Health and Fitness

क्‍या है ये बिकिनी एयरलाइंस? जिसके भारत में सर्विस शुरु करने से पहले हो रहे है चर्चे...

Monday, March 19 2018

क्‍या है ये बिकिनी एयरलाइंस? जिसके भारत में सर्विस शुरु करने से पहले हो रहे है चर्चे...

Life » क्‍या है ये बिकिनी एयरलाइंस? जिसके भारत में सर्विस शुरु करने से पहले हो रहे है चर्चे... क्‍या है ये बिकिनी एयरलाइंस? जिसके भारत में सर्विस शुरु करने से पहले हो रहे है चर्चे... Life Updated: 18:00 हर एयरलाइंस की एयरहोस्‍टेस और उनकी यूनिफॉर्म न सिर्फ एयरलाइंस की पहचान होती है बल्कि एयर ट्रेवल करने वालों के बीच आकर्षण का केंद्र होता हैं। यहां तक की कुछ एयरलाइंस की एयरहोस्‍टेज की यूनिफॉर्म तो उन देश की संस्‍कृति की परिचायक होती हैं। लेकिन आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि कुछ एयरलाइंस मार्केटिंग स्‍टेट्रर्जी के तहत एयर हॉस्‍टेज की ऐसी ड्रेस डिजाइन करवाते है, ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा कस्‍टमर्स को विमान यात्रा के लिए अट्रेक्‍ट किया जा सकें। ऐसी ही एक एयरलाइसं है 'बिकिनी एयरलाइंस' जो इन दिनों जल्‍द ही इंडिया में अपनी सर्विस शुरु करने की वज‍ह से लगातार चर्चा में बनी हुई हैं। हाल ही में इस कंपनी ने यह घोषणा की हैं कि वो जुलाई-अगस्‍त में अपनी सेवाएं शुरु कर सकता हैं। एयरलाइन का ड्रेस कोड एयरलाइन की एयरहोस्टेस का ड्रेस कोड बिकिनी कम्‍पनी की सीईओ 'Nguyen Thi Phuong Thao' ने चुना है। बता दें कि वे वियतनाम की पहली बिलियन एयर महिला हैं। हाल ही में ये एयरलाइन फुटबॉल टीम के वेलकम में एयरहोस्टेस को लांजरी पहनाने के लिए चर्चा रही थी। विवादास्‍पद एयरलाइन एयरलाइन दुनिया की सबसे विवादास्पद एयरलाइनों में से एक है, क्योंकि, कुछ देश बिकनी होस्टेस की इस कॉन्‍सेप्‍ट के खिलाफ हैं और हो सकता है कि भारत में भी आगे चलकर इस एयरलाइंस का विरोध हो। बिकिनी एयरहॉस्‍टेज का कैलेंडर फोटोशूट ये एयरलाइन हर साल अपनी बिकिनी एयरहॉस्‍टेज का कैलेंडर शूट भी करवाता हैं। दुनियाभर की आला टॉप मॉडल्‍स और एयरलाइंस की एयरहॉस्‍टेज का ऑडिशन लेकर इस एनुअल कैलेंडर में उन्‍हें जगह दी जाती हैं। जैसे किंगफिशर का कैलेंडर शूट, जिसके लिए देशभर से मॉडल्‍स ऑडिशन देकर इस कैलेंडर में अपनी जगह बनाती हैं। बिकिनी परेड से सलेक्‍शन इस एयरलाइंस की एयरहॉस्‍टेज का सलेक्‍शन उसकी क्‍वालीफिकेशन, ग्रूमिंग और पर्सनेलिटी के अलावा बिकिनी परेड के आधार पर की जाती हैं। फ्लाइट में करा चुका है फैशन शो ये लॉ बजट एयरलाइन ने एक बार उड़ान के दौरान फैशन शो का आयोजन किया था। जिसमें स्विमिंग सूट पहने हुए मॉडल ने पार्टीसिपेट किया था। जिसके वजह से ये एयरलाइन खूब हाईलाइट में आया था। लेकिन उड़ान के दौरान हवाई नियमों को ताक में रखकर इस फैशन शो को आयोजित करने की वजह से इस एयरलाइन पर जुर्माना भी लगाया गया था। लॉ कॉस्‍ट कैरियर इस एयर लांइस को 2016 में शीर्ष 500 ब्रांडों में से सर्वश्रेष्‍ट एशिया का बेस्‍ट लो कॉस्‍ट कैरियर का खिताब भी मिल चुका हैं। Related Articles

Upper Lip के Hair निकालने हों तो अपनाएं ये DIY

Wednesday, March 21 2018

Upper Lip के Hair निकालने हों तो अपनाएं ये DIY

» Upper Lip के Hair निकालने हों तो अपनाएं ये DIY Upper Lip के Hair निकालने हों तो अपनाएं ये DIY Skin Care Published: Wednesday, March 21, 2018, 13:00 महिलाओं के अपर लिप के बाल देखने में बडे़ ही भद्दे लगते हैं। अगर यह गहरे और घने हैं तो महिलाएं बिल्‍कुल पुरुषों की तरह दिखने लगती हैं। यही नहीं अगर होंठो पर गहरे रंग की लिपस्‍टिक लगाई जाए तो यह और भी भद्दा लगता है। चेहरे पर अनचाहे बालों को बिल्‍कुल भी नहीं झेलना चाहिये, खासतौर पर तब जब आपके पास ढेर सारे घरेलू उपचार आसानी से उपलब्‍ध हों। यदि चेहरे से अनचाहे बाल गायब हो जाएं, तो चेहरा देखने में और भी सुंदर और साफ सुथरा दिखने लगता है। आज हम आपको जिन घरेलू उपचारों के बारे में बताएंगे वह आपको बिल्‍कुल भी नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। इसे वे लोग भी प्रयोग कर सकते हैं जिनकी त्‍वचा संवेदनशील होती है। तो अब चलिये देखते हैं घर पर किन किन चीज़ों से अपर लिप के बालों को हटाया जा सकता है। 1. बेसन बेसन में ऐसे तत्‍व होते हैं जो डेड स्‍किन को हटाने में मदद करते हैं और होंठो के ऊपरी हिस्‍से के बालों को हटाता भी है। 1 चम्‍मच बेसन लें और उसमें चुटकीभर हल्‍दी और थोड़ा सा पानी मिला कर पेस्‍ट बनाएं। फिर इस पेस्‍ट को अपपर लिप्‍स पर लगा कर सूखाएं। उसके बाद इसे उंगलियों से स्‍क्रब करें। बाद में इसे ठंडे पानी से धो लें। ऐसा आपको हफ्ते में दो बार करना होगा। 2. अंडे का सफेद हिस्‍सा अंडे का सफेद हिस्‍सा ब्‍लैकहेड और स्‍किन की गंदगी को निकालने के बडे़ काम आता है। आपको बस आधे चम्‍मच कॉर्न फ्लोर में 1 चम्‍मच शक्‍कर मिक्‍स कर के उसमें अंडे का सफेद हिस्‍सा मिला कर पेस्‍ट बनाना होगा। फिर इस पेस्‍ट को अपर लिप्‍स पर लगाएं और 15-20 मिनट तक सुखाएं। उसके बाद इसे पील कर के ठंडे पानी से धो लें। 3. शहद और शक्‍कर शुगर और हनी एक होममेड वैक्‍सिंग की तरह काम आता है। इससे स्‍किन हाइड्रेट और मॉइस्‍चराइज रहती है। इसके लिये आपको 3 चम्‍मच शक्‍कर, 1 चम्‍मच शहद और कुछ बूंद नींबू का रस मिला कर मिक्‍स करना होगा। फिर इन्‍हें थोड़ा सा गरम कर लें और शक्‍कर को पिघला लें। अब आप इस मिश्रण को अपने होंठो के ऊपरी हिस्‍से पर लगाएं और ऊपर से कॉटन रख लें। फिर कॉटर को तेजी से निकालें। उसके बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें और मॉइस्‍चराइजर लगा लें। 4. आलू का जूस आलू, बालों को नेचुरल तरीके से ब्‍लीच करता है और पोर्स को खोलता है जिससे रोएं आराम से हट जाते हैं। सामग्री- 2 चम्‍मच पीली दाल 1 चम्‍मच आलू का रस 1 चम्‍मच शहद 1 चम्‍मच नींबू का रस विधि - दाल को रातभर पानी में भिगो कर रखें और दूसरी सुबह इसे पीस लें। फिर इसमें आलू का रस, शहद ओर नींबू का रस मिलाएं। फिर इसे अपर लिप्‍स पर लगा कर 20 मिनट तक छोड़ दें। बाद में इसे सादे पानी से धो लें। ऐसा आपको हफ्ते में दो बार करना है। 5. कॉर्नफ्लोर और दूध कॉर्नफ्लोर और दूध एक टाइट पेस्‍ट बनाते हैं, जिसे स्‍किन पर लगा कर उखाड़ने से अनचाहे बालों से मुक्‍ती मिल जाती है। सामग्री- 1 चम्‍मच कॉर्नफ्लोर 2 चम्‍मच दूध विधि- दोनों चीजों को एक कटोरी में डाल कर गाढा पेस्‍ट बनाएं। फिर इस पेस्‍ट को अपर लिप्‍स पर लगाएं। फिर जब यह सूख जाए तब इसे निकाल लें। ऐसा आपको 2-3 बार हफ्ते में करना है। 6. हल्‍दी अनचाहे बालों को निकालने का यह एक पुराना तरीका है। हल्‍दी चेहरे को साफ भी करती है। 1 चम्‍मच हल्‍दी में थोड़ा सा दूध या पानी मिक्‍स करें। इस पेस्‍ट को होंठो पर लगाएं और सूखने दें। बाद में इसे स्‍क्रब कर के निकालें। ऐसा हफ्ते में दो बार करें या फिर आपको जब तक रिजल्‍ट ना मिल जाए। Related Articles

