Health and Fitness

मुंहासों से लेकर हैंगऑवर उतारता है अमरुद, जाने कैसे?

Thursday, January 11 2018

मुंहासों से लेकर हैंगऑवर उतारता है अमरुद, जाने कैसे?

» मुंहासों से लेकर हैंगऑवर उतारता है अमरुद, जाने कैसे? मुंहासों से लेकर हैंगऑवर उतारता है अमरुद, जाने कैसे? Wellness Published: Thursday, January 11, 2018, 17:30 सर्दी के मौसम में अमरुद खाना कितना अच्‍छा लगता है। लेकिन क्‍या आपको मालूम है कि अमरुद खाने के बहुत ही फायदें है। अगर आप एलर्जी, गठियां दर्द, मुंह के छाले, अपच की समस्या, दांत दर्द, मुहांसों की समस्या, डायरिया या डेंगू आदि रोगों से परेशान है तो इन सबका एक मात्र उपाय अमरूद की पत्तियों में छुपा है। जिसके सेवन से आप इन सब बीमारियों से राहत पा सकते है। अमरूद की तासीर शीतल होती है। अमरूद पेट के अनेक विकार दूर करता है। इस भोजन के बाद खाने से कब्ज, अफारा व मंदाग्रि की शिकायत नहीं होती। यह सर्दी-जुकाम में अमरूद के बीजों का चूर्ण पानी के साथ लेने से आराम मिलता है। अमरूद में विटामिन सी अधिक होने से भी अनेक बीमारियों में फायदा होता है। हैं। तो आइए जानते है कि किस तरह अमरूद से आपको कई रोगों में लाभ मिल सकता है... 1. आधे सिर में दर्द होने पर कच्चे हरे ताज़े अमरूद को सूर्य के उदय होने से पहले पत्थर पर घिसकर लेप तैयार कर लें और इस लेप को माथे पर लगाएं। ऐसा कुछ दिनों तक नित्य प्रयोग करने से आपको शीघ्र ही लाभ प्राप्त होगा। 2-अमरूद कृमिनाशक भी है, छोटे बच्चों के पेट में कीडे हों, तो अमरूद के साथ शहद मिलाकर देने से कीडे नष्ट हो जाते हैं। 3- अधपके ताजा अमरूदों कोपानी में भिगोकर चाशनी में डालकर बनाया हुआ मुरब्बा खाने से आंत की शिकायत दूर हो जाती है। 4- कब्ज होने पर खाली पेट नियमित कुछ दिनों तक पके अमरूद का सेवन करने से कब्ज की शिकायत दूर हो जाती है। 5- अमरूद को काटकर उस पर काला नमक और कालीमिर्च का चूर्ण डालकर खाने से अफारा रोग दूर होता है तथा पाचन क्रिया सुधरती है। 6- रात को सोते वक्त अमरूद के पत्तों को पीसकर पुल्टिस बनाकर बांधने से आंखों को दर्द, सूजन तथा लाली दूर होती है। 7. अमरूद और अमरूद की पत्तियां पेट की किसी भी समस्या के लिए असरकारक औषधि है। अतः एक गिलास पानी में अमरूद की पत्‍तियों को डाल कर उबालें और फिर उसका पानी छान कर पीने से यह डायरिया रोग को दूर भगाता है। 8 . एंटीसेप्‍टिक गुण के कारण अमरूद के पत्ते बैक्‍टीरिया को मारने की अचूक शक्ति रखते हैं। ताज़ी पत्तियों को पीस कर मुंहासों पर लगाएं, तो कुछ ही दिनों में मुहांसे दूर भाग जायेंगे। 9. अमरूद के पत्तों को चबाने या इसके पत्तों के काढे में फिटकरी मिलाकर कुल्ला करने से दांतों का दर्द दूर हो जाता है। 10. डेंगू बुखार होने पर यदि अमरूद की पत्‍तियों का रस रोगी को पिला दें तो इसके सेवन से बुखार के संक्रमण दूर हो जाते है। 11. अगर किसी व्‍यक्ति को भांग का नशा भयंकर चढ़ गया हो तो उसे अमरूद के पत्‍तों का रस पिलाने से नशा कम हो जाएगा। रस की बजाय आप अमरूद के पत्‍तों को भी खिला सकते हैं बशर्ते वो नशेड़ी व्‍यक्ति उसे अच्‍छे से चबा ले। English summary Amazing health Guava Benefits Winter has set in and its’ the season for some delicious guavas. Here are some amazing guava benefits you need to know. Story first published: Thursday, January 11, 2018, 17:30 [IST] Jan 11, 2018 कीअन्यखबरें

जानिए मोटापा घटाने में कैसे मदद करती है अदरक

Tuesday, January 16 2018

जानिए मोटापा घटाने में कैसे मदद करती है अदरक

» जानिए मोटापा घटाने में कैसे मदद करती है अदरक जानिए मोटापा घटाने में कैसे मदद करती है अदरक Diet Fitness Updated: Tuesday, January 16, 2018, 9:41 Ginger, अदरक | Health benefit | अदरक रखेगी हमेशा जवां, बस ये करें | Boldsky वजन घटाने में अदरक के महत्व का आयुर्वेद में विशेष उल्लेख किया गया है। वैज्ञानिक रूप से भीयह साबित हो चुका है कि वैदिक काल से लेकर अब तक अदरक का उपयोग लोगों द्वारा वजन घटाने में किया जाता था। अगर आप भी वजन घटाना चाहते हैं तो हमआपको बताने जा रहे हैं कि वजन घटाने में अदरक कैसे फायदेमंद है। वजन घटाने में अदरक कैसे फायदेमंद है? अदरक के सेवन से हमारे शरीर के मेटाबोलिज्म पर इसका सीधा असर पड़ता है जिससे हमारा वजन घटता है। अदरक में कोई कैलोरी नहीं होती है और यह शरीर के मेटाबोलिज्म को भी बढ़ाता है। जब शरीर का मेटाबोलिज्म ठीक रहता है तो हमारा पाचन भी सही रहता है और शरीर स्वस्थ रहता है तथा शरीर के कैलोरी को घटाता है जिससे कि हमारा वजन भी कम होता है। कैलोरी रहित होने के कारण अदरक के सेवन से पेट भरा हुआ महसूस होता है हमें ज्यादा भोजन करने की इच्छा नहीं होती है। लेकिन एक बात का विशेष ध्यान रखें कि अदरक वजन तो घटाता है लेकिन सिर्फ अदरक ही अकेले आपको स्लिम नहीं बनाता है। यह आपके वजन को नियंत्रित करता है और वजन घटाने की बाकी कोशिश आपको खुद करनी पड़ती है। अदरक के सेवन के साथ ही आपको नियमित एक्सरसाइज भी करने की जरूरत पड़ती है। वजन घटाने के लिए अदरक का उपयोग कैसे करें? अदरक का सेवन कर वजन घटाने के कई तरीके हैं। रोजाना सुबह अदरक को पानी या शहद के साथ भी लिया जा सकता है। इसके अलावा इसे पेय पदार्थ या चाय के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। अदरक पावडर का उपयोग भी वजन घटाने के लिए किया जा सकता है। वजन कम करने के लिए अदरक के उपयोग के बारे में हम यहां विस्तार से बता रहे हैं। 1-सुबह खाली पेट कच्चा अदरक खाएं स्टडी में साबित हुआ है कि सुबह खाली पेट अदरक का सेवन करने से इसके बहुत फायदे होते हैं। खाली पेट अदरक खाने से यह शरीर के मेटाबोलिज्म को बढ़ाता है और पाचन तंत्र को नियंत्रित करता है। लेकिन अदरक का सेवन सिर्फ एक चौथाई इंच में ही करना चाहिए। इसकी कड़वाहट को दूर करने के लिए अदरक खाने के बाद कुछ मीठा भी खाया जा सकता है। 2-अदरक वाले पानी का सेवन करें अदरक खाने का यह सबसे आसान उपाय है। आधे गिलास सादे पानी में अदरक पावडर या कद्दूकस अदरक डालें। इसे अच्छी तरह मिलाकर पी जाएं। आप चाहें तो इसमें शहद, नींबू और थोड़ा नमक भी मिला सकते हैं। लेकिन खाली पेट अदरक का सेवन ज्यादा फायदेमंद होता है। पानी के साथ अदरक का सेवन दिन में तीन बार करने से जल्दी फर्क दिखता है और वजन भी कम होता है। 3- अदरक का सेवन चाय के रूप में नियमित दिन में चाय के रूप में दो या तीन बार अदरक का सेवन करने से बहुत जल्दी वजन घटता है। यह पेट की चर्बी को कम करने के साथ ही वजन को भी नियंत्रित रखता है। अदरक सर्दी खांसी और अच्छे पाचन के लिए भी कारगर है। अदरक के एक छोटे टुकड़े को लेकर इसे अच्छे से कूट लें फिर एक बर्तन में पानी गर्म करके इसमें अदरक डाल कर धीमी आंच पर पानी के दो-तिहाई होने तक उबालें। फिर इसे छान लें और धीरे-धीरे गर्म अदरक पानी पिएं।इससे आपको जल्दी ही फर्क दिखेगा। 4-अदरक का सूप बनाकर अगर आप ठंडे प्रदेश में रहते हैं तो अदरक का सूप पीना वजन घटाने का सबसे सर्वोत्तम तरीका है। आप नियमित ताजे अदरक का सूप बनाकर इसका सेवन करें। जल्दी ही आपके शरीर का वजन नियंत्रित हो जाएगा। 5- अदरक पाउडर का सेवन अगर आपको अदरक खाना पसंद नहीं है तो आप वजन कम करने के लिए अदरक पाउडर का सेवन कर सकते हैं। अदरक पाउडर पेट की चर्बी को घटाने में काफी मददगार है। अगर आप अदरक पाउडर का कच्चा सेवन नहीं कर सकते हैं तो इसे पानी या शहद के साथ मिलाकर खाएं। आधे चम्मच अदरक पाउडर में आधा कप पानी और एक चम्मच शहद मिलाकर पी जाएं। यह वजन घटाने के लिए काफी फायदेमंद है। 6-भोजन में अदरक का इस्तेमाल अदरक का इस्तेमाल कई तरह के भोजन में किया जाता है। लेकिन अगर आप अदरक का इस्तेमाल भोजन में नहीं करते हैं तो आपको अलग से नियमित अदरक खाना चाहिए। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि अधिक मात्रा में अदरक न खाएं। English summary Weight Loss Tips: मोटापा घटाना है तो अदरक खाइये Ayurveda has special mention about ginger weight loss benefits. If you want to lose weight with ginger, look no further and continue reading this article.

