलिक एसिड भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो एक शक्तिशाली एंटीफंगल एजेंट की तरह काम करता है, त्वचा की अशुद्धियों को साफ़ करता है, संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है और त्वचा को साफ़ करता है। इसके अलावा यह त्वचा के पीएच बैलेंस (संतुलन) को बनाये रखता है और त्वचा को बहुत अधिक तैलीय या बहुत अधिक शुष्क होने से बचाता है। एप्पल साइडर विनेगर में एमिनो एसिड्स होते हैं जो त्वचा की नमी को बनाये रखते हैं ताकि त्वचा के रोम छोद्रों से नमी बाहर न निकल सकें और यह फाइन लाइंस को भी दूर करते हैं। नोट- इसे लगाने से पहले हमेशा एक बार पैच टेस्‍ट कर लें और देंख लें कि कहीं आपकी स्‍किन संवेदनशील तो नहीं बन गई है। अगर आपकी स्‍किन की खाल उतने लगे या फिर रूखी लगने लगे तो इसका प्रयोग तुरंत ही बंद कर दें।

1. दाग और झाइयों को दूर करे

इसमें अल्‍फा हाइड्रॉक्‍सी एसिड होता है जो कि स्‍किन के रंग को हल्‍का कर देता है और पिगमेंटेशन को दूर कर देता है। इसलिये यह झाइयों को दूर करने में मददगार साबित होता है। कई सारे कॉस्‍मैटिक प्रोडक्‍ट्स इस चीज का इस्‍तमाल अपने प्रोडक्‍ट में जरुर करते हैं।

2. झुर्रियां मिटाए

पहले से पड़ी हुई झुर्रियों को तो यह नहीं मिटा सकता लेकिन आने वाली झुर्रियों को यह रोक सकता है। सिरका स्‍किन को हाइड्रेट रखने में मदद करता है और स्‍किन को टाइट बनाता है।

3. मुंहासे मिटाए

मुंहासे मिटाने के लिये आप, एक चम्मच मुल्‍तानी मिट्टी लें और इसमें समान मात्रा में एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं। इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और पेस्ट बनायें। इसकी पतली परत चेहरे और गर्दन पर लगायें। इसे 15 मिनिट तक लगा रहें दें और फिर साफ़ पानी से धो डालें। त्वचा को साफ़ और नरम बनाये रखने के लिए इसे सप्ताह में दो बार लगायें। यह त्‍वचा से अत्‍यधिक तेल को साफ करेगा और स्‍किन को भी टोन करेगा।

4. स्किन को टोन करता है

त्वचा के प्राकृतिक पीएच बैलेंस को बनाये रखने के लिए इस सरल पैक का उपयोग करें। 1/2 कप विनेगर में एक कप साफ़ पानी मिलाएं। इस मिश्रण में रुई के फाहे को डुबायें और इसे त्वचा पर लगायें। इसे पांच मिनिट तक लगा रहने दें और बाद में ठंडे पानी से धो डालें। बचे हुए मिश्रण को एयर टाइट डिब्बे में रखें।

5. चेहरे से रेडनेस मिटाए

एप्‍पल साइडर वेनिगर चेहरे पर पड़े रेड मार्क को मिटाता है। इसमें anti-inflammatory प्रॉपर्टी होता है जो कि रेजर से जले घाव को भी ठीक करता है। यह घाव और चोट को ठीक करने में मदद करता है और इंफेक्‍शन नहीं होने देता । इसको लगाने से थोड़ा दर्द तो होगा पर इतना नहीं कि आप सह ना पाएं।

6. स्‍किन को डिटॉक्‍स करे

इसमें acetic acid पाया जाता है जो कि एंटी बैक्‍टीरियल गुणों से भरा होता है। यह स्‍किन को साफ करने में मदद करता है और त्‍वचा से टॉक्‍सिन मिटाता है। इससे स्‍किन रिफ्रेश दिखती है और साफ भी।