सफेद बालों को जड़ से काला बनाएं इन घरेलू नुस्‍खों से..

Wednesday, March 21 2018

सफेद बालों को जड़ से काला बनाएं इन घरेलू नुस्‍खों से..

» सफेद बालों को जड़ से काला बनाएं इन घरेलू नुस्‍खों से.. सफेद बालों को जड़ से काला बनाएं इन घरेलू नुस्‍खों से.. Hair Care Updated: Wednesday, March 21, 2018, 14:51 हर किसी को बाल काले ही अच्‍छे लगते हैं लेकिन जब यह बिना बुढापे के ही सफेद होने लगें तो दिल घबरा सा जाता है। पर आपको जानना होगा कि बाल सफेद क्‍यों हो जाते हैं वो भी तब जब हमारी खेलने खाने की उम्र होती है। जब बालों में मिलेनिन पिगमेंटेशन की कमी हो जाती है तब बाल अपना काला रंग खो देते हैं और सफेद हो जाते हैं। बालों का सफेद होना कोई बीमारी नहीं हैं, बल्कि एक समस्‍या है जो धूल, मिट्टी, प्रदूषण, और ठीक देखरेख न करने से होती है। इन सभी कारणों की वजह से बालों में मौजूद पोषक तत्‍व समाप्‍त होने लगते है। जिस वजह से बालों का रंग सफेद होने लगता है। इसके अलावा आनुवांशिकता तनाव, और स्‍ट्रेस की वजह से भी बाल सफेद होते है। असमय बाल सफेद होने की वजह से कई बार लोगों को चिंता होती है उम्र से पहले ही बुढ़ापा आ जाता है। लोग सफेद बालों को छिपाने के लिए कई तरह के जतन करते है। आज हम आपको यहां बाल काले करने के लिए कुछ घरेलू उपाय बताएंगे जिनकी मदद से आप फिर से चमकदार और काले घने बालों की खूबसूरती लौटा सकती है। आइए जानते है कैसे? अमरूद के पत्ते अमरूद के पत्तों को पीसकर बालों में लगाना बहुत अच्छा माना जाता है, अमरूद के पत्तों में विटामिन बी और सी की मात्रा पाई जाती है जो बालों के लिए काफी अच्छी मानी जाती है. विटामिन बी और सी बालों को झड़ने से रोकने और उन्हें दोबारा उगने में मदद करते हैं। चाय की पत्ती सफेद बालों को काला करने के लिए काफी मददगार साबित होती है चाय की पत्ती से सफेद बाल काले करने के लिए चाय की पत्ती को अच्छी तरह पानी में उबाल लें और फिर इस पानी से बालों को धो लें . यह भले ही अपना काम धीरे धीरे करती है लेकिन यह तरीका पूरी तरह प्राकृतिक है और जी आपके सर में मौजूद एक-एक सफेद बाल को प्राकृतिक रूप से काला कर देती है और इनमें एक अलग ही प्राकृतिक चमक पैदा करती है, आप खुद ताज्जुब करेंगे बालों की रेशमी चमक को देखकर। करी पत्ते करी पत्तों में नारियल के तेल मिला लें और फिर इस तेल से अपने बालों में अच्छी तरह से मसाज कर लें और इसे रात भर बालों में ही लगा रहने दें और अगले दिन अपने बालों को धो लें। आंवला कुछ आंवलों के टुकड़े कर लें और इन्हें नारियल के तेल में तब तक उबलने दें, जब तक कि इनका रंग काला नहीं पड़ जाता। फिर इस तेल को सिर पर मलें। इसके अलावा नींबू के रस में आंवले का पेस्‍ट मिलाकर सिर पर लगायें। नियमित रूप से ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपके बाल काले होना शुरू हो जाएंगे। नारियल का तेल नारियल के तेल में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिला लें और इसी तेल से सिर पर मालिश करें। आपके बाल काले भी होंगे और उनमें शाइन भी आइगी। इसके अलावा आप नारियल तेल में नीम के पत्ते कड़ी पत्ता और गुडहल के फूल कर सकते हैं। मेहंदी बालों को रंगने का ये तरीका बहुत ही पुराना हैं, सदियों से लोग इस तरीके का इस्‍तेमाल करते आ रहे हैं। बालों में मेंहदी लगा लें। अगर आप त्रिफला, शिकाकाई, आंवला, ब्लैक कॉफी इनमे से किसी एक का भी प्रयोग कर सकते हैं ऐसा करने से मेहंदी की असर करने की क्षमता दुगनी हो जाती है। और अगर इनको मिलाने से आपको बालों में थोड़ा रूखापन सा महसूस होता है तो आप मेहंदी को पानी की जगह दही से घोल लें ऐसा करने से आपके बाल कंडीशनर लगाने जैसे मुलायम महसूस होंगे। घी आपने अपने घर के बुजुर्गो को सिर पर देसी घी से मालिश करते हुए देखा होगा। भले ही आपको यह अजीब लगे, लेकिन घी से सिर की त्‍वचा को पोष्‍ज्ञण मिलता है। प्रतिदिन घी से सिर की मालिश करके भी बालों के सफेद होने की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। हफ्ते में 2 बाद शुद्ध देसी घी से सिर की मालिश करें, फायदा होगा। घी में मौजूद पोषक तत्‍व आपके बालों को जड़ से मजबूत करेंगे। प्याज़ प्याज के रस में सल्फर होता है जो कि हमारे बालों को सफेद होने में मदद करता है। इसके लिए आप 2 से 3 प्याज को अच्छी तरह से पीसकर इसका रस अलग कर लें। अपने बालों में लगा लें। कुछ दिनों तक रोजाना नहाने से कुछ देर पहले अपने बालों में प्‍याज का पेस्‍ट लगायें। इससे आपके सफेद बाल तो काले होने शुरू हो ही जाएंगे, लेकिन साथ ही बालों का गिरना भी रुक जाएगा। कलौंजी सफेद बालों को काला करने में कलौंजी भी कम नहीं है कलौंजी का इस्तेमाल आप इस तरह से करें लगभग 1 लीटर पानी में आप 50 ग्राम कलौंजी को अच्छी तरह से उबाल लें और इस उबले हुए पानी को ठंडा करने के बाद इस पानी से बाल धोएं. लगभग हर दूसरे दिन ऐसा करने से 1 महीने के अंदर ही आपके बाल काले घने और लंबे हो जाएंगे. Related Articles