भाई!! 6 Six-Pack एब्‍स बनाने हैं तो खाइये ये 15 चीज़ें

Tuesday, January 16 2018

भाई!! 6 Six-Pack एब्‍स बनाने हैं तो खाइये ये 15 चीज़ें

Published: Tuesday, January 16, 2018, 11:30 Abs exercise and Diet to get six pack abs | ऐसे बनाएँ सिक्स पैक्स एब्स | BoldSky आजकल नौजवानों के बीच में सिक्स पैक एब्स बनाने की होड़ लगी रहती है। जिसे देखो वो एब्स बनाने में लगा हुआ है। जिम जोओ तो वहां लोग कार्डियो कम और वेट ट्रेनिंग ज्‍यादा कर रहे होते हैं। भारी से भारी वजन उठा कर लोग सोंचते हैं कि उनके एब्‍स बन जाएंगे लेकिन किसी ने यह बात सच कही है कि एब्‍स जिम में नहीं, किचन में बनते हैं। आप चाहे जितना भी क्रंच कर लें, लेकिन जब तक आपकी डाइट सही नहीं है तब तक आपके एब्‍स नहीं बनेंगे। 6 पैक एब्स पाने के तरीके एब्‍स बनाने में सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण प्रोटीन की भूमिका होती है। एक स्वस्थ व्यक्ति को रोज प्रति किलो वजन के हिसाब से एक ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है । यह मात्रा व्यक्ति की एक्टिविटी के अनुसार कम या अधिक हो सकती है। इसके अलावा अपके शरीर का मेटाबॉलिज्‍म भी तेज होना जरुरी है। मेटाबॉलिज्‍म तेज करने के लिये आपको नीचे दिये हुए आहार खाने चाहिये जिससे आपके एब्‍स जल्‍दी बनें। इससे आपको फैट लॉस करने और एब्स के मसल्स गेन करने में भी मदद मिलेगी। तो अगर आप भी उन लोंगो में शामिल होना चाहते हैं जिनकी 6 पैक एब्‍स हैं तो नीचे जरुर पढे। 1. ब्रोकोली इसमें काफी कम कैलोरी पाया जाता है, जिसमें फाइबर होता है। जो आपको स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग के अनुसंधान के अनुसार वजन कम करने में आपकी मदद करेगा। 2. दालचीनी एक अमेरिकी अध्ययन में कहा गया है कि दालचीनी शरीर में इंसुलिन प्रतिक्रिया को बढाने में मदद कर सकती है, जिससे आपके पेट में फैट इकठ्ठा नहीं हो पाएगा। 3. चेडर चीज यह चीज conjugated linoleic acid (CLA) का एक अच्छा स्रोत है, जो आपको वजन कम करने और मांसपेशियों का निर्माण करने में मदद करती है। 4. मशरूम यह एक लो कैलोरी फूड है जो कि आपके पेट को भरता है और मासपेशियों को बनाता है। 5. शकरकंद शकरकंद low-GI फूड होता है, जिसको खाने से शरीर में फैट जमा नहीं हो पाता। यह आलू की तरह से इंसुलिन लेवल को तुरंत नहीं बढावा देता। 6. सेब सेब में एंटीऑक्सिडेंट पॉलीफेनोल होते हैं, जो जर्मन अध्ययन के मुताबिक आपके शरीर को वसा रखने से रोकने में मदद करते हैं। 7. ग्रीन टी ग्रीन टी में कैटेचिन नामक अणु शामिल होते हैं, जो थर्मोजेनिक गुण होते हैं और चयापचय में सुधार करते हैं। एक अध्ययन में प्रकाशित चीनी जर्नल ऑफ इंटीग्रेटिव मेडिसिन में यह बात सामने आई थी कि इसे पीने से शरीर में वसा नहीं जमा होता है। 8. मिर्च अमेरिकी जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिशन में एक अध्ययन में कहा गया है कि मिर्च आपकी मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ाने में मदद करती है। अगर शरीर का मेटाबॉलिज्‍म तेज होगा तो फैट भी बहुत जल्‍दी कटेगा। 9. ब्‍लूबेरीज़ टेक्सास महिला विश्वविद्यालय से शोध के अनुसार ब्लूबेरी लिपिड चयापचय को बदलने के द्वारा नए वसा कोशिकाओं के गठन को रोकना में मदद कर सकती है। 10. ग्रेपफ्रूट इसमें रसायन शामिल होते हैं जो कि इंसुलिन के स्तर को कम करते हैं। जो बदले में मेटाबॉलिज्‍म में वृद्धि कर सकते हैं। 11. दूध दूध में लैक्टियम नामक प्रोटीन होता है, जो कई अध्ययनों के अनुसार, कोर्टिसोल और निम्न रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। 12. ओट्स ओट्स कार्बोहाइड्रेट में समृद्ध हैं, जो मस्तिष्क में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ावा देते हैं और एक शांत प्रभाव पैदा करते हैं। इसमें ढेर सारा फाइबर भी होता है जेा कि पेट को लंबे समय तक भरे रखता है। 13. ऑरेंज संतरे में विटामिन सी का उच्च स्तर होता है, जो रक्त में हार्मोन के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। 14. अखरोट पेन स्टेट यूनिवर्सिटी से शोध के अनुसार, अखरोट फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट्स और असंतृप्त फैटी एसिड में उच्च होते हैं, जो सभी ब्लड प्रेशर और तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं। 15. सॉल्‍मन मछली सॉल्‍मन, मैग्नीशियम का एक बड़ा स्रोत है, जो यूएस में कैपिटल रीजन मेडिकल सेंटर के अनुसार कोर्टिसोल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। English summary 6 Six-Pack एब्‍स बनाने हैं तो खाइये ये 15 फूड If you want a six-pack, your diet is crucial. Here are vegetarian 15 foods that will help build your abs in 1 week. Story first published: Tuesday, January 16, 2018, 11:30 [IST] Jan 16, 2018 कीअन्यखबरें

