10 निशानियां जो बताती हैं कि शैतानी सोच का है आपके साथ रहने वाला in Hindi

स्लाइड शो 10 निशानियां जो बताती हैं कि शैतानी सोच का है आपके साथ रहने वाला 10 निशानियां जो बताती हैं कि शैतानी सोच का है आपके साथ रहने वाला Om , Oct 17, 2017 12:44pm 23K आध्यात्मिक डायरी में जोड़ें। 1/20 1 कलियुग
एक कहावत है “आप भला,तो जग भला”... तात्पर्य यह कि अगर व्यक्ति स्वयं अच्छा हो, तो उसके सामने वाले का स्वभाव कितना बुरा ही क्यों ना हो लेकिन उसका बुरा नहीं कर पाता। नीतिगत चलें तो बहुत हद तक यह सही भी है लेकिन शास्त्रों में यह भी कहा गया है कि कलियुग में किसी का विश्वास नहीं किया जा सकता। 2/20 2 शैतानी दिमाग
ऐसे में जरूरी नहीं कि अगर आप किसी शैतानी दिमाग के व्यक्ति के साथ खुले मन से व्यवहार करते हैं तो वह आपके लिए कब बुरा कर जाता है, आपको समझ ही नहीं आता। जब तक आप इसे समझ पाते हैं, पता चलता है कि आप उसकी सोच का टार्गेट बन चुके हैं। तो कैसे समझें कि आपके साथ का व्यक्ति भी आपके लिए भी उतना ही अच्छा है जितना कि आप उसके लिए? 3/20 3 शैतानी दिमाग
हालांकि हर किसी के स्वभाव को लक्षणों के आधार पर आंका नहीं जा सकता लेकिन जो शैतानी या कहें खुराफाती दिमाग लोग होते हैं उनकी कुछ खास आदतें होती हैं। यह एक बार नहीं, बल्कि बार-बार आपको दिखती है। 4/20 4 शैतानी दिमाग
ये वे लोग हैं जो अपने अलावा कभी किसी और का अच्छा नहीं सोच पाते, दूसरों का फायदा उठाकर आगे बढ़ना इनकी आदत होती है और इसके लिए कभी भी इन्हें किसी भी प्रकार का खेद नहीं होता। आगे हम आपको ऐसे ही 12 लक्षणों के बारे में बता रहे हैं। 5/20 5 सच को हमेशा नकारने की आदत
शैतानी या कहें खुराफाती दिमाग के लोगों की सोच वास्तविकता से काफी दूर होती है। ये आसानी से किसी बात से सहमत नहीं होते जबकि वास्तविकता वही होती है। इनका सच दुनिया के सच से बिल्कुल अलग होता है। इनके आदर्श और उससे जुड़ी व्याख्या दुनिया की वास्तविकता से बिल्कुल परे होती है। 6/20 6 हकीकत को मोड़-तरोड़ कर पेश करना
इस प्रकार के लोग सच के समानांतर एक और सच की रचना कर देते हैं जो केवल उनके उद्देश्यों की पूर्ति के लिए होता है। कह सकते हैं कि ये बस अपने ही लाभ के लिए सोचते हैं। अपना मकसद पूरा करने के लिए ये बातों का एक भ्रमजाल तैयार करते है। वे बातें कहीं से भी हकीकत से मेल नहीं खातीं, लेकिन इनकी कोशिश यही रहती है कि वो आपको पूरी तरह से सच लगे। 7/20 7 हकीकत को मोड़-तरोड़ कर पेश करना
इस कोशिश में कई बार ये ऐसे हालात भी पैदा कर देते हैं कि आपका खुद पर से ही भरोसा उठ जाता है। उदाहरण के लिए जब आप अपनी काबिलियत के आधार पर किसी चीज पर अच्छा काम करते हैं तो आपको उम्मीद होती है कि उसका श्रेय आपको ही मिलेगा। लेकिन अगर ऐसे किसी इंसान के साथ आप काम कर रहे हों, तो हर संभव कोशिश करेंगे कि बिना मेहनत उसका श्रेय उन्हें मिल जाए। 8/20 8 हकीकत को मोड़-तरोड़ कर पेश करना
उस काम की सफलता का श्रेय लेने के लिए परिस्थितियों को इस प्रकार तोड़-मरोड़ कर पेश करते हैं कि आपको तक लगने लगता है कि आप कभी उतने काबिल ही नहीं थे कि उस काम को सफलतापूर्वक कर सकें। 9/20 9 किसी बात से इंकार करना या लगातार झूठ बोलना
शैतानी दिमाग के लोग जानकारी छिपाने में माहिर होते हैं और इस कोशिश में पूरे दिन ये हजारों झूठ बोलते हैं। कई बार आस-पास के लोगों को बेवकूफ बनाने के लिए या अपना काम निकालने के लिए भी ये झूठ बोलते हैं। अगर कभी गलती से आपने उनका झूठ पकड़ लिया तो ये झट से उस बात से इंकार कर देते हैं या फिर सच्चाई को एक अलग ही रंग दे देते हैं। 10/20 10 किसी बात से इंकार करना या लगातार झूठ बोलना