गर्म पानी के साथ शहद और लहसुन पी कर करें मोटापे की छुट्टी

Wednesday, March 21 2018

गर्म पानी के साथ शहद और लहसुन पी कर करें मोटापे की छुट्टी

Published: 40 वो लोग काफी भाग्‍यशाली हैं जो अपनी बॉडी से काफी संतुष्‍ट हैं। हमें लगता है कि हमारे शरीर पर जो एक्‍सट्रा फैट चढ़ा हुआ है वो हमें कहीं ना कहीं हीन भावना का शिकार बना रहा है। बहुत से लोंगो को लगता है कि अगर वो पतले हों तो उनका कॉन्‍फिडेंस और भी ज्‍यादा बढ जाएगा। और वो तेजी से वजन कम करने के चक्‍कर में क्रैश डायटिंग करना शुरु कर देते हैं। लेकिन ये सभी चीज़ें आपको सिर्फ कुछ दिनों का आराम देती हैं और आप जैसे ही इन्‍हें छोड़ कर अपनी नॉर्मल जिंदगी में वापस आते हैं, आप फिर वैसे ही मोटे हो जाते हैं। भारी भरकम एक्‍सरसाइज और क्रैशर डायटिंग को छोड़ कर आप कुछ प्राकृतिक नुस्‍खा आजमा सकते हैं, जो कि आपके स्‍टोर किये हुए फैट को बर्न करने में मदद करेगा। पुराने जमाने से ही हमने इस नुस्‍खे के बारे में सुना है जो आप भी शायद जानते ही होंगे। ये है गर्म पानी में शहद और कच्‍ची लहसुन का नुस्‍खा। पानी की सही मात्रा पीना शारीरिक कार्यों को नियमित रूप से चलाने के लिए महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन अगर ये भी माना गया है कि अगर इसका सही मात्रा में सेवन किया जाए तो यह वजन घटाने में मदद करता है। पानी को गर्म कर के आप इस प्रोसेस को और भी तेजी से बढा सकते हैं। और जब इस गर्म पानी में शहद मिला दिया जाए तो यह शरीर में वसा की अतिरिक्त जमी चर्बी से छुटकारा पाने में मदद करता है। यह मैट को ब्रेकडान कर के एनर्जी में बदल देता है, जिसे "burning calories" कहा जाता है। इस पेय को रोज खाली पेट सुबह जल्दी पीना चाहिये जिससे शरीर में जमी गंदगी निकल सके। लेकिन सिर्फ एक सप्ताह में एक बार इसे पी कर वजन कम करने की अपेक्षा न करें। इसे नियमित रूप से पिया जाना चाहिये और इसके साथ अपनी डाइट भी कंट्रोल की जानी चाहिये। तो रोज सुबह गर्म पानी के साथ शहद और उसमें नींबू निचोड़ कर पिएं जिससे आपको इसका बेटर रिजल्‍ट मिले। कच्‍चा लहसुन लहसुन और शहद को एक साथ मिला कर खाने से ये एंटीबायोटिक का काम करते हैं। यह एक प्रकार का सूपर फूड है। यह एक प्राकृतिक डीटॉक्‍स मिश्रण है, जिसे खाने से शरीर से गंदगी और दूषित पदार्थ बाहर निकलता है। यह एक प्राकृतिक डीटॉक्‍स मिश्रण है, जिसे खाने से शरीर से गंदगी और दूषित पदार्थ बाहर निकलता है। यह एक प्राकृतिक डीटॉक्‍स मिश्रण है, जिसे खाने से शरीर से गंदगी और दूषित पदार्थ बाहर निकलता है। लहसुन को आप कई प्रकार से सेवन कर सकते हैं जैसे, गर्म पानी में शहद, या एलो वेरा जूस या नींबू का रस, एप्‍पल साइडर वेनिगर या फिर किसी हर्बल टी के साथ। इसको लेने का सबसे बेस्‍ट टाइम है कि आप इसे सुबह सुबह ही खाएं और वो भी खाली पेट। आपको बस लहसुन की 3 कलियां ही खानी होंगी। अगर आप इसे ज्‍यादा खाएंगे तो आपके सीने में जलन होने के साथ साथ अन्‍य साइड इफेक्‍ट्स शुरु हो जाएंगे। इस ड्रिंक को लेने के साथ साथ कोशिश करें कि आपकी डाइट भी अच्‍छी हो। इसके अलावा अपनी लाइफ से सारी टेंशन हटा दें, नींद पूरी लें, चिंता कम करें और मजे करें। Related Articles