Weight Loss : सिर्फ 2 हफ्तों में ऐसे गायब कीजिए 2-2 इंच कमर और पेट की चर्बी

Tuesday, January 16 2018

Weight Loss : सिर्फ 2 हफ्तों में ऐसे गायब कीजिए 2-2 इंच कमर और पेट की चर्बी

Updated: Tuesday, January 16, 2018, 16:01 हो सकता है कि आप बहुत ज्‍यादा डायटिंग और जिमिंग कर रहे हों और फिर भी आपके पेट से चर्बी घटने का नाम नहीं ले रही है। क्‍या आपने इसका असल कारण जानना चाहा हैं? इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे ऑफिस का स्‍ट्रेस, बाहर का खाना, रोजाना जिम ना जाना या फिर अपनी नींद पूरी ना करना आदि। मोटापा ना तो एक दिन में बढ़ता है और ना ही एक दिन में खत्‍म होता है। चर्बी को गलाने के लिये आपको कम से कम 1 महीने महनत करनी पड़ेगी। लेकिन अगर आपके पास समय नहीं है या फिर आपको किसी खास की शादी अटेंड करने के लिये तोंद कम करनी है तो हम आपको ऐसे 15 तरीके बताएंगे, जिससे आप केवल 2 हफ्तों में ही 2 इंच तक कम की चर्बी पेट से कम कर लेंगे। Weight Loss: 10 दिनों में घटाएं 10 किलो वजन, पढ़ें पूरा Diet Chart सुबह जल्‍दी उठे सुबह जल्दी उठकर आप अतिरिक्त ऊर्जा पा सकते हैं, जो दिनभर आपको ऊर्जावान बनाए रखेगी, जितना जल्‍दी आप सुबह उठने की आदत डालोगे , उतना ही आपका मेटाबोलिक रेट बढ़ेगा। मेटाबॉलिज्‍म की सही रेट के लिए हमारा एनजेर्टिक रहना बहुत जरुरी होता है। बैरी खाएं पतली कमर की चाह रखने वालों को बैरीज फ्रूटस को खाना चाहिए। बैरीज एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन सी विटामिन सी से भरपूर बैरी का सेवन फेट को कम करने का सबसे स्मार्ट विकल्प है। इसका सेवन करने में आपको किसी तरह का ताम झाम भी नहीं करना पड़ेगा। बस बाजार जाकर बैरी ले आएं जैसे कि रासबैरी, ब्‍लूबैरीज और ब्‍लैकबैरीज। वजन कम करना चाहते हैं तो अपने किचन में ज़रूर रखें ये 20 चीजें हाइड्रोजनीकृत तेल को अवॉइड करें बाहर के खाने में हाइड्रोजनीकृत या आंशिक रूप से हाइड्रोजनीकृत वनस्पति तेलों का इस्तेमाल किया है जाता है जो कि हानिकारक हैं जो ट्रांस फैटी एसिड या "ट्रांस-फैट " का एक स्रोत हैं। ट्रांस-फैट हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर और कई अन्य बीमारियों की संभावना को बढ़ाता है। स्‍प्राउटेड ब्रेड खाना बंद करें अक्‍सर लोग मानते है कि जब आपको बेली फैट कम करना है तो ब्रेड खाना बंद कर दे। आपको सोच समझकर अपने खाने में ब्रेड का चयन करना चाहिए। स्‍प्राउटेड ब्रेड में भारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेड होता है। लिफ्ट से कम करें वजन पब्लिक हेल्‍थ ऑफ हावर्ड स्‍कूल में हुई एक रिसर्च के अनुसार अपनी रुटीन में वेट लिफ्टिंग जैसी एक्‍सरसाइज को जोड़ने से वयस्‍क पुरुष ऑबेसिटी के खतरे से बच सकते है। अगर वहीं समान मात्रा में कार्डियों किया जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ता है। वहीं यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड ने एक रिसर्च में पाया कि 16 सप्‍ताह तक वेटलिफ्टिंग करने से 7.7 प्रतिशत तक मेटाबॉलिक दर को बढ़ाया जा सकता है। जिससे आपके एक्‍स्‍ट्रा इंच कम हो सकते है। आर्टिफिशियल स्‍वीट को कहें बाय बाय शुगर से मोटापा बढ़ता है। इसलिए आप शुगर से बनी हुई चीजों का सेवन कम करें, खासतौर से आर्टिफिशयल स्‍वीटनर्र को खाना बंद कर दे क्‍योंकि इससे मोटापा जल्‍दी बढ़ता है क्‍योंकि इसमें इंसुलिन की मात्रा बहुत अधिक होती है। फाइबर को दोस्‍त बनाएं अगर आप स्लिम टमी चाहते है तो अपनी डाइट में जहां तक हो सकें फाइबर को जोड़े। जो लोग अपना वजन कम करना चाहते है वो फाइबर खाकर अपने एक्‍स्‍ट्रा इंच घटा सकते है। एक रिसर्च में यह बात सामने है कि प्रति दिन 10 ग्राम फाइबर खाने से पांच साल से जमा फैट 3.7 प्रतिशत तक कम किया जा सकता हे। टमाटर कैचअप को करो आउट मानाकि कैचअप बहुत टेस्‍टी होते है लेकिन बढ़ते मोटापे का ये भी एक कारण है। केचअप में बहुत मात्रा में शुगर होती है। अगर आपको केचअप बहुत पसंद है तो आप ताजे टमाटर का भी कैचअप घर में बना सकती है। ताइवान के चाइना मेडिकल यूनिवर्सिटी ने रिसर्चमें पाया है कि कैचअप से बॉडी फैट और कमर की साइज बढ़ाती है। धूप से करें दोस्‍ती धूप का नाम सुनकर आपको लगता होगा इससे स्किन में टैन हो जाता है। लेकिन सुबह सुबह की धूप शरीर के लिए काफी अच्‍छी होती है। एक रिसर्च में पाया गया है कि विटामिन डी की डेफिशिएंट की वजह से 50 से 70 साल की उम्र में महिलाओं का वजन बढ़ने लगता है। आपको सुबह सुबह कम से कम 10-15 मिनट धूप में जाना चाहिए। ड्रायफ्रूट्स खाएं रेना सोफिया यूनिवर्सिटी हॉस्‍पीटल के एक रिसर्च में पाया गया हे कि जो लोग मोनोसस्‍यूट्रेटेड फैट को अपने डाइट में जोड़ते है जैसे कि ड्रायफ्रूट्स की मदद से 28 दिन के भीतर अपना वजन कम कर सकते है। क्‍यांकि ऐसा करने से उनके शरीर में इंसुलिन के स्‍तर में सुधार होता है और शरीर में मौजूद फैट धीरे धीरे कम होने लगता है। ज्‍यादा सोचे एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि एक्‍सरसाइज करने और डाइट करने के अलावा ज्‍यादा सोचने से भी वजन कम होता है। सोचने से शरीर की कैलोरी कम होने लगती है। अगर आप जल्‍दी जल्‍दी वजन घटाना चाहते है तो आज ही सोचना शुरु कर दें। लहसुन का इस्‍तेमाल करें एक छोटा सा लहसुन आपके वजन कम करने के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता हे। एक कोरियन स्‍टडी में यह बात सामने है कि लहसुन में मौजूद एंटी ऑक्‍सीडेंट आपके शरीर में लम्‍बे समय से मौजूद फैट को घटाता है। रोज ब्रश करें टूथब्रश करने से न सिर्फ आपके दांत पोलिश होते है बल्कि आपके मजबूत दांतों से भी बैली फैट कम होताहे। एक रिसर्च में सामने आया है कि 14 हजार लोगों पर यह सर्वे कराया गया है कि ब्रश करने के बाद खाया जाने वाला खाना निचले वजन से संबंधित होता हे। मछली जरुर खाएं मछली में ओमेगा-3 पाया जाता है जिसमें मौजूद फैटी एसिड आपके शरीर में मौजूद फैट को कम करताहै। साबुत अनाज पर ध्‍यान दे अगर आप नहीं चाहते है कि आपके शरीर में जरा सा भी वजन बढ़े तो आपको साबुत अनाज पर ज्‍यादा ध्‍यान दें। क्‍योंकि एक रिसर्च में सामने आया है कि साबुत अनाज खाने से शरीर का 10 प्रतिशत तक फैट कम किया जा सकता है इसके अलावा डाइबिटिज, ब्‍लड प्रेशर और हार्ट संबंधी बीमारियों से छुटकारा मिलता है। चैरी खट्टी मीठी चैरी खाने में वैसे बहुत ही स्‍वादिष्‍ठ होती है लेकिन जब हेल्‍थ की बात आए तो यह बहुत हेल्‍दी होती है इसमें मौजूद एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण बैली फैट को कम करने के साथ डिमेंशिया के खतरों को कम क‍रता है। रनिंग अगर आपको स्लिम ट्रिम बैली चाहिए तो रनिंग करना शुरु कर दें। एक रिसर्च में सामने आया हे कि जो पूरे हफ्ते में 15 मील दौड़ लेता है वेा अपने शरीर के जमे हुए 67 प्रतिशत जमे हुए बैली फैट को कम सकता है। केल्शियम जरुर लें अपने डाइट में एक्‍स्‍ट्रा इंच को कम करने के लिए एक्‍स्‍ट्रा केल्शियम जरुर जोड़े। केल्शियम भी शरीर में मौजूद फैट को कम करने में सहायक है। इसके लिए आप डेयरी प्रॉडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें जैसे पनीर, हरे पत्‍तेदार सब्‍जी, सूखे मेवे और फैटी फिश। नींद पूरी करें अपनी नींद पूरी कीजिये नींद मोटापे से लड़ती है। रिसर्च के मुताबिक 7 से 8 घंटो की कम नींद भूख पैदा करती है, जिससे आप जरुरत से ज्‍यदा खा लेते हैं और मोटापा बढ़ जाता है। आधे रात में खाने की आदत बंद करें रात को उठकर फ्रिज में झाक ताक करना बंद करें। क्‍योंकि आधी रात को उठकर खाना खाने से मेटोबॉलिज्‍म की दर में गिरावट आती है जिसकी वजह से शरीर में फैट बनने लगता है। English summary Simple ways to Lose 2 Inches of Belly Fat in 2 Weeks in Hindi A slimmer waist, healthier body, and reduced risk of chronic disease start today with these belly fat-fighting tips.

GIRLS! आपके फेवरेट गोलगप्‍पों में मिला रहे टॉयलेट क्लीनर

Tuesday, January 16 2018

GIRLS! आपके फेवरेट गोलगप्‍पों में मिला रहे टॉयलेट क्लीनर

Published: Tuesday, January 16, 2018, 17:35 सड़क किनारे बेच रहे गोलपप्‍पे वाले भईया इसमें क्‍या मिला रहे हैं, ये अगर आपको पता चल जाए तो शायद आप कल से ही गोलगप्‍पे खाना छोड़ देंगी। जी हां, ये बात बिल्‍कुल सच है कि गोलपगप्पे के पानी को स्वादिष्ट और तीखा बनाने के लिए उसमें टॉयलेट क्लीनर मिलाया जाता है। ऐसा हर जगह नहीं होता लेकिन एक मामला अहमदाबाद में फस गया है। लड़कियों की जान कहे जाने वाले गोलगप्‍पे उस समय हानिकारक हो गए जब पुलिस ने गोलगप्‍पे वाले वेंडर चेतन नान्जी को धर लिया। चेतन नान्जी गोलगप्पे का स्वाद बढ़ाने के लिए उसमें टॉयलेट क्लीनर मिलाते थे। ये 2009 का मामला है। जिसका फैसला बीते सप्ताह आया और चेतन नान्जी को गोलगप्पे में टॉयलट क्लीनर मिलाने का दोषी पाये जाने के कारण 6 महीने की सजा सुनाई गई। अहमदाबाद में लाल दरवाजे के इलाके में लोग चेतन नान्जी को बहुत अच्‍छी तरह से जानते होंगे क्‍योंकि यह वहीं पर गोलगप्‍पे बेचता था। यह आदमी पानी का स्‍वाद बढाने के लिये उसमें टॉयलट क्लीनर मिलाता था। जब शाम के अंत में जब गोलगप्पे का पानी बच जाया करता था, तब वह उसे वहीं सड़क पर फेंक देता था। जिसके कारण सड़क खराब होने लगी। सड़क खराब होने की शिकायत मिलने के बाद निगम ने गोलगप्पे के पानी सैंपल लिया और उसे टेस्टिंग के लिए लैब भेजा। जब गोलगप्‍पे के पानी को टेस्‍ट किया गया... जब इन गोलगप्‍पों के पानी की टेस्‍टिंग की गई तो काफी हैरान करने वाली बात सामने आई। दरअसल गोलगप्पे के पानी में उस ऑक्‍जेलिक एसिड का इस्तेमाल किया गया था जिसका इस्तेमाल टॉयलट क्लीनर में किया जाता है। आपकी जानकारी के लिये बता दें कि टॉयलट क्लीनर में ट्राइक्लोज़न और क्वाट्र्नरी जैसे भी तत्व पाएं जाते हैं। ये दोनों तत्व सेहत के लिए काफी नुकसानदायक होते हैँ। इसी से फुड प्वॉयजनिंग की शिकायत होती है। टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद स्पेशल कोर्ट में चेतन नान्जी के खिलाफ मिलावट का केस दर्ज किया गया जिसका फैसला अब आया है। इस मिलावट में दोषी पाये जाने के बाज उसे 6 महीने जेल की सजा सुनाई गई। English summary Panipuri Lovers, Beware! Golgappa Vendor Jailed For Mixing Toilet Cleaner In A panipuri vendor has been put behind bars because he used to mix toilet cleaner in 'paani' (panipuri water). Story first published: Tuesday, January 16, 2018, 17:35 [IST] Jan 16, 2018 कीअन्यखबरें