कहीं आप भी तो नहीं मानते गर्भनिरोधकों से जुड़ी ये गलतफहमियां

Wednesday, December 20 2017

कहीं आप भी तो नहीं मानते गर्भनिरोधकों से जुड़ी ये गलतफहमियां

Published: Wednesday, December 20, 2017, 15:35 गर्भनिरोधक कोई नई चीज नहीं है और ऐसा नहीं है कि इसके बारे में किसी को पता ना हो। बर्थ कंट्रोल के तरीकों का महत्व हमेशा था। हजारों वर्षो से बर्थ कंट्रोल के तरीकों का प्रयोग किया जा रहा है। वे लोग जो बच्‍चा प्‍लान नहीं कर रहे हैं, उनके लिये मार्केट में बहुत सारे गर्भनिरोधक उपलबद्ध हैं। माना जाता है कि आज की पीढी को सेक्स और कॉन्ट्रासेप्शन के बारे में पहले के मुकाबले ज्यादा जानकारी है। लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक हो ही जाती है क्‍योंकि इसके बारे में काफी मिथ भी है। #ALERT: सेक्‍स के बाद जलन और तेज खुजली होती है तो ये हैं कंडोम की एलर्जी के लक्षण, पढ़ें इंटरनेट आ जाने की वजह से लोग अपने डाउट को खतम कर लेते हैं लेकिन अब भ्रांतियां बहुत ज्यादा स्थापित हो चुकी हैं। बाजार में इतने ढेर सारे गर्भनिरोधक उपलब्‍ध हैं कि सभी को सब चीजों के बारे में ठीक से पता हो यह जरुरी नहीं है। तो अगर आपके भी मन में बर्थ कंट्रोल को ले कर कुछ गलतफहमी है तो उसे हम अभी दूर कर दे रहे हैं। Myth #1- Partner अगर withdraw कर ले तो आपको बर्थ कंट्रोल की जरुरत नहीं इस चीज को ‘withdrawal-method' कहते हैं, जो कि बिल्‍कुल भी सेफ नहीं होता और यह किसी भी प्रकार का गर्भनिरोधक नहीं है। सेक्सुअल इंटरकोर्स के दौरान अराउज होने के बाद पुरुष प्री-इजैक्युलेट फ्लुइड इजेक्ट करते हैं जिसमें 3 तक स्पर्म हो सकते हैं। ऐसे में विड्रॉल का यह तरीका बहुत कारगर नहीं माना जाता। इसके अलावा वजाइना के आसपान सीमन का प्रवाह भी प्रेग्नेंसी के लिहाज से रिस्की हो सकता है। इसलिए यह नहीं कहा जा सकता कि यह गर्भनिरोध का कारगर तरीका है। Myth #2- Contraception से वजन बढ जाता है आज तक ऐसा कोई प्रूफ नहीं पाया गया है कि गर्भ निरोधक गोलियां लेने से किसी का वजन बढ़ा हो। कुछ महिलाओं का वजन बढने लगता है लेकिन वह सिर्फ ब्‍लोटिंग की वजह से होता है। Myth #3- दो कंडोम से मिलती है ज्‍यादा प्रोटेक्‍शन गर्भ धारण को रोकने के लिए एक ही कंडोम काफी है। दो के इस्तेमाल से वे फट सकते हैं और फायदे की जगह नुकसान हो सकता है। Myth #4- कंडोम का इस्तेमाल केवल पुरुष कर सकते हैं बाजार में फीमेल कंडोम भी उपलब्ध हैं, जिन्हें महिलाएं इस्तेमाल कर सकती हैं। ये भी पुरुषों वाले कंडोम की ही तरह लेटेक्स से बने होते हैं। Myth #5- कभी-कभी पिल लेने में गैप भी कर सकते हैं आप को पिल खाना तभी बंद करना चाहिये जब आप प्रेगनेंट होना चाहें। अगर आपकी हेल्‍थ अच्‍छी है तो आपको पिल खाना बंद नहीं करना चाहिये। अगर आप ने इसे बंद करने के कुछ महीनों बाद लेना शुरु किया तो आपकी बॉडी को कुछ नुकसान झेलने पड़ सकते हैं। आपकी बॉडी को दुबारा आदत डालनी पड़ेगी इस पिल की। Myth #6- लंबे समय तक पिल लेने पर महिलाएं बांझ बन जाती हैं यह बात भी पूरी तरह से गलत मानी जाती है। एक बार जब आप गर्भ निरोध लेना बंद कर देती है, तब आपकी बॉडी प्रेगनेंसी के लिये तैयार हो जाती है। पर इसमें कितना समय लगता है यह अलग अलग महिलाओं पर डिपेंड करता है। पर हां पिल लेने से फर्टिलिटी पर किसी भी प्रकार का असर नहीं पड़ता। Myth #7- स्‍तनपान करवाते समय आप प्रेगनेंट नहीं हो सकती ये बात सही है कि ब्रेस्‍टफीडिंग से ओव्‍यूलेशन में थोड़ा समय लग सकता है, पर यह किसी भी प्रकार का contraceptive तरीका नहीं माना जाता, जिस पर आंख बंद कर के भरोसा किया जाए। Myth #8- पहली बार इंटरकोर्स में प्रेग्नेंट नहीं हो सकती यह बात बिलकुल गलत है। एक स्त्री के प्रेग्नेंट होने के चांसेज कुछ स्पेशल केसेज के अलावा हमेशा एक जैसे ही होते हैं। ओव्यूलेशन के प्रॉसेस की शुरुआत के बाद स्त्री कभी भी प्रेग्नेंट हो सकती है। इस बात से कोई फर्क नहीं पडता कि इंटरकोर्स पहली बार है या नहीं। Myth #9- सिर्फ मर्द ही कर सकते हैं कंडोम का प्रयोग बाजार में फीमेल कंडोम भी उपलब्ध हैं, जिन्हें महिलाएं इस्तेमाल कर सकती हैं। ये भी पुरुषों वाले कंडोम की ही तरह लेटेक्स से बने होते हैं। Myth #10- पिल को हमेशा एक ही समय लेना चाहिये आप पिल को किसी भी समय क्‍यूं ना लें, इसका प्रभाव बिल्‍कुल भी कम नहीं होगा। इसलिये इसे सेक्‍स के बाद लें या पहले, इससे कोई फरक नहीं पड़ेगा। English summary Ridiculous Myths About Contraceptives That You Shouldn’t Believe There are some pretty wild rumours floating around about what counts as birth control. We have listed the most absurd myths surrounding contraception and have busted them. Story first published: Wednesday, December 20, 2017, 15:35 [IST] Dec 20, 2017 कीअन्यखबरें