ये स्‍नैक्‍स दिल को रखते हैं हेल्‍दी एंड फिट

Wednesday, March 21 2018

ये स्‍नैक्‍स दिल को रखते हैं हेल्‍दी एंड फिट

» ये स्‍नैक्‍स दिल को रखते हैं हेल्‍दी एंड फिट ये स्‍नैक्‍स दिल को रखते हैं हेल्‍दी एंड फिट Diet Fitness Updated: 21 हमारे शरीर में दिल ऐसा अंग होता है जो हमें जिंदा रखता है। ये पूरे शरीर में रक्‍त का संचार करता है। इंसान के दिल की धड़कन इसका महत्‍वपूर्ण पैरामीटर होता है। लेकिन अगर दिल में छोटी सी भी समस्‍या हो जाती है तो पूरे शरीर में हजारों समस्‍याएं पैदा हो जाती हैं। ऐसे में जरूरी है कि अपने दिल को स्‍वस्‍थ रखा जाएं, ताकि आप हमेशा खुश और तंदुरूस्‍त रहें। दिल को तंदरुस्‍त रखने के लिए आपको हेल्‍दी डाइट पर फोकस करना जरुरी हैं। इसके लिए आज हम आपको कुछ हेल्‍दी स्‍नैक्‍स के बारे में बताने जा रहे हैं जो दिल को हेल्‍दी और फिट रखता हैं। ओट्स ओट्स यानि दलिया, सबसे अच्‍छा स्‍नैक्‍स होता है। इसे खाने से पेट भर जाता है। आप इसे कई तरीके से खा सकते हैं जैसे - मिल्‍क वाला दलिया या सब्जियों वाला दलिया। इसे नियमित रूप से खाने से कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने की समस्‍या नहीं होती है और दिल, स्‍वस्‍थ रहता है। आप चाहें तो इसे नाश्‍ते में भी ले सकते है। हेल्‍दी हार्ट के लिए ओट्स जरूर खाएं। ब्राउन ब्रेड सैंडविच साधारण ब्रेड, मैदे से निर्मित होती है, जो खाने के बाद सुपाच्‍य नहीं होती है, ऐसे में ब्राउन ब्रेड का इस्‍तेमाल करें। नाश्‍ते में ब्राउन ब्रेड सैंडविच का इस्‍तेमाल करें। सैंडविच को बनाने में आप कई प्रकार की सब्जियों का इस्‍तेमाल कर सकती हैं, इस प्रकार के खाद्य पदार्थ में विटामिन, मिनरल और पोषक तत्‍व भरपूर मात्रा में हो सूप सूप सबसे अच्‍छे स्‍नैक्‍स होते है जो पेट को अच्‍छी तरह से भर देते है और स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक भी होते है। सूप, कई प्रकार की सब्जियों और दालों से बनता है। पालक और टमाटर का सूप सबसे लाभदायक होता है, इसमें भरपूर मात्रा में पोषक तत्‍व और एंटी - ऑक्‍सीडेंट तत्‍व होते है। सब्जियों वाला सूप सबसे ज्‍यादा लाभकारी होता है। आप ब्रेकफास्‍ट या डिनर में सूप का सेवन कर सकते हैं। स्‍प्राउट चाट स्‍प्राउट में ढे़र सारे पोषक तत्‍व होते है जो शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल को मेंटेन रखते है और दिल को स्‍वस्‍थ बनाएं रखते है। हर दिन सुबह नाश्‍ते में अंकुरित चना या फिर कोई भी अन्‍य स्‍प्राउट को प्‍याज, टमाटर, हरी मिर्च आदि के साथ मिलाकर खाना चाहिए, आप चाहें तो इसमें नींबू और ब्‍लैक पिपर भी मिला सकते हैं। ऊपर से चाट मसाला एड कर लें, इससे वह टेस्‍टी लगेगा। यह भोजन आपके दिल को हमेशा स्‍वस्‍थ बनाकर रखेगा। दही और फल दही और फलों के मिश्रण से पेट भी भरता है और यह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी अच्‍छा होता है, इससे दिल को भरपूर ऊर्जा मिलती है। इसमें लो फैट होता है और भरपूर मात्रा में एंटी - ऑक्‍सीडेंट भी होता है। दही और फल, अच्‍छे डेजर्ट स्‍नैक्‍स होते हैं। इसके सेवन से हार्ट स्‍वस्‍थ रहता है क्‍योंकि इसमें वसा बहुत कम मात्रा में होता है। मशरुम एग व्‍हाइट ऑमलेट मशरुम और व्‍हाइट एग ऑमलेट का मिश्रण आपके हद्धय के लिए बिल्‍कुल हेल्‍दी कॉम्‍बीनेशन हैं। ये डिलीसियस होने के साथ लॉ केलोरी ब्रेकफास्‍ट होता हैं और ये बनने में भी बिल्‍कुल समय नहीं लगाता हैं। इडली साउथ इंडिया का सबसे पसंदीदा स्‍नैक जो हम सब खाना पसंद करते हैं। सबसे खास बात यह है कि ये कम तेल के साथ कम नमक में बना होता हैं। उबली हुई सब्जियां जैसे पत्‍तागोभी और स्‍पाउट के साथ इसे पकाने में यह एक हेल्‍दी स्‍नैक्‍स बन जाता हैं। वेजिटेबल स्‍टफ वाला मूंगदाल चिला नाश्‍ते में आप कुछ पारम्‍पारिक नाश्‍ते को भी शामिल कर सकती हैं। जैसे वेजिटेबल स्‍टफ का मूंगदाल चिला इसे आप चाय या कॉफी के साथ ले सकते हैं। इसे बनाते समय हरी हरी सब्जियां डालें जो आपके दिल के लिए काफी फायदेमंद हैं। रवा डोसा रवा और बेसन डोसा भी दिल को स्‍वस्‍थ रखने के लिए एक अच्‍छा हेल्‍दी ब्रेकफास्‍ट ऑप्‍शन हैं। रवा और बेसन में प्रोटीन और एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। जो कि दिल को धड़कने में मदद करते हैं। Related Articles

शहद और नींबू का फेस पैक लगाइये, स्‍किन बोलेगी THANKS

Tuesday, March 20 2018

शहद और नींबू का फेस पैक लगाइये, स्‍किन बोलेगी THANKS

» शहद और नींबू का फेस पैक लगाइये, स्‍किन बोलेगी THANKS शहद और नींबू का फेस पैक लगाइये, स्‍किन बोलेगी THANKS Skin Care Updated: Tuesday, March 20, 2018, 15:46 Honey Lemon Face pack - do's and donts, नींबू-शहद फेसपैक से जुड़ी खास बातें | DIY | BoldSky चेहरे पर आम तरह की समस्‍याएं होती ही रहती हैं, जिसमें ब्‍लैक स्‍पॉट, एक्‍ने, ड्राय स्‍किन और झुर्रियां आम बात हैं। इन्‍हें दूर करने के लिये लोग ना जाने कितने ही ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट पर अपने पैसे बरबाद करते हैं। जब बात स्‍किन केयर रूटीन की हो तो नींबू और शहद का पैक आपको ढेरों फायदे पहुंचा सकता है। यह डार्क स्‍पॉट को तो हटाता ही है साथ में स्‍किन का रूखापन भी काफी हद तक कम कर देता है। शहद और नींबू का इस्‍तेमाल पुराने जमाने से ही चला आ रहा है। दोंनो ही स्‍किन को एक हेल्‍दी ग्‍लो प्रदान करते हैं। इन दोनों का इस्‍तेमाल आप कई प्रकार की स्‍किन रिलेटेड समस्‍या दूर करने के लिये किया जा सकता है। इस फेस पैक के जरिए आपको बेहद स्मूद व ग्लोइंग स्किन मिलती है। जहां नींबू एक एंटीऑक्सीडेंट होने के साथ-साथ नेचुरल ब्लीच का काम करता है, वहीं शहद स्किन को हाइड्रेट करके उसे स्मूद बनाता है। आइये जानते हैं कि नींबू और शहद को चेहरे पर लगाने के क्‍या फायदे होते हैं। 1. मॉइस्‍चराइजर स्‍किन के लिये मॉइस्‍चराजर करना काफी जरुरी है। आपकी स्‍किन चाहे जिस टाइप की हो, आपको उसे हर वक्‍त हाइड्रेट कर के रखना चाहिये जिससे वह मुलायम बनी रहे। नींबू और शहद चेहरे के लिये बहुत ही अच्‍छे मॉइस्‍चराजर होते हैं, आइये जाने कैसे... 2 चम्‍मच नींबू के रस में 1 चम्‍मच शहद मिलाएं। इसे रोज रात में सोने से पहले अपने चेहरे पर लगा लगाएं। फिर 30 मिनट रूकने के बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। 2. डेड स्‍किन हटाए स्‍किन से जब डेड स्‍किन हट जाती है तो स्‍किन और भी ज्‍यादा चमकदार हो जाती है। आप नींबू और शहद को मिक्‍स कर के चेहरे पर लगा सकती हैं। अच्‍छे रिजल्‍ट के लिये इसे हफ्ते में दो बार लगाएं। 3. डार्क स्‍पॉट हटाएं अगर चेहरे पर मुंहासों की वजह से डार्क स्‍पॉट हो गए हैं तो शहद और नींबू बड़े काम आ सकता है। इससे स्‍किन ब्राइट हो जाती है। इसके लिये आपको 1 चम्‍मच ओटमील पावडर के साथ, 1 चम्‍मच शहद और 2 चम्‍मच नींबू मिलाना होगा। इस पेस्‍ट को चहरे पर मास्‍क की तरह लगाएं और 20 मिनट तक छोड़ दें। फिर इसे गुनगुने पानी से 20 मिनट के बाद धो लें। आपको ऐसा हफ्ते में दो बार करना होगा। 4. मुंहासों से मुक्‍ती दिलाए नींबू और शहद के पेस्‍ट को रेगुलर लगाने से चेहरे के मुंहासे और मार्क दोंनो ही चले जाते हैं। आपको बस 1 चम्‍मच नींबू का रस और 1 चम्‍मच शहद मिक्‍स कर के कॉटन से लगाना होगा। 10 मिनट के बाद गुनगुने पानी से धो लें। 5. स्‍किन को चमकदार बनाए नींबू और शहद में ढेर सारा एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो कि चेहरे से टैन को हटाने के काम आता है। सामग्री-