घर बैठे गंजी खोपड़ी पर बाल उगाने के लिये करें ये आयुर्वेद उपचार

Monday, January 15 2018

घर बैठे गंजी खोपड़ी पर बाल उगाने के लिये करें ये आयुर्वेद उपचार

बालों-की-देखभाल » घर बैठे गंजी खोपड़ी पर बाल उगाने के लिये करें ये आयुर्वेद उपचार घर बैठे गंजी खोपड़ी पर बाल उगाने के लिये करें ये आयुर्वेद उपचार Hair Care Published: 16:53 हमारा यकीन मानिये कि अगर आपके बाल तेजी से झड़ रहे हैं तो आपको महंगे हेयर प्रोडक्‍ट लगाने की जरुरत नहीं है क्‍योकि आपके घर पर ही ऐसी चीज़ें मौजूद हैं जो आयुर्वेद के अनुसार आपका गंजापन तुरंत ही दूर कर सकता है। आज कल महिलाओं के बीच में आयुर्वेदिक प्रोडक्‍ट काफी लोकप्रिय बन रहे हैं तो ऐसे में हमने सोंचा कि क्‍यों ना आपको उन आयुर्वेदिक चीजों के बारे में बताएं, जिससे बालों की खूबसूरती बढेगी और गंजे लोंगो की खोपड़ी पर बाल उगाने के काम आएगा। तो आप भी आजमाए ये आयुर्वेदिक उपचार... 1. भृंगराज यह बालों का झड़ना रोकने और बालों को घना बनाने में भी यह बेहद उपयोगी होता है। इसके इसी गुण के कारण हर हेयरकेयर उत्‍पाद में जरुर इस्‍तेमाल किया जाता है। इस तेल का प्रभाव आपको काफी जल्‍दी देखने को मिल सकता है। सामग्री- 5-6 सूखा भृंगराज पाव लगाने का तरीका इन पत्‍तियों को थोड़े से पानी के साथ मिक्‍स करें और पेस्‍ट बनाएं। फिर इस पेस्‍ट को सिर पर लगा कर 20 मिनट तक रखें। फिर आप इसे शैंपू से धो लें। इसके पेस्‍ट में तुलसी या आमला भी मिक्‍स किया जा सकता है। कितनी बार लगाएं: हफ्ते में तीन बार 2. आंवला आंवला रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है, रूसी (डैंड्रफ) को दूर करता है तथा सिर की त्वचा के रोम छिद्रों को खोलता है जिससे सिर की त्वचा से प्राकृतिक तेलों का उत्पादन होता है। सामग्री ½ कप नारियल का तेल लगाने का तरीका- आंवले को छोटे छोटे टुकड़ों में काटें तथा इसे उबलते हुए नारियल के तेल में डालें। इस घोल को छानें तथा इसे एक एयर टाईट डिब्बे में रखें। नहाने से पहले इस मिश्रण से सिर की त्वचा की मालिश करें। इसे 15 मिनिट तक लगा रहने दें तथा बाद में सिर को शैंपू से धो डालें। कितनी बार लगाएं: इसे हफ्ते में तीन बार लगाएं। 3. नीम नीम का रेगुलर यूज़ आपके सिर में ब्‍लड सर्कुलेशन बढाएगा और बालों की जड़ों को मजबूत करेगा। यह रूसी से भी छुटकारा दिलाता है। सामग्री- मुठ्ठीभर नीम की पत्‍तियां 2 कप पानी बनाने की विधि- नीम की पत्‍तियों को 15 मिनट के लिये पानी में उबाल लें और फिर ठंडा करने के लिये रख दें। जब पानी ठंडा हो जाए तब इसे छान लें। बालों को शैंपू करने के बाद इस पानी से बालों को दुबारा गीला कर लें। इसके बाद बालों को किसी भी तरह से ना धोएं। कितनी बार प्रयोग करें: हफ्ते में तीन बार आप चाहें तो नीम के पावडर का पेस्‍ट बना लें और बालों को शैंपू करने से 30 मिनट पहले लगाएं। 4. रीठा रीठा को पुराने जमाने से ही बालों की ग्रोथ बढाने के लिये प्रयोग करते हुए लाया जा रहा है। आप चाहें तो इससे रोजाना ही अपने बालों को धो सकती हैं। सामग्री- 2 कप पानी बनाने का तरीका रात में 2 कप गरम पानी में रीठा को भिगो कर रख दें। सुबह इसी पानी को रीठा सहित 15 मिनट के लिये उबाल लें और फिर ठंडा करने के लिये रख दें। पानी को छान लें और अपने बालों को गीला कर के आधा रीठा का जल लें और उससे अपने सिर को 5 मिनट के लिये मसाज करें। उसके बाद दुबारा फिर इससे अपने बालों को अच्‍छी तरह से धोएं। कितनी बार लगाएं: इसे आप हर दूसरे दिन प्रयोग कर सकती हैं। 5. शिकाकाई शिकाकाई बालों को स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए, सी, के और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो बालों को पोषण देने के साथ उनका विकास भी करते हैं। आप चाहें तो अपने नारियल तेल में शिकाकाई भी मिक्‍स कर सकती हैं। आमला, रीठा और शिकाकाई से बनाएं शैंपू सामग्री- 6 चम्‍मच सूखा शिकाकाई पावडर 2 कप पानी बनाने का तरीका- एक जग में इन दोनों को भिगो कर रख दें, जिससे यह बाद में शैंपू की तरह यूज़ हो सके। बाद में पानी से सिर को गीला कर के शिकाकाई शैंपू से सिर को धुलें। ऐसा पांच मिनट तक करें। कितनी बार लगाएं: हर दूसरे दिन 6. अश्‍वगंधा अश्‍वगंधा सीधा बालों की जड़ों पर काम करता है और उन्‍हें मजबूत बनाता है। अश्‍वगंधा में कुछ जड़ी-बूटियां मिलकार उसमें नारियल तेल डालकर लगा सकते हैं। इससे बालों के झड़ने की समस्‍या दूर होती है। अश्‍वगंधा बालों की जड़ों को मजबूत कर बालों में मेलानिन की मात्रा को बढ़ाने मे मदद करता है। इससे बालों की पकड़ मजबूत होती है। सामग्री- 3 चम्‍मच अश्‍वगंधा पावर 3 टीस्‍पून सूखा आमला पावडर 6 टीस्‍पून पानी बनाने की विधि - सारी सामग्रियों को मिक्‍स कर लें और गाढा पेस्‍ट तैयार कर लें। इस पेस्‍ट को सिर पर लगाएं आअैर 30 मिनट तक छोड़ दें। बाद में शैंपू से बाल धो लें। कितनी बार यूज़ करें: हफ्ते में तीन बार प्रयोग करें 7. मेथीदाने का पेस्ट मेथीदाने में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम, विटामिन सी तथा आयरन (लौह तत्व) पाया जाता है जो बालों की वृद्धि में सहायक होता है।

