नई दिल्ली
उत्तर और पूर्वी भारत के कई राज्यों के लिए अगले 48 घंटे काफी भारी पड़ने वाले हैं। इन राज्यों को आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विभाग ने आज देश के कई राज्यों में भारी बारिश और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। इस अलर्ट के कारण हरियणा सरकार ने सोमवार और मंगलवार को सभी स्कूल बंद करने का फैसला किया है। दिल्ली में आज हल्की बारिश के साथ धूल भरी आंधी चल सकती है।
13 राज्यों में अलर्ट
देश के कम से कम 13 राज्यों और दो केन्द्र शासित प्रदेशों में आंधी-तूफान और भारी बारिश की आशंका है। गृह मंत्रालय के अनुसार जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर आंधी-तूफान और ओलावृष्टि के साथ बारिश हो सकती है जबकि उत्तराखंड और पंजाब के कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश आ सकती है और तेज हवाएं चल सकती हैं। मौसम विभाग के की चेतावनी का उल्लेख करते हुए गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ स्थानों पर आज भारी बारिश हो सकती है। अधिकारी के मुताबिक जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ , दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ स्थानों पर भी गरज के साथ बारिश हो सकती है और तेज हवाएं चल सकती हैं। अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी राजस्थान के कुछ स्थानों पर धूल भरी आंधी चल सकती है और गरज के साथ बारिश हो सकती हैं। बता दें कि पिछले सप्ताह भी पांच राज्यों में धूल भरी आंधी और तेज बारिश हुई थी जिसके कारण 124 लोगों की मौत हो गई थी और 300 से अधिक लोग घायल हो गए थे।
जानें क्यों आया उत्तर भारत में 'महा-तूफान' X
हरियाणा में दो दिन स्कूल बंद
भयंकर तूफान और बारिश की आशंकाओं के बीच हरियाणा सरकार ने इन दोनों दिनों के लिए प्रदेश के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों की छुट्टियां घोषित कर दी हैं। राज्य के शिक्षा मंत्री प्रफेसर रामविलास शर्मा ने इसकी पुष्टि की है। हरियाणा के करीब 350 प्राइवेट औ 575 सरकारी स्कूलों को 2 दिनों तक बंद रखने का आदेश दिया गया है।
गरज के साथ बारिश और धूल भरी आंधी चल सकती है
मौसम विभाग के अनुसार इस दौरान गरज के साथ बारिश और तेज हवाएं चल सकती हैं। विभाग के अनुसार इस दौरान 50 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से हवा चल सकती है। मौसम विभाग के अनुसार राजधानी दिल्ली में सोमवार को हल्की बारिश के साथ धूल भरी आंधी चल सकती है। मंगलवार को भी कुछ ऐसी ही संभावना जताई गई है।
4 मई के तूफान जैसा शक्तिशाली होने की उम्मीद नहीं: मौसम विभाग
मौसम विभाग ने बताया कि इस तूफान के 4 मई को आए विनाशकारी तूफान जैसा शक्तिशाली होने की उम्मीद नहीं है। विभाग के अनुसार उत्तरपूर्व राजस्थान और उसके पड़ोसी राज्यों के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ बनने के कारण उत्तर भारत में आंधी-तूफान और बारिश होगी। चेतावनी बताया गया है कि आंधी-तूफान के इस दौर का असर बुधवार तक रह सकता है। मंगलवार को ज्यादा बारिश हो सकती है।
आंधी-तूफान के दौरान बरतें ये सावधानियां
-घरों में ही रहें, जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलें।
-गाड़ियों को पेड़ों के नीचे न खड़ी करें। आंधी-तूफान आने के दौरान पेड़ों का सहारा न लें।
-तेज आंधी-तूफान आने पर घरों से बाहर सुरक्षित स्थान पर बैठ जाएं।
-चक्रवात और तूफान कुछ ही घंटों में दिशा और गति बदल सकता है। अलर्ट को लेकर अपडेट रहें।
-खुले पड़े तख्तों, लोहे की नाली, चादरों, कूड़े के डिब्बों या ऐसे अन्य सामान को कसकर बांध दे या स्टोर में रखें।
-बड़ी खिड़कियों को टेप लगाकर बंद कर दें।
-मकान के मजबूत हिस्से की ओर घर के अंदर रहें।
-छत उड़ने लगे तो घर की ओट वाली खिड़कियों को खोल दें।
-यदि खुले में हैं तो बचने के लिए ओट लें, तूफान शांत होने पर ही बाहर निकलें।
-वाहन से सफर कर रहे हैं तो पेड़ के नीचे वाहन न रोकें।
-गैस, बिजली और पानी का कनेक्शन बंद कर दें।
-पालतू जानवरों को बांधकर न रखें। बिजली के पोल से दूर रहें।