सिर के जुएं से लेकर मुहांसे तक साफ कर सकता है एल्‍कोहल

Tuesday, March 20 2018

सिर के जुएं से लेकर मुहांसे तक साफ कर सकता है एल्‍कोहल

» सिर के जुएं से लेकर मुहांसे तक साफ कर सकता है एल्‍कोहल सिर के जुएं से लेकर मुहांसे तक साफ कर सकता है एल्‍कोहल Wellness Updated: Tuesday, March 20, 2018, 9:49 हम बचपन से सुनते आ रहे हैं कि शराब पीना अच्‍छी बात नहीं हैं और शराब पीने से सेहत पर बुरा असर पड़ता हैं। इसमें मौजूद रसायन शरीर को कमजोर बना देते हैं। लेकिन आपको जानकर थोड़ी हैरत होगी कि शराब नशे के अलावा हमारे डेली रुटीन के कई कामों के उपयोग में आ सकती हैं। इसके जरिए छोटी-मोटी बीमारियों से छुटकारा प्राप्त करने के लिए इसका इस्‍तेमाल किया जा सकता है। रबिंग एल्कोहल जिसे आइसोप्रोपिल एल्कोहल और शल्यक स्पिरिट के नाम से भी जाना जाता है। सही माईने में यह कई स्वास्थ्य समस्याओ के लिए इस्तेमाल की जा सकती है। शरीर पर इसे रगड़ने के कई फायदे हैं। यह एक प्रभावी एंटीसेप्टिक, कीटाणुनाशक और क्लीनिंग एजेंट के रूप में काम करती है। इसे स्प्रिट के रुप में भी जानते हैं। मुंहासे दूर करने के लिए त्वचा के रोम छिद्रों में गंदगी भर जाने की वजह से मुंहासे हो जाते हैं। त्वचा से गंदगी को हटाकर मुंहासों के ईलाज के लिए एक रुई में थोड़ी सी शराब लें और इसे मुंहासों पर लगाएं। इससे आपके रोम छिद्र खुल जाएंगे और आपको ठंडक भी महसूस होगी, मुंह धोने के बाद एलोवेरा ज़ैल का उपयोग कर सकते हैं। ज्‍यादा उपयोग में लेने से त्वचा को स्किन ड्राय हो सकती हैं, इसलिए इसका ज्‍यादा उपयोग न करें। कोल्‍ड सोर सर्दियों के समय त्वचा एवं होठ काफी रूखी होने लगते है। जिससे रूखें होठों से खून भी निकलने लगता है। त्वचा में नमीं को बनाए रखने के लिए आप रबिंग एल्कोहल का प्रयोग करें, इससे जल्द ही आराम मिलेगा। कान साफ करने के लिए एल्‍कोहल से कान में जमी ईयरवैक्‍स को भी साफ किया जा सकता हैं। करना कुछ नहीं हैं बस व्‍हाइट विनेगर और रबिंग एल्‍कोहल को बराबर मिलाकर, कान में दो बूंदे डाले और फिर दो मिनट के बाद देखिएं। नाखूनों की फंगस नाखूनों की फंगस को दूर करने से लिए रबिंग एल्कोहल सबसे अच्छा उपचार है। इसका उपयोग करने के लिए कॉटन में एल्कोहल को डाल ले और नाखूनों पर लगाते हुए हल्की सी मालिश करें। इसके बाद इसे 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दे। फिर बाद में इसे पानी से साफ कर लें। जुओं का इलाज सिर में जुंए होना एक बहुत बड़ी परेशानी है और साथ ही शर्मनाक समस्या है, लेकिन रबिंग शराब या एल्‍कोहल से इसका भी ईलाज हैं। टब या बाल्टी में पानी भरकर उसमें थोड़ी सी शराब डाल लें। अब उसमें अपने सिर को उल्टा कर लें और 5 से 10 मिनट ऐसे ही रखें। इससे आपके बालों की जुंए मर जाएंगी। फिर शैम्पू कर लें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में कम से कम एक बार करें, जब तक जुंओं का खात्‍मा न हो जाएं। हैंड सैनेटाइजर का काम जिस तरह से हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करने के बाद साबुन या पानी की जरूरत नहीं पड़ती, ठीक वैसे ही रबिंग एल्कोहल के साथ होता है। इसे हाथों में लगाने या रगड़ने से हाथों के बैक्टीरिया मर जाएंगे। Related Articles

