अल्झाइमर से बचने के लिए किसी भी कीमत पर खाएं ये 5 चीजें

अल्झाइमर अधिक गंभीर रोग है, जिसमें लोग खुद को और उनके परिवेश के बारे में सब कुछ भूल जाते हैं। यह रोग धीरे-धीरे अधिक सामान्य हो रहा है।

इस रोग के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 21 सितंबर को विश्व अलझाइमर दिवस के रूप में मनाया जाता है।
यह प्रगतिशील है, यानी, लक्षण धीमे हैं और बढ़ते रहते हैं। व्यक्ति पहले सामान्य चीजों को भूल सकता है और वह अपने परिवार को, अपने घरों और यहां तक कि सामान्य चीजों को भी भूल जाते हैं।


ऐसा मस्तिष्क में तंत्रिका क्षति के कारण होता है, जिसे अक्सर एपीलोपोप्रिटिन ई नामक एक प्रोटीन के कारण होता है जो मस्तिष्क में प्लेग बनाता है। अल्जाइमर रोग के लिए कोई ज्ञात इलाज नहीं है। हालांकि इस रोग से लड़ने के लिए कुछ सावधानी बरती जा सकती है। एक स्वस्थ आहार कुछ हद तक इस रोग से लड़ने में मदद कर सकता है।


वैज्ञानिकों ने पाया है कि जो हम खाते हैं वह अक्सर हमारे दिल और हमारे दिमाग को प्रभावित करता है। एक अच्छी डायट अल्जाइमर रोग को 53 फीसदी तक कम कर सकती है। अल्जीमर रोग से बचने के लिए डायट में यह चीजें शामिल होनी चाहिए।


1) हरी पत्तेदार सब्जियां


विटामिन ए और सी युक्त हरी पत्तेदार सब्जियां अल्जाइमर के लिए बहुत प्रभावी होती हैं। पालक, काले और कोलार्ड जैसी सब्जियां बेहद स्वस्थ होती हैं और डॉक्टर प्रति सप्ताह कम से कम 6-7 बार इन्हें खाने की सलाह देते हैं। जो लोग नियमित रूप से इन सागों को खाते हैं उनकी मानसिक स्थिति में सुधार होता है और सोचने-समझने की शक्ति बढ़ती है।


2) बेरी


बेरी, विशेष रूप से ब्लूबेरी अल्जाइमर के इलाज के लिए बहुत प्रभावी है। यह स्मृति हानि को रोकती है और मस्तिष्क के स्वास्थ्य में सुधार करती है। ये मस्तिष्क के संज्ञानात्मक कार्य को भी सुधार करती है।


3) अनाज


साबुत अनाज खाने से यह सुनिश्चित होता है कि आपका आहार अन्य आवश्यक पोषक तत्वों में समृद्ध है, जो आपके शरीर और दिमाग को स्वस्थ रखते हैं। प्रसंस्कृत खाद्य को आपके दिमाग का सबसे बड़ा दुश्मन कहा जाता है।


4) बीन्स


बीन्स में खूब फाइबर पाए जाते हैं, जो ग्लूकोज लेवल को स्थिर करते हैं और आपके मस्तिष्क में ऊर्जा को बढ़ाते हैं। यह मस्तिष्क को स्थिर करता है और इसके कामकाज को ठीक से काम करने देता है।


5) ओलिव ऑयल


यह स्वस्थ तेलों में से एक है जिसे आप अपनी डायट में शामिल कर सकते हैं। तेल में मौजूद घटक मस्तिष्क के संज्ञानात्मक कार्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। यह स्मृति में सुधार भी करता है और आपको अल्जाइमर रोग से दूर रखने में मदद करता है।