दिल्‍ली का चीकू कैसे बना 'विराट', जानें कोहली की ये 15 पर्सनल बातें

Thursday, January 18 2018

दिल्‍ली का चीकू कैसे बना 'विराट', जानें कोहली की ये 15 पर्सनल बातें

Life » दिल्‍ली का चीकू कैसे बना 'विराट', जानें कोहली की ये 15 पर्सनल बातें दिल्‍ली का चीकू कैसे बना 'विराट', जानें कोहली की ये 15 पर्सनल बातें Life Published: Thursday, January 18, 2018, 22:17 Virat Kohli : An incredible journey of a cricket superstar, कोहली की विराट गाथा | वनइंडिया हिंदी क्रिकेट की पिच से दुनिया को नाप देने की क्षमता रखने वाला एक क्रिकेटर। जिसने क्रिकेट प्रेमियों को अपने खेल से जादूई मोह के धागे में बांध लिया है उसे हम विराट कोहली के नाम से जानते हैं। वहीं विराट जो अद्भुत हैं, वही विराट जो असाधारण है, वही विराट जो अकल्पनीय हैं। यही कारण है कि क्रिकेट की दुनिया का ये सितारा आज एक ब्रांड का नाम है। मुसीबत की घड़ी में दर्शकों के लिए तसल्ली का एक नाम बन चुके विराट कोहली मैदान पर जब तक बने रहते हैं। पहाड़ से भी सूई गिरा देने की ताकत को टीम इंडिया अपने भीतर समेटे मैदान पर डटी रहती है। कप्तान कोहली क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में कमाल की कप्तानी करते हैं। तीनों फॉर्मेट में कमाल की बल्लेबाजी करते हैं। तीनों फॉर्मेट में क्रिकेट को एन्जॉय करते हैं। आंकड़ों की बाजीगरी से लेकर रिकॉर्ड बुक तक सबसे तेजी से कोहली के नाम की चर्चा होती है। बल्ले के दम पर सबके दिलों पर राज कर रहे हैं विराट कोहली विराट कोहली ने इंडियन क्रिकेट को एक रफ्तार दी है। सौरव गांगुली ने जिस क्रिकेट में जोश की चाभी भरी थी। उसे भुनाने का असल काम धोनी से होते हुए अब कोहली की कप्तानी में चल रही है। कोहली कलाई और स्ट्रोक दोनों के जादूगर हैं। आंकड़ों की बोलती हुई तस्‍वीर। शतकों की तेजी से बढ़ती हुई गिनती और हर सीरिज में कोई न कोई रिकॉर्ड इन्हीं बातों का सबूत है। जब जब कोहली का बल्ला चलता है तब मैदान पर गेंदबाजों की शामत आ जाती है। आपको आश्चर्य होगा कोहली को मैदान पर खेलते देखकर कि कोई कैसे सफलता को अपनी कदमों में खींच लाता है। लेकिन इसके पीछे संघर्ष के कई किस्से हैं। क्रिकेट की दुनिया से नाम मिला, पैसा मिला, शोहरत मिली तो क्रिकेट के मैदान पर ही खड़े कोहली को पिता के दुनिया से चले जाने की खबर मिली थी। तब हौसला तो टूटा लेकिन टूटे हौसले को ही कोहली ने विराट हिम्मत में बदल दिया आज कोहली के कदमों में दुनिया भर की खुशियां पड़ी हुई है। 1. कोहली के वकील पिता की जब मौत हुई थी उस वक्त वो मैच खेल रहे थे उस समय कोहली को फौरन फैमिली के साथ जाने को कहा गया लेकिन कोहली थे कि संकट में फंसी अपनी टीम का साथ नहीं छोड़ना चाहते थे। ये वही मैच था जब अंपायर के गलत फैसले का शिकार होकर विराट कोहली नर्वस नाइंटिन होकर पवैलियन लौट गए थे। 2. कोहली क्रिकेट के हर फॉर्मेट में कमाल करते हैं उनके बल्ले से शानदार रन निकलते हैं। आलोचना करने वाले भी उनके बल्ले से निकलने वाले रनों की गिनती में उलझ कर रह जाते हैं। हमारे देश में क्रिकेट धर्म है तो कोहली धीरे-धीरे अब क्रिकेट के नए भगवान बनते जा रहे हैं। 3. क्रिकेट को दर्शको की नजरों में भरोसे का नाम कोहली ने दर्जनों दफे मैदान पर संकट की स्थिति से टीम इंडिया को उबारा है। टीम पर पड़ी मुसीबत को कोहली ने अपने बल्ले से कई बार दूर भगाया है। दिल्ली के रहने वाले कोहली ने क्रिकेट जानने वाले तमाम देशों में अपने झंडे गाड़े हैं। कोहली के कद का अंदाजा इसी बात से लगाइए कि कोहली के आउट होने का मतलब है आधी टीम इंडिया का आउट हो जाना। 4. कोहली का क्रिकेट से प्यार कहिए या करियर का एकमात्र रास्ता 12वीं के बाद कोहली ने कभी स्कूल का मूंह नहीं देखा। वक्त-वक्त की बात है ... किसी समय के स्टार गेंदबाज आशीष नेहरा ने एक बार कोहली को स्कूल में शानदार प्रदर्शन के लिए अवार्ड दिया था। तब नेहरा जी को क्या पता था कि एक दिन कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया में उन्हें खेलना होगा और क्रिकेट से विदाई भी कोहली की कप्तानी में ही होगी। 5. अब तक कई ऐसे रिकॉर्ड और आंकड़े अपने नाम कर लिए हैं जो कई बड़े दिग्गजों के क्रिकेट से रिटायर होने के बाद भी उनके हिस्से में नहीं होते हैं। कोहली की मंजिल काफी अलग है। रास्ता अलग है। ये बात भी अलग है कि इन रास्तों में काफी संघर्ष हैं। वैसे उन्हें करीब से जानने वाले कहते हैं कि संघर्ष तो कोहली के खून में बसा है। 6. कोहली ने अपनी छवि मैदान से बाहर भी शानदार तरीके से गढ़ी है कई दफे उन्होंने सामाजिक मुद्दों पर भी वक्त वक्त पर अपनी बात जाहिर की है। जो उन्हें बाकी क्रिकेटरों से अलग एक दूसरी पंक्ति में खड़ा करता है। तभी तो हम कहते हैं कोहली कमाल के हैं। 7. विराट कोहली में एक खास बात है जुझारूपन कभी हार नहीं मानने की आदत। मैदान में खड़े होकर कोहली ने जीत को छोड़कर कभी कुछ स्वीकार ही नहीं किया। इन्हीं सब बातों ने कोहली को विश्व क्रिकेट में विराट बना दिया है। 8. जब मिला प्लेयर ऑफ द टुर्नामेंट साल 2016 के टी-20 वर्ल्ड कप को भारत जीत तो नहीं पाया लेकिन कोहली को शानदार प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द टुर्नामेंट के खिताब से नवाजा गया। कोहली ने 5 मैचों में कुल 273 रन बनाए थे। जो कि टुर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन था। इस पुरस्कार को लेने के लिए कोहली मैदान पर मौजूद नहीं थे। 9. 2011 विश्व कप में कोहली टीम इंडिया का हिस्सा बन चुके थे वर्ल्ड कप जैसे बड़े मौकों पर कोहली ने एक बांग्लादेश के खिलाफ नाबाद शतक जड़कर अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी थी। टीम इंडिया में नए-नए आए कोहली ने कुल 283 रन बनाए थे। ये वही विश्व कप था जिसमें 28 साल बाद भारत को जीत मिली थी। इसी जीत को कोहली ने 6 साल बाद भी ट्वीट करके याद किया था। 10. कोहली के क्रिकेट जीवन का सबसे शानदार और सुनहरा साल रहा साल 2016 इस साल टेस्ट क्रिकेट में कोहली ने 1200 रन बनाए। औसत रहा 80 का... 2015-16 में कोहली ने क्रिकेट के सारे फॉर्मेट में जबरदस्त प्रदर्शन किया। सत्रह का साल आते आते कोहली हर मैच में रिकॉर्ड को अपने से बांधने लगे। दिसंबर के पहले हफ्ते में श्रीलंका के खिलाफ लगातार दोहरा शतक बनाने के साथ ही वो दुनिया के पहले ऐसे क्रिकेट कप्तान बन गए। जो 6 बार टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगा चुका हो। 11. सचिन तेंदुलकर से बराबरी, ना भाई ना सचिन तेंदुलकर से बराबरी वाली बात पर विराट कोहली ने एक इंटरव्यू में कहा था कि जिसे देखकर हाथों में बल्ला थामा , मैदान पर जीत की आदत डाली, उससे ना तो बराबरी हो सकती है और ना ही अच्छी लगती है। इसी इंटरव्यू में कोहली ने पहली बार ड्रेसिंग रूम में सचिन को लेकर हुए हसीन हादसे को याद किया और कहा कि ड्रेसिंग रूम में पहली बार सचिन को लेकर कोहली से कहा गया कि जो पहली बार मैच खेलने आता है। वो तेंदुलकर के पैरों में झुककर आशीर्वाद जरूर लेता है... ये गुस्ताखी करने वाले क्रिकेटर थे ... विराट कोहली 12. नाम है इनका चीकू दुनिया जिस क्रिकेटर को कोहली के नाम से जानती है उन्‍हें उनके चाहने वाले चीकू के नाम से पुकारते हैं। ये नाम कोहली के एक कोच ने दुलार से रखा था। 13. बीसीसीआई को भी कोहली पर ही भरोसा है अपने आलोचकों की बातों पर ध्यान नहीं देकर क्रिकेट पर ध्यान देते रहने का नतीजा है कि बीसीसीआई को भी कोहली पर ही भरोसा है तभी तो धोनी के बाद कोहली को कप्तानी सौंप दी गई। कोहली कप्तानी में भी कमाल करते हैं-धमाल करते हैं जो करते हैं वो बेमिसाल करते हैं। 14. 23 साल की उम्र में ICC क्रिकेटर आफ द ईयर ये बेमिसाल होने का ही नतीजा है कि 23 साल की उम्र में ही आईसीसी ने उन्हें ICC क्रिकेटर आफ द ईयर से सम्मानित किया। 15. अनुष्का शर्मा को लेकर चर्चाओं में रहे विराट कोहली मैदान से बाहर सबसे ज्यादा अपनी प्रेमिका बॉलिवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा को लेकर चर्चाओं में रहे। चर्चाओं का बाजार चार साल तक गर्म रहा। कभी चुपके से तो कभी जमाने के सामने इस मोहब्बत को दोनों निभाते रहे। अंत में इटली की हसीन वादियों में जाकर सात जन्मों के लिए दोनों ने सात फेरे ले लिए ये शादी साल 2017 की चर्चित शादियों में से एक थी। 16. आगे कोहली का करियर काफी लंबा है भारतीय क्रिकेट के लिए उनका नाम एक ऐसा सितारा है जो अमावस की रात में भी चांद की तरह चमकेगा कोहली को लगातार उनके शानदार परफॉर्मेंस और नए जीवन के लिए वन इंडिया हिन्दी की ओर से ढेरों शुभकमानाएं। Read more about: bizarre , अजब गजब English summary Virat Kohli Biography : An incredible journey of a cricket superstar Virat Kohli shared a new video of him on social media in which the Indian cricket team captain relives his ‘life story’ and his cricketing journey. Story first published: Thursday, January 18, 2018, 22:17 [IST]