मोटापा कम करना है तो भूल कर भी ना खाएं ये फैट वाले फूड

Tuesday, March 20 2018

मोटापा कम करना है तो भूल कर भी ना खाएं ये फैट वाले फूड

डाइट-फिटनेस » मोटापा कम करना है तो भूल कर भी ना खाएं ये फैट वाले फूड मोटापा कम करना है तो भूल कर भी ना खाएं ये फैट वाले फूड Diet Fitness Published: Tuesday, March 20, 2018, 11:00 अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं और अपने वजन को भी कंट्रोल में रखना चाहते हैं तो आपको ऐसे भोजन की आवश्यकता है जिससे कि आपका वजन न बढ़े। वजन कम करने के सही तरीके के बारे में हम अक्सर कहीं न कहीं पढ़ते रहते हैं। लेकिन स्वस्थ भोजन के बजाय अक्सर फ्राइड फूड, अधिक तेल, घी और मक्खन में बने भोजन खा लेते हैं। इसके अलावा कुछ प्रकार के मीट और मिठाइयों को खाते समय यदि ध्यान न दिया जाए तो वजन बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। कुछ ऐसे भी भोज्य पदार्थ हैं जो शरीर में सूजन पैदा कर देते हैं और शरीर में ऐसे हार्मोन का स्राव करते हैं जिसकी वजह से वजन बढ़ जाता है। इसलिए वजन नियंत्रित रखने के लिए आपको इन 9 तरह के फूड से दूर रहना चाहिए। 1. डेयरी प्रोडक्ट दूध, घी, मक्खन और दही वैसे तो स्वास्थ्यवर्धक होते हैं लेकिन ये पाचन तंत्र में सूजन भी पैदा कर सकते हैं। क्योंकि डेयरी उत्पादों में प्रोटीन और वसा होती है जो आसानी से पचती नहीं है। सूजन के कारण शरीर में हार्मोन का स्राव होता है जो वजन बढ़ाने के साथ ही पाचन की भी समस्या को बढ़ा देता है। 2. कृत्रिम मिठास वजन घटाने या डाइट पर रहने वाले लोगों को ऐसे पेय पदार्थों या भोज्य पदार्थों से परहेज करना चाहिए जिसमें कृत्रिम मिठास होती है। कृत्रिम मिठास स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होती है और इससे शरीर में सूजन के साथ ही वजन बढ़ने की भी समस्या पैदा हो जाती है। 3. पोर्क ज्यादातर लोग पोर्क और बेकन से बने डिश खाना पसंद करते हैं। पोर्क में उच्च मात्रा में वसा होती है जिसकी वजह से वजन बढ़ सकता है। अधिक वसायुक्त होने के कारण पोर्क शरीर में सूजन पैदा करता है और पाचन क्रिया को खराब कर देता है। 4. सफेद ब्रेड हममें से ज्यादातर लोग यह जानते हैं कि सफेद ब्रेड स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है क्योंकि ब्राउन ब्रेड की अपेक्षा इसमें स्टार्च अधिक होता है। सफेद ब्रेड खाने से वजन बढ़ने और शरीर में सूजन होने सहित कई बीमारियों पकड़ लेती हैं। 5. वेजिटेबल ऑयल ज्यादातर घरों में कई सारी डिशेज बनाने में रोजाना वेजिटेबल ऑयल का उपयोग किया जाता है। रिसर्च में पाया गया है कि वेजिटेबल ऑयल शरीर में सूजन पैदा करता है और इसमें मौजूद हानिकारक फैटी एसिड आसानी से पचता नहीं है और वजन बढ़ाता है। 6. फास्ट फूड डिब्बाबंद भोजन, पिज्जा, बर्गर और फ्राई भोज्य पदार्थों को फास्ट फूड कहते हैं क्योंकि ये प्रोसेस्ड सामग्री से तैयार की जाती हैं। इन्हें खाने से शरीर में सूजन तो पैदा होता ही है साथ में हृदय संबंधी समस्याएं और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी होती है और ये भोज्य पदार्थ वजन भी बढ़ाते हैं। 7. बेक्ड फूड्स यदि आप केक, मफिन, कूकीज जैसे बेक्ड फूड खाने के शौकीन हैं तो इससे आपके शरीर में सूजन हो सकती है और वजन भी बढ़ सकता है। बेक्ड फूड में उच्च मात्रा में ट्रांस फैट होता है जो सूजन के साथ ही पाचन संबंधी बीमारी और डायबिटीज रोग उत्पन्न कर सकता है। 8. एल्कोहल एल्कोहल कोई फूड नहीं बल्कि पेय पदार्थ है और यह अपच पैदा करने और सूजन के लिए अधिक जिम्मेदार होता है। एल्कोहल का नियमित सेवन करने से शरीर में तो सूजन पैदा होती ही है साथ में वजन भी अधिक बढ़ जाता है। 9. मायोनेज स्वादिष्ट सैंडविच और पिज्जा बनाने में मायोनेज का इस्तेमाल अधिक मात्रा में किया जाता है क्योंकि यह स्वाद को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मायोनेज में बहुत अधिक प्रिजर्वेटिव एवं ऑयल होता है जो शरीर में सूजन पैदा कर देता है और इसकी वजह से वजन आसानी से बढ़ सकता है। Related Articles

क्‍या,सेक्‍स के दौरान 'एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन' के लिए दो कंडोम यूज में लेना सही है?

Tuesday, March 20 2018

क्‍या,सेक्‍स के दौरान 'एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन' के लिए दो कंडोम यूज में लेना सही है?

तंदुरुस्‍ती » क्‍या,सेक्‍स के दौरान 'एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन' के लिए दो कंडोम यूज में लेना सही है? क्‍या,सेक्‍स के दौरान 'एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन' के लिए दो कंडोम यूज में लेना सही है? Wellness Updated: Tuesday, March 20, 2018, 11:37 क्‍या आप सेक्‍स के दौरान एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन के नाम पर दो कंडोम यूज में लेते हैं? चलिए पहले तो जानते है कि सेक्‍सुअल इंटरकोर्स के तहत कंडोम का यूज करना कितना जरुरी हैं। सेक्‍स के दौरान कंडोम यूज करने से न सिर्फ आप अनचाही प्रेगनेंसी से बचाव कर सकते हैं बल्कि इससे आप एसटीडी से भी खुद को और अपने पार्टनर को बचा सकते हैं। सस्‍ते, आसान और प्रभावी होने के वजह से कंडोम को अभी तक गर्भ निरोधक के रुप में सबसे आसान तरीका माना जाता है। वैसे सबसे ज्‍यादा लोग सेफ सेक्‍स के लिए कंडोम का ही इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन अब मुद्दे पर आते है जैसे कि कई लोग एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन के नाम पर सेक्‍स के दौरान एक साथ दो कंडोम यूज में लेते हैं, क्‍या आप भी दो कंडोम एक साथ पहनते हैं? आइए जानते हैं इस बारे में एक साथ दो कंडोम पहनना सही है या नहीं। क्‍या दो कंडोम लगाना सुरक्षित हैं? खैर, हम आज तक सुनते है आए है कि जितना ज्‍यादा होगा उतना अच्‍छा होगा। एक से भले दो। इसका मतलब यह है कि जब भी किसी चीज पर दो लोग एक साथ काम करते हैं तो समस्‍या का हल जल्‍द ही निकल आता हैं। शायद जब बात सेफ सेक्‍स की आती हैं तो लोग इसी तर्क का अनुसरण करते होंगे। सेक्‍सुअल रिलेशन बनाते समय लोग सोचते हैं कि जितना ज्‍यादा लेटेक्‍स आपके और आपके पार्टनर के बीच होगा, उतना ज्‍यादा प्रोटेक्‍शन होगा। लेकिन फिर से सोचिए क्‍या ये सही हैं? मेल कंडोम कैसे काम करता है? ये बहुत ही आराम से अपने आप काम करता हैं। कंडोम महिलाओं के वजाइना में सीमेन जाने से रोकता हैं। जब पुरुषों का लिंग उतेजित होता है तब इसे पुरुषों द्वारा पहना जाता हैं। कंडोम के शीर्ष पर थोड़ा सी जगह होती है जिसमें वीर्य या सीमेन के लिए रखा जाता हैं। कंडोम में यह जगह थोड़ी सी छोड़ी जाती है ताकि कंडोम यौन संबंध के दौरान फट ना जाएं। दो कंडोम यूज करने का औचित्‍य? एक कंडोम को दूसरे कंडोम पर पहनकर ज्‍यादा घर्षण और तनाव बढ़ता हैं। यह घर्षण की स्थिति ज्‍यादा सुरक्षित नहीं होगी और इसकी वजह से ज्‍यादा लीकेज होगा और कंडोम फटने की ज्‍यादा सम्‍भावनाएं रहेंगी। एक साथ दो कंडोम पहनने से ये पेनिस पर ठीक तरह से फिट नहीं होगा। इसके अलावा इससे लीकेज की सम्‍भावना बढ़ेगी। कंडोम में जो जरुरी होता है कि उसकी सही साइज और फिटिंग, दो कंडोम एक साथ पहनने से फिटिंग में गड़बड़ी होगी और इसके वजह से सेक्‍स के दौरान या निकल जाएंगे और फट जाएंगे। इसकी वजह से ये योनि में भी भी फंस सकते हैं। एक और तथ्‍य कई लोगों का मानना है कि कंडोम का उपयोग करने से यौन संवेदनशीलता में कमी आती हैं। 2007 में एक स्‍टडी में यह बात सामने आई कि 18 पुरुषों पर कराए गए सर्वे के अनुसार उन्‍होंने 30 दिन में कंडोम के यूज करने पर यौन संवेदनशीलता में किसी तरह की कमी नहीं देखी। ज्‍यादातर पुरुष वैसे इस बात को नहीं मानते हैं। इसलिए अगली बार इस बात का बहाना न बनाएं और कंडोम का इस्‍तेमाल करें और सुरक्षित रहें। एक्सपायर होता है कंडोम ? कंडोम एक निश्चित समय के बाद खराब हो जाता है इसलिए सेक्चुअल एक्टिविटी के समय वह फट सकता है। क्योंकि लंबे समय के बाद इसका लुब्रिकेंट सूख जाता है और शुक्रनाशक प्रभाव खत्म हो जाता है जिसके कारण कंडोम का प्रभाव कम हो जाता है। एक्‍सपायर्ड कंडोम के साथ सेक्‍स कर लिया ? अगर आपको सेक्‍स के दौरान या बाद में मालूम चलता है कि आपने एक्‍सपायर्ड कंडोम के साथ सेक्‍स किया है, तो देर न कीजीए जाकर यूरिन करें। फिर इसके बाद अपने जननांग धोएं। मन में अभी डर है तो इमरजेंसी कॉन्‍ट्रासेप्टिव पिल्‍स ले सकती है। (72 घंटे के अंदर) Related Articles