शादी के बाद बढ़ने लगी है चर्बी तो इन 15 तरीकोंं से पाएं छुटकारा

Wednesday, December 20 2017

शादी के बाद बढ़ने लगी है चर्बी तो इन 15 तरीकोंं से पाएं छुटकारा

डाइट-फिटनेस » शादी के बाद बढ़ने लगी है चर्बी तो इन 15 तरीकोंं से पाएं छुटकारा शादी के बाद बढ़ने लगी है चर्बी तो इन 15 तरीकोंं से पाएं छुटकारा Diet Fitness Updated: Wednesday, December 20, 2017, 17:17 आपने अक्‍सर देखा होगा कि भारतीय महिलाओं का शादी के बाद एकदम से वजन बढ़ जाता है। जबकि अपनी शादी के दिन एकदम परफेक्‍ट दिखने के लिए वो एकदम स्ट्रिक्‍ट डाइट पर चली जाती है। जब तक उनकी शादी न हो जाए तब तक वो एक समय तक डाइट फॉलो करती है। लेकिन जैसे ही शादी हो जाए तो दूसरे कामकाज में फंसकर महिलाएं वो डाइट फॉलो नहीं कर पाते है। शुरुआती दिनों में कोई प्रॉब्‍लम नहीं होती है, लेकिन जैसे जैसे समय कटता जाता है वैसे वैसे वजन बढ़ने की समस्‍या भी बढ़ती जाती है। बढ़ते वजन के वजह से कई तरह की समस्‍याएं सामने आने लगती है जैसे कि उच्‍च रक्‍तचाप, हार्ट अटैक और आर्थराइटिस जैसी समस्‍याएं होने लगती है। अगर आप न्‍यूली मैरिड है और जानना चाहती है कि किन कारणों की वजह से वजन बढ़ता है और कैसे बढ़ते हुए वजन को बढ़ने से रोका जा सकता है। तो आइए जानते है। वजन बढ़ने के कारण 1. असतुंलित वजन: शादी के फंक्‍शन खत्‍म होने के बाद नई नवेली दुल्‍हन को रिश्‍तेदारों के यहां दावत खाने जाना होता है। उसके बाद हनीमून पर भी तो जाना होता है, जहां बाहर का खाना पीना होना तो नॉर्मल सी बात है। इसलिए एक्‍स्‍ट्रा कैलोरिज शरीर में भर जाती है। 2. बिगड़ा हुआ शेड्यूल शादी के बाद एक लड़की का टाइम टेबल पूरी तरह बिगड़ जाता है। घर में सबको खुश रखना भी उसकी अलग रिस्‍पॉन्‍सबलिटी होती है। इसलिए कई बार होता है कि लड़कियां घर के काम और जॉब की वजह से टाइम टेबल में सामंजस्‍य बिठा नहीं पाती है। जिस वजह से कई बार समय पर लंच और नाश्‍ता भी नहीं कर पाती है। 3. बाहर खाने जाना नई नई शादी के बाद वो नई नई शादीशुदा लाइफ बहुत एक्‍साइटेड करती है तो ज्‍यादातर डिनर बाहर ही होते है, कभी उस फ्रैंड के यहां जाना तो कभी कहीं और पार्टीज ऐसे में तो वजन बढ़ना ही है। 4. प्रेग्‍नेंसी शादी के बाद ज्‍यादात्‍तर महिलाएं अपने फिटनेस रुटीन पर ध्‍यान नहीं देते है। प्रेग्‍नेंसी के बाद भी महिलाएं अपनी फिटनेस पर ध्‍यान नहीं देती है जिस वजह से वजन बढ़ता ही चला जाता है। इन तरीकों पर ध्‍यान दें अगर अब आप सोच रहे है कि कैसे शादी के बाद बढ़ने वाले वजन को कंट्रोल करे तो आइए हम आपको बताते है कैसे? 1. वर्कआउट वजन कम करने के लिए वर्कआउट करना बहुत ही जरुरी है। कार्डियो एक्‍सरसाइज और वेट लिफ्टिंग आपके बॉडीको टोंड करने में बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिक‍ा निभाता है। 2. ग्रीन टी ग्रीन टी मेटाबॉलिज्‍म बढ़ाने में मदद करता है और फैट स्‍टोरेज को बढ़ाता है। इसी के साथ ये शरीर में हाई केलेस्‍ट्रोल लेवल को बढ़ने नहीं देता है। 3. खाना चबा चबाकर खाएं यह बात सही है कि चबा चबाकर खाने से आपका पेट दिमाग तक ये संकेत पहुंचा सकता है कि आपने सही मात्रा में खाना खा लिया है। जिससे कि आपका वजन नहीं बढ़ता है। 4. नाश्ता करें: वज़न कम करने कि कोशिश के दौरान खाना न खाना एक आम बात है। परंतु अनेक वैज्ञानिक इस अभ्यास को गलत ठहराते हैं। सवेरे उठते ही अगर एक घंटे के भीतर नाश्ता कर लिया जाए आपके शरीर मे इंसुलिन का स्तर सामान्य रहता है और एलडीएल (LDL) कोलेस्ट्रॉल को भी कम रखता है। इसके अलावा आप इन फूड को अपने खाने में जोड़कर भी अपनी बैली फैट को हटा सकती है। 1. एस्परैगस या शतावरी : एस्परैगस में वो गुण होते है जो शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकाल देता है। इसके अलावा यह शरीर में पानी की मात्रा बनाए रखने के लिए मूत्रवर्धक ओषधि के रुप में कार्य करती है जिससे की शरीर में सूजन नहीं आती है। 2. सिट्रिक फ्रूट खट्टे फल जैसे कि संतरे, अंगूर, नींबू और जिन फलों में विटामिन सी और पोटेशियम की अधिकता पाई जाती है। पोटेशियम शरीर में सूजन नहीं आने देता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट तत्‍व बैली फैट स्‍टोरेज को बनाए रखने में मदद करते है। 3. ककड़ी ककड़ी में लो केलोरी के साथ लिक्विड तत्‍व पाए जाते है जो कि शरीर में पानी की मात्रा बनाए रखता है और इस वजह से शरीर को ऑवर ईटिंग से भी बचाता है। 4. ऐवोकेडो ऐवोकेडो लवर्स को यह जानकर खुशी होगी कि रोजाना ऐवोकेडो खाने से बेली फैट नहीं बढ़ता है। 5. हरे पतेदार सब्‍जी स‍ब्जियां जैसे की पालक और करेले में खूब मिनरल्‍स पाएं जाते है जो कि शरीर में ब्‍लोटिंग नहीं होने देते है। 6. फिश फिश में ओमेगा- 3 पाया जाता है जो हार्ट को हेल्‍दी बनाए रखता है। सेलमन टोना और सरडाइन्‍स जैसे फिश में प्रोटीन पाया जाता है जो आपके भूख को नियंत्रित करने में सहायक होती है। 7. बैरीज बैरीज जैसे कि रसबैरीज, स्‍ट्रॉबैरीज, ब्‍लूबैरीज पूरी तरह फाइबर से युक्‍त होते है। जो कि आपके बेलीफैट को बढ़ने नहीं देते है। 8. अंडा: अंडे उच्‍च प्रोटीन से युक्‍त होते है, अगर वजन कम करना है तो इससे अच्‍छी डाइट कुछ और नहीं हो सकती है। दिन में कम से कम 2 अंडे जरुर खाएं। 9. ऑलिव ऑयल ऑलिव ऑयल शरीर को पतला बनाए रखने में मदद करता है। खाने को भूनने के लिए आप ऑलिव ऑयल का इस्‍तेमाल करें। 10. सूखे मेवे सूखे मेवे जैसे बादाम, मूंगफली, अखरोट और पिस्‍ता इन सबमें बेली फैट घटाने वाले घटक होते है। यह सब मोनोअनसैचुरेटेड वसा से समृद्ध होते हैं जो आपके दिल को स्वस्थ रखते हैं। 11. आटिचोक- आटिचोक ( एक तरह का चुकंदर का प्रकार) फाइबर से भरपूर सब्‍जी होती है जिसका इस्‍तेमाल सलाद में किया जाता है। इन्‍हें टमाटर के साथ मिलाकर खाया जाता है। ये पेट के लिए पर्याप्‍त भोजन है, इसे खाने के बाद भूख भी नहीं लगेगी। English summary 15 Ways On How To Reduce Belly Fat After Marriage Are you just newly married and have put on weight? Here are the 15 ways on how to reduce belly fat after marriage that will help burn your calories and curv .