वे आपको यह जतायेंगे कि उन्होंने झूठ नहीं बोला बल्कि आपने ही उन्हें गलत समझ लिया है। अगर झूठ प्रमाणित हो जाता है तो भी उसे मानने के बजाय ये आपको यह एहसास दिलाने की कोशिश करेंगे कि उन्हें उस झूठ को बोलने के लिए मजबूर किया गया था। कई बार वे आपको ही दोषी बना देंगे कि उन्होंने तो सच बोला है लेकिन आप ही उनपर भरोसा नहीं कर रहे हैं। 11/20 11 लोगों को गुमराह करना
इस प्रकार के लोग शब्दों को हथियार की तरह इस्तेमाल करते हैं और उन शब्दों की मदद से अपने फायदे के लिए ये आपके मन में एक डर या नफरत का भाव पैदा करते हैं। वो अपनी बातों से आपको यकीन दिला देते हैं कि कौन आपका दुश्मन है और कौन दोस्त। 12/20 12 लोगों को गुमराह करना
उन्हें पता होता है कि उनकी कौन सी बात आपको कब और किस प्रकार प्रभावित करेगी। इसका परिणाम यह होता है कि एक समय के बाद आपको उनकी बातें सच्ची लगने लगती है और आप पूरी तरह से उनपर भरोसा करने लगते हैं। 13/20 13 कुटिल सोच
शैतानी फितरत के लोग सबका फायदा उठाने में माहिर होते हैं। उनके लिए हर व्यक्ति उनकी कुटिल सोच का केवल एक मोहरा होता है। ये लोगों की कमजोरी का भरपूर फायदा उठाते हैं। अगर उनको आपमें कोई अच्छाई दिखती है तो वो आपकी अच्छाई का प्रयोग अपना मतलब निकालने में करेंगे और फिर काम हो जाने पर आपको एक कचरे की तरह फेंक देते हैं। 14/20 14 नैतिकता का अभाव
इनमें किसी भी प्रकार की नैतिकता नहीं होती और ना ही ऐसे लोग अपनी किसी गलती की जिम्मेदारी लेते हैं। बजाय इसके ये लोगों पर ही अपनी गलती का दोष मढ़ने में माहिर होते हैं। ये कभी भी लोगों को तकलीफ देने पर उनसे माफी नहीं मांगते। कई बार तो ये खुद को अपनी गलतियों से इस तरह बचा ले जाते हैं कि आपको ही उनकी गलती की माफी मांगनी पड़ जाती है। 15/20 15 मीठे जहर की तरह होती है इनकी दोस्ती
ऐसे लोग मीठे जहर की तरह होते हैं जिनकी जुबान पर कुछ अलग और मन में कुछ अलग होता है। ये दोस्ती में भी आपको एक मोहरे की तरह ही इस्तेमाल करते हैं और हमेशा आपकी क्षमताओं का फायदा उठाते हैं। 16/20 16 मीठे जहर की तरह होती है इनकी दोस्ती
आपके दोस्त होने के बावजूद उन्हें कभी ये बर्दाश्त नहीं होता कि आप इनसे आगे रहें। आप इनसे किसी भी प्रकार के सहारे या मदद की उम्मीद नहीं कर सकते। हांलाकि ये ऐसा जरूर जतायेंगे कि उनको आपकी सबसे ज्यादा चिंता है। 17/20 17 आपके कीमती वक्त को नष्ट करना
ऐसे लोग समय की अहमियत समझते हैं और इसलिये कई कमियां होने के बावजूद ये अपने आस-पास के लोगों से अक्सर आगे रहते हैं। इन्हें पता होता है कि आपके कीमती समय को कैसे नष्ट किया जा सकता है। ये ऐसी परिस्थितियां पैदा करते हैं कि आप कभी भी अपना काम समय पर पूरा नहीं कर पाएंगे। 18/20 18 दोहरी जिंदगी जीना
ऐसे लोग दोहरी जिंदगी जीते हैं और अपनी वास्तविकता सबसे छिपा कर रखते हैं। इनका व्यवहार हर व्यक्ति के साथ एक समान नहीं रहता। ऐसे लोगों को जान पाना सबके बस की बात नहीं होती और इस कारण ये अपने अतीत से लेकर वर्तमान तक की जिंदगी अपनी सहूलियत के हिसाब से लोगों के सामने पेश करते हैं जिसमें कई झूठ भी होते हैं। 19/20 19 अपनी पहचान छुपाने वाले
ऐसे लोग दिमाग से पूरी तरह कपटी होते हैं लेकिन परिस्थिति पर इनका पूरा नियंत्रण होता है। ये हर परिस्थिति का ताना-बाना बहुत सोच-विचार कर बुनते हैं। इन्हें पता होता है कि किसी भी कारण अगर इन्होंने नियंत्रण खोया तो इनका सच सबके सामने आ सकता है। फिर ये हर किसी को मोहरे की तरह इस्तेमाल नहीं कर पायेंगे। 20/20 20 अपनी पहचान छुपाने वाले
इस लक्षणों के आधार पर आप ऐसे लोगों की पहचान कर सकते हैं। अगर आपकी दोस्ती भी ऐसे किसी शैतानी दिमाग के व्यक्ति से है तो जल्द से जल्द उस रिश्ते से बाहर निकलने का रास्ता ढ़ूंढ़ लें। ऐसे लोगों के लिए आपकी दोस्ती या अच्छाई कोई मायने नहीं रखती और ना ही ये आपके लिए कभी बदलेंगे। 0 कमेंट Write संबंधित लेख