टाइप 2 डायबिटीज है तो करें खाने में करें नारियल तेल का यूज़

डायबिटीज की बीमारी हाल के दिनों एक आम बीमारी बन गई है। आपको उस समय हैरान नहीं होना चाहिए, जब आपको यह पता लगे कि आपका कोई जानने वाला इस रोग की चपेट में आ गया है।
जाहिर है मनुष्य के रूप में हम रोगों से अजनबी नहीं हैं, लेकिन कुछ ऐसी बीमारियां हैं, जो हमारी ज़िंदगी को बेहद मुश्किल बना सकती हैं और डायबिटीज भी एक ऐसी बीमारी है।
मधुमेह को घरेलू इलाज से करें कंट्रोल
डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है जिसका आज तक कोई ज्ञात इलाज नहीं है, लेकिन इसके लक्षणों को नियंत्रण में रखा जा सकता है और इसका इलाज किया जा सकता है।


डायबिटीज को चयापचय संबंधी विकारों के एक समूह के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, जो व्यक्ति के ब्लड शुगर या ब्लड ग्लूकोज के लेवल को प्रभावित करता है और इसका लेवल सामान्य से अधिक होता है।
मसाले जो कंट्रोल करें डायबिटीज
डायबिटीज के 2 प्रकार हैं जो लोगों को प्रभावित कर सकते हैं - टाइप 1 डायबिटीज और टाइप 2 डायबिटीज। टाइप 2 मधुमेह में, प्रभावित व्यक्ति का शरीर पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है या शरीर इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है, इस प्रकार ब्लड शुगर बढ़ जाता है।
टाइप 2 डायबिटीज के सबसे सामान्य लक्षणों में लगातार पेशाब आना, अत्यधिक भूख, थकान, वजन घटना, धीमी गति से घाव भरना, मतली, सिरदर्द आदि हैं।
हाल ही के एक शोध अध्ययन ने सुझाव दिया है कि नारियल के तेल लेने से टाइप 2 डायबिटीज से बचाव और उसका इलाज भी हो सकता है।
नारियल तेल कैसे टाइप 2 डायबिटीज को रोकता है
हम पहले से ही जानते हैं कि एक संतुलित आहार लेने से कई रोगों को रोकने और उनका इलाज करने में मदद मिल सकती है। वास्तव में, एक संतुलित आहार आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ा सकता है और आपके मानसिक स्वास्थ्य को अच्छी स्थिति में ला सकता है। एक संतुलित आहार में कार्बोहाइड्रेट, वसा, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन, खनिज, वसा, आदि जैसे सभी पोषक तत्व शामिल होते हैं। यहां तक कि अगर इनमें से एक पोषक तत्व भी कम हो, तो हम कमियों से ग्रस्त हो सकते हैं।
अब, एक और महत्वपूर्ण पोषक तत्व जिसमें कई औषधीय लाभ हैं, वो ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड हैं, जो कि नारियल तेल, मछली, एवोकाडो, नट आदि जैसे खाद्य पदार्थों में पाए जाते हैं।
नारियल तेल बेहद स्वस्थ साबित हुआ है और यहां तक कि डॉक्टरों ने भी लोगों को अपने आहार का एक नियमित हिस्सा बनाने के लिए सलाह दी है।



ऑस्ट्रेलिया में द जॉर्ज इंस्टीट्यूट ऑफ़ ग्लोबल हेल्थ द्वारा किए गए एक हालिया शोध अध्ययन में कहा है कि नारियल तेल कई लोगों में टाइप 2 डायबिटीज के कास को रोक सकता है।
कई शोध किए जाने के बाद, यह निष्कर्ष निकाला गया कि नारियल के तेल में ओमेगा -3 और ओमेगा -6 फैटी एसिड दोनों शामिल हैं, इसलिए यह पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन करने के लिए शरीर को बढ़ावा दे सकता है। इस प्रकार प्रकार नारियल का तेल डायबिटीज को रोकने और इस स्थिति का इलाज भी करता है।