रोज़ सुबह खाइये तुलसी की पत्‍तियां... दवाइयां जाएंगे भूल

Wednesday, December 20 2017

रोज़ सुबह खाइये तुलसी की पत्‍तियां... दवाइयां जाएंगे भूल

» रोज़ सुबह खाइये तुलसी की पत्‍तियां... दवाइयां जाएंगे भूल रोज़ सुबह खाइये तुलसी की पत्‍तियां... दवाइयां जाएंगे भूल Diet Fitness Published: Wednesday, December 20, 2017, 17:31 तुलसी एक औषधीय पौधा है जिसका प्रयोग सर्दी, जुखाम, खासी, दांत रोग और सांस की बीमारी में होता है। तुलसी की पत्तियां शरीर में कफ से होने वाली बिमारियों से बचती हैं साथ ही इसका रोज़ सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। आमतौर पर घरों में दो तरह की तुलसी देखने को मिलती है। एक जिसकी पत्त‍ियों का रंग थोड़ा गहरा होता जिसे श्यामा कहते हैं और दूसरी जिसकी पत्तियों का रंग हल्का होता है जिसे रामा बोलते हैं। दोनों ही तुलसी का बहुत महत्व है। लेकिन एक बात हमेशा याद रखनी चाहिए कि तुलसी के पत्तों को कभी भी चबा कर नहीं खाना चाहिए। क्यों कि इन्हे चबा कर खाने से दांत खराब हो जाते हैं। तो आइये जानते हैं इससे होने वाले फायदों के बारे में। 1. मधुमेह के खतरे को कम करे तुलसी की पत्तिओं के तेल में यूजीनोल, मिथाइल यूजेनॉल और कैरियोफिलिन पाया जाता है जिससे पैन्क्रीऐटिक बीटा सेल्स सही से काम करते हैं। जिसकी वजह से शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बनी रहती है, और ब्लड शुगर लेवल का स्तर भी ठीक रहता है। जो मधुमेह को होने से रोकता है। 2. तनाव से छुटकारा दिलाएं सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट लखनऊ, ने एक शोध में यह पाया है की तुलसी की पत्तियों में तनाव को करने वाले हार्मोन यानी कोर्टिसोल पाया जाता है। तुलसी की रोज़ 12 पत्तियां खाने से आपको तनाव छुटकारा मिल जाएगा। 3. कैंसर के खतरे को कम करें तुलसी में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण पाए जाते हैं। जो स्तन कैंसर और मुँह के कैंसर को बढ़ने से रोकता है। 4. गुर्दे की पथरी हटाता है किडनी की पथरी को हटाने के लिए सुबह तुलसी के रस में शहद मिला कर पीएं। इसे छह महीने तक पीएं, इससे ना केवल किडनी से पथरी हटेगी बल्कि उससे होने वाले दर्द में भी आराम मिलेगा। 5. पेट की समस्याओं को कम करे तुलसी के रस से पेट के कीड़े, उल्टी, हिचकी, भूख अच्छी लगना, लीवर की कार्यशक्ति बढ़ाना, ब्लड कोलेस्ट्रॉल कम करना, पेट की गैस , दस्त, कोलाइटिस, आदि सभी बिमारियों में लाभ होता है। आधा चम्मच रस या दस पत्ते तुलसी के रोजाना लें। 6. सांस की बदबू को दूर करे सांस की बदबू को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं और नेचुरल होने की वजह से इसका कोई साइडइफेक्ट भी नहीं होता है। अगर आपके मुंह से बदबू आ रही हो तो तुलसी के कुछ पत्तों को चबा लें। इससे सांस की बदबू दूर हो जायेगी। 7. सिर दर्द ठीक करे अगर आपको साइनसिस, एलर्जी, सिरदर्द और सर्दी की शिकायत रहती है तो तुलसी की पत्तियों को पानी में अच्छे से उबाल लें। अब इसे छान लें। छाने के बाद इसे थोड़ा थोड़ा करके पीएं। इससे आपको सर दर्द में आराम मिलेगा। 8. आँखों को आराम दे श्यामा तुलसी के पत्तों का दो-दो बूंद रस 14 दिनों तक आंखों में डालने से रतौंधी ठीक हो जाती है। आंखों का पीलापन ठीक होता है। आंखों की लाली दूर करता है। तुलसी के पत्तों का रस काजल की तरह आंख में लगाने से आंख की रौशनी बढ़ती है। 9. बुखार ठीक करे सभी प्रकार के बुखार को जड़ से खत्म करने के लिए तुलसी कारगर साबित होती है। 20 तुलसी की पट्टी और 10 काली मिर्च मिलाकर बनाए गए काढ़े को पीने से पुराने से पुराना बुखार छू-मंतर हो जाता है। तुलसी की मदद से किसी भी तरह के बुखार को बगैर पैरासिटामॉल और एंटीबायोटिक के उपयोग के भी ठीक किया जा सकता है। 10. सर्दी ठीक करे 10 पत्ते तुलसी के और 4 लौंग लेकर एक गिलास पानी में उबालें। जब पानी आधा बचे, तब थोड़ा-सा सेंधा नमक डालकर गर्म चाय की तरह पी जायें। इस काढ़े से सर्दी और ज़ुखाम तुरंत ठीक हो जायेगा। 11. त्वचा रोग ठीक करे किसी भी तरह के त्वचा रोग को तुलसी आसानी से ठीक करता है। दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं में तुलसी के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में रोग दूर हो जाता है। चेहरे के मुँहासों में तुलसी के पत्तों का रस रात में चहरे पर अच्छे से लगाने से मुँहासे जल्दी ठीक होजाते है। 12. गले की खराश ठीक करे अपने गले को ठीक करने के लिए आप तुलसी के पत्तों का भी प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए कुछ तुलसी के पत्ते लें और इन्हें पानी में डालकर अच्छी तरह से उबाल लें। इसके बाद इस पानी का सेवन करें आपको जल्द ही गले की खराश से मुक्ति मिल जायेगी। 13. इम्‍यूनिटी बढाने के लिये तुलसी को कैसे खाएं तुलसी की पत्‍तियों को धो लें और चबाते हुए गुनगुना पानी पीजिये। फिर 30 मिनट तक कुछ भी ना खाएं। अगर ऐसा 1 महीने तक करेंगे तो आपकी इम्‍यूनिटी बढ़ जाएगी। English summary Health Benefits of Eating Tulsi Leaves in Early Morning Basil or Tulsi leaves provides immune-modulator that is useful in maintaining and improving immune system or you can read health benefits of basil leaves. Due to that, the other benefits you can get if you consume Tulsi leaves in early morning. Story first published: Wednesday, December 20, 2017, 17:31 [IST] Dec 20, 2017 कीअन्यखबरें