जानें, Orange खा कर कैसे होता है मोटापा कम

Saturday, March 24 2018

जानें, Orange खा कर कैसे होता है मोटापा कम

» जानें, Orange खा कर कैसे होता है मोटापा कम जानें, Orange खा कर कैसे होता है मोटापा कम Diet Fitness Published: Saturday, March 24, 2018, 17:13 यूं तो संतरा खाने में काफी स्वादिष्ट लगता है और इसकी सुगंध भी काफी अच्छी लगती है। इसमे बड़ी मात्रा में फाइबर, सोडियम और विटामिन ए पाया जाता है। लेकिन शायद ही लोगों को यह पता है कि संतरा आपका वजन कम करने में भी काफी मददगार साबित हो सकता है। आपको भी इस बात पर यकीन नहीं हो रहा होगा कि आखिर संतरा कैसे मोटापा कम करने में आपकी मदद कर सकता है। लेकिन हम इस ऑर्टिकल में आपको बताएंगे कि आखिर कैसे यह संतरा आपको मोटापे से निजात दिलाने में अहम भूमिका निभा सकता है। संतरे को अपनी रोजमर्रा के खानपान में शामिल करना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। इसे सीधे तौर पर खाने से यह आपके वजन को कम करने में मदद नहीं करेगा, क्योंकि इसमे कैलोरी होती है संतरे में विटामिन एक, विटामिन सी, कैल्शियम, विटामिन बी6 और मैग्नीशियम होता है। संतरा खाने में काफी स्वादिष्ट होता है, साथ ही यह स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा है। यह आपके मसूढ़ों व जीफ को भी साफ करता है साथ ही पाचन शक्ति को बढ़ाता है और आंतों को भी शुद्ध करता है। यूं तो संतरे के काफी लाभ हैं लेकिन उनमे से यह कुछ खास हैं। तो आइए जानते हैं कि कैसे संतरा आपको मोटापा कम करने में मदद कर सकता है। संतरे में फाइबर अहम दरअसल संतरे में फाइबर होता है, जोकि आपकी पाचन शक्ति को काफी बेहतर करता है। एक संतरे में तकरीबन 3.1 ग्राम फाइबर होता है। फाइबर से आपको पेट काफी लंबे समय के लिए भर जाता है। ऐसे में अगर आप एक संतरा खाने से एक घंटे पहले खाएं तो संतरे का फाइबर आपके पेट आसानी से भर देगा, जिससे की आपको अधिक खाना नहीं पड़ेगा। संतरे में कम कैलोरी होती है अगर आप कोई दूसरा स्नैक संतरे की जगह खाते हैं तो आपको काफी कैलोरी मिलती है, लेकिन इसकी तुलना में संतरे में काफी कम कैलोरी होती है। एक आलू चिप्स के पैकेट में 154 ग्राम कैलोरी होती है जोकि एक संतरे से दोगुना होता है। लिहाजा जितना लाभदायक संतरा आपके लिए हैं उतना चिप्स नहीं है। तो अगली बार चिप्स खाने की बजाए संतरा खाने को प्राथमिकता दीजिए। डाइट में संतरा हर दिन सुबह खाली पेट और दोपहर में दो लीटर संतरे का जूस पीना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। यह वजन कम करने में रामबाण साबित हो सकता है। सुबह नाश्ता करने से आधा घंटा पहले एक गिलास जूस पीना चाहिए और जबकि दूसरा गिलास जूस पीने के लिए आपको कम से कम 2 घंटे का इंतजार करना चाहिए। यहां खास बात यह है कि जूस ताजा होना चाहिए। कभी भी पैक्ड संतरे का जूस नहीं पीना चाहिए। इसके अलावा क्या खाना चाहिए अकेला संतरा आपके मोटापे को खत्म करने के लिए काफी नहीं है, लिहाजा आपको अपनी डाइट में कुछ और चीजों को शामिल करना चाहिए, जिससे कि आप अपना वजन कम कर सके। आपको हेल्थी डाइट का पालन करना चाहिए, साथ ही इन फूड्स को खाने से भी आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है। फली और मूंगफली चोकर समेत गेंहू का आटा, कच्ची चीनी सोड़ा और कॉफी ना पिएं ब्लैक टी और ग्रीन टी पीएं मीठा खाने से पहेज करें ध्‍यान रखें ये बातें साथ ही इस बात का खयाल रखें कि आपकी खाने की थाली में आधा सामान फल और सब्जियों व सलाद का होना चाहिए। अपना खाना हमेशा समय पर खाइए। साथ ही संतरे का जूस पीना ना भूले जिसमे बड़ी मात्रा में फाइबर आपको यह सब पचाने में भी काफी मदद करेगा। Related Articles

