हल्दी के ज्यादा फायदे पाने के लिए इसे ऐसे करें प्रयोग

आयुर्वेद में, हल्दी के लाभकारी गुणों के कारण इसे "मसालों का राजा" माना गया है। यह एक अद्भुत एवं अविश्वसनीय मसाला है जो कई कॉस्मेटिक उत्पादों का एक अविभाज्य अंग है। इसे कैंसर से लेकर अल्जाइमर जैसे कई रोग के उपचार में इस्तेमाल किया जाता है।


केवल रूप निखारने भर के लिये ही नहीं, हल्‍दी के और भी हैं औषधीय गुण
हल्दी को एक जादू की जड़ी-बूटी माना जाता है। आमतौर पर इसका पाउडर बनाकर इस्तेमाल किया जाता है। आपको बता दें कि इस गहरे पीले रंग के पाउडर के मानव स्वास्थ्य, त्वचा या बालों के लिए विभिन्न लाभ हैं।
हल्दी में भरपूर मात्रा में करक्यूमिनोइड्स जैसे यौगिक पाए जाते हैं। यह दुनिया भर के शेफ और माताओं के लिए आवश्यक और पसंदीदा तत्वों में से एक है। इससे आपके भोजन को रंग और स्वाद दोनों मिलते हैं।
सामान्यता 240 से 500 मिग्रा हल्दी वो भी तीन बार में प्रयोग करने की हिदायत दी जाती है। हल्दी का अधिक सेवन ना करें।

हम और आप त्‍वचा को निखारने के लिये हल्‍दी का प्रयोग करते हैं मगर क्‍या आप जातनी हैं कि हल्‍दी घाव, मोच, सदी-जुखाम, खांसी, एनीमिया, दांत दर्द और ऐसे ही हजार रोगों को ठीक कर सकती है?
हम आपको बता रहे हैं कि आप पांच अलग-अलग तरीकों से हल्दी का उपयोग कैसे कर सकते हैं।



1) स्वास्थ्य


वास्तव में इसे एक सुपरफ़ूड कहा जाना चाहिए। हल्दी खाने से आपकी दिल को स्वस्थ रखने, पुराने लोगों को गठिया सही करने, मस्तिष्क के कामकाज को बढ़ावा देने और कैंसर व डायबिटीज से लड़ने में मदद
मिलती है। इसमें एंटी बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। इसके एंटीसेप्टिक गुणों के कारण हल्दी का दूध पीने से किसी भी प्रकार के घाव या बीमारी का नैचुरल तरीके से इलाज करने में मदद मिलती है।
गर्म दूध के एक गिलास में एक चम्मच हल्दी मिक्स करके पीने से लाभ होता है।



2) त्वचा के लिए


चहरे पर दाने, मुँहासे, झुर्रियाँ और निशान दूर करने के लिए आप हल्दी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी एक चुटकी में उपचार के गुण हैं जो त्वचा की चमक को बनाए रख सकते हैं। एक चम्मच हल्दी को दही
के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से आप निशान से छुटकारा पा सकते हैं।


3) दांतों के लिए


दांतों से जुड़े उत्पादों पर लोग हजारों से अधिक खर्च करने के लिए तैयार रहते हैं। लेकिन आप हल्दी से निश्चित रूप से अपने दांतों को सफेद कर सकते हैं। इतना ही नहीं इसे आप मसूड़ों को भी स्वस्थ रख सकते
हैं।


4) बालों के लिए


अच्छी खबर यह है कि जैतून के तेल के साथ बराबर मात्रा में हल्दी मिक्स करके लगाने से न केवल डैंड्रफ से छुटकारा मिल सकता है बल्कि सिर के स्वास्थ्य में सुधार करता है और बालों के झड़ने से रोकता है।


5) सेक कर खाना


हल्दी का केक एक लोकप्रिय लेबनान मिठाई है जो डायबिटीज और हल्दी प्रेमियों के लिए बिल्कुल सही है।


6) वजन को नियंत्रित रखता है


हल्दी, वसा के चयापचय में मदद करती है अतः बढ़ते वजन पर नियंत्रण रखती है।



7) कैंसर के उपचार में लाभकारी


हल्दी अग्नाशय के कैंसर में, स्तन कैंसर एवं प्रोस्टेट कैंसर के उपचार में मदद करती है। ट्यूमर में नए रक्त वाहिकाओं को विकसित होने से रोकती है साथ ही बच्चों में ल्यूकेमिया के खतरे को कम करती है।



8) दाग-धब्‍बों से छुटकारा


दाग-धब्‍बे और झाइयां हटाने में हल्‍दी काफी उपयोगी होती है। हल्दी और काले तिल को बराबर मात्रा में पीसकर पेस्ट बनाकर लगाने से त्‍वचा साफ और निखरी हो जाती है। हल्‍दी और दूध से बना पेस्‍ट भी त्‍वचा
का रंग निखरने और चेहरे को खिला-खिला रखने के लिए बहुत असरदार होता हैं


9) गठिया रोग


गठिया रोग में हल्दी के लड्डू विशेष लाभ देते हैं इसके लिए आग में भुनी हुई हल्दी की गांठों को घिसकर उसमें गुड़ मिलाकर लड्डू बनाएं। आप चाहें तो इसमें ढेर सारे मेवे मिक्‍स कर सकते हैं। इन लड्डुओं का सेवन प्रतिदिन सुबह करें।


10) यदि कोई कीड़ा काट ले


हल्दी में विष हरने का गुण भी पाया जाता है। किसी विषैले कीड़े के काटने पर तुरन्त हल्दी को घिसकर उसके लेप में नींबू का रस मिलाकर प्रभावित अंग पर लगाया जाना चाहिए।