सर्दियों में नाश्ते से पहले खाएं 3 खजूर और हाई ब्‍लडप्रेशर को करें अलविदा

Wednesday, December 20 2017

सर्दियों में नाश्ते से पहले खाएं 3 खजूर और हाई ब्‍लडप्रेशर को करें अलविदा

डाइट-फिटनेस » सर्दियों में नाश्ते से पहले खाएं 3 खजूर और हाई ब्‍लडप्रेशर को करें अलविदा सर्दियों में नाश्ते से पहले खाएं 3 खजूर और हाई ब्‍लडप्रेशर को करें अलविदा Diet Fitness Updated: Wednesday, December 20, 2017, 18:36 आज की भागदौड़ और तनाव भरी जिंदगी सें लोगों में ब्लड प्रेशर की समस्या ज्यादा हो रही है। ब्लड प्रेशर 20 साल के लोगों में तेजी सें बढ़ रही है। ब्लड प्रेशर दो तरह के होते है। हाई और लो ब्लड प्रेशर। जिस तरह हाई ब्लड प्रेशर खतरनाक होता है। 60 फीसदी है अनअवेयर नार्मल ब्लड प्रेशर 120/80 होता है। अगर यही बढ़ जाएं, तो हाई ब्लड प्रेशर कहलाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हार्ट अटैक हाई ब्लड प्रेशर की वजह से भी हो सकता है। देश में एक-तिहाई से ज्यादा लोग उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं और लगभग 60 फीसदी लोगों को पता ही नहीं है कि उन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या है। ध्‍यान रखे हाई ब्लड प्रेशर एक गंभीर समस्या है। इससे पीड़ित लोगों को बीपी कंट्रोल रखना बहुत जरूरी है। आप खजूर से भी अपना ब्लड प्रेशर कंट्रोल रख सकते हैं। हालांकि आपको इसका नियमित रूप से और सही मात्रा में सेवन करना चाहिए। आपको बता दें कि आपको रोजाना एक्सरसाइज़ भी करनी चाहिए। इसके अलावा ध्यान रखें कि इस उपाय के साथ हाई ब्लड प्रेशर के लिए डॉक्टर द्वारा निर्धारित दवाओं का नियमित रूप से सेवन करें। जब आपको लगे कि लक्षण कम होने लगे हैं, तो आप अपने डॉक्टर से दवाएं कम करने के लिए बात कर सकते हैं। इसके अलावा ठंड के मौसम में हाई ब्‍लड प्रेशर के मरीजों को चाहिए कि वो रोजाना नाश्‍ते में कम से कम 3 खजूर जरुर खाएं। खजूर को ड्राई फ्रूट की श्रेणी में रखा जाता है, जिसके अनगिनत स्वास्थ्य लाभ हैं। इसके अलावा ये टेस्टी भी होते है। आपको चाहिए यह चीजें खजूर- 3 गर्म पानी- 1 गिलास ऐसे करें इस्तेमाल रोजाना सुबह नाश्ते से पहले तीन खजूर खाएं। इसके तुरंत बाद गर्म पानी पी लें। इस प्रोसेस को लगातार एक महीने तक दोहराएं। हालांकि आप एक महीने बाद इस उपाय को जारी रख सकते हैं। English summary This Easy Dates Remedy To Reduce High Blood Pressure In Winter There are plenty of health benefits of dates. Know how dates helps to lower blood pressure on Boldsky.

नाक पर जमे ब्‍लैकहेड्स को हटाने के लिये बेकिंग सोडा पैक ऐसे बनाएं नाक पर जमे ब्‍लैकहेड्स को हटाने के लिये बेकिंग सोडा

Thursday, December 21 2017

नाक पर जमे ब्‍लैकहेड्स को हटाने के लिये बेकिंग सोडा पैक ऐसे बनाएं नाक पर जमे ब्‍लैकहेड्स को हटाने के लिये बेकिंग सोडा

अगर आप बिना पैसे खर्च किये हुए सुंदर दिखना चाहती हैं तो लेमन एंड सोडा का फेस मास्‍क बना सकती हैं। लेमन बेकिंग सोडा मास्‍क बनाने के लिये आपको सिर्फ नींबू का रस और बेकिंग सोडा चाहिये होगा। 1 चम्‍मच नींबू के रस में 2 छोटे चम्‍मच बेकिंग सोडा मिलाएं और चेहरे तथा गर्दन पर लगा कर रगड़े। इस पेस्‍ट से अपनी नाक और टी जोन को रगड़े या फिर आपके चेहरे पर जहां कहीं भी तेल ज्‍यादा रहता है, वहं इसे लगाएं। इसे लगाने से आपके चेहरे पर हल्‍की चुनचुनाहट होगी, जिसका मतलब है कि यह असर दिखा रहा है। नींबू और बेकिंग सोडे के मिश्रण से आपको होते हैं ये 4 चौंकाने वाले लाभ 1. बेकिंग सोडा पेस्‍ट- आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा में 1 टीस्‍पून पानी मिला कर पेस्‍ट बनाएं और उसे नाक पर लगाएं। इसे 15 मिनत तक सूखने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें। इसे हफ्ते में 3-4 बार ट्राई करें। 2. बेकिंग सोडा और नींबू- आधा चम्‍मच बेकिंग में 1 चम्‍मच नींबू का रस मिलाइये। इसे हल्‍के से नाक पर लगाइये और फिर 15 मिनट के लिये रख छोड़ दीजिये। अब अपने चेहरे को धो लें। यह पेस्‍ट ऑइली स्‍किन के लिये काफी अच्‍छा है। 3. बेकिंग सोडा और शहद- 1टीस्‍पून बेकिंग सोडा के साथ 1 टी स्‍पून शहद मिलाएं। एक बार हो जाने के बाद इसे नाक पर लगाएं। फिर इसे 10 मिनट के लिये छोड़ दें और ठंडे पानी से धो लें। इसे हफ्ते में 2 बार उपयोग करें। 4. बेकिंग सोडा और ओटमील और नारियल तेल - आधे चम्‍मच बेकिंग सोडा के साथ 1 टीस्‍पून ओटमील और 1 टीस्‍पून नारियल तेल मिलाएं। इसे स्‍क्रब की तरह उपयोग करना है। इसे लगाने के बाद 10 मिनट तक इंतजार करें और फिर गीले कपड़े से रगड़ते हुए साफ कर लें। आप इस स्‍क्रब को हफ्ते में एक बार प्रयोग कर सकते हैं। 5. बेकिंग सोडा और दूध- आधे चम्‍मच बेकिंग सोडे के साथ 2 टी स्‍पून मिल्‍क मिलाएं। इस मटीरियल को अपनी नाक पर लगाएं। 15 मिटनट तक वेट करें और फिर स्‍किन को रगड़ कर साफ कर लें। 6. बेकिंग सोडा और सी सॉल्‍ट और ऑलिव ऑइल- आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा में चुटकीभर नमक और 1 टीस्‍पून जैतून तेल मिलाएं। इस पेस्‍ट को नाक पर लगाएं और सूखने के बाद स्‍क्रब की तरह मिटाते हुए साफ कर लें। 7. बेकिंग सोडा, ब्राउन शुगर और रोज वॉटर- एक कटोरे में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा और 1 टी स्‍पून ब्राउन शुगर मिलाएं। उसके बाद इसमें 2 टीस्‍पून गुलाबजल मिक्‍स करें। इस पेस्‍ट से चेहरे का मसाज करें। एक बार हो जाने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। यह स्‍क्रब कॉम्‍बिनेशन स्‍किन के लिये अच्‍छा है। 8. बेकिंग सोडा को एप्‍प साइडर वेनिगर के साथ‍ मिलाएं- चुटकी भर बेकिंग सोडा के साथ 4-5 बूंद एप्‍पल साइडर वेनिगर मिलाएं और 1 टीस्‍पून पानी मिलाएं। इस पेस्‍ट से नाक की मसाज करें। 10 मिनट के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें।