स्‍ट्रेस फ्री होने के लिए इन होममेड तरीकों से घर पर ले बॉडी स्‍पा

Saturday, March 24 2018

स्‍ट्रेस फ्री होने के लिए इन होममेड तरीकों से घर पर ले बॉडी स्‍पा

त्‍वचा-की-देखभाल » स्‍ट्रेस फ्री होने के लिए इन होममेड तरीकों से घर पर ले बॉडी स्‍पा स्‍ट्रेस फ्री होने के लिए इन होममेड तरीकों से घर पर ले बॉडी स्‍पा Skin Care Published: Saturday, March 24, 2018, 15:55 अगर आपको स्‍ट्रेस महसूस हो रहा है तो कुछ मत कीजीए, बस खुद को रिलेक्‍स करने के लिए बाथरुम में जाकर बाथटब में जाकर एक डुबकी लगा आइए। इससे ज्‍यादा रिलेक्सिंग कुछ ज्‍यादा नहीं हो सकता हैं। और घर पर ही स्‍ट्रेस से निजात पाने के लिए पानी में थोड़ा नमक और कुछ खूशबूदार तेल डाल दीजिए। इससे आपको स्‍पा वाला मजा आ जाएगा और कुछ ही देर में आपका शरीर एकदम तंदरुस्‍त और मन हल्‍का सा लगने लगेगा। और अगर आप घर पर ही बॉडी स्‍पा का लुत्‍फ उठाना चाहते है तो कुछ किचन में मौजूद कुछ साम्रगियों को अपने बाथटब के पानी में मिला दीजिए और बढि़या और पार्लर जैसे लग्‍जरी स्‍पा का आनंद लीजिए। स्‍पा के लिए कीनू, लैवेंडर, गुलाब, इलंग-इलंग, देवदार, चमेली, अंगूर, चंदन, दालचीनी और पुदीनें की सोंधी सोंधी खुश्‍बू बहुत अच्‍छा काम करती है। आइए जानते है कि घर पर रखे किन साम्रगियों से आप खुद को एक बढि़या और खश्‍बूदार स्‍पा दे सकती हैं। नमक एपसॉम नमक नहानें के पानी में डाल दीजिए ये बॉडी को डिटॉक्‍स करने के साथ ही स्‍ट्रेस को दूर करता हें। तनाव को कम करने के लिए पानी में लैवेंडर, चमेली, और देवदार जैसे सुंगधित तेल का उपयोग करें, या अंगूर, नारंगी, या नींबू भी पानी में मिला सकते हैं। इस तरह बॉडी स्‍पा के लिए प्रॉडक्‍ट तैयार करें, तीन कप नमक, दो कप एपसॉम नमक और सी सॉल्‍ट मिलाकर, दो टेबल स्‍पून आवश्यक तेल, 1/2 कप बेकिंग सोडा। इन सबको मिलाकर पानी में मिला दें। और बाथ टब का मजा लें। मॉश्‍चराइजर के लिए बॉडी स्‍पा के दौरान बॉडी को मॉश्‍चराइजर करने के लिए आधा कप मिल्‍क पाउडर, आधा कप एप्‍सॉम नमक, अपने पसंदानुसार आधा कप कोई सुंगधित तेल और गुलाब के पत्‍ते। इन सबको एक साथ नहानें के पानी में डालें और एक खुश्‍बूदार सुंगधित बॉडी स्‍पा का मजा लीजिए। बबल बाथ बबल बाथ के लिए एक कप साफ कैसाइल साबुन, दो तिहाई लिक्विड वेजिटेबल ग्लिसिरीन, आधा कप पानी और तीन चौथाई ड्रॉप आवश्‍यक तेल के डाल दे। इन सबको पानी में एक के बाद एक करके मिलाएं। अब इन सभी मिश्रण को एक जार में भरकर रख दे। जब कभी स्‍ट्रेस हो तो इस मिश्रण को पानी में मिलाकर नहा लें। एनर्जी के लिए एक चुस्‍ती फुर्ती वाले बाथ के लिए, दो कप बेकिंग सोडा, एक कप सिट्रीक एसिड, एक कप कॉर्न स्‍ट्रॉर्च, आधा टेबलस्‍पून आवश्‍यक तेल और तीन चम्‍मच ऑलिव ऑयल लें। अब इनमें से सभी सूखी साम्रगियों को एक जार में डालकर मिला लें फिर इनमें तेल मिला लें अब इस मिश्रण में थेाड़ा सा पानी छिंटक दें ताकि ये आपस में मिल जाएं। अब इसे मिश्रण को नरम और सूखने के लिए दो तीन दिन के लिए छोड़ दे। अगली बार स्‍ट्रेस होने पर इस पैक को बदन पर लगाएं और हॉट शॉवर लें लें। गुलाब की पंखुडि़यों का स्‍क्रब आधा कप ब्राउन सुगर, एक कप नारियल का तेल और एक टेबल स्‍पून बादाम या जोजोबा तेल और गुलाब की पंखुडि़या। एक जार में नारियल तेल और गुलाब की पत्तिया डाल दे। अब इसमें सुगर और बाद में बादाम या जोजोबा का ऑयल भरकर रख दें। जब कभी स्‍ट्रेस महसूस हो तो उसमें बाथटब में बॉडी को राहत देने के लिए इस स्‍क्रब का इस्‍तेमाल करें। Related Articles

क्या बिना उबाले डिब्बाबंद दूध फायदेमंद है?

Saturday, March 24 2018

क्या बिना उबाले डिब्बाबंद दूध फायदेमंद है?

Published: Saturday, March 24, 2018, 9:00 दूध हमारे भोजन का एक जरूरी हिस्सा माना जाता है। प्राचीन समय से ही लोग नियमित दूध का सेवन करते आ रहे हैं। दूध में उच्च मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों एवं दांतों को मजबूत रखने में सहायक होता है। दूध मांसपेशियों को बढ़ाने, मांसपेशियों को मजबूत करने और मसल्स कोशिकाओं की मरम्मत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। कई फायदों से युक्त होने के कारण भारत के हर घरों में भोजन में दूध शामिल करने का चलन है। वैसे तो कच्चे दूध में अधिक मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं लेकिन इसमें कुछ हानिकारक बैक्टीरिया भी मौजूद होते हैं जो गंभीर बीमारियां पैदा कर सकते हैं। इसलिए कच्चे दूध को गर्म करने या उबालने के बाद ही इसका सेवन करना बेहतर होता है। मौजूदा समय में डिब्बाबंद और पाश्चरीकृत दूध का उपयोग अधिक किया जा रहा है। दूध के पाश्चरीकरण के कारण ही कुछ अवधि तक खराब नहीं होता है। अल्ट्रा हीट ट्रीटमेंट के माध्यम से दूध को पाश्चरीकृत किया जाता है। इसका तापमान कुछ सेकंड के लिए 135 डिग्री सेल्सियस से ऊपर या 20 से 30 सेकंड के लिए 71 डिग्री सेल्सियस से अधिक रखा जाता है। ये दोनों हीट ट्रीटमेंट की सहायता से पैकेजिंग और इस्तेमाल से पहले दूध में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट किया जाता है। अब सवाल यह उठता है कि डिब्बाबंद या पाश्चरीकृत दूध को उबालना जरूरी है या कच्चे दूध का सेवन करना स्वास्थ्यवर्धक है। आपको बता दें कि पाश्चरीकरण के बाद भी दूध में रोगजनक जीवाणु जिंदा रह जाते हैं। यह हीट ट्रीटमेंट के लेवल पर निर्भर करता है, हालांकि दूध के पाश्चरीकरण से दूध में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया मर जाते हैं लेकिन यह पूरी तरह से नहीं मर पाते हैं। इसलिए डिब्बाबंद दूध को गर्म किए बिना ही इसका सेवन करने से कई बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं। दूध से बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए इन्हें उबालना जरूरी है। अब यह भी सवाल उठता है कि दूध को बार-बार गर्म करने से या उबालने से दूध में मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं, तो क्या दूध को अधिक उबालना ठीक है। वास्तव में यह इस बात पर निर्भर करता है कि दूध को किस तरह से उबाला जाता है। दूध कैल्शियम, विटामिन ए, डी, बी1, बी12 और विटामिन के जैसे पोषक तत्वों को बढिया स्रोत है और इसमें प्रोटीन भी पर्याप्त मात्रा में पायी जाती है। इसलिए डिब्बाबंद दूध को उबालने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 1. बार-बार दूध को उबालने से बचें क्योंकि अधिक एवं बार-बार दूध उबालने से इसमें मौजूद पोषक तत्व नष्ट हो सकत है। 2. यह बेहतर रहेगा कि आप दूध उबालते समय बीच-बीच में उसे चलाते रहें। 3. दूध को कम आंच पर ही उबालें या गर्म करें क्योंकि अधिक तापमान पर इसमें मौजूद पोषक तत्व प्रभावित हो सकते हैं। 4. एक बार जब दूध उबल जाए और ठंडा हो जाए तो इसे अधिक देर तक बाहर न रखें, संभव हो तो ठंडा होने के तुरंत बाद इसे फ्रिज में रख दें और जब तक इस्तेमाल न करना हो, बाहर न निकालें। इससे यह देर तक खराब नहीं होता है। 5. दूध को माइक्रोवेब ओवन में गर्म करने की बजाय आग पर गर्म करें। ये कुछ बेहतर तरीके हैं जिनके माध्यम से डिब्बाबंद दूध को उबालने के बाद उनके पोषक तत्वों को बचाया जा सकता है। इससे दूध का सेवन करने पर आपको संपूर्ण पोषक तत्व प्राप्त हो जाएंगें और स्वाद भी बना रहेगा। कच्चे दूध की बजाय गर्म दूध अधिक मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है और बीमारियों एवं हानिकारक जीवाणुओं से बचने के लिए दूध को उबालकर ही पीएं। Related Articles