चुनिये अपना मन पसंद जानवर और जानिये अपनी बुराइयों को

Thursday, January 18 2018

चुनिये अपना मन पसंद जानवर और जानिये अपनी बुराइयों को

» चुनिये अपना मन पसंद जानवर और जानिये अपनी बुराइयों को चुनिये अपना मन पसंद जानवर और जानिये अपनी बुराइयों को Life Published: Thursday, January 18, 2018, 9:00 आज हम आपके लिए एक खास पिक्चर क्विज ले कर आएं हैं जिससे हम आपको यह बातएंगे कि कौन से जानवर या पक्षी को आप पसंद करते हैं। और इससे आपके व्यक्तित्व पर क्या असर पड़ता है। यही नहीं यह एक ऐसा व्यक्तित्व है जिसके बारे में शायद आपके परिवार के सदस्य या आपके दोस्त भी वाकिफ नहीं होंगे। वैसे तो ऐसा कहा जाता है कि जो जानवर हमे पसंद होता है या जिसे हम पालते हैं हमारा व्यक्तित्व भी थोड़ा बहुत वैसे होता है। तो आज नीचे दी गयी पिक्चर में एक जानवर को पसंद करें और जाने की आपके व्यक्तित्व के बारे में। अगर आपने चुना गिद्ध गिद्ध को अवसर वादी माना जाता है और यह मुर्दाख़ोर भी कहे जाते हैं जो ज्यादा तर मरे हुए या कमज़ोर जानवर को खाते हैं। अगर आपके गिद्ध को चुना है तो यानी आप बहुत ही शांत स्वभाव के हैं और आपको गुसा बिलकुल नहीं आता है लेकिन आप उतने ही खतरनाक भी है, क्योंकि आप हमला करने के लिए सही समय का इंतज़ार करते हैं। अगर आपने काली बिल्ली चुनी बिल्लियां ज्यादातर अकेला रहना पसंद करती हैं। और जो व्यक्ति काली बिल्ली को पसंद करते हैं वो भी अकेले होते हैं। और अकेले ही काम करना पसंद करते हैं। इसके आलावा आप के अंदर आपने काम करने के लिए अच्छे प्लान्स हैं और उनपर आप मन लगा का काम करते हैं। अगर आप स्पाइडर चुनते हैं अगर आपने यह चुना है तो आप बहुत अच्छे मैनिपुलेटर हैं। आप अपने जाल में व्यक्ति को धोके से फ़सा लेते हैं। यही नहीं आप व्यक्ति को खुद यह मौका देते हैं कि वह आपके जाल में खुद फस जाए। इसके साथ ही अगर वह आपके जाल में फस जाता है तो आप उसे ख़त्म करके ही मानते हैं। अगर आपने ब्लैक जगुआर चुना आप बहुत रहस्मय व्यक्ति हैं जिसकी वजह से लोग आपके तरफ खींचे चले आते हैं। इसके साथ ही आप बहुत ही शक्तिशाली जिसकी वजह से लोग आपसे डरते हैं। आप ज्यादा लोगों से घुलना मिलाना पसंद नहीं करते हैं। और आपने काम अकेले ही करते हैं। अगर आपने रेवेन चुना आप बहुत समझदार और सहज व्यक्ति हैं। आप दूसरों से व्यवहार करते वक्त बहुत सावधानी बरतें हैं। इसके साथ ही आप बहुत नीजी इंसान है जो बाहरी दुनिया से बहुत दूर रहता है। अगर आप चमगादड़ चुनते हैं अगर आप चमगादड़ चुनते हैं तो आपका व्यक्तित्व बहुत ही अलग है और आप अपनी ज़िन्दगी अपने मन के मुताबिक जीना पसंद करते हैं। इसके आलावा आप बहुत ही विस्तृत व्यक्ति हैं जो दुनिया को बहुत ही अलग नज़रिये से देखता है। यही नहीं आप जानते हैं कि आप अन्य लोगों से बहुत अलग हैं। अगर आप भेड़िया चुनते हैं भेड़िये भी एक तरह से जंगल के राजा होते हैं और वे ये जानते हैं कब और कैसे शिकार को मरना है। तो अगर आप इसे चुनते हैं तो आप भी उतने ही शक्तिशाली हैं और अकेले ही रहना पसंद करते हैं। आपको अपनी ताकत का अंदाज़ा है और आप यह भी जानते हैं कि आपके द्वारा किये गए किसी भी कार्य का क्या असर होगा। Read more about: life , जिंदगी English summary Pick An Animal And Know About Your Dark Side Choose any of these animals and learn about the dark side of you! Story first published: Thursday, January 18, 2018, 9:00 [IST]

सीरियल किलर...इस बच्चे को पसंद था लोगों की जान से खेलना.. 8 साल की उम्र में 3 लोगों का किया कत्ल

Thursday, January 18 2018

सीरियल किलर...इस बच्चे को पसंद था लोगों की जान से खेलना.. 8 साल की उम्र में 3 लोगों का किया कत्ल

Life » सीरियल किलर...इस बच्चे को पसंद था लोगों की जान से खेलना.. 8 साल की उम्र में 3 लोगों का किया कत्ल सीरियल किलर...इस बच्चे को पसंद था लोगों की जान से खेलना.. 8 साल की उम्र में 3 लोगों का किया कत्ल Life Updated: Thursday, January 18, 2018, 12:32 अभी तक आपने कई सीरियल किलर के बारे में सुना होगा, कई दिल दहला देने वाली सीरियल किलिंग की घटनाएं सुनी होगाी। जिसमें से निठारी का नर पिशाच सुरेंद्र कोली तो ताजा उदाहरण है। अगर आप इतिहास के पन्‍नों को पलटकर देखेंगे तो दुनिया और देशभर में एक से बढ़कर एक दिल दहला देने वाले किस्‍से सुनने को मिलेंगे। लेकिन आज हम आपको एक सीरियल किलर के बारे में बताने जा रहे है जिसने सिर्फ 8 साल की उम्र में एक के बाद एक करके तीन हत्‍याएं कर डाली। सुनकर आश्‍चर्य में पड़ गए न सिर्फ 8 साल की उम्र में तीन हत्‍याएं। इस साधु का हैरतअंगेज कारनामा अपने लिंग से खींच डाला भारी भरकम ट्रक जी हां इसे दुनिया का सबसे कम उम्र का सीरियल किलर माना जाता है, इसके अलावा ये बिहार के "मिनी सीरियल किलर" के नाम से भी जाना जाता है। आइए जानते है इस मिनी सीरियल किलर के बारे में कि कैसे ये पुलिस के हत्‍थे चढ़ा। बिहार से है ये मिनी सीरियल किलर अमरजीत सादा नामक ये लड़का दिखने में तो मासूम लेकिन हरकतें किसी मंझे हुए किलर से कम नहीं। बिहार के बेगुसराय में 1998 में पैदा हुआ अमरजीत अपने परिवार के साथ बेगुसराय के गांव मुसहरी में रहता था। इसके पिता मजदूरी करके घर चलाया करते थे। खुद की बहन को मार दिया.. इस मिनी सीरियल किलर का शिकार सिर्फ छोटे बच्‍चें होते थे। जो कि मुश्किल से कुछ महीनों के होते थे। जब इसने पहले बच्‍चें को मारा तो उसके बाद इसका दूसरा शिकार इसकी खुद की बहन बनी। जब अमरजीत के मां बाप को इस बारे में मालूम चला उन्‍होंने इसके इस घिनौने अपराध को तब तक छिपाकर रखा जब तक कि इसने तीसरा मर्डर करके पुलिस के हाथ नहीं लग गया। मैनपुरी की छात्रा ने बनाया एंटी रेप अंडरवियर, हाथ लगाते ही बज उठेगा सेंसर 2007 में आया था मामला सामने बात सन 2007 की है, बिहार के बगूसराय का मुसहरी गांव एक के बाद एक दो मासूम बच्चों की हत्याओं से दहल उठा। किसी को नहीं पता था कि इन कत्ल को कौन अंजाम दे रहा है. इसी बीच एक जवान शख्स का कत्ल हो जाता है। मामला पुलिस तक पहुंचता है। पुलिस की छानबीन में जो तथ्य सामने आता है, उसे सुनकर पूरे गांव के लोग दंग रह जाते हैं। एक मासूम बच्चा इस वारदात को अंजाम दे रहा है। छह महीनें की बच्‍ची को बेरहमी से मार दिया मिनी सीरियल किलर के रूप में चर्चित इस लड़के अमरजीत सदा के नाम का जिक्र आते ही उसके हमउम्र दोस्त कांप उठते हैं। उसने अपने गांव की छह महीने की बच्ची को पत्थर मार-मार कर उसकी हत्या कर दी। उसके बाद उसकी लाश एक खेत में ले जाकर दफना दिया। वह बताता है कि उसे कत्ल करने में मजा आता है, इसलिए ऐसा करता है।उसने मजे के लिए ही तीनों कत्ल किए हैं। उसने जो बताया सुनकर चौंक जाएंगे आप जब पुलिस को लगा कि कहीं न कहीं इन तीनों खून के पीछे अमरजीत का हाथ है तो उसने पुलिस को बिना जोर जबरदस्‍ती के पूरे घटनाक्रम को खुद ही बताया कि उसने कब और कैसे कहां पर उस बच्‍ची की हत्‍या की। बिना संकोच के उसने सारी घटनाक्रम पुलिस को बता दी। मानसिक बीमारी से ग्रस्‍त जब डॉक्‍टर ने इस बच्‍चें की मानसिक हालात का जायजा लिया तो मालूम चला कि ये बच्‍चा किसी कंडक्‍ट डिसऑर्डर की बीमारी से जुझ रहा है। एक मनोविशेषज्ञ ने बताया कि ये बच्‍चा बहुत ही उदास रहता है इसे लोगों को चोट पहुंचाकर खुशी मिलती है। और कई विशेषज्ञों ने बताया कि इस बच्‍चें को अभी तक अच्‍छे और बुरे की पहचान नहीं है। लेकिन इसे हिरासत में लेने के बाद इस बच्‍चें की मेडिकल जांच चलती रही थी। माना जाता है कि ये नाम बदलकर रह रहा है.. भारतीय कानून के अनुसार आठ साल की उम्र में इसे भारतीय संहिता से इसके गुनाहों के लिए कोई सजा नहीं मिलती। इसलिए अदालत ने इसके ईलाज के लिए इसे मनोरोगी अस्‍पताल में भर्ती करवा दिया था। इसके बाद माना जाता है कि आज अमरजीत अपने ईलाज के बाद बाहर किसी दूसरे नाम के साथ जिंदगी बसर कर रहा है। English summary The Story Behind The World's Youngest Serial Killer Do you know that this young looking boy is a serial killer at the age of 8 years? Well, he had committed 3 murders before he was convicted.