स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी

Thursday, December 21 2017

स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी

» स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी Recipes Published: Thursday, December 21, 2017, 16:05 बाजार में मिलने वाला क्रीमी और यमी स्विस रोल का स्वाद तो हर किसी ने चखा है। किसी को स्ट्रॉबेरी फ्लेवर पसंद है तो किसी की जीभ को ब्लू बैरी और मैंगो जैसे विभिन्न फलों के स्वाद पसंद आते है। इन स्विस रोल्स का स्वाद इतना उम्दा होता है कि इसे खाने वाला एक बार नहीं बल्कि इसे बार-बार खाने की लालसा रखता है। इसलिए आज हम आपके लिए लाए है इन्हीं स्विस रोल्स की आसान तरकीब, जिसकी मदद से आप इसे घर बैठें आसानी से बनाकर परिवार और दोस्तों के साथ इसका आनंद उठा सकता है। स्ट्रॉबेरी स्विस रोल की रेसिपी| कैसे बनाएं स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल| स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी स्ट्रॉबेरी स्विस रोल की रेसिपी| कैसे बनाएं स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल| स्ट्रॉबेरी और क्रीम स्विस रोल की रेसिपी Prep Time Recipe Type: मिठाई Serves: 3-4 कुछ बूंदें वनीला एसेंस की फिलिंग के लिए कैरटोन क्रीम, विप्ड क्रीम - 11/2 कप स्ट्रॉबेरी, कटी हुई - 8-10 आइसिंग शुगर, डस्टिंग के लिए How to Prepare 1. आॅवन को 200°C/400°F/ Gas 6 के तापमान तक सैट करें। 2. अब एक 33cm x 23cm/13 x 9 माप के स्विस रोल टिन को ग्रीसप्रूफ पेपर लगाकर तैयार कर लें। 3. एक बाउल में अंडे का सफेद हिस्सा लें और उसमे चुटकी भर नमक डालें। 4. अब इस मिक्सचर को इतने अच्छे से फेंटे कि दिखने में गाढ़ा और सूखा हो जाए। 5. इसके बाद इसमे चीनी मिलाकर फिर से बढ़िया से फेंटे ताकि यह गाढ़ा और चमकीला हो जाए। 6. फिर अंडे का पीला हिस्सा डालकर एक बार फिर से बढ़िया फेंटे। 7. अब मैदा को छानकर, धीरे-धीरे अंडे वाले मिक्सचर में डालते जाए और एक चम्मच से हल्के से फोल्ड करते जाए। 8. अगर किसी तरह का एसेंस इस्तेमाल कर रहें है तो वह डालें। 9. अब इस तैयार मिक्सचर को तैयार टिन में डाले और बराबर फैला लें। 10. 10 मिनिट के लिए इसे बेक करें। 11. अब एक ग्रीसप्रूफ पेपर लेकर उसे कैस्टर शुगर से डस्ट कर लें। 12. जब केक बेक हो जाए, तो इसे इसी पेपर पर निकाल लें, अब टिन पर लगा पेपर हटाए और बाहर की ओर निकल रहे, अतिरिक्त केक को धारदार चाकू से कांट लें। 13. केक के बड़े किनारे को अंदर की ओर रोल करें। 14. अब इसे ठंडा होने दें। 15. करीबन 20 मिनिट में ठंडा होने पर धीरे से ग्रीस पेपर को हटाते जाए। 16. अब तैयार विप्ड क्रीम और ऊपर की ओर कटी हुई स्ट्रॉबेरी लगाए। 17. इसके बाद इसे स्विस रोल बनाने के लिए एक फिर से रोल करें। 18. अंत में आईसिंग शुगर से डस्ट कर, इसे सर्व करें। Instructions 1. आप चाहे तो अपने स्वाद अनुसार किसी भी तरह के फ्रूट जैम, विप्ड क्रीम, लेमन कर्ड या फिर चॉकलेट स्प्रेड इत्यादी का इस्तेमाल कर सकते है। 2. अगर आप कोई छोटा टिन इस्तेमाल कर रहें है जैसे कि 28cm x 18cm/11 x 7, तो आप 50 g मैदा, 2 अंडें, 50 g कैस्टर शुगर का ही इस्तेमाल करें। Nutritional Information सर्विंग साइज - 1 slice कैलोरीज - 198cal प्रोटीन - 4 g कार्बोहाइड्रेट्स - 18 g शुगर - 12 g डाइट्रेरी फाइबर - 14g [ 3.5 of 5 - 34 Users]

मोटापा कम करने के लिये घर पर बना कर पिएं ये 10 डिटॉक्‍स वॉटर

Saturday, December 23 2017

मोटापा कम करने के लिये घर पर बना कर पिएं ये 10 डिटॉक्‍स वॉटर

डाइट-फिटनेस » मोटापा कम करने के लिये घर पर बना कर पिएं ये 10 डिटॉक्‍स वॉटर मोटापा कम करने के लिये घर पर बना कर पिएं ये 10 डिटॉक्‍स वॉटर Diet Fitness 03 अगर आप बहुत ज्‍यादा जंक फूड या रोज़ साइड की तली भुनी चीज़ें खाते हैं तो जाहिर सी बात है कि आपका मोटापा जरुर बढेगा। इस समय आपको जरुरत है अपने शरीर को पूरी तरह से डीटॉक्सीफाई करने की। इसमें कुछ वाटर बेस्ड डिटॉक्स ड्रिंक आपकी मदद कर सकते हैं। ये डिटॉक्स ड्रींक न सिर्फ शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालते हैं बल्कि आपका वजन भी कम करते हैं। ये टेस्‍टी ड्रिंक आपके शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढा सकते हैं, जिससे आपको वेट लूज करने में मदद मिलेगी और आपका टम्‍मी भी बाहर नहीं निकलेगा। OMG! करेला तो हेल्‍दी था ही अब इसकी पत्‍तियां भी कर सकती हैं इतनी बीमारियों को छू मतंर आपको वजन कम करने के लिये रोजाना लगभग 1.5 लीटर पानी पीना चाहिये जो कि लगभग 6 गिलास पानी होता है। इससे आप कम से कम 17,400 कैलोरीज़ पर इयर खर्च करेंगे। अगर आप प्‍लेन पानी को किसी भी फैट बर्न करने वाले फूड के साथ मिक्‍स करेंगे तो आप आराम से अपना वजन कम कर सकते हैं। यह डिटॉक्‍स‍ ड्रिंक ना केवल फैट घटाएगा बल्‍कि ब्‍लोटिंग को भी दूर रखेगा। तो दोस्‍तों बिना देरी किये हुए आइये जानते हैं कि ये 10 प्रकार के डिटॉक्‍स वॉटर बनाए कैसे जाते हैं। #1 कुकुंबर और ग्रेप फ्रूट ड्रिंक अगर इन दोंनो को अलग अलग देखा जाए तो यह वजन कम करने में काफी लाभदायक होते हैं। लेकिन अगर आप इन दोंनों को मिला कर एक पानी से भरे जार में डाल कर ऊपर से नींबू मिलाएं तो यह और भी फायदेमंद हो जाएगा। इसे बनाने के बाद 1 घंटे के लिये फ्रिज में रख दें और फिर पिएं। #2 एप्‍पल, सिनामन वॉटर प्‍लेन वॉटर में सेब और दालचीनी की छड़ी मिला दें। इस पानी को आप पूरे दिन में सिप करते करते पी सकते हैं। #3 कुकुंबर और लेमन वॉटर नींबू में ढेर सारा विटामिन सी होता है जो कि इम्‍यूनिटी बढाता है। साथ ही खीरे से चेहरे की सूजन मिटती है और बॉडी हाइड्रेट रहती है। एक पानी से भरी बोतल में थोड़े से पीस खीरे के डालें और ऊपर से नींबू निचोड़ दें। फिर उसमें टेस्‍ट के लिये मिंट डालें। #4 जिंजर और लेमन वॉटर अदरक हमें दर्द से छुटकारा दिलाता है। इस ड्रिंक को बनाने के लिये पानी में 1 स्‍लाइस नींबू और थोड़े से घिसे अदरक डालें। ऊपर से थोड़ा नींबू भी निचोड़ सकते हैं। इसे दिनभर में सिप करते करते पिएं। #5 एप्‍पल साइडर वेनिगर वॉटर हम सभी जानते हैं कि वेट लॉस में एप्‍पल साइडर वेनिगर काफी फायदेमंद होता है। इस ड्रिंक को बनान के लिये 1 सेब का स्‍लाइस, 2 टीस्‍पून एप्‍पल साइडर वेनिगर और थोड़ा सा नींबू पानी में निचोड़ दें। #6 चाय चाय पूरी दुनियां दृारा पी जाती है। पर क्‍या आप जानते हैं कि कुछ प्रकार की चाय स्‍वास्‍थ्‍य के लिये बहुत फायदेमंद मानी जाती है। जिंजर टी, डेंडिलियॉन टी, पिपरमिंट टी और ग्रीन टी वजन घटाने के लिये काफी अच्‍छी होती हैं। आप दिनभर में 3-5 कप चाय पी सकते और वजन घटा सकते हैं। #7 नमक का पानी अगर आप अपनी डिटॉक्‍स वॉटर डाइट शुरु करन वाले हैं तो कोशिश करें कि उससे पहले नमक का पानी पिएं। यह ड्रिंक आपके पूरे सिस्‍टम को साफ करता है। बस पानी में थोड़ा सा नमक मिलाएं और रिलैक्‍स हो जाएं। यह बॉडी को साफ कर देगा। #8 क्रैनबेरी जूस क्रैनबेरी शरीर को साफ कर के मेटाबॉलिज्‍म को बढाता है। अगर मेटाबॉलिज्‍म अच्‍छा होगा तो ही आपका वजन कम हो पाएगा। यह फैट को एनर्जी में बदलने का काम करता है, जिससे वजन नहीं बढ पाता। यह ड्रिंक शराब और निकोटिन को शरीर से निकालता है। #9 लेमोनेड नींबू को अन्‍य तरह के डिटॉक्‍स ड्रिंक में डाला जा सकता है। लेमोनेड एक रिफ्रेशिंग ड्रिंक है जो कि इम्‍यूनिटी को बढावा देता है। इसका नियमित सेवन करने से आपको साफ और ग्‍लोइंग स्‍किन भी मिलेगी। #10 कैबेज ब्रोथ आप शरीर को ना केवल डिटॉक्‍स वॉटर से ही बल्‍कि इस कैबेज ब्रोथ से भी डिटॉक्‍स कर सकते हैं। बस कैबेज के साथ कुछ हरी सब्‍जियां मिलाएं जैसे, पालक, गाजर और प्‍याज आदि। आप इसमें अपने मन की कोई भी अन्‍य हरी सब्‍जियां मिक्‍स कर सकते हैं। English summary 10 Amazing Homemade Weight Loss Detox Drinks why go through such a struggle when these interesting homemade detox drinks can help you shed that extra pound?Let's have a look at these drinks which you could DIY at your home! 03