चेहरे को गोरा बनाने से लेकर मुंहासों के दाग भी हटा देंगे ये 5 उबटन

Saturday, January 20 2018

चेहरे को गोरा बनाने से लेकर मुंहासों के दाग भी हटा देंगे ये 5 उबटन

त्‍वचा-की-देखभाल » चेहरे को गोरा बनाने से लेकर मुंहासों के दाग भी हटा देंगे ये 5 उबटन चेहरे को गोरा बनाने से लेकर मुंहासों के दाग भी हटा देंगे ये 5 उबटन Skin Care Published: Saturday, January 20, 2018, 14:30 [IST] Subscribe to Boldsky पुराने जमाने में जब हमारी दादी-नानी के पास महंगे और ब्रांडेड कंपनी के फेस वॉश और साबुन नही हुआ करते थे, तब वे उबटन का इस्‍तेमाल अपनी खूबसूरती को निखारने के लिये किया करती थीं। उबटन एक घरेलू चीज़ है जिससे स्‍किन काफी साफ और सुंदर हो जाती है। 7 हल्‍दी फेस पैक: दाग-धब्‍बे दूर करके रंग निखारे हल्‍दी उबटन को घर पर बनाना काफी आसान होता है और इसके लिये आपको अपनी पॉकेट भी ढीली करने की जरुरत नहीं। आज कल तो हर महिला ऐसी ही चीज खरीदना चाहती है जो नेचुरल हो और उसे लगाने से चेहरे में असर भी दिखे। अगर चेहरे पर ब्‍लैकडेड, वाइटहेड, पिगमेंटेशन, सनबर्न या मुंहासों के दाग धब्‍बे हैं तो आप उबटन का प्रयोग कर सकती हैं। आज हम आपको ऐसे कई सारे उबटनों की रेसिपीज़ बताने वाले हैं, जिसे आप चेहरे की कई समस्‍याओं को दूर करने के लिये यूज़ कर सकती हैं। 1. उबटन से बनाएं फेस वॉश सामग्री- 1 टीस्‍पून चंदन पावडर 2 टीस्‍पून बेसन ½ टीस्‍पून हल्‍दी पावडर 2 टीस्‍पून दूध बनाने की विधि - एक कटोरी में सभी सूखी सामग्रियों को डाल कर साथ में दूध मिलाएं। ध्‍यान रखें कि इसमें गुठलियां न पड़ें और ना ही ये ज्‍यादा गाढा हो और ना ही पतला हो। इस पेस्‍ट को चेहरे पर लगा कर 15-20 मिनट रूके और फिर धो लें। उसके बाद ना तो चेहरे पर कोई फेस वॉश लगाएं और ना ही साबुन लगाएं। कितनी बार करें यूज़: अगर आप चाहें तो इस उबटन से अपने फेस वॉश को हमेशा के लिये बदल सकती हैं। नहीं तो इसे हफ्ते में जितना ज्‍यादा प्रयोग कर सकती हैं करें। 2. उबटन फेस स्‍क्रब सामग्री- 1 टीस्‍पून ओटमील 3 टीस्‍पून बेसन 2 टीस्‍पून चंदन पावडर ½ टीस्‍पून हल्‍दी 2 टीस्‍पून पिसा खीरा बनाने की विधि - एक कटोरी में सभी चीजों को मिक्‍स कर लें। फिर उसमें खीरे का पेस्‍ट मिलाएं। अब इस स्‍क्रब में से थोड़ा सा उंगलियों पर निकालें और गोलाई में चेहरे पर रगड़ते हुए स्‍क्रब करें। ऐसा कम से कम 5-10 मिनट तक करें। फिर अपने चेहरे को सादे पानी से धो लें। कितनी बार करें यूज़: हमें अपने चेहरे को कम से कम हफ्ते में दो बार स्‍क्रब करना ही चाहिये। 3. उबटन मॉइस्‍चराइजर सामग्री- ताजा दूध या मलाई 1 टीस्‍पून तिल का तेल 1 टीस्‍पून तुलसी पावडर 3 टीस्‍पून बेसन 2 टीस्‍पून चंदन पावडर ½ टीस्‍पून हल्‍दी बनाने की विधि - बादाम को पहले ताजी क्रीम में भिगो लें या फिर दूध में भी भिगो सकते हैं। 1 घंटे के बाद इसके छिलके को उतार लें। फिर इसमें तिल का तेल और दाल मिलाएं। अब उबटन के इस मिश्रण को पेस्‍ट में मिलाएं। इस पेस्‍ट को चेहरे पर लगाएं और 10 मिनट रूकें। फिर नहा लें। कितनी बार करें प्रयोग: आप इसे हफ्ते में दो बार या फिर अपनी मर्जी अनुसार चाहे जितनी बार यूज़ करें। इस पेस्‍ट को आप फ्रिज में रख कर कई दिनों तक यूज़ कर सकती हैं। उबटन फेस मास्‍क सामग्री- 1 टीस्‍पून गेंहू का आटा 1 टीस्‍पून बेसन 1 टीस्‍पून चंदन पावडर आधा चम्‍मच हल्‍दी 2 टीस्‍पून रोज वॉटर बनाने की विधि - सभी सामग्रियों को एक कटोरे में डालें। फिर धीरे धीरे इसमें गुलाब जल मिक्‍स करें ओर पेस्‍ट बनाएं। अब इसे चेहरे पर लगा कर कम से कम 20 मिनट तक छोड़ दें। अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। फिर मॉइस्‍चराइजर लगाएं। अगर आपके पास दूध है तो आप उसे भी इसमें डाल सकते हैं। कितनी बार करें यूज़: इस मास्‍क को हफ्ते में दो या तीन बार लगाएं। इसे नहाने से पहले लगाएं और फर्क देंखें। 5. दाग-धब्‍बे हटाने के लिये उबटन सामग्री- 1 टीस्‍पून बेसन 1 टीस्‍पून दूध पावडर 1 टीस्‍पून चंदन पावडर ½ हल्‍दी 1 टीस्‍पून शहद 2 टीस्‍पून शहद 1 टीस्‍पून नींबू बनाने की विधि - सभी सूखी सामग्रियों को एक साथ मिक्‍स कर के उसमें शहद, नींबू और दूध मिला कर पेस्‍ट बना लें। फिर इसे चेहरे पर लगा कर 15-20 के लिये रखें और सूखने दें। कितनी बार यूज़ करें: इसे कम से कम हफ्ते में दो या तीन बार जरुर लगाएं। Read more about: beauty tips in hindi , face pack , beauty tips , home remedies , beauty , skin care , फेस पैक , सौंदर्य , त्‍वचा की देखभाल , घरेलू उपचार , ब्‍यूटी टिप्‍स English summary BEAUTY TIPS: चेहरे को गोरा बनाने से लेकर मुंहासों के दाग भी हटा देंगे ये 5 उबटन Ubtan can be used in various ways to attain that desired fair complexion and flawless skin. The top 5 trusted recipes to use an Ubtan to get rid of a dark and patchy complexion are as follows. Story first published: Saturday, January 20, 2018, 14:30 [IST]

भारत में ही नहीं पाकिस्‍तान में भी मनाई जाती है बसंत पंचमी....

Sunday, January 21 2018

भारत में ही नहीं पाकिस्‍तान में भी मनाई जाती है बसंत पंचमी....

Life » भारत में ही नहीं पाकिस्‍तान में भी मनाई जाती है बसंत पंचमी.... भारत में ही नहीं पाकिस्‍तान में भी मनाई जाती है बसंत पंचमी.... Life Published: Sunday, January 21, 2018, 11:30 [IST] Subscribe to Boldsky वैसे तो बसंत पंचमी भारत में मनाया जाने वाला त्योहार है, लेकिन यह पाकिस्तान में भी लोग बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। इसकी वजह है वहां रहने वाले पंजाबी। क्योंकि यह त्योहार उत्तरी भारत में बहुत प्रसिद्ध है, वहां के किसान इसे बड़े ही हर्षोउल्लास से मनाते हैं। ऐसे ही पाकिस्तान में रहने वाले पंजाबी भी इसे पंतग उड़ाकर, पीले फूलों के साथ उत्सव मनाते हैं। लेकिन पाकिस्तान की कई जगहों पर मांझे से पतंग उड़ाना मना है। इसकी वजह आतंकी गतिविधियां बताई जाती हैं। नेशनल काइट फ्लाइंग डे पाकिस्‍तान में बसंत पंचमी को नेशनल काइट फ्लाइंग डे के नाम से जाना जाता था। इस दिन हर घर के छत में हिंदू-मुस्लिम मिलकर पतंग उड़ाया करते थे। इस दिन को मद्देनजर रखते हुए बाजारों में खास पतंगे तैयार करवाई जाती थी। बैन किया गया है पाकिस्‍तान में पाकिस्तानी प्रसाशन का मानना है कि पतंग उड़ाने के लिए जिन तारों का इस्तेमाल करते हैं उनमें कई बार लोग ऐसी चीजें मिला देते हैं जो लोगों के लिए जानलेवा बन जाती है। इसीलिए पाकिस्तान की कई जगहों पर इस त्योहार को गैर-इस्लामिक मानते है और इसे बैन किया हुआ है। 2004 साल से लगा हुआ है बैन इस त्योहार को लोगों के लिए जानलेवा बताता है यही कारण है कि 2004 साल से इस त्योहार पर बैन लगा हुआ है। लाहौर में लगता है मेला.. ये त्योहार ज्यादातर अमृतसर, कसूर और लाहौर जैसी जगहों पर मनाया जाता है, इसके इलावा लाहौर में इस अवसर पर एक मेले का भी आयोजन होता है जो काफी प्रसिद्ध है। निजामुद्दीन औलिया की दरगाह पर भी मनाई जाती है बसंत पचंमी दक्षिणी दिल्ली में स्थित हजरत निजामुद्दीन औलिया की दरगाह है, ये चिश्ती घराने के चौथे संत थे। इनके एक सबसे प्रसिद्ध शिष्य थे अमीर खुसरो, जिन्हें पहले उर्दू शायर की उपाधि प्राप्त है। दिल्ली में इन दोनों शिष्य और गुरु की दरगाह और मकबरा आमने-सामने ही बने हुए हैं। यहां हर साल बसंत पंचमी बड़े ही धूमधाम से मनाई जाती है. जी हां, हरे रंग की चादर चढ़ाने वाले इन स्थानों पर बसंत पंचमी के दिन पीले फूलों की चादर चढ़ा दी जाती है, लोग बैठकर बसंत के गाने गाते हैं। ये है कारण संत हजरत निजामुद्दीन औलिया का एक भांजा था तकीउद्दीन नूह, जिससे वो बहुत प्यार करते थे लेकिन बीमारी के चलते उसकी मृत्यु हो गई। इस बात से हजरत निजामुद्दीन उनकी मानसिक स्थिति खराब होने लगी। वो ना किसी से बात करते थे और ना ही हंसते थे। अमीर खुसरो उन्हें फिर से हंसता हुआ देखना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने कई प्रयास भी किए लेकिन कुछ ना हुआ। आत तक मनाई जाती है बसंत पंचमी तभी उन्होंने एक पीले रंग का घाघरा और दुपट्टा पहना, गले में ढोलक डाला और हाथों में पीले फूल लेकर वंसत के गाने गाने लगे। अपने इस शिष्य को औरतों के भेष में गाते बजाते देख हजरत निजामुद्दीन औलिया अपनी हंसी रोक नहीं पाए, इसी दिन को याद कर आज भी उनकी दरगाह पर हर साल बसंत पंचमी मनाई जाती है। English summary Basant Panchami Festival of Kites Celebrated In Pakistan Also the Punjab region of northern India and eastern Pakistan there is a huge kite flying festival called Basant or Basant Panchami. Story first published: Sunday, January 21, 2018, 11:30 [IST]

बिना सर्जरी के अपने Pout को ऐसे बनाएं Plump

Monday, January 22 2018

बिना सर्जरी के अपने Pout को ऐसे बनाएं Plump

Published: Monday, January 22, 2018, 13:44 [IST] Subscribe to Boldsky कौन नहीं चाहेगा कि उसके होंठ Angelina Jolie की तरह भरे-भरे से दिखें। आज कल तो Pout का ही जमाना है क्‍योंकि इससे सेल्‍फी जो अच्‍छी आती है। जहां एक्‍ट्रेस और अन्‍य लोग अपने होंठो को भरा और बड़ा दिखाने के लिये सर्जरी का सहारा लेते हैं वहीं आज हम आपको कुछ ऐसे मेकअप ट्रिक्‍स बताएंगे जिसकी मदद से आप अपने होंठो को बिना सर्जरी ही भरा दिखा सकती हैं। पर हां, ये कोई परमानेंट सॉल्यूशन नहीं है लेकिन आप मेकअप ट्रिक से यह कमाल दिखा सकती हैं। अब आइये जानते हैं कि अपने पावउट को कैसे दिखाएं भरा भरा। 1. होंठो को स्‍क्रब करें स्क्रब के द्वारा हमारी त्वचा की मृत कोशिकाएं अलग हो जाती है। जिससे त्वचा साफ होकर निखार प्राप्त करती है। इसी तरह से होठों को सुंदर गुलाबी बनाने के लिए होठों पर स्‍क्रब करना काफी जरूरी होता है।इसके लिए आप शक्कर के साथ नीबू को मिलाकर होठों पर लगाये और हल्के हाथों से रगड़ते हुए होठों के ऊपरी परत को निकाल लें। इससे आपके होंठ गुलाबी, मोटे और आकर्षक दिखने लगेंगे। स्‍क्रब करने से होठोंपर किया गया मेकअप भी ज्‍यादा देर तक टिका रहता है। 2. लिप बाम लगाएं एक अच्‍छे स्‍क्रब को लगाने के बाद अपने होंठो को मॉइस्‍चराइज करना ना भूलें। इससे आपके होंठो की नमी बनी रहेगी और जब आप लिपस्‍टिक लगाएंगी तो वह मोटे दिखेंगे। लिप बाम लगाने के 1 मिनट बाद तक रूके जिससे वह आपके होंठो में आराम से समा जाए। आप लिप बाम या फिर किसी भी तरह का मॉइस्‍चराइजर यूज़ कर सकती हैं। लेकिन जिस लिप बाम में मिंट का फ्लेवर हो वह काफी अच्‍छा माना जाता है। 3. कंसीलर लगाएं एक कंसीलर आपको होंठों में बहुत अंतर आ सकता है। अपने होंठो पर कंसीलर लगाएं और उसे लिप लाइन तक फैलाएं। इससे आपके होंठ भरे हुए दिखते हैं। 4. अपनी क्‍यूपिड बो को आउटलाइन करें अपर लिप पर जो होंठो पर थोड़ा सा डीप कट होता है, उसे हम क्‍यूपिड बो कहते हैं। अपनी क्‍यूपिड बो को लिप लाइनर से डिफाइन कीजिये जिससे आपके होंठ थोड़े से अलग दिखें। 5. लिप लाइनर लगाएं होंठो को बड़ा दिखाने के लिये लिप लाइनर जरुर लगाएं। होंठो पर एक परफेक्‍ट बनाएं जो कि बाहर की ओर होना चाहिये। यह अंतर केवल कुछ मिलीमीटर का ही होगा लेकिन यह आपके होंठों को काफी बड़ा दिखा सकता है। 6. न्‍यूड कलर या लाइट कलर की लिपस्‍टिक लगाएं कभी भी डार्क कलर की लिपस्‍टिक न लगाएं। इससे आपके होंठ डल लगने लगेंगे और उनमें पाउट नजर नहीं आएगा। आप न्‍यूड कलर में लाइट पिंक या पीच कलर की लिपस्‍टिक लगा सकती हैं। या फिर आप चाहें तो एक दो न्यूड कलर की लिपस्‍टिक एक साथ लगा सकती हैं मगर उसमें से एक गहरे रंग की होनी चाहिये और एक हल्‍के रंग की। 7. लिप्‍स को शिमर बनाने के लिये लिप ग्‍लॉस लगाएं अपने लिपस्‍टिक पर शाइनी लिप ग्‍लॉस न लगाना भूलें। शाइनी लिप ग्‍लॉस आपके लिप को भरा दिखाने की कोशिश करते हैं। कोशिश करें कि आप क्‍लियर लिप ग्‍लॉस या फिर अपनी लिपस्‍टिक से मिलती जुलता ही लिप ग्‍लॉस लगाएं। 8. क्‍यूपिड बो पर हाइलाइटर करें अपने क्‍यूपिड बो पर थोड़ी सी क्रीम हाइलाइटर या पावडर हाइलाइटर लगाएं। इससे उस एरिया पर थोड़ी सी चमक दिखेगी और इससे आपके लिप्‍स फुल दिखेंगे। कोशिश करें कि आप हाइलाइटर को अच्‍छी तहर से ब्‍लेंड करें जिससे वह नेचुरल दिखे। 9. अपने लोअर लिप को कलर करें अपने निचले होंठो पर कॉन्‍ट्अर पावडर लगाएं जिससे कि आपके होंठ भरे हुए दिखें। इस पावडर को बस थोड़ा सा ही लगाने की जरुरत है। पर इसे अच्‍छी तरह से ब्‍लेंड करना बिल्‍कुल भी ना भूलें। 10. दांतों पर लिपस्‍टिक ना लगने पाए अगर आपके होंठो के अंदर लिपस्‍टिक लग गई है तो उसे सिंपल तरीके से अपनी उंगली को मुंह के अंदर डाल कर साफ कर लीजिये। इससे आपके दांतों पर लिपस्‍टिक के स्‍टेन नहीं लगेंगे। English summary Plump Your Pout With These Simple Makeup Tricks There are natural ways to plump the lips as well, like applying honey to your lips or massaging your lips with ice cubes, etc. Story first published: Monday, January 22, 2018, 13:44 [IST]