सर्दियों में हर बीमारी का रामबाण है गुड़ और जीरा

Saturday, December 23 2017

सर्दियों में हर बीमारी का रामबाण है गुड़ और जीरा

» सर्दियों में हर बीमारी का रामबाण है गुड़ और जीरा सर्दियों में हर बीमारी का रामबाण है गुड़ और जीरा Wellness 29 सर्दी के मौसम में इम्‍यूनिटी सिस्‍टम थोड़ा कमजोर हो जाता है ऐसे में खांसी, जुकाम और कफ होना सामान्‍य होता है। लेकिन इस बदलते मौसम में खुद का बचाव करने के लिए आप घर पर ही औषधी तैयार कर सकते हो। मौसम के बदलाव की वजह से हर दूसरा आदमी ठंड की जकड़ में आकर बीमार हो जाता है, लेकिन अब चिंता की कोई बात नहीं है। इससे बचने के लिए घर और रसोई में मौजूद कई चीजों का इस्‍तेमाल करके आप इस ठंड के मौसम में खुद को दुरुस्‍त रख सकते हो। रसोई में मौजूद गुड़ और जीरे से आप ठंड में होने वाली छोटी मोटी बीमारियों का सफाया कर सकती हो। बॉडी डिटॉक्‍स करता है जीरे और गुड़ का यह मिश्रण नेचुरल बॉडी डिटॉक्स के रूप में कार्य करता है, जिससे आपका पूरा शरीर स्वस्थ और स्वच्छ रहता है। जीरे और गुड़ दोनों में ही लौह तत्व की अधिकता होती है। पीरियड होते है प्रॉपर जीरे और गुड़ से बना घोल महिलाओं के शरीर में हार्मोंस के असंतुलन को नियमित करता है। इस पानी को पीने से पीरियड की अनियमितता दूर होती है और मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है। इसके मिश्रण में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती गुड़ और जीरे में खनिज एवं पोषक तत्व भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जो हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने और उनके निर्माण में सहायक होते हैं। इनका घोल रोजाना पीने से रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है और अल्परक्तता से बचाव होता है। ये हमारे रक्त में मौजूद अशुद्धियों को भी दूर करते हैं। बुखार और दर्द से रा‍हत यह ड्रिंक शरीर के तापमान को कम और नियमित करता है, जिससे बुखार, सिरदर्द और जलन आदि से राहत मिलती है। पीठ का दर्द हो या कमर का दर्द, गुड़ और जीरे का पानी पीने से आपको इन सभी समस्याओं से निजात मिलती है। ये मिश्रण शरीर के दर्द को भी कम करता है। इम्‍यून सिस्‍टम होता है स्‍ट्रॉन्‍ग गुड़ और जीरे का पानी पीने से सिरदर्द से काफी आराम मिलता है। सिरदर्द के अलावा इसका पानी पीना बुखार में भी लाभदायक होता है। इसके सेवन से हमारे शरीर से विषैले तत्व दूर होते हैं, जिससे हमारा इम्‍यूनिटी सिस्‍टम मजबूत होता है। पेट की समस्‍या होती है दूर इससे हमारे शरीर को बीमारियों से लड़ने में सहायता मिलती है। जीरा और गुड़ दोनों ही पेट संबंधी परेशानियों के लिए उत्तम माने जाते हैं। इन दोनों का अलग-अलग सेवन करने से भी गैस, कब्ज, पेट दर्द एवं पेट फूलना आदि समस्याओं से निजात मिलती है। ऐसे बनाएं घोल जीरे एवं गुड़ के पानी का घोल बनाने के लिए सबसे पहले किसी बर्तन में दो कप सादा पानी लें। इसके बाद इसमें एक चम्मच पिसा हुआ गुड़ और एक चम्मच जीरा मिलाएं और अच्छी तरह से उबाल लें। उबालने के पश्चात इस घोल के ठंडा होने पर आप इसे पी सकते हैं। हर रोज सुबह खाली पेट एक गिलास यह पानी पीने से आपके स्वास्थ्य को काफी आराम मिलता है। English summary amazing benefits of jaggery and cumin in winter Cumin seeds and jaggery are very powerful ingredient and it's amazingly good for your skin, hair and overall health. 29

रात को बिना ब्रा सोने से स्‍तनों पर नहीं होगी खुजली और रेशैज की समस्‍या

Saturday, December 23 2017

रात को बिना ब्रा सोने से स्‍तनों पर नहीं होगी खुजली और रेशैज की समस्‍या

तंदुरुस्‍ती » रात को बिना ब्रा सोने से स्‍तनों पर नहीं होगी खुजली और रेशैज की समस्‍या रात को बिना ब्रा सोने से स्‍तनों पर नहीं होगी खुजली और रेशैज की समस्‍या Wellness Updated: Saturday, December 23, 2017, 11:21 रात को हर कोई एक आराम की नींद सोना पसंद करता है। रात को बॉडी रिलेक्‍स मोड में होती है, इसलिए हमें ज्‍यादा तंग कपड़े पहनकर नहीं सोना चाह‍िए। जहां तक हो सकें तो हमें रात को एकदम ढीले वस्‍त्रों में सोना चाह‍िए। खासकर मह‍िलाओं को रात आरामदायक कपड़े पहनकर सोना चाह‍िए। क्‍यूं पूरे दिन कसे हुए तंग कपड़े में बॉडी का ब्‍लड सर्कुलेशन सही तरीके से नहीं हो पाता है। इसलिए मह‍िलाओं को चाह‍िए कि वो रात को सोते हुए वो बिना अंडरगारमेंट के सोएं। रात को बिना ब्रा के सोने से मह‍िलाओं को बहुत फायदे मिलते हैं, आइए जानते है कि रात को सोते समय ब्रा नही पहनने से क्‍या क्‍या फायदे हो सकते हैं। शरीर को न‍हीं मिलता है ऑक्‍सीजन रात का टाइट ब्रा पहनकर सोने से सीने के आसपास सही तरीके से हलचल नहीं हो पाती है आप रात को अच्‍छे से सांस नहीं ले पाते हो। इस वजह से आपकी बॉडी सही से रेस्‍ट नहीं कर पाती है। रात को जब आपकी सोते है तो आपका शरीर अगले दिन के लिए तैयार होता है और अगर शरीर को सही तरीके से ऑक्‍सीजन की पूर्ति नहीं हो पाएगी तो इसका असर आपके बालों और चेहरें पर पड़ेगा त्वचा में खुजली जब भी आप रात के समय टाइट ब्रा पहन कर सोती हैं तब आपको खुजली सी महसूस होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि, टाइट ब्रा आपके त्वचा से जाकर चिपक जाती है जिससे कि उस जगहों पर जलन और खुजली की समस्या उत्पन्न होएं लगती है। स्तनों के आसपास पिगमेंटेशन जो महिलाएं नियमित रूप से ब्रा पहनती हैं उनके स्तनों के आसपास निशान पड़ने लग जाते हैं उन्हें पिगमेंटेशन की दिक्कत होने लगती है। इससे बचने के लिए आपको रात में ब्रा पहनने से बचना होगा। रैशेज की समस्या टाईट या गलत ब्रा के पहनने से ब्रेस्‍ट में हवा नहीं लग पाती है और त्‍वचा में खुजली होती है। कई बार खराब ब्रा को पहन कर सोने से रैशेज की समस्या उत्पन्न होने लगती है। इसलिए हमेशा सही साइज और कॉटन की ब्रा का ही इस्तेमाल करें। गांठ की समस्या एक शोध में यह बात सामने आयी है कि लंबे समय तक रात में टाईट ब्रा पहनकर सोने से ब्रैस्ट में गांठ या कैंसर होने की संभावना रहती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि, ब्रा पहन कर सोने से ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो पाता है जिस वजह से यह समस्या होने का खतरा रहता है। ब्रेस्‍ट फंगस ब्रैस्ट फंगस के बारे हो सकता है ज़्यादा लोगो को ज्ञात न हो लेकिन ये काफी ज़्यादा परेशानी का शबाब बन्न सकता है अगर आप कही गर्म जगह रहते हो या आपको काफी ज़्यादा पसीने की शिकायत हो तो | बैचेनी टाइट इलास्टिक होने के कारण रात को बेचैनी बनी रहती है और नींद नही आती। डॉक्टर भी रात को सोते समय ढीले कपड़े पहनकर सोने की सलाह देते हैं। काले धब्बे पड़ना कई बार टाइट ब्रा पहनने की वजह से त्वचा बंध जाती है और उस पर लाल निशान पड़ने लगते हैं। अगर इसपर समय पर ध्यान न दिया जाए तो ये काले धब्बे का रूप ले लेते हैं। इसके साथ ही रात के समय टाइट ब्रा पहनने से स्तनों का आकार नहीं बढ़ता है।